Monday, 16 September 2019

// // Leave a Comment

आज का पंचांग व राशिफल

ऊं नमः शिवाय शिवजी सदा सहाय
ऊं नमः शिवाय गुरुजी सदा सहाय
ऊं नमः शिवाय श्री बालाजी सदा सहाय

निशुल्क पंचांग अपने मोबाइल फोन पर मंगवाने/व्हाट्सएप्प ग्रुप में जुड़ने के लिए 9911342666 पर अपने नाम के साथ मे लिख कर व्हाट्सएप्प करे।

🌞 ~ *आज का श्री बालाजी पंचांग* ~
⛅ *दिनांक 17 सितम्बर 2019*
⛅ *दिन - मंगलवार*
⛅ *विक्रम संवत - 2076
⛅ *शक संवत -1941*
⛅ *अयन - दक्षिणायन*
⛅ *ऋतु - शरद*
⛅ *मास - अश्विन (गुजरात एवं महाराष्ट्र अनुसार भाद्रपद)*
⛅ *पक्ष - कृष्ण*
⛅ *तिथि - तृतीया दोपहर 04:32 तक तत्पश्चात चतुर्थी*
⛅ *नक्षत्र - अश्विनी पूर्ण रात्रि तक*
⛅ *योग - ध्रुव रात्रि 11:23 तक तत्पश्चात व्याघात*
⛅ *राहुकाल - शाम 03:23 से 04:54 तक*
⛅ *सूर्योदय - 06:26*
⛅ *सूर्यास्त - 18:40*
⛅ *दिशाशूल - उत्तर दिशा में*
⛅ *व्रत पर्व विवरण - तृतीया का श्राद्ध, संकष्ट चतुर्थी  (चन्द्रोदय रात्रि 08:49), अंगारकी-मंगलवारी चतुर्थी  (शाम 04:33 से 18 सितम्बर सूर्योदय तक), षडशीती संक्रांति  (पुण्यकाल : दोपहर 01:04 से सूर्यास्त तक*)
💥 *विशेष - तृतीया को पर्वल खाना शत्रुओं की वृद्धि करने वाला है।(ब्रह्मवैवर्त पुराण, ब्रह्म खंडः 27.29-34)*
           षडशीति संक्रान्ती* 🌷
👉 *17 सितम्बर 2019 मंगलवार को षडशीति संक्रान्ती है ।*
🙏 *पुण्यकाल : दोपहर 01:04 से सूर्यास्त तक… जप,तप,ध्यान और सेवा का पूण्य 86000 गुना है !!!*
🙏 *इस दिन करोड़ काम छोड़कर अधिक से अधिक समय जप – ध्यान, प्रार्थना में लगायें।*
🙏 *षडशीति संक्रांति में किये गए जप ध्यान का फल ८६००० गुना होता है – (पद्म पुराण )*
       *मंगलवारी चतुर्थी* 🌷
➡ *17 सितम्बर 2019 को ( पुण्यकाल शाम 04:33 से 18 सितम्बर को सूर्योदय तक)*
🌷 *मंत्र जप व शुभ संकल्प की सिद्धि के लिए विशेष योग*
🙏🏻 *मंगलवारी चतुर्थी को किये गए जप-संकल्प, मौन व यज्ञ का फल अक्षय होता है ।*
👉🏻 *मंगलवार चतुर्थी को सब काम छोड़ कर जप-ध्यान करना ... जप, ध्यान, तप सूर्य-ग्रहण जितना फलदायी है...*
        मंगलवारी चतुर्थी* 🌷
🙏 *अंगार चतुर्थी को सब काम छोड़ कर जप-ध्यान करना …जप, ध्यान, तप सूर्य-ग्रहण जितना फलदायी है…*
🌷 *> बिना नमक का भोजन करें*
🌷 *> मंगल देव का मानसिक आह्वान करो*
🌷 *> चन्द्रमा में गणपति की भावना करके अर्घ्य दें*
💵 *कितना भी कर्ज़दार हो ..काम धंधे से बेरोजगार हो ..रोज़ी रोटी तो मिलेगी और कर्जे से छुटकारा मिलेगा |
          *मंगलवार चतुर्थी* 🌷
🙏🏻 *इस महा योग पर अगर मंगल ग्रह देव के 21 नामों से सुमिरन करें  और धरती पर अर्घ्य देकर प्रार्थना करें,शुभ संकल्प करें तो आप सकल ऋण से मुक्त हो सकते हैं..*
*👉🏻मंगल देव के 21 नाम इस प्रकार हैं :-*
🌷 *1) ॐ मंगलाय नमः*
🌷 *2) ॐ भूमि पुत्राय नमः*
🌷 *3 ) ॐ ऋण हर्त्रे नमः*
🌷 *4) ॐ धन प्रदाय नमः*
🌷 *5 ) ॐ स्थिर आसनाय नमः*
🌷 *6) ॐ महा कायाय नमः*
🌷 *7) ॐ सर्व कामार्थ साधकाय नमः*
🌷 *8) ॐ लोहिताय नमः*
🌷 *9) ॐ लोहिताक्षाय नमः*
🌷 *10) ॐ साम गानाम कृपा करे नमः*
🌷 *11) ॐ धरात्मजाय नमः*
🌷 *12) ॐ भुजाय नमः*
🌷 *13) ॐ भौमाय नमः*
🌷 *14) ॐ भुमिजाय नमः*
🌷 *15) ॐ भूमि नन्दनाय नमः*
🌷 *16) ॐ अंगारकाय नमः*
🌷 *17) ॐ यमाय नमः*
🌷 *18) ॐ सर्व रोग प्रहाराकाय नमः*
🌷 *19) ॐ वृष्टि कर्ते नमः*
🌷 *20) ॐ वृष्टि हराते नमः*
🌷 *21) ॐ सर्व कामा फल प्रदाय नमः*
🙏 *ये 21 मन्त्र से भगवान मंगल देव को नमन करें  ..फिर धरती पर अर्घ्य देना चाहिए..अर्घ्य देते समय ये मन्त्र बोले :-*
🌷 *भूमि पुत्रो महा तेजा*
🌷 *कुमारो रक्त वस्त्रका*
🌷 *ग्रहणअर्घ्यं मया दत्तम*
🌷 *ऋणम शांतिम प्रयाक्ष्मे*
🙏 *हे भूमि पुत्र!..महा क्यातेजस्वी,रक्त वस्त्र धारण करने वाले देव मेरा अर्घ्य स्वीकार करो और मुझे ऋण से शांति प्राप्त कराओ..*
🔯आज का राशिफल🕉
मेष
यदि किसी प्रकार का निर्णय लेने कि सोच रहे हैं तो यह उसके लिए उचित समय है। आपको अपने कम्फर्ट ज़ोन से बाहर कोई कदम उठाना पड़ेगा। शुरुआत में इससे कुछ परेशानियां हो सकती हैं किन्तु यह आपके लिए भविष्य में लाभकारी रहेगा। नए लोगों से मुलाकात होने के आसार हैं जिनके साथ नए रिश्तों का आरम्भ होगा।

वृष
आज कार्यों में अचानक बाधा उत्पन्न होने के कारण काम का समापन में विलम्ब हो सकता है। जल्दबाजी न करें न ही किसी बात पर जिद्दी रवैया अपनाएँ नहीं तो आपका नुकसान हो सकता है। काम अपने समय के अनुसार अपने आप बनेंगे। अपना फोकस बनाएं रखें और व्यर्थ की चिंताओं से बचें। आज विद्यार्थियों के लिए दिन अच्छा रहेगा, कुछ नया सीखने को मिलेगा।

मिथुन
अपनी दिन चर्या को बदलने का प्रयास करें। जीवन में यदि बंधा हुआ महसूस कर रहे हैं तो यही उचित समय है अपने जीवन को एक नई दिशा देने का। भेड़ चाल में न पड़ें, वह करें जो आपको अच्छा लगता हो, जिससे आपको ख़ुशी और संतुष्टि मिले। रिश्तों में भी यदि खुश नहीं हैं तो अपने आपको इस बंधन में बांधने की बजाय अपने अस्तित्व के लिए कुछ करें, इससे आपके रिश्तों में भी सुधार होगा
कर्क
किसी बात पर तनाव हो सकता है। छोटी छोटी बातों को दिल पर न लें। व्यर्थ चिंताओं में आज का दिन खराब न करें। अपनी ऊर्जा और आइडियाज को उचित दिशा में लगाएं। पुरानी बातों को सोचने से कोई लाभ नहीं। वर्तमान स्थिति को स्वीकार करें क्योंकि वर्तमान में ही भविष्य का निर्माण होता है।

सिंह
कोई ऐसा नुकसान हो जाए जिसके लिए आपको पछताना पड़ सकता है। अपनी योग्यता पर भरोसा रखें और किसी की भी बात के कारण इतना प्रभावित न हों की आपके आत्मविश्वास में कमी हो। अपने आप को हर परिस्थिति में संयमित बनाएं रखें। आज किसी नए व्यक्ति से मुलाक़ात हो सकती है जो आपके लिए महत्वपूर्ण साबित होगी। यह बदलाव का समय है। रिश्तों में नई शुरुआत होने के योग हैं। किसी रोमांटिक रिश्ते की शुरुआत हो सकती है।

कन्या
किसी रिश्तेदार या प्रियजन पर अपने आपको इतना न्योछावर न करें की वे आपका महत्त्व ही भूल जाएँ। कहीं बाहर घूमने का प्रोग्राम बन सकता है। पुराने किये हुए निवेश से आज धन लाभ होने के योग हैं। उतना ही काम करें जितनी ज़रुरत हो, उससे अधिक आपकी सेहत और निजी जीवन दोनों पर नकारात्मक असर डालेगा। रिश्तों में आपके जीवन में कई खुशियाँ हैं, उन्हें संजोयें।
तुला
अपना मन खराब न करें, किसी व्यर्थ की बहस में न पड़ें। परिस्थिति जल्द ही सामान्य हो जाएगी। आपको दुनिया वही देगी जो आप उसे देंगे। आपके विचार और आपकी ऊर्जा आपकी परिस्थिति निर्धारित करते हैं इसलिए अच्छी और सकारात्मक सोच बनाएं रखें। आज रिश्तों में कोई ऐसा निर्णय न लें जिसके लिए आपको जीवन भर पछताना पड़े। घर और कार्यस्थल में श्री यंत्र की स्थापना करवाएं, इससे हर प्रकार से आपको लाभ मिलेगा, आर्थिक भी और आध्यात्मिक भी।

वृश्चिक
नकारात्मक सोच से बचें। चीजों को सकारात्मक दृष्टिकोण से देखने का प्रयास करें। अपनी ज़रूरतों के लिए इतना परेशान होने की आवश्यकता नहीं है, आपकी ज़रूरतें आराम से पूरी होंगी। यह सोचिये की आप ऐसा क्या कर सकते हैं जिससे किसीके जीवन में खुशियाँ आयें। अपने अलावा किसी और के बारे में भी सोचें। हर परिस्थिति को लेन -देन के नज़रिए से न देखें।

धनु
आपके फोकस में कुछ कमी हो सकती है, अपने मूड स्विंग नियंत्रण में रखें। आज किसी भी प्रकार का रचनात्मक कार्य करें जो आपको पसंद हो जैसे की लेखन, चित्रकारी, डांस, कुकिंग इत्यादि। इससे आपके मन में संतोष की भावना बढ़ेगी और स्वास्थ्य लाभ भी होगा। आपके काम में भी फोकस बढ़ेगा और काम की गुणवत्ता में भी सुधार होगा। आज किसी प्रकार से दान ज़रूर करें।
मकर
आज कोई महत्वपूर्ण निर्णय लेने से पहले सोच विचार करलें, किसी एक्सपर्ट की सलाह लेने में भलाई है। यदि किसी बात से परेशान हैं तो उसे शेयर करें, ऐसा करने से आपको कोई कमजोर नहीं समझेगा। अपनी परेशानी व्यक्त करना शक्ति का सूचक है। आपकी योग्यता में कोई कमी नहीं है, किन्तु जिस प्रकार की सफलता आप ढूंढ रहे हैं उसके लिए अपने कौशल से सबका भला करें, उसे अपने तक सीमित न रखें।

कुम्भ
जीवन में उन्नति करना चाहते हैं और लक्ष्य भी बनाएं हुए हैं, परन्तु प्रयास की कमी है जिस कारण आपको कई बार निराश होना पड़ा है। यह दिन आपके लिए कई बदलाव ला रहा है। इसका पूरा फायदा उठाने के लिए आज से ही अपने प्रयास में कोई कमी न होने दें। जल्द ही आपकी सभी मनोकामनाएं पूर्ण हो सकती हैं।

मीन
बिना गहन सोच विचार के कोई निर्णय न लें। किसी एक्सपर्ट या काउंसलर से सलाह करें। किसी पुराने जानकार से मुलाकात हो सकती है को आपको किसी नए अवसर से अवगत करवाएगा। आज किसी बात को लेकर परेशानियों से घिरे रहेंगे। यदि कोई निर्णय लेने में दुविधा हो रही हो तो किसी से सलाह करें। अपनी अंतरात्मा की आवाज़ अवश्य सुनें। आज अपनी भावुकता पर नियंत्रण रखें।
जिनका आज जन्मदिन है उनको हार्दिक शुभकामनाएं
दिनांक 17 को जन्मे व्यक्ति का मूलांक 8 होगा। यह ग्रह सूर्यपुत्र शनि से संचालित होता है। इस दिन जन्मे व्यक्ति धीर गंभीर, परोपकारी, कर्मठ होते हैं। आपकी वाणी कठोर तथा स्वर उग्र है। आप भौतिकतावादी है। आप अदभुत शक्तियों के मालिक हैं। आप अपने जीवन में जो कुछ भी करते हैं उसका एक मतलब होता है। आपके मन की थाह पाना मुश्किल है। आपको सफलता अत्यंत संघर्ष के बाद हासिल होती है। कई बार आपके कार्यों का श्रेय दूसरे ले जाते हैं।

शुभ दिनांक : 8, 17, 26

शुभ अंक : 8, 17, 26, 35, 44


शुभ वर्ष : 2015, 2024, 2042

ईष्टदेव : हनुमानजी, शनि देवता

शुभ रंग : काला, गहरा नीला, जामुनी

कैसा रहेगा यह वर्ष
सभी कार्यों में सफलता मिलेगी। जो अभी तक बाधित रहे है वे भी सफल होंगे। व्यापार-व्यवसाय की स्थिति उत्तम रहेगी। नौकरीपेशा व्यक्ति प्रगति पाएंगे। बेरोजगार प्रयास करें, तो रोजगार पाने में सफल होंगे। शत्रु वर्ग प्रभावहीन होंगे, स्वास्थ्य की दृष्टि से समय अनुकूल ही रहेगा। राजनैतिक व्यक्ति भी समय का सदुपयोग कर लाभान्वित होंगे।
आज का विशेष उपाय
मंगलवार को कारोबार की समस्यायों से मुक्ति हेतु बंदरों को गुड़ व चने खाने के डाले
विस्तार में पढें

Sunday, 15 September 2019

// // Leave a Comment

आज का पंचांग व राशिफल

ऊं नमः शिवाय शिवजी सदा सहाय
ऊं नमः शिवाय गुरुजी सदा सहाय
ऊं नमः शिवाय श्री बालाजी सदा सहाय

निशुल्क पंचांग अपने मोबाइल फोन पर मंगवाने/व्हाट्सएप्प ग्रुप में ऐड होने के लिए 9911342666 पर अपने नाम के साथ में शहर का नाम लिख कर व्हाट्सएप्प करे
 ~ *आज का हिन्दू पंचांग* ~
⛅ *दिनांक 16 सितम्बर 2019*
⛅ *दिन - सोमवार*
⛅ *विक्रम संवत - 2076
⛅ *शक संवत -1941*
⛅ *अयन - दक्षिणायन*
⛅ *ऋतु - शरद*
⛅ *मास - अश्विन (गुजरात एवं महाराष्ट्र अनुसार भाद्रपद)*
⛅ *पक्ष - कृष्ण*
⛅ *तिथि - द्वितीया दोपहर 02:35 तक तत्पश्चात तृतीया*
⛅ *नक्षत्र - रेवती 17 सितम्बर प्रातः 04:23 तक तत्पश्चात अश्विन*
⛅ *योग - वृद्धि रात्रि 10:55 तक तत्पश्चात ध्रुव*
⛅ *राहुकाल - सुबह 07:48 से सुबह 09:19 तक*
⛅ *सूर्योदय - 06:26*
⛅ *सूर्यास्त - 18:40*
⛅ *दिशाशूल - पूर्व दिशा में*
⛅ *व्रत पर्व विवरण -
💥 *विशेष -  द्वितीया को बृहती (छोटा बैंगन या कटेहरी) खाना निषिद्ध है।(ब्रह्मवैवर्त पुराण, ब्रह्म खंडः 27.29-34)*
       जानिए पुराणों के अनुसार श्राद्ध का महत्व*🌷
 🙏 *कुर्मपुराण : कुर्मपुराण में कहा गया है कि 'जो प्राणी जिस किसी भी विधि से एकाग्रचित होकर श्राद्ध करता है, वह समस्त पापों से रहित होकर मुक्त हो जाता है और पुनः संसार चक्र में नहीं आता।'*
 🙏 *गरुड़ पुराण : इस पुराण के अनुसार 'पितृ पूजन (श्राद्धकर्म) से संतुष्ट होकर पितर मनुष्यों के लिए आयु, पुत्र, यश, स्वर्ग, कीर्ति, पुष्टि, बल, वैभव, पशु, सुख, धन और धान्य देते हैं।*
 🙏 *मार्कण्डेय पुराण : इसके अनुसार 'श्राद्ध से तृप्त होकर पितृगण श्राद्धकर्ता को दीर्घायु, सन्तति, धन, विद्या सुख, राज्य, स्वर्ग और मोक्ष प्रदान करते हैं।*
 🙏 *ब्रह्मपुराण : इसके अनुसार 'जो व्यक्ति श्रद्धा-भक्ति से श्राद्ध करता है, उसके कुल में कोई भी दुःखी नहीं होता।' साथ ही ब्रह्मपुराण में वर्णन है कि 'श्रद्धा एवं विश्वास पूर्वक किए हुए श्राद्ध में पिण्डों पर गिरी हुई पानी की नन्हीं-नन्हीं बूंदों से पशु-पक्षियों की योनि में पड़े हुए पितरों का पोषण होता है। जिस कुल में जो बाल्यावस्था में ही मर गए हों, वे सम्मार्जन के जल से तृप्त हो जाते हैं।*
   *श्राद्ध में क्या करें क्या ना करें*
🌷 *श्राद्ध एकान्त में ,गुप्तरुप से करना चाहिये, पिण्डदान पर दुष्ट मनुष्यों की दृष्टि पडने पर वह पितरों को नहीं पहुचँता, दूसरे की भूमि पर श्राद्ध नहीं करना चाहिये, जंगल, पर्वत, पुण्यतीर्थ और देवमंदिर ये दूसरे की भूमि में नही आते, इन पर किसी का स्वामित्व नहीं होता, श्राद्ध में पितरों  की तृप्ति ब्राह्मणों  के द्वारा ही होती है, श्राद्ध के अवसर पर ब्राह्मण को निमन्त्रित करना आवश्यक है, जो बिना ब्राह्मण के श्राद्ध करता है, उसके घर पितर भोजन नहीं करते तथा श्राप देकर लौट जाते हैं, ब्राह्मणहीन श्राद्ध करने से मनुष्य महापापी होता है | (पद्मपुराण, कूर्मपुराण, स्कन्दपुराण )*
🌷 *श्राद्ध के द्वारा प्रसन्न हुये पितृगण मनुष्यों को पुत्र, धन, आयु, आरोग्य, लौकिक सुख, मोक्ष आदि प्रदान करते हैं , श्राद्ध के योग्य समय हो या न हो, तीर्थ में पहुचते ही मनुष्य को सर्वदा स्नान, तर्पण और श्राद्ध करना चाहिये,*
*शुक्ल पक्ष की अपेक्षा कृष्ण पक्ष और पूर्वाह्न की अपेक्षा अपराह्ण श्राद्ध के लिये श्रेष्ठ माना जाता है | (पद्मपुराण, मनुस्मृति)*
🌷 *सायंकाल में  श्राद्ध नहीं करना चाहिये, सायंकाल का समय राक्षसी बेला नाम से प्रसिद्ध है, चतुर्दशी को श्राद्ध करने से कुप्रजा (निन्दित सन्तान) पैदा होती है, परन्तु जिसके पितर युद्ध में शस्त्र से मारे गये हो, वे चतुर्दशी को श्राद्ध करने से प्रसन्न होते हैं, जो चतुर्दशी को श्राद्ध करने वाला स्वयं भी युद्ध का भागी होता है | (स्कन्दपुराण, कूर्मपुराण, महाभारत)*
🌷 *रात्रि में  श्राद्ध नहीं  करना चाहिये, उसे राक्षसी कहा गया है, दोनो संध्याओं में भी श्राद्ध नहीं करना चाहिये, दिन के आठवें भाग (महूर्त) में जब सूर्य का ताप घटने लगता है उस समय का नाम 'कुतप' है, उसमें  पितरों  के लिये दिया हुआ दान अक्षय होता है, कुतप, खड्गपात्र, कम्बल, चाँदी , कुश, तिल, गौ और दौहित्र ये आठो कुतप नाम से प्रसिद्ध है, श्राद्ध में तीन वस्तुएँ अत्यन्त पवित्र हैं, दौहित्र, कुतपकाल, तथा तिल, श्राद्ध में तीन वस्तुएँ अत्यन्त प्रशंसनीय हैं, बाहर और भीतर की शुद्धि, क्रोध न करना तथा जल्दबाजी न करना
आज का राशिफल व पंचांग
♋☸🕉☪✡🔯✝
मेष राशि – आज आपको जरूरी काम में बड़े भाई-बहन से मदद मिलेगी| अगर आपका कपड़े का बिज़नेस है तो आपको फायदा होगा | जीवनसाथी के साथ किसी धार्मिक स्थल की यात्रा करेंगे | समाज में आपका मान-सम्मान बढ़ेगा | इस राशि के कॉमर्स स्टूडेंट्स के लिए आज का दिन बेहतर है | शिक्षकों का पूरा-पूरा सहयोग आपको प्राप्त होगा। आपका स्वास्थ्य फिट रहेगा | आर्थिक पक्ष पहले की अपेक्षा और मजबूत होगा |आपके सोचे हुए काम समय पर पूरे होंगे। भगवान शिव को प्रणाम करें, कार्यों में सफलता मिलेगी |
वृष राशि - आज आपकी खुशियों में इजाफा होगा | आपको अचानक किसी काम से मुनाफा हो सकता है। जिससे घर परिवार में आनंद कायम रहेगा। इस राशि के जिन लोगों का
इलेक्ट्रॉनिक्स का बिजनेस है, उनकी बिक्री बढ़ेगी | खेलकूद से जुड़े लोगों को भी लाभ के कई मौके मिलेंगे | दाम्पत्य जीवन में खुशियाँ बरकरार रहेगी | माता-पिता को बच्चों से किसी
काम में सहयोग प्राप्त होगा | आज आपके घर पर कोई मेहमान आ सकता है | सेहत के मामले में आपका दिन बेहतर बना रहेगा | धार्मिक कार्यों में अपना सहयोग दें, जीवन में सुख की अनुभूति होगी |
मिथुन राशि- आज आपके रूके हुए काम पूरे होने की संभावना है | इस राशि के मीडिया से जुड़े लोगों को आज नई उपलब्धियां प्राप्त होगी | आज आप किसी जरूरतमंद की मदद करेंगे | बिजनेस के सिलसिले में यात्रा करनी पड़ सकती है | आपकी यात्रा मंगलमय रहेगी | आपके आस-पास कुछ पॉजिटिव बदलाव आपकी जिंदगी को बेहतर बनायेंगे |ऑफिस का काम जल्दी पूरा होगा | समाज में आपका दायरा बढ़ेगा | तकनीकी क्षेत्र के स्टूडेंट्स के लिए आज का दिन काफी अच्छा रहने वाला है।
मंदिर की साफ-सफाई में अपना सहयोग दें, धन लाभ होंगे
कर्क राशि – आज आपके काम धीमी गति से पूरे होने की संभावना है | किसी खास काम में लोगों का सहयोग पाने के लिये आपको कोशिश करनी पड़ेगी | आज जीवनसाथी से रिश्तों में मिठास बनाकर रखें | पारिवारिक रिश्ता बेहद मजबूत होगा | आपको अपने बच्चों की पढ़ाई पर भी नजर रखने की जरूरत है | बिजनेस में विरोधियों से आपको बचकर रहना चाहिए | खुद को फिट रखनेके लिए आप एक्सरसाइज़ करें | आपको फायदा होगा। जरूरतमंद को वस्त्र दान करें,जीवन में खुशियाँ बरकरार रहेंगी|
सिंह राशि – आज आपकी पारिवारिक जिम्मेदारी बढ़ने की उम्मीद है | ऑफिस में आपसे पिछले दिनों की रिपोर्ट ली जा सकती है | आपके धन-धान्य में वृद्धि होगी | दोस्तों के साथ कहीं घूमने की प्लानिंग करेंगे | आज आपको फिजूल की बातों में पड़ने से बचना चाहिए | आपकी सेहत में कुछ उतार-चढ़ाव बना रहेगा | तली-भुनी चीजें खाने से आपको बचना चाहिए | आपके कुछ खास काम मेंआज रूकावट आ सकती है, लेकिन शाम तक काम पूरा हो जायेगा | शिवलिंग पर जल चढ़ाएं , आपकी सभी परेशानियाँ दूर होगी |
कन्या राशि – आज परिवार वालों के साथ समय बीतेगा | अगर किसी को प्रपोज करना चाहते हैं, तो आज का दिन शुभ है | काम में सफलता जरूर मिलेगी | इस राशि के जो लोग
प्राईवेट जॉब करते हैं,बॉस उनके काम से खुश होंगे | संतान के साथ संबंधों में मजबूती आयेगी | पुराने रोगों से आपको छुटकारा मिलेगा | कॉमर्स फील्ड के छात्रों को आज कुछ
नया सीखने को मिलेगा | आपके ज्ञान में बढ़ोतरी होगी | शिवजी को लाल फूल अर्पित करें, आपकी सभी मनोकामनाएं पूरी होगी
तुला राशि – आज आप किसी पारिवारिक समारोह में जा सकते हैं | जीवनसाथी के साथ तालमेल बनाकर चलने की जरूरत है | ऑफिस में आज स्थिति ठीक-ठाक रहेगी | आपका कॉन्फिडेंस लेवल साभी ठीक रहेगा| नौकरी के क्षेत्र में लाभ पाने के लिये आपको मेहनत करने की आवश्यकता है | परिवार में आज किसी से भी बात करते समय आपको अपनी भाषा पर संयम बनाये रखना चाहिए। इस राशि के जो छात्र साइंस की फील्डसे जुड़े हैं, आज उनका दिन मिला-जुला रहने वाला है | आपको बेहतर परिणाम पाने के लिए मेहनत करनी पड़ेगी | ब्राह्मण को कुछ दान करें, आपके सभी काम आसानी से पूरे होंगे|
वृश्चिक राशि – आज महत्वपूर्ण लोगों से आपकी मुलाकात की संभावना है | इस राशि के जो लोग पत्रकारिता के क्षेत्र से जुड़े हैं, उन्हें अपने काम के लिये तारीफ मिलेगी |
आपको समस्याको सुलझाने का तुरंत रास्ता मिल जायेगा | आपको अपने सीनियर्सका सपोर्ट भी मिलेगा | कुल मिलाकर आज आप अपने सभीकामों मेंबहुत हदतक सफल रहेंगे | बिजनेसमैन को अच्छा-खासा फायदा होगा |इस राशि के बच्चे पढ़ाई में रूचि लेंगे | आपका पारिवारिक जीवन सुखद बना रहेगा | मंदिर में एक हल्दी का टुकड़ा दान करें, धन लाभ होगा
धनु राशि- आज आप अपने जीवन में कुछ नए बदलाव करेंगे | ये बदलाव आपके लिये फायदेमंद होंगे | इस राशि के फैशन डिजाइनर्स काम के लिए विदेश जा सकते हैं | वहां जाकर नई चीज़ें सीखेंगे और काम में निखार आएगा | ऑफिस का माहौल आपको खुश रखेगा | ऑफिस में काम समय पर पूरे होंगे | सेहत की दृष्टि से आप खुद को एनर्जेटिक फील करेंगे | परिवार की सुख-समृद्धि में बढ़ोतरी होगी | कोर्ट-कचहरी का मामला आज आपके पक्ष में रहेगा | आपका वैवाहिक जीवन खुशियों से भरा रहेगा | अपने गुरु को प्रणाम करें, आर्थिक-स्थिति बेहतर बनी रहेगी |
मकर राशि – आज दाम्पत्य संबंधों में तालमेल बनाकर चलने की जरूरत है | किसी बात पर जीवनसाथी से अनबन हो सकती है |आपको बहस करने से बचना चाहिए | आज तरक्की के कई अच्छे मौके आपके सामने आयेंगे, लेकिन आपको उन मौकों पर नजर बनाये रखने की जरूरत है | सही दिशा में की गई मेहनत से ही आपको सफलता मिलेगी | आर्थिक रूप से आप मजबूत बने रहेंगे | आज आपको अपनी सेहत का ध्यानरखना चाहिए | आज आपकी मुलाकात कॉलेज के किसी दोस्त से हो सकती है। छोटे बच्चे को कलर की डिब्बी गिफ्ट करें, मेहनत रंग लायेगी
कुंभ राशि – आज आपके काम मन-मुताबिक पूरे होंगे | इस राशि के जो लोग राजनीति के क्षेत्र से जुड़े हैं, आज उन्हें कोई बड़ा पद मिल सकता है। आज आपकी फाइनेंशियल कंडिशन बेहतर बनी रहेगी | लवमेट के साथ लंच करने का प्रोग्राम बनायेंगे | आप रोजगार के मामले में किसी से सलाह लेंगे, जो कि आपके लिये फायदेमंद रहेगी |किसी व्यक्ति से नये प्रोजेक्ट के बारे में बात हो सकती है | आज आपके मन में नए विचार आयेंगे | मित्रों के साथ संबंध बेहतर होंगे | मंदिर में घी की डिब्बी दान करें, रिश्ते बेहतर होंगे |
मीन राशि - आज जीवनसाथी का पूरा-पूरा सहयोग प्राप्त होगा | आज आप किसी नए कार्य को करने में रूचि दिखाएंगे। जिसमें आपको सफलता भी मिलेगी। आज आपको ऑफिस की तरफ से ट्रिप पर जाने का मौका मिलेगा| जिसे आप खूब एन्जॉय भी करेंगे | परिवार की आर्थिक स्थिति बेहतर बनी रहेगी | व्यापार में अचानक आपको धनलाभ के अवसरप्राप्त होंगे | इसराशि केजो छात्र इंजीनियरिंग कर रहे हैं,उनके लिए आज का दिन शानदार है | बड़े-बुजुर्ग आज शाम को अपने दोस्तों से मिलने जायेंगे | चिड़ियों को बाजरा खिलाएं,आपके साथ सब अच्छा होगा।
जिनका आज जन्मदिन है उनको हार्दिक शुभकामनाएं
दिनांक 16 को जन्मे व्यक्ति का मूलांक 7 होगा। इस अंक से प्रभावित व्यक्ति अपने आप में कई विशेषता लिए होते हैं। यह अंक वरूण ग्रह से संचालित होता है। आप खुले दिल के व्यक्ति हैं। आपकी प्रवृत्ति जल की तरह होती है। जिस तरह जल अपनी राह स्वयं बना लेता है वैसे ही आप भी तमाम बाधाओं को पार कर अपनी मंजिल पाने में कामयाब होते हैं। आप पैनी नजर के होते हैं। किसी के मन की बात तुरंत समझने की आपमें दक्षता होती है।

शुभ दिनांक : 7, 16, 25

शुभ अंक : 7, 16, 25, 34

शुभ वर्ष : 2014, 2018, 2023

ईष्टदेव : भगवान शिव तथा विष्णु

शुभ रंग : सफेद, पिंक, जामुनी, मेहरून

कैसा रहेगा यह वर्ष
आपके कार्य में तेजी का वातावरण रहेगा। आपको प्रत्येक कार्य में जुटकर ही सफलता मिलेगी। व्यापार-व्यवसाय की स्थिति उत्तम रहेगी। अधिकारी वर्ग का सहयोग मिलेगा। नौकरीपेशा व्यक्तियों के लिए समय सुखकर रहेगा। नवीन कार्य-योजना शुरू करने से पहले केसर का लंबा तिलक लगाएं व मंदिर में पताका चढ़ाएं।
विस्तार में पढें

Friday, 13 September 2019

// // Leave a Comment

आज का पंचांग व राशिफल

ऊं नमः शिवाय शिवजी सदा सहाय
ऊं नमः शिवाय गुरुजी सदा सहाय
ऊं नमः शिवाय श्रीबालाजी सदा सहाय
निशुल्क पंचांग अपने मोबाईल फोन पर मंगवाने/ग्रुप में जुड़ने के लिए9911342666 पर अपने नाम के साथ में शहर का नाम लिख कर व्हाट्सएप्प करे
~ *आज का श्री बालाजी पंचांग* ~
⛅ *दिनांक 14 सितम्बर 2019*
⛅ *दिन - शनिवार*
⛅ *विक्रम संवत - 2076
⛅ *शक संवत -1941*
⛅ *अयन - दक्षिणायन*
⛅ *ऋतु - शरद*
⛅ *मास - भाद्रपद*
⛅ *पक्ष - शुक्ल*
⛅ *तिथि - पूर्णिमा सुबह 10:02 तक तत्पश्चात प्रतिपदा*
⛅ *नक्षत्र - पूर्व भाद्रपद रात्रि 10:56 तक तत्पश्चात उत्तर भाद्रपद*
⛅ *योग - शूल 09:27 तक तत्पश्चात गण्ड*
⛅ *राहुकाल - सुबह 09:19 से सुबह 10:51 तक*
⛅ *सूर्योदय - 06:26*
⛅ *सूर्यास्त - 18:42*
⛅ *दिशाशूल - पूर्व दिशा में*
⛅ *व्रत पर्व विवरण - पूर्णिमा संन्यासी चतुर्मास समाप्त, भागवत सप्ताह समाप्त, अंबाजी मेला, गौत्रिरात्रि व्रत समाप्त, गुरु अमरदासजी पुण्यतिथि  (ति.अ.), राष्ट्रीयभाषा दिवस, प्रतिपदा का श्राद्ध*
💥 *विशेष - पूर्णिमा के दिन स्त्री-सहवास तथा तिल का तेल खाना और लगाना निषिद्ध है।(ब्रह्मवैवर्त पुराण, ब्रह्म खंडः 27.29-38)*
         *श्राद्ध विशेष* 🌷
🌞 *पूर्वजों को पितर पक्ष में इस मंत्र के द्वारा सूर्य भगवान को अर्ध्य देने से यमराज प्रसन्न होकर पूर्वजों को अच्छी   जगह भेज देते हैं ।*
🌷 *ॐ धर्मराजाय नमः ।*
🌷 *ॐ महाकालाय नमः ।*
🌷 *ॐ म्रर्त्युमा नमः ।*
🌷 *ॐ दानवैन्द्र नमः ।*
🌷 *ॐ अनन्ताय नमः ।*
          *पितृ पक्ष* 🌷
🙏🏻 *धर्म ग्रंथों के अनुसार, विधि-विधान पूर्वक श्राद्ध करने से पितरों की आत्मा को शांति मिलती है। वर्तमान समय में देखा जाए तो विधिपूर्वक श्राद्ध कर्म करने में धन की आवश्यकता होती है। पैसा न होने पर विधिपूर्वक श्राद्ध नहीं किया जा सकता। ऐसे में पितृ दोष होने से कई प्रकार की समस्याएं जीवन में बनी रहती हैं। पुराणों के अनुसार, ऐसी स्थिति में पितरों के प्रति श्रद्धा व्यक्त कर कुछ साधारण उपाय करने से भी पितर तृप्त हो जाते हैं।*
➡  *न कर पाएं श्राद्ध तो करें इनमें से कोई 1 उपाय, नहीं होगा पितृ दोष*
🙏🏻 *जिस स्थान पर आप पीने का पानी रखते हैं, वहां रोज शाम को शुद्ध घी का दीपक लगाएं। इससे पितरों की कृपा आप पर हमेशा बनी रहेगी। इस बात का ध्यान रखें कि वहां जूठे बर्तन कभी न रखें।*
🙏🏻 *सर्व पितृ अमावस्या के दिन चावल के आटे के 5 पिंड बनाएं व इसे लाल कपड़े में लपेटकर नदी में बहा दें।*
🙏🏻 *गाय के गोबर से बने कंडे को जलाकर उस पर गूगल के साथ घी, जौ, तिल व चावल मिलाकर घर में धूप करें।*
🙏🏻 *विष्णु भगवान के किसी मंदिर में सफेद तिल के साथ कुछ दक्षिणा (रुपए) भी दान करें।*
🙏🏻 *कच्चे दूध, जौ, तिल व चावल मिलाकर नदी में बहा दें। ये उपाय सूर्योदय के समय करें तो अच्छा रहेगा।*
🙏🏻 *श्राद्ध में ब्राह्मण को भोजन कराएं या सामग्री जिसमें आटा, फल, गुड़, सब्जी और दक्षिणा दान करें।*
🙏🏻 *श्राद्ध नहीं कर सकते तो किसी नदी में काले तिल डालकर तर्पण करें। इससे भी पितृ दोष में कमी आती है।*
🙏🏻 *श्राद्ध पक्ष में किसी विद्वान ब्राह्मण को एक मुट्ठी काले तिल दान करने से पितृ प्रसन्न हो जाते हैं।
🙏🏻 *श्राद्ध पक्ष में पितरों को याद कर गाय को हरा चारा खिला दें। इससे भी पितृ प्रसन्न व तृप्त हो जाते हैं।*
🙏🏻 *सूर्यदेव को अर्ध्य देकर प्रार्थना करें कि आप मेरे पितरों को श्राद्धयुक्त प्रणाम पहुँचाए और उन्हें तृप्त करें।*
आज का राशिफल🕉
मेष
आज का दिन सामान्य रहेगा। किसी बात को लेकर चिंता बनी हुई है। उसका जल्द ही हल मिलेगा। आपका आज काम में फोकस बहुत अच्छा बना हुआ है, इसका उपयोग अपना काम करने में करें। अपने व्यापार या व्यवसाय के बारे में गंभीरता से विचार करें। मन से किसी भी प्रकार के भय को मिटा दें। आप जैसा चाहते हैं आपके जीवन में वैसे बदलाव जल्द ही आयेंगे।

वृष
परिस्थितियां इतनी बुरी नहीं जितना आप सोच रहे हैं। किसी और के दृष्टिकोण से देखने का प्रयास करें, आपको एक अलग ही तस्वीर दिखेगी। अपनी ज़रूरतों के लिए इतना परेशान होने की आवश्यकता नहीं है, आपकी ज़रूरतें आराम से पूरी होंगी। यह सोचिये की आप ऐसा क्या कर सकते हैं जिससे किसी के जीवन में खुशियां आएं। अपने अलावा किसी और के बारे में भी सोचें। हर परिस्थिति को लेन -देन के नज़रिए से न देखें।

मिथुन
अच्छे स्वास्थ्य के लिए अपने भावों और विचारों को खुल कर व्यक्त करें। उन्हें जितना दबायेंगे उतना ही वे रोग का कारण बनेंगे। किसी बात की चिंता करने की बजाय उसका हल निकालने का प्रयास करें। सब कुछ जानते बूझते हुए चुप न रहें नहीं तो इससे आपका और आपके प्रियजनों का नुकसान हो सकता है। आज निजी जीवन से संबंधित कोई महत्वपूर्ण निर्णय लेने से पहले किसी से सलाह अवश्य करें। आज अपने मूड स्विंग को नियंत्रण में रखें।
कर्क
आज अपना स्वभाव अड़ियल न रखें। भविष्य के लिए आज कोई योजना न बनाएं नहीं तो बाद में उसमे बहुत फेरबदल करने पड़ सकते हैं। आज पुरानी गलतियों के कारण परेशानी उठानी पड़ सकती है। किसी की बात अपने दिल पर न लें न ही उसके कारण अपने अहं को बढ़ने दें नहीं तो यह आपके लिए हानिकारक हो सकता है। इससे न केवल आपके रिश्तों पर असर पड़ेगा बल्कि आपकी सेहत भी खराब हो सकती है। अपनी गलतियों को स्वीकार करें, उन्हें नकारने की बजाय उनसे सीख लें तो भविष्य में कई और गलतियों से बाख सकते हैं। आप अपने लक्ष्य के बहुत करीब हैं, धैर्य से काम लें।

सिंह
आज यदि किसी की बात या नियत पर शक हो तो अपने अंतर्मन की आवाज़ अवश्य सुनें और उस पर अमल करें। किसी की बातों में न आयें, किसी और की बात पर सोच विचार कर के ही भरोसा करें नहीं तो आपको धोखा हो सकता है। अपना काम में फोकस बनाएं रखें और अपना काम ईमानदारी से करते रहें, आपको किसी की बात से विचलित होने की आवश्यकता नहीं है। परिस्थिति का समय के साथ हल मिल जाएगा, जितना उसके लिए परेशान होंगे उतना ही अपने लिए बाधाएं उत्पन्न करेंगे।

कन्या
दिन कई मायनों में अच्छा रहेगा लेकिन सफलता को अपने अहं का कारण न बनाने दें।। लम्बे समय से चले आ रहे प्रोजेक्ट संपन्न होंगे। आज बहुत कुछ सीखने को भी मिलेगा। किन्तु अपने काम को अपने निजी जीवन की समस्याओं से भागने का जरिया न बनाएं। जो भी परेशानी हो उसका सामना करें, जल्द ही परिस्थिति अनुकूल हो जाएगी।
तुला
किसी की बात को इतना दिल पर न लगायें की वह आपके रोग का कारण बन जाए। आपके लिए जीवन में उन्नति के लिए कई नए अवसर लेकर आएगा। अपने आप को परिस्थितयों में स्थिर बनाएं रखें। किसी की बातों से इतना प्रभावित न हों की आपकी स्थिरता पर असर पड़े। दूसरों के विचारों को सुनें पर ग्रहण वाही करें जो आपको उचित लगता हो। मन में आपके बहुत सी इच्छाएं हैं, इन्हें नकारने की बजाय स्वीकार करें, तभी मन में शान्ति की भावना आएगी नहीं तो यह द्वंद्व बना रहेगा।

वृश्चिक
अपने कार्य करने के तरीकों को समय के साथ बदलना समझदारी रहेगी। परिस्थिति प्रतिकूल हो सकती है आज किन्तु अपना संयम बनाएं रखें। दिन के पहले भाग में कुछ परेशानी हो सकती है लेकिन दिन का दूसरा भाग बहतर रहेगा। आज धन सम्बन्धी कोई बुरी खबर मिल सकती है। किसी प्रकार का कोई नुकसान हो सकता है, सावधानी बरतें। आज किसी को उधार न दें और यदि कोई उधार लिया हुआ है तो उसे जल्द से जल्द उतारने का प्रयास करें। आज किसी प्रकार का दान अवश करें।

धनु
आज कार्यभार अधिक रहेगा। करने योग्य बहुत कुछ है जिस कारण आपको कुछ तनाव महसूस हो सकता है और काम में मन नहीं लगेगा। अपनी प्राथमिकताओं को अच्छे प्रकार से समझ जान कर काम करेंगे तो बेहतर रहेगा। आज फोकस रहना आवश्यक है नहीं तो मन इधर उधर भटकता रहेगा और दिन के अंत में असंतोष कि भावना उत्पन्न हो सकती है जो कि तनाव और बढ़ा सकती है।
मकर
परिस्थिति चाहे जितनी भी प्रतिकूल हो, आपकी मेहनत और विश्वास से आप उसमे भी निहित वरदान ढून्ढ सकते हैं। वर्तमान में जीने का प्रयास करें, ऐसा न हो की आप आज के सुन्दर पलों को गवा दें और जीना ही भूल जाएँ। अपने जीवन में आज अपने वरदान को देखने का प्रयास करें। आपके चारों ओर निहित आशीर्वाद और वरदान पहचानें, आपको बहुत से सुन्दर अवसर मिल रहे हैं जीवन में उन्नति के लिए, उन्हें जाने न दें।

कुम्भ
आज कार्यों में अचानक बाधा उत्पन्न होने के कारण काम का समापन में विलम्ब हो सकता है। जल्दबाजी न करें न ही किसी बात पर जिद्दी रवैया अपनाएँ नहीं तो आपका नुकसान हो सकता है। काम अपने समय के अनुसार अपने आप बनेंगे। अपना फोकस बनाएं रखें और व्यर्थ की चिंताओं से बचें। आज विद्यार्थियों के लिए दिन अच्छा रहेगा, कुछ नया सीखने को मिलेगा।

मीन
किसी नए व्यक्ति से मिलना हो सकता है जो निजी एवं व्यवसायी रूप में आपकी सहायता करेगा। कुछ पुराने रिश्ते यदि दूर जा रहे हैं तो निराश न हों, इसमें भी आपकी ही भलाई है। यदि किसी चीज़ को जकड़ के रखने का प्रयास करेंगे तो दर्द आपको ही होगा। अपने आपको परिस्थतियों के अनुसार ढालने का प्रयास करें। बदलाव जीवन का एक अहम् हिस्सा है और यह आपके लिए भी हितकारी है। धना लाभ के अवसर बन रहे हैं। विदेश यात्रा होने के आसार हैं। घर में खुशियों का माहौल रहेगा।
🎂🥧🎂🥧🎂🥧🎂
जिनका आज जन्मदिन है उनको हार्दिक शुभकामनाएं

आप बेहद भाग्यशाली हैं कि आपका जन्म 14 को हुआ है। 14 का अंक आपस में मिलकर 5 होता है। 5 का अंक बुध ग्रह का प्रतिनिधि करता है। ऐसे व्यक्ति अधिकांशत: मितभाषी होते हैं। कवि,  कलाकार,  तथा अनेक विद्याओं के जानकार होते हैं। आपमें गजब की आकर्षण शक्ति होती है। आपमें लोगों को सहज अपना बना लेने का विशेष गुण होता है।

अनजान व्यक्ति की मदद के लिए भी आप सदैव तैयार रहते हैं। आपमें किसी भी प्रकार का परिवर्तन करना मुश्किल है। अर्थात अगर आप अच्छे स्वभाव के व्यक्ति हैं तो आपको कोई भी बुरी संगत बिगाड़ नहीं सकती। अगर आप खराब आचरण के हैं तो दुनिया की कोई भी ताकत आपको सुधार नहीं सकती। लेकिन सामान्यत: 14 तारीख को पैदा हुए व्यक्ति सौम्य स्वभाव के ही होते हैं।
शुभ दिनांक : 1,  5,  7,  14,  23

शुभ अंक : 1,  2,  3,   5,   9,  32,  41,  50 

शुभ वर्ष : 2030,  2032,  2034,  2050,  2059,  2052 

ईष्टदेव : देवी महालक्ष्मी,  गणेशजी,  मां अम्बे। 

शुभ रंग : हरा,  गुलाबी जामुनी,  क्रीम

कैसा रहेगा यह वर्ष
यह वर्ष आपके लिए सफलताओं भरा रहेगा। अभी तक आ रही परेशानियां भी इस वर्ष दूर होती नजर आएंगी। परिवारिक प्रसन्नता रहेगी। संतान पक्ष से खुशखबर आ सकती है। नौकरीपेशा व्यक्तियों के लिए यह वर्ष निश्चय ही सफलताओं भरा रहेगा। दाम्पत्य जीवन में मधुर वातावरण रहेगा। अविवाहित भी विवाह में बंधने को तैयार रहें। व्यापार-व्यवसाय में प्रगति से प्रसन्नता रहेगी।
विस्तार में पढें
// // Leave a Comment

सनातन धर्मनुसार श्राद्ध-कर्म

•पितृ-पक्ष-सितम्बर २०१९
(सम्पूर्ण जानकारी~श्राद्ध-कर्म सनातन धर्मनुसार)

✓इस सृष्टि में हर चीज का अथवा प्राणी का जोड़ा है, जैसे: रात और दिन, अँधेरा और उजाला, सफ़ेद और काला, अमीर और गरीब अथवा नर और नारी इत्यादि बहुत गिनवाये जा सकते हैं।
✓सभी चीजें अपने जोड़े से सार्थक है अथवा एक-दूसरे के पूरक है, दोनों एक-दूसरे पर निर्भर होते हैं, इसी तरह दृश्य और अदृश्य जगत का भी जोड़ा है, दृश्य जगत वो है जो हमें दिखता है और अदृश्य जगत वो है जो हमें नहीं दिखता, ये भी एक-दूसरे पर निर्भर है और एक-दूसरे के पूरक हैं।
✓पितृ-लोक भी अदृश्य-जगत का हिस्सा है और अपनी सक्रियता के लिये दृश्य जगत के श्राद्ध पर निर्भर है।
✓सनातन धर्मग्रंथों के अनुसार श्राद्ध के सोलह दिनों में लोग अपने पितरों को जल देते हैं तथा उनकी मृत्युतिथि पर श्राद्ध करते हैं,
✓सनातन धर्म में ऐसी मान्यता है कि पितरों का ऋण श्राद्ध द्वारा चुकाया जाता है, वर्ष के किसी भी मास तथा तिथि में स्वर्गवासी हुए पितरों के लिए पितृपक्ष की उसी तिथि को श्राद्ध किया जाता है।
✓पूर्णिमा पर देहांत होने से भाद्रपद शुक्ल पूर्णिमा को श्राद्ध करने का विधान है, इसी दिन से महालय (श्राद्ध) का प्रारंभ भी माना जाता है, श्राद्ध का अर्थ है श्रद्धा से जो कुछ दिया जाए।
✓पितृपक्ष में श्राद्ध करने से पितृगण वर्ष भर तक प्रसन्न रहते हैं, धर्मशास्त्रों में कहा गया है कि पितरों का पिण्ड दान करने वाला गृहस्थ दीर्घायु, पुत्र-पौत्रादि, यश, स्वर्ग, पुष्टि, बल, लक्ष्मी, पशु, सुख-साधन तथा धन-धान्य आदि की प्राप्ति करता है।
✓श्राद्ध में पितरों को आशा रहती है कि हमारे पुत्र-पौत्रादि हमें पिण्ड दान तथा तिलांजलि प्रदान कर संतुष्ट करेंगे, इसी आशा के साथ वे पितृलोक से पृथ्वीलोक पर आते हैं, यही कारण है कि हिंदू धर्म शास्त्रों में प्रत्येक हिंदू गृहस्थ को पितृपक्ष में श्राद्ध अवश्य रूप से करने के लिए कहा गया है।
✓श्राद्ध से जुड़ी कई ऐसी बातें हैं जो बहुत कम लोग जानते हैं, मगर ये बातें श्राद्ध करने से पूर्व जान लेना बहुत जरूरी है क्योंकि कई बार विधिपूर्वक श्राद्ध न करने से पितृ श्राप भी दे देते हैं।
∆•आज हम आपको श्राद्ध से जुड़ी कुछ विशेष बातें बता रहे हैं, जो इस प्रकार हैं:-

1- श्राद्धकर्म में गाय का घी, दूध या दही काम में लेना चाहिए, यह ध्यान रखें कि गाय को बच्चा हुए दस दिन से अधिक हो चुके हैं, दस दिन के अंदर बछड़े को जन्म देने वाली गाय के दूध का उपयोग श्राद्ध कर्म में नहीं करना चाहिए।
2- श्राद्ध में चांदी के बर्तनों का उपयोग व दान पुण्यदायक तो है ही राक्षसों का नाश करने वाला भी माना गया है, पितरों के लिए चांदी के बर्तन में सिर्फ पानी ही दिए जाए तो वह अक्षय तृप्तिकारक होता है, पितरों के लिए अर्घ्य, पिण्ड और भोजन के बर्तन भी चांदी के हों तो और भी श्रेष्ठ माना जाता है।
3- श्राद्ध में ब्राह्मण को भोजन करवाते समय परोसने के बर्तन दोनों हाथों से पकड़ कर लाने चाहिए, एक हाथ से लाए अन्न पात्र से परोसा हुआ भोजन राक्षस छीन लेते हैं।
4- ब्राह्मण को भोजन मौन रहकर एवं व्यंजनों की प्रशंसा किए बगैर करना चाहिए क्योंकि पितर तब तक ही भोजन ग्रहण करते हैं जब तक ब्राह्मण मौन रह कर भोजन करें।
5- जो पितृ शस्त्र आदि से मारे गए हों उनका श्राद्ध मुख्य तिथि के अतिरिक्त चतुर्दशी को भी करना चाहिए, इससे वे प्रसन्न होते हैं, श्राद्ध गुप्त रूप से करना चाहिए, पिंड दान पर साधारण या नीच मनुष्यों की दृष्टि पडने से वह पितरों को नहीं पहुंचता।
6- श्राद्ध में ब्राह्मण को भोजन करवाना आवश्यक है, जो व्यक्ति बिना ब्राह्मण के श्राद्ध कर्म करता है, उसके घर में पितर भोजन नहीं करते, श्राप देकर लौट जाते हैं, ब्राह्मण हीन श्राद्ध से मनुष्य महापापी होता है।
7- श्राद्ध में जौ, कांगनी, मटर, सरसों का उपयोग श्रेष्ठ रहता है, तिल की मात्रा अधिक होने पर श्राद्ध अक्षय हो जाता है, वास्तव में तिल पिशाचों से श्राद्ध की रक्षा करते हैं, कुशा (एक प्रकार की घास) राक्षसों से बचाते हैं।
8- दूसरे की भूमि पर श्राद्ध नहीं करना चाहिए, वन, पर्वत, पुण्यतीर्थ एवं मंदिर दूसरे की भूमि नहीं माने जाते क्योंकि इन पर किसी का स्वामित्व नहीं माना गया है, अत: इन स्थानों पर श्राद्ध किया जा सकता है।
9- चाहे मनुष्य देवकार्य में ब्राह्मण का चयन करते समय न सोचे, लेकिन पितृ कार्य में योग्य ब्राह्मण का ही चयन करना चाहिए क्योंकि श्राद्ध में पितरों की तृप्ति ब्राह्मणों द्वारा ही होती है।
10- जो व्यक्ति किसी कारणवश एक ही नगर में रहने वाली अपनी बहिन, जमाई और भानजे को श्राद्ध में भोजन नहीं कराता, उसके यहां पितर के साथ ही देवता भी अन्न ग्रहण नहीं करते।
11- श्राद्ध करते समय यदि कोई भिखारी आ जाए तो उसे आदर-पूर्वक भोजन करवाना चाहिए, जो व्यक्ति ऐसे समय में घर आए याचक को भगा देता है उसका श्राद्ध कर्म पूर्ण नहीं माना जाता और उसका फल भी नष्ट हो जाता है।
12- शुक्लपक्ष में, रात्रि में, युग्म दिनों (एक ही दिन दो तिथियों का योग) में तथा अपने जन्मदिन पर कभी श्राद्ध नहीं करना चाहिए, सनातनधर्म अनुसार सायंकाल का समय राक्षसों के लिए होता है, यह समय सभी कार्यों के लिए निंदित है, अत: शाम के समय भी श्राद्धकर्म नहीं करना चाहिए।
13- श्राद्ध में प्रसन्न पितृगण मनुष्यों को पुत्र, धन, विद्या, आयु, आरोग्य, लौकिक सुख, मोक्ष और स्वर्ग प्रदान करते हैं, श्राद्ध के लिए शुक्लपक्ष की अपेक्षा कृष्णपक्ष श्रेष्ठ माना गया है।
14- रात्रि को राक्षसी समय माना गया है, अत: रात में श्राद्ध कर्म नहीं करना चाहिए, दोनों संध्याओं के समय भी श्राद्धकर्म नहीं करना चाहिए, दिन के आठवें मुहूर्त (कुतपकाल) में पितरों के लिए दिया गया दान अक्षय होता है।
15- श्राद्ध में ये चीजें होना महत्वपूर्ण हैं:-  गंगाजल, दूध, शहद, दौहित्र, कुश और तिल।
√केले के पत्ते पर श्राद्ध भोजन निषेध है।
√सोने, चांदी, कांसे, तांबे के पात्र उत्तम हैं, इनके अभाव में साधारण पत्ते या पत्तल उपयोग की जा सकती है।
16- तुलसी से पितृगण प्रसन्न होते हैं, ऐसी धार्मिक मान्यता है कि पितृगण गरुड़ पर सवार होकर विष्णु लोक को चले जाते हैं, तुलसी से पिंड की पूजा करने से पितर लोग प्रलयकाल तक संतुष्ट रहते हैं।
17- रेशमी, कंबल, ऊन, लकड़ी, तृण, पर्ण, कुश आदि के आसन श्रेष्ठ हैं, आसन में लोहा किसी भी रूप में प्रयुक्त नहीं होना चाहिए।
18- चना, मसूर, उड़द, कुलथी, सत्तू, मूली, काला जीरा, कचनार, खीरा, काला उड़द, काला नमक, लौकी, बड़ी सरसों, काले सरसों की पत्ती और बासी, अपवित्र फल या अन्न श्राद्ध में निषेध हैं।
19- सनातन धर्म के भविष्य पुराण के अनुसार श्राद्ध 12 प्रकार के होते हैं, जो इस प्रकार हैं :-1- नित्य, 2- नैमित्तिक, 3- काम्य, 4- वृद्धि, 5- सपिण्डन, 6- पार्वण, 7- गोष्ठी, 8- शुद्धर्थ, 9- कर्मांग, 10- दैविक, 11- यात्रार्थ, 12- पुष्टयर्थ।
20- श्राद्ध के प्रमुख अंग इस प्रकार: तर्पण- इसमें दूध, तिल, कुशा, पुष्प, गंध मिश्रित जल पितरों को तृप्त करने हेतु दिया जाता है, श्राद्ध पक्ष में इसे नित्य करने का विधान है।
√भोजन व पिण्ड दान-- पितरों के निमित्त ब्राह्मणों को भोजन दिया जाता है, श्राद्ध करते समय चावल या जौ के पिण्ड दान भी किए जाते हैं।
√वस्त्रदान-- वस्त्र दान देना श्राद्ध का मुख्य लक्ष्य भी है।
√दक्षिणा दान-- यज्ञ की पत्नी दक्षिणा है जब तक भोजन कराकर वस्त्र और दक्षिणा नहीं दी जाती उसका फल नहीं मिलता।
21 - श्राद्ध तिथि के पूर्व ही यथाशक्ति विद्वान ब्राह्मणों को भोजन के लिए बुलावा दें, श्राद्ध के दिन भोजन के लिए आए ब्राह्मणों को दक्षिण दिशा में बैठाएं।
22- पितरों की पसंद का भोजन दूध, दही, घी और शहद के साथ अन्न से बनाए गए पकवान जैसे खीर आदि है, इसलिए ब्राह्मणों को ऐसे भोजन कराने का विशेष ध्यान रखें।
23- तैयार भोजन में से गाय, कुत्ते, कौए, देवता और चींटी के लिए थोड़ा सा भाग निकालें, इसके बाद हाथ जल, अक्षत यानी चावल, चन्दन, फूल और तिल लेकर ब्राह्मणों से संकल्प लें।
24- कुत्ते और कौए के निमित्त निकाला भोजन कुत्ते और कौए को ही कराएं किंतु देवता और चींटी का भोजन गाय को खिला सकते हैं।
√इसके बाद ही ब्राह्मणों को भोजन कराएं, पूरी तृप्ति से भोजन कराने के बाद ब्राह्मणों के मस्तक पर तिलक लगाकर यथाशक्ति कपड़े, अन्न और दक्षिणा दान कर आशीर्वाद पाएं।
25- ब्राह्मणों को भोजन के बाद घर के द्वार तक पूरे सम्मान के साथ विदा करके आएं, क्योंकि ऐसा माना जाता है कि ब्राह्मणों के साथ-साथ पितर लोग भी चलते हैं, ब्राह्मणों के भोजन के बाद ही अपने परिजनों, दोस्तों और रिश्तेदारों को भोजन कराएं।
26- पिता का श्राद्ध पुत्र को ही करना चाहिए, पुत्र के न होने पर पत्नी श्राद्ध कर सकती है, पत्नी न होने पर सगा भाई और उसके भी अभाव में सपिंडो (परिवार के सदस्यों ) को श्राद्ध करना चाहिए, एक से अधिक पुत्र होने पर सबसे बड़ा पुत्र श्राध्दकर्म करें या सबसे छोटा।
✓∆•हे पितृ देवजनो आप सभी अपनी कृपा हम सभी भारतियों पर बनाए रखो, सभी तरक्की वह संतानवान रहे पर जनसंख्या नियंत्रण के साथ, पितृपक्ष में एक वायदा जरूर अपने आप से करें कि अपने व परिवारजनो के जन्मदिन पर एक वृक्ष जरूर लगाएंगे वह उसका ध्यान संतान की तरह रखें, वह जल बजाने की कोशिश जरूर करें
विस्तार में पढें

Thursday, 12 September 2019

// // Leave a Comment

किस तारीख को कौन सा श्राद्ध



किस तारीख को है कौन सा श्राद्ध:
13 सितंबर शुक्रवार प्रोष्ठपदी/पूर्णिमा श्राद्ध
14 सितंबर शनिवार प्रतिपदा तिथि का श्राद्ध
15 सितंबर रविवार द्वितीया तिथि का श्राद्ध
17 सितंबर मंगलवार तृतीया तिथि का श्राद्ध
18 सितंबर बुधवार चतुर्थी तिथि का श्राद्ध
19 सितंबर बृहस्पतिवार पंचमी तिथि का श्राद्ध
20 सितंबर शुक्रवार षष्ठी तिथि का श्राद्ध
21 सितंबर शनिवार सप्तमी तिथि का श्राद्ध
22 सितंबर रविवार अष्टमी तिथि का श्राद्ध
23 सितंबर सोमवार नवमी तिथि का श्राद्ध
24 सितंबर मंगलवार दशमी तिथि का श्राद्ध
25 सितंबर बुधवार एकादशी का श्राद्ध/द्वादशी तिथि/संन्यासियों का श्राद्ध
26 सितंबर बृहस्पतिवार त्रयोदशी तिथि का श्राद्ध
27 सितंबर शुक्रवार चतुर्दशी का श्राद्ध
28 सितंबर शनिवार अमावस्या व सर्वपितृ श्राद्ध
29 अक्तूबर रविवार नाना/नानी का श्राद्ध

माता के दिन नवरात्र कब से हो रहे हैं शुरु

क्यों किया जाता है श्राद्ध? पितृ ऋण उतारने के लिए ही पितृ पक्ष में श्राद्ध कर्म किया जाता है। माना जाता है कि इस दौरान हमारे पूर्वज धरती पर आते हैं और हमारे द्वारा श्रद्धा के साथ दी गई सामग्री को स्वीकार करते हैं। इसलिए इन दिनों जो कुछ भी उन्हें श्रद्धा के साथ अर्पण किया जाता है उसे ही श्राद्ध कहते हैं। धार्मिक मान्यताओं अनुसार जो व्यक्ति अपने पितरों का तर्पण या श्राद्ध नहीं करता उसे पितृदोष का सामना करना पड़ता है। ज्योतिष में भी पितृदोष को सबसे अहम माना गया है। इस दोष के कारण व्यक्ति अपने जीवन में तरक्की नहीं कर पाता। लेकिन अगर पितर खुश हैं तो वे आपके जीवन में खुशहाली बने रहने का आशीर्वाद देते हैं। अत: जिन लोगों की कुंडली में पितृदोष लगा हुआ है उन्हें इस दौरान पूरी श्रद्धा भाव से पितरों की शांति के उपाय करने चाहिए।
विस्तार में पढें

Tuesday, 10 September 2019

// // Leave a Comment

आज का पंचांग व राशिफल

ऊं नमः शिवाय शिवजी सदा सहाय
ऊं नमः शिवाय गुरुजी सदा सहाय
ऊं नमः श्री बालाजी सदा सहाय
✡☪🕉♋🔯☸✝

निशुल्क पंचांग अपने मोबाइल फोन पर मंगवाने के लिए 9911342666 पर अपने नाम के साथ में  शहर का नाम लिख कर व्हाट्सएप्प करे।
~ *आज का श्री बालाजी पंचांग* ~
⛅ *दिनांक 11 सितम्बर 2019*
⛅ *दिन - बुधवार*
⛅ *विक्रम संवत - 2076
⛅ *शक संवत -1941*
⛅ *अयन - दक्षिणायन*
⛅ *ऋतु - शरद*
⛅ *मास - भाद्रपद*
⛅ *पक्ष - शुक्ल*
⛅ *तिथि - त्रयोदशी 12 सितम्बर प्रातः 05:06 तक तत्पश्चात चतुर्दशी*
⛅ *नक्षत्र - श्रवण दोपहर 02:00 तक तत्पश्चात धनिष्ठा*
⛅ *योग - अतिगण्ड शाम 06:38 तक तत्पश्चात सुकर्मा*
⛅ *राहुकाल - दोपहर 12:23 से दोपहर 01:55 तक*
⛅ *सूर्योदय - 06:25*
⛅ *सूर्यास्त - 18:44*
⛅ *दिशाशूल - उत्तर दिशा में*
⛅ *व्रत पर्व विवरण -
💥 *विशेष - त्रयोदशी को बैंगन खाने से पुत्र का नाश होता है।(ब्रह्मवैवर्त पुराण, ब्रह्म खंडः 27.29-34)*
        *अनंत चतुर्दशी* 🌷
🙏🏻 *गुरुवार, 12 सितंबर को दस दिवसीय गणेशोत्सव का अंतिम दिन है। इस दिन की गई गणेश पूजा से घर में सुख-समृद्धि यानी रिद्धि और सिद्धि का प्रवेश होता है। गणेशजी की कृपा से सभी दुख दूर हो जाते हैं। यहां 23 सितंबर के लिए खास उपाय...*
🌷 *ऐसे करें गणेश पूजा* 🌷
 *सुबह जल्दी उठें और स्नान के बाद गणेशजी की पूजा करें। पूजा में श्रीगणेश को सिंदूर, चंदन, जनेऊ, दूर्वा, लड्डू या गुड़ से बनी मिठाई का भोग लगाएं। धूप व दीप लगाकर आरती करें। पूजन में इस मंत्र का जप करें-*
🌷 *मंत्र- प्रातर्नमामि चतुराननवन्द्यमानमिच्छानुकूलमखिलं च वरं ददानम्।*
*तं तुन्दिलं द्विरसनाधिपयज्ञसूत्रं पुत्रं विलासचतुरं शिवयो: शिवाय।।*
*प्रातर्भजाम्यभयदं खलु भक्तशोकदावानलं गणविभुं वरकुञ्जरास्यम्।*
*अज्ञानकाननविनाशनहव्यवाहमुत्साहवर्धनमहं सुतमीश्वरस्य।।*
🙏🏻 *इस मंत्र का अर्थ यह है कि मैं ऐसे देवता का पूजन करता हूं, जिनकी पूजा स्वयं ब्रह्मदेव करते हैं। ऐसे देवता, जो मनोरथ सिद्धि करने वाले हैं, भय दूर करने वाले हैं, शोक का नाश करने वाले हैं, गुणों के नायक हैं, गजमुख हैं, अज्ञान का नाश करने वाले हैं। मैं शिव पुत्र श्री गणेश का सुख-सफलता की कामना से भजन, पूजन और स्मरण करता हूं।*
🌷 *लक्ष्मी-विनायक मंत्र का जप करें* 🌷
*दन्ताभये चक्र दरो दधानं, कराग्रस्वर्णघटं त्रिनेत्रम्।*
*धृताब्जया लिंगितमब्धिपुत्रया लक्ष्मी गणेशं कनकाभमीडे।।*
*श्रीं गं सौम्याय गणपतये वर वरदे सर्वजनं में वशमानय स्वाहा।।*
 🙏🏻 *यदि आप लक्ष्मी कृपा चाहते हैं तो पूजा में इस लक्ष्मी-विनायक मंत्र का जप कम से कम 108 बार करें। मंत्र जप के लिए कमल के गट्‌टे की माला का उपयोग करना चाहिए।*
💥 *ध्यान रखें मंत्र का जप सही उच्चारण के साथ करना चाहिए।*
 ➡ *यदि आप इस मंत्र का जप नहीं कर पा रहे हैं तो इन सरल मंत्रों का जप कर सकते हैं।*
🌷 *श्रीगणेश मंत्र- ॐ महोदराय नम:। ॐ विनायकाय नम:।*
🌷 *महालक्ष्मी मंत्र- ॐ महालक्ष्म्यै नम:। ॐ दिव्याये नम:*
      *अनंत चतुर्दशी* 🌷
➡ *12 सितम्बर 2019 गुरुवार को अंनत चतुर्दशी है ।*
🙏🏻 *भाद्रपद मास के शुक्लपक्ष की चतुर्दशी को अनन्त चतुर्दशी कहा जाता है। इस दिन अनन्त भगवान की पूजा करके संकटों से रक्षा करने वाला अनन्तसूत्र बांधा जाता है।*
🙏🏻 *कहा जाता है कि जब पाण्डव जुएं में अपना सारा राज-पाट हारकर वन में कष्ट भोग रहे थे, तब भगवान श्रीकृष्ण ने उन्हें अनन्तचतुर्दशी का व्रत करने की सलाह दी थी। धर्मराज युधिष्ठिर ने अपने भाइयों तथा द्रौपदी के साथ पूरे विधि-विधान से यह व्रत किया तथा अनन्तसूत्रधारण किया। अनन्तचतुर्दशी-व्रत के प्रभाव से पाण्डव सब संकटों से मुक्त हो गए।**व्रत-विधान-व्रतकर्ता प्रात:स्नान करके व्रत का संकल्प करें। शास्त्रों में यद्यपि व्रत का संकल्प एवं पूजन किसी पवित्र नदी या सरोवर के तट पर करने का विधान है, तथापि ऐसा संभव न हो सकने की स्थिति में घर में पूजागृह की स्वच्छ भूमि पर कलश स्थापित करें। कलश पर शेषनाग की शैय्यापर लेटे भगवान विष्णु की मूर्ति  अथवा चित्र को रखें। उनके समक्ष चौदह ग्रंथियों (गांठों) से युक्त अनन्तसूत्र (डोरा) रखें। इसके बाद “ॐ अनन्तायनम:” मंत्र से भगवान विष्णु तथा अनंतसूत्र की षोडशोपचार-विधिसे पूजा करें। पूजनोपरांत अनन्तसूत्र को मंत्र पढकर पुरुष अपने दाहिने हाथ और स्त्री बाएं हाथ में बांध लें-*
🌷 *अनंन्तसागर महासमुद्रे मग्नान्समभ्युद्धर वासुदेव।*
*अनंतरूपे विनियोजितात्माह्यनन्तरूपाय नमो नमस्ते॥*
🙏🏻 *अनंतसूत्र बांध लेने के पश्चात किसी ब्राह्मण को नैवेद्य (भोग) में निवेदित पकवान देकर स्वयं सपरिवार प्रसाद ग्रहण करें। पूजा के बाद व्रत-कथा को पढें या सुनें। कथा का सार-संक्षेप यह है- सत्ययुग में सुमन्तु नाम के एक मुनि थे। उनकी पुत्री शीला अपने नाम के अनुरूप अत्यंत सुशील थी। सुमन्तु मुनि ने उस कन्या का विवाह कौण्डिन्यमुनि से किया। कौण्डिन्यमुनि अपनी पत्नी शीला को लेकर जब ससुराल से घर वापस लौट रहे थे, तब रास्ते में नदी के किनारे कुछ स्त्रियां अनन्त भगवान की पूजा करते दिखाई पडीं। शीला ने अनन्त-व्रत का माहात्म्य जानकर उन स्त्रियों के साथ अनंत भगवान का पूजन करके अनन्तसूत्र बांध लिया। इसके फलस्वरूप थोडे ही दिनों में उसका घर धन-धान्य से पूर्ण हो गया।*
🌷 *कथा*
🙏🏻 *एक दिन कौण्डिन्य मुनि की दृष्टि अपनी पत्नी के बाएं हाथ में बंधे अनन्तसूत्र पर पडी, जिसे देखकर वह भ्रमित हो गए और उन्होंने पूछा-क्या तुमने मुझे वश में करने के लिए यह सूत्र बांधा है? शीला ने विनम्रतापूर्वक उत्तर दिया-जी नहीं, यह अनंत भगवान का पवित्र सूत्र है। परंतु ऐश्वर्य के मद में अंधे हो चुके कौण्डिन्यने अपनी पत्नी की सही बात को भी गलत समझा और अनन्तसूत्रको जादू-मंतर वाला वशीकरण करने का डोरा समझकर तोड दिया तथा उसे आग में डालकर जला दिया। इस जघन्य कर्म का परिणाम भी शीघ्र ही सामने आ गया। उनकी सारी संपत्ति नष्ट हो गई। दीन-हीन स्थिति में जीवन-यापन करने में विवश हो जाने पर कौण्डिन्यऋषि ने अपने अपराध का प्रायश्चित करने का निर्णय लिया। वे अनन्त भगवान से क्षमा मांगने हेतु वन में चले गए। उन्हें रास्ते में जो मिलता वे उससे अनन्तदेवका पता पूछते जाते थे। बहुत खोजने पर भी कौण्डिन्यमुनि को जब अनन्त भगवान का साक्षात्कार नहीं हुआ, तब वे निराश होकर प्राण त्यागने को उद्यत हुए। तभी एक वृद्ध ब्राह्मण ने आकर उन्हें आत्महत्या करने से रोक दिया और एक गुफामें ले जाकर चतुर्भुज अनन्तदेव का दर्शन कराया।*
🙏🏻 *भगवान ने मुनि से कहा-तुमने जो अनन्तसूत्र का तिरस्कार किया है, यह सब उसी का फल है। इसके प्रायश्चित हेतु तुम चौदह वर्ष तक निरंतर अनन्त-व्रत का पालन करो। इस व्रत का अनुष्ठान पूरा हो जाने पर तुम्हारी नष्ट हुई सम्पत्ति तुम्हें पुन:प्राप्त हो जाएगी और तुम पूर्ववत् सुखी-समृद्ध हो जाओगे। कौण्डिन्यमुनि ने इस आज्ञा को सहर्ष स्वीकार कर लिया। भगवान ने आगे कहा-जीव अपने पूर्ववत् दुष्कर्मो का फल ही दुर्गति के रूप में भोगता है।मनुष्य जन्म-जन्मांतर के पातकों के कारण अनेक कष्ट पाता है। अनन्त-व्रत के सविधि पालन से पाप नष्ट होते हैं तथा सुख-शांति प्राप्त होती है। कौण्डिन्यमुनि ने चौदह वर्ष तक अनन्त-व्रत का नियमपूर्वक पालन करके खोई हुई समृद्धि को पुन:प्राप्त कर लिया।*
आज का राशिफल
🕉🔯☪✡☸☪✡
मेष-आपको लंबे समय से पोषित सपने और परियोजना पर काम करने का अवसर मिल सकता है। आर्थिक रूप से आप बहुत अच्छा करेंगे और एक पुराना ऋण भी वसूल किया जा सकता है। आप भौतिक सुख प्राप्ति सम्बंधित वस्तुओं की ओर आकर्षित होंगे। विदेशी यात्रा भी अमल में आ सकती है। स्वैच्छिक कार्य, योग, ध्यान और कलात्मक कार्य आपको संतुष्टि प्रदान करेंगें । बच्चे गर्व और खुशी का स्रोत बनेंगे
वृष- रचनात्मक लोग जीवन में अच्छा करेंगे। अपनी कल्पना और रचनात्मकता आपको प्रगति में मदद करेगी। आपके द्वारा अपने आप को अद्भुत और अनूठे तरीकों से व्यक्त करना दूसरों को प्रभावित करेगा और आप दूसरों का ध्यान अपनी ओर खींच पाएंगे। नई परियोजनाएं शुरू की जा सकती हैं और वित्तीय लाभ प्राप्ति का भी प्रबल संकेत है। शेयरों में निवेश के लिए अच्छा समय है। अपने शौक को विकसित करने के लिए यह एक अच्छा समय है। भविष्य में यह आपके लिए लाभदायक भी साबित हो सकते हैं। पारिवारिक में कोई शुभ कार्य संपन्न हो सकते हैं।
मिथुन- खेल प्रेमियों को अपनी प्रतिभा दिखाने के अवसर मिलेंगे और वाहवाही भी मिलेगी। जटिल समस्या का समाधान भी पाया जा सकता है। प्रेम संबंध मज़बूत होंगे और एकलों के जीवन में प्रेम प्रवेश कर सकता है। लाभ होगा और पुराना भुगतान भी मिल सकता है। यात्रा आपको एक नए उद्यम में प्रगति करने में मदद करेगी।
कर्क- आज आपको वांछित परिणाम नहीं मिल सकते हैं। आपको विभिन्न स्तरों पर कठिनाइयों का सामना करना पड़ सकता है। आप भ्रमित रह सकते हैं। इस स्थिति  के कारण आप समय पर काम पूरा नहीं कर पाएंगे।इस समय संसाधनों की कमी के कारण कुछ रोकना पड़ सकता है। स्वास्थ्य आपकी  चिंता का कारण बन सकता है। उत्तरार्ध में हालात सुधरेंगे और कठिनाइयों का समाधान मिलेगा। आप अपने भाइयों, बहनों और दोस्तों के समर्थन और मदद से प्रगति करेंगे। आपकी आर्थिक स्थिति में भी सुधार होगा। आपकी सामाजिक छवि बढ़ेगी
सिंह- आज  भाग्य आपका साथ देगा। पहले आपके सामने आने वाली आज किसी समारोह में भागीदारी का मौका मिलेगा  कठिनाइयां अब गायब हो जाएंगी और रुके हुए काम भी प्रगति करेंगे। रचनात्मक खोज आपको आकर्षित करेगी। यदि आप लेखन, साहित्य, कला, फिल्म, टीवी, विज्ञापन आदि में शामिल हैं। आप नई परियोजनाओं पर काम करेंगे और आपके काम की सराहना भी होगी। इस संबंध में विदेशी यात्रा भी हो सकती है। आय स्थिर रहेगी और आप भौतिक सुखों की प्राप्ति के लिए धन भी खर्च करेंगे। आपको कुछ प्रभावशाली लोगों का सहयोग मिलेगा और अच्छी प्रगति होगी। पारिवारिक संबंध सामान्य रहेंगे और आप अपने जीवनसाथी के साथ सुखमय जीवन बितायेंगे
कन्या- आज बहुत से अच्छे समाचार आपका इंतज़ार कर रहें हैं। आपको प्रयत्न करने से सफलता मिलेगी, दफ़्तर में तारीफ़ होगी, परिवार से सहयोग मिलेगा। नए काम और नौकरी बदलने के लिए यह अच्छा वक़्त है। नौकरी ढूंढ़ने वालों को अच्छा परिणाम मिलेगा। परिवार  में खुशियां और सौभाग्य दस्तक देगा। प्रेम संबंधों में मर्यादित रहें क्योंकि ऐसा न करने पर रिश्तों में तनाव संभावित है। यदि आप विवाहित हैं तो इस समय आपको जीवनसाथी का भरपूर सहयोग मिलेगा ।तुला- आज मानसिक तनाव और विचारों में अस्थिरता बढ़ेगी। जिसके कारण निर्णय लेने में आप कठिनाई का अनुभव करेंगे। आय के मामले में दिन बेहतर रहेगा। आज अल्प प्रयास या बिना प्रयास के भी धन आने का योग बना हुआ है। भाग्य इस समय आपके साथ है अतः किसी नए कार्य को करने या योजना बनाने के लिए सही समय है। इस समय सिर्फ मन को नियंत्रित रखें और उसे भटकने ना दें,सफलता स्वयं आपकी प्रतीक्षा में है। अतः मन को नियंत्रित करके आगे बढ़ने का प्रयास करें। नौकरी वालों के लिए स्थिति बनी रहेगी।
वृश्चिक- आज आप दृढ़ निश्चय होकर पूरे लगन से अपने कार्यों को पूरा करेंगे, परिणाम सार्थक और सकारात्मक होगा। जीवनसाथी के साथ थोड़ा समय बिताएं, उसकी समस्यायों को ध्यान से सुनने और भावनाओं को बेहतर तरीके से समझने से संबंधों में प्रगाड़ता आएगी । आपके व्यक्तिगत जीवन में तनाव कम रहेगा और आप सामाजिक और पारिवारिक जीवन का पूर्ण आनंद उठा सकें। बच्चे सहयोग करेंगे, और माँ का आशीर्वाद मिलेगा।
धनु- इस समय लिए गए निर्णय आपको लाभ देंगे। यह एक नई साझेदारी या एसोसिएशन में प्रवेश करने का एक अच्छा समय है और इससे अच्छे लाभ प्राप्त होंगे। वित्तीय निर्णय निवेश के वांछित परिणाम प्रदान करेंगे और बचत भी हो सकती है। पारिवारिक जीवन जस का तस  रहेगा। कुछ के लिए प्रेम सम्बन्ध अधूरे है। अपने खान-पान और  दिनचर्या के प्रति सजग रहें।
मकर-आज आपकी रचनात्मकता चरम पर रहेगी। जो जातक कला, लेखन जैसे  रचनात्मक क्षेत्र  से जुड़े हैं, वह लोकप्रियता प्राप्त कर सकतें हैं । साहित्य, संगीत, टीवी, सिनेमा, फैशन आदि जुड़े जातकों को  अपनी प्रतिभा दिखाने का अवसर मिलेगा। व्यापारियों के लिए कुछ प्रतिष्ठित सौदें हो सकते हैं। आप में से कुछ महत्वपूर्ण कैरियर संबंधी निर्णय ले सकते हैं,  जो आपको नई उपलब्धियों की ओर ले जाएगा। वित्तीय रूप से यह एक अच्छा  दिन है। आप कार्यालय और घर के नवीकरण पर भी खर्च करेंगे। घर में माहौल आनंदमय रहेगा और आप परिवार के साथ कुछ मनोरंजक गतिविधि आनंद लेंगे
कुंभ-अपनी बुद्धिमत्ता के कारण हर काम बेहतर ढंग से करेंगे। प्रभावशाली वाणी होने के कारण लोगों से आप अपनी बात मनवा सकेंगे। इन कारणों से आप अपने व्यवसाय में अच्छा कर पाएंगे और प्रचुर लाभ कमा पाएंगे। यात्रा से भी लाभ मिलेगा। संतान या शिक्षा को लेकर यदि आप कोई प्रयास कर रहे थे तो आपकी मेहनत का फ़ल मिलने वाला है। जीवनसाथी या किसी पारिवारिक सदस्य के साथ आज तू- तू,  मैं –मैं हो सकती है। स्वास्थ्य शुभ रहेगा।
मीन-आप नियमों  का पालन करने के लिए बाध्य है। इसके कारण परियोजनाओं में देरी हो सकती है।आपके कुछ वरिष्ठ खुले तौर पर अनैतिक हो सकते हैं और अपनी संभावनाओं को अवरुद्ध करने का प्रयास कर सकते हैं। प्रत्यक्ष टकराव की बजाय, आप  कूटनीति और चतुराई का प्रयोग कर चीजों को नियंत्रित करने का प्रयास करें। आर्थिक रूप से चीजें स्थिर रहेंगी।
🎂🥧🎂🥧🎂🥧
जिनका आज जन्मदिन है उनको हार्दिक शुभकामनाएं
दिनांक 11 को जन्मे व्यक्ति का मूलांक 2 होगा। ग्यारह की संख्या आपस में मिलकर दो होती है इस तरह आपका मूलांक दो होगा। इस मूलांक को चंद्र ग्रह संचालित करता है। चंद्र ग्रह मन का कारक होता है। आप अत्यधिक भावुक होते हैं। आप स्वभाव से शंकालु भी होते हैं। दूसरों के दु:ख दर्द से आप परेशान हो जाना आपकी कमजोरी है। आप मानसिक रूप से तो स्वस्थ हैं लेकिन शारीरिक रूप से आप कमजोर हैं। चंद्र ग्रह स्त्री ग्रह माना गया है। अत: आप अत्यंत कोमल स्वभाव के हैं। आपमें अभिमान तो जरा भी नहीं होता। चंद्र के समान आपके स्वभाव में भी उतार-चढ़ाव पाया जाता है। आप अगर जल्दबाजी को त्याग दें तो आप जीवन में बहुत सफल होते हैं।

शुभ दिनांक : 2, 11, 20, 29

शुभ अंक : 2, 11, 20, 29, 56, 65, 92
शुभ वर्ष : 2027, 2029, 2036

ईष्टदेव : भगवान शिव, बटुक भैरव

शुभ रंग : सफेद, हल्का नीला, सिल्वर ग्रे

कैसा रहेगा यह वर्ष
लेखन से संबंधित मामलों में सावधानी रखना होगी। बगैर देखे किसी कागजात पर हस्ताक्षर ना करें। किसी नवीन कार्य योजनाओं की शुरुआत करने से पहले बड़ों की सलाह लें। व्यापार-व्यवसाय की स्थिति ठीक-ठीक रहेगी। स्वास्थ्य की दृष्टि से संभल कर चलने का वक्त होगा। पारिवारिक विवाद आपसी मेलजोल से ही सुलझाएं। दखलअंदाजी ठीक नहीं रहेगी।
 🔯आज का विशेष उपाय
व्यापार कारोबार सही नहीं चल रहा है उपाय करें लाभ अवश्य होगा
बुधवार को किसी किन्नर को भोजन व हरा वस्त्र व दक्षिणा दें
शनिवार को दस दृष्टिहीन व्यक्तियों को लजीज भोजन कराएं
काम का कारोबार पर जाते समय पक्षियों को दाना डालें
बुधवार को गाय को पालक व गुड़ खिलाएं
आम से आते समय घर पत्नी के कुछ ना कुछ खाने की वस्तु जरुर लेकर जाते दुध व सफेद रंग की वस्तु उत्तम रहती
विस्तार में पढें
// // Leave a Comment

मंगलवार का पंचांग व राशिफल

ऊं नमः शिवाय शिवजी सदा सहाय
ऊं नमः शिवाय गुरुजी सदा सहाय
ऊं नमः शिवाय श्री बालाजी सदा सहाय


निशुल्क पंचांग अपने मोबाइल फोन पर मंगवाने/व्हाट्सएप्प ग्रुप में ऐड होने के लिए 991134266 पर अपने नाम के साथ में शहर का नाम लिख कर व्हाट्सएप्प करे।
 ~ *आज का क्षी बालाजी पंचांग* ~
⛅ *दिनांक 10 सितम्बर 2019*
⛅ *दिन - मंगलवार*
⛅ *विक्रम संवत - 2076
⛅ *शक संवत -1941*
⛅ *अयन - दक्षिणायन*
⛅ *ऋतु - शरद*
⛅ *मास - भाद्रपद*
⛅ *पक्ष - शुक्ल*
⛅ *तिथि - द्वादशी 11 सितम्बर रात्रि 02:42 तक तत्पश्चात त्रयोदशी*
⛅ *नक्षत्र - उत्तराषाढा सुबह 11:10 तक तत्पश्चात श्रवण*
⛅ *योग - शोभन शाम 05:47 तक तत्पश्चात अतिगण्ड*
⛅ *राहुकाल - शाम 03:28 से शाम 05:00 तक*
⛅ *सूर्योदय - 06:25*
⛅ *सूर्यास्त - 18:45*
⛅ *दिशाशूल - उत्तर दिशा में*
⛅ *व्रत पर्व विवरण - वामन जयंती*
💥 *विशेष - द्वादशी को पूतिका(पोई) अथवा त्रयोदशी को बैंगन खाने से पुत्र का नाश होता है।(ब्रह्मवैवर्त पुराण, ब्रह्म खंडः 27.29-34)*
🌷 *दुकान में बरकत ना हो तो*
👉🏻 *दुकान में अपनी जिनकी, जिनका अपना कारोबार है, अपना कुछ काम धंधा करते हैं और दुकान-धंधे में बरकत नहीं तो क्या करें  ? सुबह घर से  पूर्ब दिशा की ओर मुँह करके तिलक करके जायें | दुकान में जाके थोडा सा कपूर जला ले, गुरुदेव और गणपतिजी की तस्वीर रखें और गणेश गायत्री मंत्र बोलें* -
🌷 *एकदंताय विद्यमहे वक्रतुंडाय धीमहि | तन्नोदंती प्रच्चोदयात ||*
🙏🏻 *ये गणेश गायत्री मंत्र पांच बार, ग्यारह बार बोल ले अपने आप सही होने लगेगा |*
🌷 *ज्योतिष शास्त्र* 🌷
🙏🏻 *12 सितंबर, गुरुवार को भाद्रपद मास के शुक्ल पक्ष की चतुर्दशी तिथि है। धर्म ग्रंथों के अनुसार, इस दिन 10 दिवसीय गणेशोत्सव का समापन होता है व घरों व सार्वजनिक स्थानों पर स्थापित गणेश प्रतिमाओं का विसर्जन किया जाता है। ज्योतिष शास्त्र के अनुसार यदि इस दिन विसर्जन से पहले नीचे बताए गए छोटे-छोटे उपाय किए जाएं तो सभी की मनोकामनाएं पूरी हो सकती हैं।*
➡ *पैसा नौकरी बिजनेस हर समस्या का हल है ये उपाय*
👉🏻 *भगवान श्री गणेश को पूजा में रेशमी दुपटटा चढ़ाएं। दाम्पत्य जीवन में प्रेम और विश्वास बढ़ेगा।*
👉🏻 *भगवान श्री गणेश को पांच तरह के लड्डुओं का भोग लगाएं। भौतिक सुख-सुविधाएं मिलेंगी।*
👉🏻 *श्री गणेश का अभिषेक गाय के कच्चे दूध  (बिना उबला) से करें। धन की कमी पूरी होगी।*
👉🏻 *स्फटिक से  बनी श्री गणेश की मूर्तियाँ भक्तों को बांटें। समाज में मान-सम्मान मिलेगा।*
👉🏻 *श्री गणेश को ताजी, हरी दूर्वा चढ़ाएं। मानसिक और शारीरिक परेशानियां दूर होगी।*
👉🏻 *श्री गणेश को सिंदूर चढ़ाएं। ऑफिस और परिवार में चल रही समस्याएं समाप्त होंगी।*
👉🏻 *आम के पत्तों से भगवान श्री गणेश की पूजा करें। सभी तरह के  रोग ठीक होने लगेंगे।*
👉🏻 *भगवान श्री गणेश को गुड, चीनी और दही का भोग लगाएं। आने वाले संकटों से बचेंगे।*
👉🏻 *भगवान श्री गणेश का पंचामृत से अभिषेक करें। पैसों से संबंधित फायदा होने के योग बन सकते हैं।*
👉🏻 *तांबे के सिक्के को काले धागे में बांधकर श्री गणेश को चढ़ाएं। धन लाभ होगा।*
👉🏻 *भगवान श्री गणेश को गुलाब के 21 फूल चढ़ाएं। संतान संबंधी समस्या का निदान होगा।
*☪आज का राशिफल🕉
👉🏻 *पीले रेशमी कपड़ा भगवान श्री गणेश को अर्पित करें। नौकरी व व्यापार में लाभ होगा।*
मेष राशिफल / Aries Horoscope Today : मन लगाकर काम करें। व्यापार-व्यवसाय उत्तम रहेगा। निजी समस्या का समाधान होगा। परिजनों में असंतोष का वातावरण रहेगा। भूमि-आवास की समस्याओं से परेशान रहेंगे। आर्थिक चिंता रहेगी। मेहमनों का आवागमन बना रहेगा।


वृषभ राशिफल / Taurus Horoscope Today : कर्म के प्रति पूर्ण समर्पण व उत्साह आप को महत्वपूर्व पद दिलवा सकता है। बुद्धि एवं तर्क से कार्यस्थल पर अपना वर्चस्व स्थापित करेंगे। व्यापार में नई योजनाओं से लाभ होगा।


मिथुन राशिफल / Gemini Horoscope Today : आज वाणी पर नियंत्रण रखें। सकारात्मक विचारों के कारण प्रगति के योग बनेंगे। कार्यपद्धति में बदलाव होगा। नौकरी में आपके विरुद्ध षड्यंत्र होगा

कर्क राशिफल / Cancer Horoscope Today : आजीविका में नए प्रस्ताव मिलेंगे, जो आपके लिए शुभ रहेंगे। मित्रों में वर्चस्व बढ़ेगा। साहस, पराक्रम में वृद्धि सम्भव है। व्यापार में नए प्रस्तावों से लाभ की संभावना बनेगी। अनाज, तैल, पोहा और किराना व्यापारियों के लिए समय उतार चढ़ाव वाला है।


सिंह राशिफल / Leo Horoscope Today : दिन उपयुक्त है। किसी विशेष कार्य के होने से ईश्वर पर आस्था बढ़ेगी। पारिवारिक जीवन सुखद रहेगा। पूर्व में किए कार्यों के शुभ परिणाम देखने को मिलेंगे। वाणी पर संयम रखते हुए कार्य करें।
कन्या राशिफल / Virgo Horoscope Today : अपनी आदतों से जीवनसाथी से तालमेल स्थापित नहीं हो सकेगा। आजीविका के क्षेत्र में प्रगति के योग बन रहे हैं। प्रसन्नता व आशाजनक वातावरण के कारण प्रयास सार्थक होंगे। आज भेंट-उपहार आदि की प्राप्ति संभव है।


तुला राशिफल / Libra Horoscope Today : वाहन सुख मिलेगा। आर्थिक निवेश में सावधानी रखें। शीत से संबंधी विकार हो सकते हैं। कार्यस्थल पर सही निर्णय ले पाएंगे। मित्रों से आर्थिक मदद प्राप्त होगी।



वृश्चिक राशिफल / Scorpio Horoscope Today : आज आपके प्रयासों से आजीविका में परिवर्तन अथवा नवीन अवसर प्राप्त हो सकेंगे। जोखिम भरे कार्यों से दूर रहें, यह आपके लिए बेहतर होगा। शिक्षा के क्षेत्र में सफलता मिलेगी। प्रशासनिक लोगों से मेल-जोल बढ़ेगा।
धनु राशिफल / Sagittarius Horoscope Today : अपने काम करने के तरीके को बदलें, भाइयों से विवाद होंगे। दिन मिश्रित फलदायी रहेगा। निजी जीवन में सुख-समृद्धि बढ़ेगी। आकस्मिक लाभ होने के योग बन रहे हैं। सत्कर्म में रुचि रहेगी।


मकर राशिफल / Capricorn Horoscope Today : आजीविका के नए साधन मिलेंगे। वाणी पर संयम रखें। यात्रा सम्भव है। दांपत्य जीवन सुखद रहेगा। आर्थिक तंगी से जरूरी काम बाधित होंगे। संतान के व्यवहार से दुख होगा।


कुंभ राशिफल / Aquarius Horoscope Today : मन की बात कहने से शांति मिलेगी। वाहन खरीदने का मन सार्थक होगा। आलस्य हावी रहेगा। मन में किसी निर्णय को लेकर दुविधा रहेगी। माता-पिता से जरूरी वर्तालाप होगी।
मीन राशिफल / Pisces Horoscope Today : धन प्राप्ति के स्त्रोत स्थापित होने के योग हैं। किसी विशेष वस्तु की प्राप्ति के लिए धैर्य एवं संयम बना रहेगा। स्वास्थ्य के प्रति सावधानी रखें। कार्यस्थल के विरोधी परास्त होंगे। यात्रा निरस्त होगी
जिनका आज जन्मदिन है उनको हार्दिक शुभकामनाएं
दिनांक 10 को जन्मे व्यक्ति का मूलांक 1 होगा। आपका मूलांक एक होगा। आप राजसी प्रवृत्ति के व्यक्ति हैं। आपको अपने ऊपर किसी का शासन पसंद नहीं है। आप साहसी और जिज्ञासु हैं। आपका मूलांक सूर्य ग्रह के द्वारा संचालित होता है। आप अत्यंत महत्वाकांक्षी हैं। आपकी मानसिक शक्ति प्रबल है। आपको समझ पाना बेहद मुश्किल है। आप आशावादी होने के कारण हर स्थिति का सामना करने में सक्षम होते हैं। आप सौन्दर्यप्रेमी हैं। आपमें सबसे ज्यादा प्रभावित करने वाला आपका आत्मविश्वास है। इसकी वजह से आप सहज ही महफिलों में छा जाते हैं।

शुभ दिनांक : 1, 10, 19, 210

शुभ अंक : 1, 10, 19, 28, 37, 46, 55, 64, 73, 82
शुभ वर्ष : 2017, 2026, 2044, 2053, 2062

ईष्टदेव : सूर्य उपासना तथा मां गायत्री

शुभ रंग : लाल, केसरिया, क्रीम,

कैसा रहेगा यह वर्ष
यह वर्ष आपके लिए अत्यंत सुखद रहेगा। अधूरे कार्यों में सफलता मिलेगी। स्वास्थ्य की दृष्टि से यह वर्ष उत्तम रहेगा। पारिवारिक मामलों में महत्वपूर्ण कार्य होंगे। अविवाहितों के लिए सुखद स्थिति बन रही है। विवाह के योग बनेंगे। नौकरीपेशा के लिए समय उत्तम हैं। पदोन्नति के योग हैं। बेरोजगारों के लिए भी खुशखबर है इस वर्ष आपकी मनोकामना पूरी होगी।
विस्तार में पढें

Sunday, 8 September 2019

// // Leave a Comment

आज का पंचांग व राशिफल

ऊं नम शिवाय शिवजी सदा सहाय
ऊं नमः शिवाय गुरुजी सदा सहाय
ऊं नमः शिवाय श्री बालाजी सदा सहाय
🕉♋☪✝☸✡🔯

निशुल्क पंचांग अपने मोबाइल फोन पर मंगवाने के लिए 9911342666 पर अपने नाम के साथ में शहर का नाम लिख कर व्हाट्सएप्प करे।
 ~ *आज का श्री बालाजी पंचांग* ~
⛅ *दिनांक 09 सितम्बर 2019*
⛅ *दिन - सोमवार*
⛅ *विक्रम संवत - 2076
⛅ *शक संवत -1941*
⛅ *अयन - दक्षिणायन*
⛅ *ऋतु - शरद*
⛅ *मास - भाद्रपद*
⛅ *पक्ष - शुक्ल*
⛅ *तिथि - एकादशी रात्रि 12:31 तक तत्पश्चात द्वादशी*
⛅ *नक्षत्र - पूर्वाषाढा सुबह 08:37 तक तत्पश्चात उत्तराषाढा*
⛅ *योग - सौभाग्य शाम 05:08 तक तत्पश्चात शोभन*
⛅ *राहुकाल - सुबह 07:47 से सुबह 09:20 तक*
⛅ *सूर्योदय - 06:24*
⛅ *सूर्यास्त - 18:48*
⛅ *दिशाशूल - पूर्व दिशा में*
⛅ *व्रत पर्व विवरण - पद्मा-परिवर्तनी एकादशी*
💥 *विशेष - हर एकादशी को श्री विष्णु सहस्रनाम का पाठ करने से घर में सुख शांति बनी रहती है lराम रामेति रामेति । रमे रामे मनोरमे ।। सहस्त्र नाम त तुल्यं । राम नाम वरानने ।।*
💥 *आज एकादशी के दिन इस मंत्र के पाठ से विष्णु सहस्रनाम के जप के समान पुण्य प्राप्त होता है l*
💥 *एकादशी के दिन बाल नहीं कटवाने चाहिए।*
💥 *एकादशी को चावल व साबूदाना खाना वर्जित है | एकादशी को शिम्बी (सेम) ना खाएं अन्यथा पुत्र का नाश होता है।*
💥 *जो दोनों पक्षों की एकादशियों को आँवले के रस का प्रयोग कर स्नान करते हैं, उनके पाप नष्ट हो जाते हैं।
🌷 *वामन द्वादशी* 🌷
🙏🏻 *भाद्रपद मास के शुक्लपक्ष की द्वादशी तिथि को वामन द्वादशी या वामन जयंती कहते हैं। श्रीमद्भागवत के अनुसार, इसी तिथि पर भगवान वामन का प्राकट्य हुआ था। इस बार वामन द्वादशी 10 सितंबर, मंगलवार को है। धर्म ग्रंथों में वामन को भगवान विष्णु का अवतार माना गया है। वामन द्वादशी का व्रत इस प्रकार करें-*
 🌷 *व्रत व पूजा विधि* 🌷
*वैष्णव भक्तों को इस दिन उपवास करना चाहिए। सुबह स्नान आदि करने के बाद वामन द्वादशी व्रत का संकल्प लेना चाहिए। दोपहर (अभिजित मुहूर्त) में भगवान वामन की पूजा करनी चाहिए। इसके बाद एक बर्तन में चावल, दही और शक्कर रखकर किसी योग्य ब्राह्मण को दान करना चाहिए।*
*शाम के समय व्रती (व्रत करने वाला) को फिर से स्नान करने के बाद भगवान वामन का पूजन करना चाहिए और व्रत कथा सुननी चाहिए। इसके बाद ब्राह्मण को भोजन कराना चाहिए और स्वयं फलाहार करना चाहिए। इस तरह व्रत व पूजन करने से भगवान वामन प्रसन्न होते हैं और भक्तों की हर मनोकामना पूरी करते हैं।*
🌷 *वामन जयंती की प्रामाणिक कथा* 🌷
🙏🏻 *एक बार दैत्यराज बलि ने इंद्र को परास्त कर स्वर्ग  पर अधिकार कर लिया। पराजित इंद्र की दयनीय स्थिति को देखकर उनकी मां अदिति बहुत दुखी हुईं। उन्होंने अपने पुत्र के उद्धार के लिए विष्णु की आराधना की।*
🙏🏻 *इससे प्रसन्न होकर विष्णु प्रकट होकर बोले- देवी! चिंता मत करो। मैं तुम्हारे पुत्र के रूप में जन्म लेकर इंद्र को उसका खोया राज्य  दिलाऊंगा। समय आने पर उन्होंने अदिति के गर्भ से वामन के रूप में अवतार लिया। उनके ब्रह्मचारी रूप को देखकर सभी देवता और ऋषि-मुनि आनंदित हो उठे।*
🙏🏻 *एक दिन उन्हें पता चला कि राजा बलि स्वर्ग पर स्थायी अधिकार जमाने के लिए अश्वमेघ यज्ञ करा रहा है। यह जानकर वामन वहां पहुंचे। उनके तेज से यज्ञशाला प्रकाशित हो उठी। बलि ने उन्हें एक उत्तम आसन पर बिठाकर उनका सत्कार किया और अंत में उनसे भेंट मांगने के लिए कहा।*
🙏🏻 *इस पर वामन चुप रहे। लेकिन जब बलि उनके पीछे पड़ गया तो उन्होंने अपने कदमों के बराबर तीन पग भूमि भेंट में मांगी। बलि ने उनसे और अधिक मांगने का आग्रह किया, लेकिन वामन अपनी बात पर अड़े रहे। इस पर बलि ने हाथ में जल लेकर तीन पग भूमि देने का संकल्प ले लिया। संकल्प पूरा होते ही वामन का आकार बढ़ने लगा और वे वामन से विराट हो गए।*
🙏🏻 *उन्होंने एक पग से पृथ्वी  और दूसरे से स्वर्ग को नाप लिया। तीसरे पग के लिए बलि ने अपना मस्तक  आगे कर दिया। वह बोला- प्रभु, सम्पत्ति का स्वामी सम्पत्ति से बड़ा होता है। तीसरा पग मेरे मस्तक पर रख दें। सब कुछ गंवा चुके बलि को अपने वचन  से न फिरते देख वामन प्रसन्न हो गए। उन्होंने ऐसा ही किया और बाद में उसे पाताल का अधिपति बना दिया और देवताओं को उनके भय  से मुक्ति दिलाई.
मेष
आज आपके लिए कठिन समय होगा। आपको वांछित परिणाम नहीं मिलेंगे। कार्यक्षेत्र में प्रगति होगी। वरिष्ठों के साथ किसी भी तरह के तर्क से बचना आपके लिए अच्छा रहेगा। उत्तरार्ध में हालात बेहतर होंगे। जो समर्थन की कमी थी वह अब उपलब्ध होगी। आपके किसी करीबी का स्वास्थ्य, जो आपको देर से परेशान कर रहा था, अब धीरे-धीरे बेहतरी की ओर  मोड़ लेगा। आप आध्यात्मिक खोज के लिए तत्पर रहेंगे। बच्चे अपने संबंधित क्षेत्र में सक्रियता से अच्छा प्रदर्शन करेंगे।
वृष
आज व्यय की अधिकता रहेगी परन्तु आमदनी सीमित रहेगी। मानसिक तनावों को हावी ना होने दें। विपरीत परिस्थितियों को भी अपने पक्ष में करने की अपनी अद्भुत क्षमता का प्रयोग करें। अपने स्वास्थ्य का ध्यान रखें। जल्दबाजी में कोई काम ना करें। कहीं से अप्रत्याशित बुलावा आये तो वहाँ सोच समझ कर जायें, हो सकता है वहाँ कोई आपको हानि पहुँचाने का प्रयास करे या आप अनावश्यक किसी परेशानी में पड़ जायें। जाना नितांत आवश्यक हो तो अपने किसी करीबी को बताकर जायें और किसी को साथ ले लें। अधिक कमाने के चक्कर में किसी के बहकावे में ना आएं।
मिथुन
आज आपके चल रहे काम में कठिनाइयों का सामना करना पड़ेगा जो आपको काफी परेशान करेगा। विपरीत स्थितियों से निपटने के लिए आपको अपनी सोच बदलनी होगी और एक नई रणनीति बनानी होगी। शांत रहें क्योंकि आपको जल्द ही इन समस्याओं का हल मिल जाएगा। कुछ वित्तीय बाधाओं को भी महसूस किया जा सकता है और इस समय के लिए नए निवेश कोटालना  बेहतर होगा। यह सब आपकी सेहत पर भारी पड़ सकता है और आप थोड़ा तनाव में आ सकते हैं। जीवनसाथी या परिवार के किसी बड़े की सलाह मददगार साबित होगी।
कर्क
राशि
आर्थिक रूप से संपन्न रहेंगे। आपका सम्मान होगा और ख्याति बढे़गी। व्यापार का विस्तार भी हो सकता है। आपकी मेहनत रंग लाएगी। आपकी मेहनत का फ़ल मिलेगा। जीवनसाथी का साथ आनंददायी समय बीतेगा। परिवार के सदस्यों से सम्बन्ध मधुर रहेंगे। किन्तु संतान या उसकी शिक्षा को लेकर चिंता संभव है। प्रेम सम्बन्ध सुखद रहेगा। स्वास्थ्य भी अच्छा रहेगा।

सिंह
आज के दिन आपकी इच्छाएं पूरी हो सकती हैं। काम में व्यवस्थित रूप से चीजें आगे बढ़ेंगी। यदि आप आयात या निर्यात से जुड़े हैं और विदेश यात्रा के इच्छुक हैं तो आप विदेशी यात्रा भी कर सकते हैं। भविष्य में यह यात्रा अति लाभदायक सिद्ध हो सकती है। आर्थिक स्थिति मजबूत होगी। प्रॉपर्टी डीलिंग भी लाभकारी रहेगी। आप घर या कार्यालय के रखरखाव या नवीकरण पर भी खर्च कर सकते हैं। यदि किसी मुद्दे के बारे में आप निर्णय नहीं ले पा रहे हैं तो बड़ों की सलाह लेने में संकोच न करें। नया प्रेम सम्बन्ध अधर में है।
कन्या
राशि
कार्यस्थल पर किए गए प्रयास आने वाले दिनों में आपकी सफलता और प्रगति में योगदान करेंगे। पारिवारिक जीवन सुखमय और आनंददायक रहेगा। प्रेमियों के बीच मनमुटाव हो सकता है। आप भौतिक वस्तु प्राप्ति पर खर्च करेंगे। आपके पास कुछ महंगे अधिग्रहण हो सकते हैं जो आपकी संतुष्टि को बढ़ाएंगे और आपकी सामाजिक स्थिति को बढ़ाएंगे। संपत्ति निवेश या गृह के नवीनीकरण पर पैसा खर्च हो सकता है।
तुला
व्यावसायिक मोर्चे पर कड़ी मेहनत करने की आवश्यकता है। वरिष्ठों को खुश करना मुश्किल हो सकता है। इस अवधि के दौरान कड़ी मेहनत और विनम्र सफलता की कुंजी है। कयासों के लिए समय ठीक नहीं है। पारिवारिक जीवन में अशांति का सामना कर सकता है। भाई-बहनों के साथ तर्क आपको काफी उदास कर सकता है और आप असहाय महसूस कर सकते है। आज आपको ठंड या कुछ अन्य अवरोधक बीमारियों के खिलाफ अपने स्वास्थ्य की देखभाल करने की आवश्यकता है जो उपेक्षित होने पर जटिलताओं का कारण बन सकती हैं।
वृश्चिक
चिकित्सा और व्यर्थ व्यय आपके बजट को असंतुलित कर सकते हैं। आपके परिवार के सदस्यों (विशेषकर आपके बच्चों) का स्वास्थ्य काफी चिंता का कारण हो सकता है। आपको अपने स्वयं के उत्तेजित स्वभाव को दूर करने की कोशिश करनी चाहिए और अपने परिवार के सदस्यों के भावनात्मक प्रकोपों का सामना चतुराई से करना चाहिए। आपके कुछ दुश्मन आपको परेशानी दे सकते हैं। आपको अपने व्यवसाय के सिलसिले में दूर के स्थान पर जाना पड़ सकता है किन्तु यह यात्रा फलहीन हो सकती है।
धनु राशि
बड़ी समस्या सुलझाने की जिम्मेदारी आपको मिल सकती है। जीवन में आगे बढ़ने के मौके आपको मिलेंगे। आज जरुरत पड़ने पर कोई न कोई मदद अवश्य मिलेगी। कोई व्यक्ति आपके करियर की समस्या का सही समाधान निकाल सकता है।रिश्तों में संतुलनकी स्थिति बनी रहेगी। परिस्थितियां आपके फेवर में होगी। मंदिर में हल्दी की एक गांठ चढ़ाएं, सब कुछ बेहतर होगा।

मकर राशि
आज आपके करियर में कुछ उतार-चढ़ाव आ सकते हैं। फालतू के खर्चे बढ़सकते हैं। पैसों से जुड़े मामलों में आप परेशान हो सकते हैं। आपके कुछजरुरी काम अधूरे रह सकते हैं। धन लाभ आसानी से नहीं हो पायेगा। बिना बात किसी से उलझन हो सकती है। बेहतर होगा मन को शांत बनाये रखें। जल्दबाजी में काम करने से बचें।   सूर्यदेव को नमस्कार करें, आपके रुके हुए सभी काम बनेंगे।
कुंभ राशि
आज कुछ कर दिखाने की इच्छा जागेगी। एक्स्ट्रा इनकम का कोई जरिया शुरू हो सकता है। घर से भी अपना कोई पर्सनल काम शुरू कर सकते हैं। आपकी दिनचर्या में
बदलाव आ सकता है। आज किसी जरुरतमंद की मदद करेंगे, तो अच्छा लगेगा। किसी पुराने दोस्त या रिश्तेदार से बातचीत के योग हैं। आज कहीं यात्रा का कार्यक्रम भी बन सकता है|  घर से निकलने से पहले भगवान के चरण स्पर्श करके जायें, आपकी यात्रा सुखद रहेगी।
मीन राशि
आज माता-पिता के साथ धार्मिक स्थल पर जा सकते हैं। घर में नए मेहमान के आने की संभावना है। आपका मन खुश रहेगा। जीवनसाथी के बीच सामंजस्य बना रहेगा। घर में किसी मित्र के आगमन से खुशी दोगुनी हो जायेगी। लवमेट के लिए आज का दिन बढ़िया है। कोई बड़ा ऑफर मिलने से धन लाभ हो सकता है। सूर्यदेव को जल में थोड़े चावल मिलाकर अर्पित करें,
🎂🎂🥧🥧🎂🎂🎂
 आपका दिन शुभ रहेगा ।
जिनका आज जन्मदिन है उनको हार्दिक शुभकामनाएं
अंक ज्योतिष का सबसे आखरी मूलांक है नौ। आपके जन्मदिन की संख्या भी नौ है। यह मूलांक भूमि पुत्र मंगल के अधिकार में रहता है। आप बेहद साहसी हैं। आपके स्वभाव में एक विशेष प्रकार की तीव्रता पाई जाती है। आप सही मायनो में उत्साह और साहस के प्रतीक हैं। मंगल ग्रहों में सेनापति माना जाता है। अत: आप में स्वाभाविक रूप से नेतृत्त्व की क्षमता पाई जाती है। लेकिन आपको बुद्धिमान नहीं माना जा सकता। मंगल के मूलांक वाले चालाक और चंचल भी होते हैं। आपको लड़ाई-झगड़ों में भी विशेष आनंद आता है। आपको विचित्र साहसिक व्यक्ति कहा जा सकता है।

शुभ दिनांक : 9, 18, 27

शुभ अंक : 1, 2, 5, 9, 27, 72
शुभ वर्ष : 2017, 2018, 2025, 2036, 2045

ईष्टदेव : हनुमान जी, मां दुर्गा।

शुभ रंग : लाल, केसरिया, पीला

कैसा रहेगा यह वर्ष
अपनी शक्ति का सदुपयोग कर प्रगति की और अग्रसर होंगे। पारिवारिक विवाद सुलझेंगे। महत्वपूर्ण कार्य योजनाओं में सफलता मिलेगी। अधिकार क्षेत्र में वृद्धि संभव है। नौकरी में आ रही बाधा दूर होगी। स्वास्थ्य भी ठीक रहेगा। राजनैतिक व्यक्ति सफलता का स्वाद चख सकते हैं। मित्रों स्वजनों का सहयोग मिलने से प्रसन्नता रहेगी।
आज़ का विशेष उपाय🕉
यदि आप अपने मकान के के लिये परेशान हैं व लाख प्रयास के बाद भी सफलता नहीं मिल रही मंगलवार के दिन सांड को गुड़ खिलाएं व शनिवार को हनुमान जी को सिंदुर का चोला चढ़ाएं रास्ते बनते दिखाई देगा
🕉🕉🕉🕉🕉🕉🕉
ज्योतिष कुण्डली व वास्तु लाल किताब रेकी हिलिग से जुड़ी समस्याओं के समाधान व जानकारी या सिखने हेतू सम्पर्क करे
9⃣9⃣1⃣1⃣3⃣4⃣2⃣6⃣6⃣6⃣
विस्तार में पढें

Saturday, 7 September 2019

// // Leave a Comment

आज का पंचांग व राशिफल

ऊं नमः शिवाय शिवजी सदा सहाय
ऊं नमः शिवाय गुरुजी सदा सहाय
ऊं नमः शिवाय श्री बालाजी सदा सहाय
🕉🕉🕉🕉🕉🕉🕉
निशुल्क पंचांग अपने मोबाईल फोन पर मंगवाने के लिए
9911342666 पर अपने नाम के साथ में शहर का नाम लिख कर व्हाट्सएप्प करे।
अपनी जन्म कुंडली दिखाने के लिये भी सम्पर्क करे


~ *आज का श्री बालाजी पंचांग* ~
⛅ *दिनांक 08 सितम्बर 2019*
⛅ *दिन - रविवार*
⛅ *विक्रम संवत - 2076
⛅ *शक संवत -1941*
⛅ *अयन - दक्षिणायन*
⛅ *ऋतु - शरद*
⛅ *मास - भाद्रपद*
⛅ *पक्ष - शुक्ल*
⛅ *तिथि - दशमी रात्रि 10:41 तक तत्पश्चात एकादशी*
⛅ *नक्षत्र - मूल सुबह 06:30 तक तत्पश्चात पूर्वाषाढा*
⛅ *योग - आयुष्मान् शाम 04:47 तक तत्पश्चात सौभाग्य*
⛅ *राहुकाल - शाम 05:02 से शाम 06:34 तक*
⛅ *सूर्योदय - 06:24*
⛅ *सूर्यास्त - 18:48*
⛅ *दिशाशूल - पश्चिम दिशा में*
⛅ *व्रत पर्व विवरण -
💥 *विशेष - रविवार के दिन स्त्री-सहवास तथा तिल का तेल खाना और लगाना निषिद्ध है।(ब्रह्मवैवर्त पुराण, ब्रह्म खंडः 27.29-38)*
💥 *रविवार के दिन मसूर की दाल, अदरक और लाल रंग का साग नहीं खाना चाहिए।(ब्रह्मवैवर्त पुराण, श्रीकृष्ण खंडः 75.90)*
💥 *रविवार के दिन काँसे के पात्र में भोजन नहीं करना चाहिए।(ब्रह्मवैवर्त पुराण, श्रीकृष्ण खंडः 75)*
💥 *स्कंद पुराण के अनुसार रविवार के दिन बिल्ववृक्ष का पूजन करना चाहिए। इससे ब्रह्महत्या आदि महापाप भी नष्ट हो जाते हैं।*
           पद्मा एकादशी* 🌷
➡ *08 सितम्बर 2019 रविवार को रात्रि 10:42 से 09 सितम्बर, सोमवार को रात्रि 12:31 तक एकादशी है ।*
💥 *विशेष - 09 सितम्बर, सोमवार को एकादशी का व्रत (उपवास) रखें ।*
🙏🏻 *पद्मा एकादशी के  व्रत करने व माहात्म्य पढ़ने – सुनने से सर्व पापों का नाश |*
             🌞 *~ हिन्दू पंचांग *एकादशी व्रत के लाभ* 🌷
🙏🏻 *एकादशी व्रत के पुण्य के समान और कोई पुण्य नहीं है ।*
🙏🏻 *जो पुण्य सूर्यग्रहण में दान से होता है, उससे कई गुना अधिक पुण्य एकादशी के व्रत से होता है ।*
🙏🏻 *जो पुण्य गौ-दान सुवर्ण-दान, अश्वमेघ यज्ञ से होता है, उससे अधिक पुण्य एकादशी के व्रत से होता है ।*
🙏🏻 *एकादशी करनेवालों के पितर नीच योनि से मुक्त होते हैं और अपने परिवारवालों पर प्रसन्नता बरसाते हैं ।इसलिए यह व्रत करने वालों के घर में सुख-शांति बनी रहती है ।*
🙏🏻 *धन-धान्य, पुत्रादि की वृद्धि होती है ।*
🙏🏻 *कीर्ति बढ़ती है, श्रद्धा-भक्ति बढ़ती है, जिससे जीवन रसमय बनता है ।*
🙏🏻 *परमात्मा की प्रसन्नता प्राप्त होती है ।पूर्वकाल में राजा नहुष, अंबरीष, राजा गाधी आदि जिन्होंने भी एकादशी का व्रत किया, उन्हें इस पृथ्वी का समस्त ऐश्वर्य प्राप्त हुआ ।भगवान शिवजी  ने नारद से कहा है : एकादशी का व्रत करने से मनुष्य के सात जन्मों के पाप नष्ट हो जाते हैं, इसमे कोई संदेह नहीं है । एकादशी के दिन किये हुए व्रत, गौ-दान आदि का अनंत गुना पुण्य होता है ।*
🌷 *एकादशी के दिन करने योग्य*
🙏🏻 *एकादशी को दिया जला के विष्णु सहस्त्र नाम पढ़ें .......विष्णु सहस्त्र नाम नहीं हो तो १० माला गुरुमंत्र का जप कर लें l अगर घर में झगडे होते हों, तो झगड़े शांत हों जायें ऐसा संकल्प करके विष्णु सहस्त्र नाम पढ़ें तो घर के झगड़े भी शांत होंगे l
*एकादशी के दिन ये सावधानी रहे*
🙏🏻 *महिने में १५-१५ दिन में  एकादशी आती है एकादशी का व्रत पाप और रोगों को स्वाहा कर देता है लेकिन वृद्ध, बालक और बीमार व्यक्ति एकादशी न रख सके तभी भी उनको चावल का तो त्याग करना चाहिए एकादशी के  दिन जो चावल खाता है... तो धार्मिक ग्रन्थ से एक- एक चावल एक- एक कीड़ा खाने का पाप लगता है...ऐसा डोंगरे जी महाराज के भागवत में डोंगरे जी महाराज ने कहा
 🕉आज का राशिफल🕉
मेष- मुखर होने के नाते आप अपने मन की बात पारिवारिक सदस्यों से कह पायेंगी। इस बार अपने परिश्रम से मदद प्राप्त कर पाएंगे। छात्रों और श्रमिक वर्ग के लिए दिन शुभ नहीं है, किन्तु आपको अपने लक्ष्यों और महत्वाकांक्षाओं की प्राप्ति के प्रति गतिशील रहना चाहिए। वरिष्ठों और प्रभावशाली व्यक्तियों को अतिरिक्त मील जाना होगा, क्योंकि यह परीक्षण का समय है। यदि अति आवश्यक नहीं है तो चीजों से छेड़छाड़ न करें। आज खान-पान का ध्यान रखना शुभ रहेगा। पहाड़ी इलाकों की यात्रा संभव है।
वृष- आज आर्थिक रूप से संपन्न रहेंगे। आपका सम्मान होगा और ख्याति बढे़गी। व्यापार का विस्तार भी हो सकता है। आपकी मेहनत रंग लाएगी। आपकी मेहनत का फल मिलेगा। जीवनसाथी के साथ आनंददायी समय बीतेगा। परिवार के सदस्यों से संबंध मधुर रहेंगे। किन्तु  संतान या उसकी शिक्षा को लेकर चिंता संभव है। प्रेम संबंध सुखद रहेगा। स्वास्थ्य भी अच्छा रहेगा।
मिथुन- नौकरीपेशा जातकों पर काम का अधिक बोझ रहेगा। व्यापारी वर्ग अपने क़दम विश्वास के साथ आगे बढ़ाएं। आक्रामकता से बचें। असुरक्षा की भावना को न पनपने दें। कार्यस्थल पर में वाद-विवाद में न उलझें। अगर कोई पारिवारिक सम्पत्ति से जुड़ा मामला चल रहा है, तो इस सन्दर्भ में कुछ सकारात्मक घटना घट सकती है। पारिवारिक विवादों में ख़ुद को दोष न दें। खुलकर अपने मनोभावों को व्यक्त करें। अपने परिवार, दोस्तों और प्रियजनों के साथ समय बिताएं। पैरों में दर्द की शिकायत हो सकती है।
कर्क- कार्यस्थल पर किए गए प्रयास आने वाले दिनों में आपकी सफलता और प्रगति में योगदान करेंगे। पारिवारिक जीवन सुखमय और आनंददायक रहेगा। प्रेमियों के मध्य कुछ मनमुटाव हो सकता है । आप में से कुछ भौतिक वस्तु प्राप्ति पर खर्च करेंगे। आपके पास कुछ महंगे अधिग्रहण हो सकते हैं। जो आपकी संतुष्टि को बढ़ाएंगे और आपकी सामाजिक स्थिति को बढ़ाएंगे। संपत्ति निवेश या गृह के  नवीनीकरण पर पैसा खर्च हो सकता है।
सिंह- आज आप भावनात्मक रूप से परेशान हो सकते हैं। परिवार में झगड़े बढ़ सकते हैं और सहयोगियों के साथ विवाद संभव है। आपको विनम्रता और धैर्यशीलता के साथ वरिष्ठों से व्यवहार करना  चाहिए। संपत्ति सम्बंधित मामलों में सावधानी से निपटने की आवश्यकता है और इस संबंध में आपको एक ठोस कदम उठाना चाहिए। आपकी माता की सेहत कुछ चिंता का कारण बन सकती है। आपको वाहन चलाते समय अधिक सतर्क रहने  की आवश्यकता है । यह अवधि किसी नए उद्यम अथवा  निवेश के लिए भविष्यसूचक नहीं है इसलिए आपको इन सबसे दूर रहना चाहिए।
कन्या- जीवन में अप्रत्याशित रूप से कुछ घटित हो सकता हैं। विदेशी संपर्क  वाले लोग व्यावसायिक गतिविधि में उतार-चढ़ाव का अनुभव कर सकते हैं। यदि आप प्रतियोगिता के माध्यम से नौकरी तलाश कर रहे हैं तो कड़ी मेहनत कीजिये क्योकि सफलता आपसे बस एक हाथ दूर है। सरकारी अड़चनों के कारण आपके कुछ पूर्वनियोजित कार्य स्थगित हो सकते है। आय यथावत रहेगी। धन में वृद्धि के अवसर के रूप में आप में से कुछ नया व्यवसाय शुरू कर सकते हैं। प्रेम संबंधो में आप दीर्घकालिक प्रतिबद्धताओं पर विचार कर सकते हैं।
तुला- आज कुछ वित्तीय बाधाओं को अप्रत्याशित खर्च के रूप में महसूस किया जा सकता है। कार्यस्थल पर ग़लतफहमी और गलत सूचना आपके व्यावसायिक रिश्तो को ख़राब कर सकती है। इसलिए काम पर अनुशासित रहने की अतिरिक्त आवश्यकता है। सतत प्रयासों से चीजें आपके पक्ष में रहेंगी। सकारात्मक रवैया अपनाएं। मानसिक शांति प्राप्त करने के लिए ध्यान का विकल्प चुनना अच्छा होगा। कोई शुभ समाचार प्राप्त होगा,जिससे आपको आनंद मिलेगा और लाभ भी होगा। पारिवारिक सहयोग रहेगा। यात्रा नए संपर्क स्थापित करने में मदद करेगी।
वृश्चिक- आज आपको मिला-जुले परिणाम मिलेंगे। चल रहे काम में आपको कठिनाई का सामना करना पड़ सकता है। कुछ भावनात्मक मुद्दे आपको परेशान कर सकते हैं। आय स्थिर रहेगी, लेकिन आपको कुछ अनावश्यक खर्च करने पड़ सकते हैं। दिन के उत्तर्रार्ध में चीजों में सुधार होगा और आपका प्रभाव भी बढ़ेगा। आप कुछ प्रभावशाली संपर्क स्थापित करेंगे। विदेशी यात्रा कुछ अतिरिक्त प्रयास के साथ आगे बढ़ सकती है। संतान का विवाह सम्बन्ध पक्का हो सकता है।
धनु- आज का दिन शुभ परिणामदायक हो सकता है। आप लंबित कार्यो को पूरा करने में सक्षम होंगे। सामाजिक कार्य या राजनीति से जुड़े लोगों के लिए कुछ विशेष उपलब्धि संभव है । उद्यमियों के लिए समय शुभ है। नए संघों का गठन भी किया जा सकता है,जो लाभकारी होंगे। अच्छी तरह से सोचा गया निर्णय आपको अच्छा लाभ देगा। पारिवारिक संबंध और बातचीत अच्छी रहेगी। अचानक यात्रा करनी पड़ सकती है।
मकर- कार्यस्थल पर अचानक विकास होगा और ये बदलाव आपके पक्ष में होंगे। आपका संचार कौशल मजबूत होगा और आप आसानी से लोगों को प्रभावित कर पाएंगे। आप व्यस्त रहेंगे और गतिशील परियोजनाओं को पूरा करेंगे अथक प्रयास और एक नई शुरुआत करेंगे। यदि किसी परीक्षा या प्रतियोगिता के माध्यम से नौकरी की तलाश कर रहे हैं तो प्रयास जारी रखें और सफलता आपकी होगी। आर्थिक रूप से आप मजबूत और सुरक्षित होंगे और कोई  पुराना ऋण भी चुका सकते हैं ।
कुंभ- समाज में आपका यश और इज़्ज़त बढ़ेगी। दफ़्तर में कोई खुशखबरी मिल सकती है। प्रेमी जोड़ों के लिए अच्छा समय है, अपने प्रेम का आनंद लेंगे। कुँवारे लोगों की ज़िन्दगी में भी कोई विशेष व्यक्ति आएगा। घर में खुशियाँ आएंगी और परिवार का भी सहयोग मिलेगा।  कोई भी वित्तीय फ़ैसला लेने या शेयर मार्केट में निवेश करने से पहले शांति से सोचें। आप में ऊर्जा का संचार रहेगा उसका सही दिशा में उपयोग करें। भागेदारी में अहंकार या क्रोध के कारण रिश्ते तनावपूर्ण रह सकते हैं। आपको काम और परिवार के बीच अच्छा संतुलन बनाए रखने की आवश्यकता है।
मीन- इस समय आपकी सोचने और समझने की शक्ति मज़बूत रहेगी। यात्रायें आनंददायक और सुखद परिणामदायक होंगी। पारिवारिक सुख-सुविधाओं की वृद्धि होगी इसमें कुछ धन खर्च भी होगा। व्यापार में निवेश के लिए या नए कार्यों को प्रारम्भ करने के लिए यह समय बहुत बेहतर है। आर्थिक सफलता के बेहतर योग बने हुए हैं। सामाजिक और राजनैतिक क्षेत्रों में कार्य करने वालों के लिए यह समय कुछ प्रतिकूलता लिए हुए है।
जिनका आज जन्मदिन है उनको हार्दिक शुभकामनाएं
दिनांक 8 को जन्मे व्यक्ति का मूलांक 8 होगा। यह ग्रह सूर्यपुत्र शनि से संचालित होता है। इस दिन जन्मे व्यक्ति धीर गंभीर, परोपकारी, कर्मठ होते हैं। आपकी वाणी कठोर तथा स्वर उग्र है। आप भौतिकतावादी है। आप अदभुत शक्तियों के मालिक हैं। आप अपने जीवन में जो कुछ भी करते हैं उसका एक मतलब होता है। आपके मन की थाह पाना मुश्किल है। आपको सफलता अत्यंत संघर्ष के बाद हासिल होती है। कई बार आपके कार्यों का श्रेय दूसरे ले जाते हैं।

शुभ दिनांक : 8 17, 26

शुभ अंक : 8, 17, 26, 35, 44
शुभ वर्ष : 2017, 2024, 2042

ईष्टदेव : हनुमानजी, शनि देवता

शुभ रंग : काला, गहरा नीला, जामुनी

कैसा रहेगा यह वर्ष
सभी कार्यों में सफलता मिलेगी। जो अभी तक बाधित रहे है वे भी सफल होंगे। व्यापार-व्यवसाय की स्थिति उत्तम रहेगी। नौकरीपेशा व्यक्ति प्रगति पाएंगे। बेरोजगार प्रयास करें, तो रोजगार पाने में सफल होंगे। शत्रु वर्ग प्रभावहीन होंगे, स्वास्थ्य की दृष्टि से समय अनुकूल ही रहेगा। राजनैतिक व्यक्ति भी समय का सदुपयोग कर लाभान्वित होंगे।
आज का उपाय🕉
रात को नींद ना आते बुरे सपने परेशान करे
लाल कपड़े में 90 ग्राम खाने वाली हरी सौंफ को बांध कर हिलाने रख कर सोये इस उपाय से राहु ग्रह से मिलने वाली मानसिक पीड़ा भी शांत होती है
विस्तार में पढें

Thursday, 5 September 2019

// // Leave a Comment

आज छ सितंबर 2019 का पंचांग व राशिफल

ओम नमः शिवाय शिवजी सदा सहाय
ओम नमः शिवाय गुरुजी सदा सहाय
ओम नमः शिवाय श्री बाला जी सदा सहाय
निशुल्क



पंचांग अपने मोबाइल फोन पर मंगवाने के लिए 9911342666 पर अपने नाम के साथ मे शहर का नाम लिख कर व्हाट्सएप्प करे।
~ *आज का श्री बालाजी पंचांग* ~
⛅ *दिनांक 06 सितम्बर 2019*
⛅ *दिन - शुक्रवार*
⛅ *विक्रम संवत - 2076
⛅ *शक संवत -1941*
⛅ *अयन - दक्षिणायन*
⛅ *ऋतु - शरद*
⛅ *मास - भाद्रपद*
⛅ *पक्ष - शुक्ल*
⛅ *तिथि - अष्टमी रात्रि 08:43 तक तत्पश्चात नवमी*
⛅ *नक्षत्र - ज्येष्ठा 07 सितम्बर प्रातः 04:59 तक तत्पश्चात मूल*
⛅ *योग - विष्कम्भ शाम 05:27 तक तत्पश्चात प्रीति*
⛅ *राहुकाल - सुबह 10:52 से दोपहर 12:25 तक*
⛅ *सूर्योदय - 06:24*
⛅ *सूर्यास्त - 18:49*
⛅ *दिशाशूल - दक्षिण दिशा में*
⛅ *व्रत पर्व विवरण - राधाष्टमी, दधीचि ऋषि जयंती, महालक्ष्मी व्रतारम्भ, गौरी पूजन*
💥 *विशेष - अष्टमी को नारियल का फल खाने से बुद्धि का नाश होता है।(ब्रह्मवैवर्त पुराण, ब्रह्म खंडः 27.29-34)*
💥 *अष्टमी तिथि के दिन स्त्री-सहवास तथा तिल का तेल खाना और लगाना निषिद्ध है।(ब्रह्मवैवर्त पुराण, ब्रह्म खंडः 27.29-38)*
            राधा अष्टमी* 🌷
🙏🏻 *06 सितम्बर, शुक्रवार को श्रीराधा अष्टमी है। जन्माष्टमी के पूरे 15 दिन बाद ब्रज के रावल गांव में राधा जी का जन्म हुआ । कहते हैं कि जो राधा अष्टमी का व्रत नहीं रखता, उसे जन्माष्टमी व्रत का फल नहीं मिलता। भाद्रपद शुक्ल पक्ष की अष्टमी तिथि को राधाष्टमी व्रत रखा जाता है। पुराणों में राधा-रुक्मिणी को एक ही माना जाता है। जो लोग राधा अष्टमी के दिन राधा जी की उपासना करते हैं, उनका घर धन संपदा से सदा भरा रहता है। राधा अष्टमी के दिन ही महालक्ष्मी व्रत का आरंभ होता है।*
➡ *पुराणों के अनुसार राधा अष्टमी*
🙏🏻 *स्कंद पुराण के अनुसार राधा श्रीकृष्ण की आत्मा हैं। इसी कारण भक्तजन सीधी-साधी भाषा में उन्हें 'राधारमण' कहकर पुकारते हैं।*
🙏🏻 *पद्म पुराण में 'परमानंद' रस को ही राधा-कृष्ण का युगल-स्वरूप माना गया है। इनकी आराधना के बिना जीव परमानंद का अनुभव नहीं कर सकता।*
🙏🏻 *भविष्य पुराण और गर्ग संहिता के अनुसार, द्वापर युग में जब भगवान श्रीकृष्ण पृथ्वी पर अवतरित हुए, तब भाद्रपद मास के शुक्ल पक्ष की अष्टमी के दिन महाराज वृषभानु की पत्नी कीर्ति के यहां भगवती राधा अवतरित हुई। तब से भाद्रपद शुक्ल अष्टमी 'राधाष्टमी' के नाम से विख्यात हो गई।*
🙏🏻 *नारद पुराण के अनुसार 'राधाष्टमी' का व्रत करनेवाला भक्त ब्रज के दुर्लभ रहस्य को जान लेता है।*
🙏🏻 *पद्म पुराण में सत्यतपा मुनि सुभद्रा गोपी प्रसंग में राधा नाम का स्पष्ट उल्लेख है। राधा और कृष्ण को 'युगल सरकार' की संज्ञा तो कई जगह दी गई है।*
        *मनोकामनापूर्ति योग* 🌷
🙏🏻 *देवी भागवत में व्यास भगवान ने बताया है.... भाद्रपद मास, शुक्ल नवमी तिथि हो ..... उस दिन अगर कोई जगदंबाजी का पूजन करता है, तो उसकी मनोकामनायें पूर्ण होती है , और जिंदगी जब तक उसकी रहेगी वो सुखी और संपन्न रहेगा | और वो दिन 07 सितम्बर 2019 शनिवार को है, इस दिन ए मंत्र का जप करें......*
🌷 *ॐ अम्बिकाय नम :*
🌷 *ॐ श्रीं नम :*
🌷 *ॐ ह्रीं नम:*
🌷 *ॐ पार्वेत्येय नम :*
🌷 *ॐ गौराये नम :*
🌷 *ॐ शंकरप्रियाय नम :*
🙏🏻 *थोड़ी देर तक बैठकर जप करना | और जिसको धन धान्य है, वो माँ से कहना मेरी गुरुचरणों में श्रध्दा बढे, भक्ति बढे (ये भी एक संपत्ति है साधक की) मेरी निष्ठा बढे मेरी उपासना बढे |*
मेष- दिन की शुरुआत में चीजें योजना के अनुसार घटित नहीं हो पायेंगी। किन्तु आप घटनायों पर कैसे प्रतिक्रिया करते हैं, यह अत्यधिक महत्वपूर्ण है । ध्यान केंद्रित कर चीजों को अपने पक्ष में करने का आर्थिक समस्याएं सर उठा सकती हैं। दिन के उतरार्ध तक आप विरोधियों का मुकाबला करने में सक्षम होंगे। रचनात्मकता आपके दृष्टिकोण और रणनीति में बदलाव कर सकती है।आप परिवार के समर्थन और पूर्ण सहयोग का आनंद लेंगे और बुजुर्गों  की सलाह उपयोगी होगी।
वृष- आज का दिन आप में से अधिकतर के लिए शुभ परिणामदायक रहेगा। सामाजिक कार्य या राजनीति से जुड़े लोग कुछ महत्वपूर्ण उपलब्धि हासिल करेंगे। आप में से कुछ नवीन संपर्क स्थापित कर पाएंगे। रचनात्मक क्षेत्रों में आप असाधारण रूप से अच्छा करेंगे। परीक्षा या प्रतियोगिता के माध्यम से नौकरी की तलाश करने वालों को शुभ परिणाम प्राप्त होंगे। कोर्ट में लंबित कोई संपत्ति संबंधी मामला आपके पक्ष में जाएगा। घरेलू वातावरण अच्छा रहेगा और आपका स्वास्थ्य भी बढ़िया रहेगा।
मिथुन-आज का दिन अत्यधिक शुभ है  और आप काफी प्रगति करेंगे। आय की  वृद्धि के लिए स्थिति विकसित होगी। वित्तीय स्थिति में सुधार संभव है। यदि बैंक या वित्तीय संस्थान से ऋण की तलाश है तो अपने प्रयासों को जारी रखें क्योंकि सफलता कोने में ही है। पारिवारिक संबंध सौहार्दपूर्ण रहेंगे। स्वास्थ्य ठीक रहेगा, लेकिन अपने आहार और दिनचर्या पर ध्यान दें। यदि किसी परीक्षा या प्रतियोगिता में भाग ले रहें है तो परिणाम आपके दिल को खुशी प्रदान करेंगे
कर्क-आज का दिन आप में से अधिक्तर के लिए लाभकारी  सिद्ध हो सकता है। आप शुभचिंतकों और दोस्तों की मदद से भविष्य की योजनाएं बना सकेंगे। छात्रों के लिए यह अच्छा समय है और उन्हें अच्छे परिणाम भी मिलेंगे। यदि आप अपने व्यवसाय का विस्तार करना चाहते हैं तो इस समय का अधिकतम लाभ उठाएं और उचित कदम उठाएं। आपकी  संगीत, कविता, गायन आदि कलाओं में रुचि होगी, प्रतिद्वंद्वी सक्रिय होंगे, लेकिन आपको नुकसान नहीं पहुंचा पाएंगे। सौहार्दपूर्ण पारिवारिक जीवन रहेगा। अपने स्वास्थ्य की अनदेखी न करें और मौसमी बीमारियों के लिए सावधानी बरतें।
सिंह-जीवनसाथी की ख़राब सेहत की वजह से घर में ख़ुशियों की कमी आएगी। आप चिड़चिड़े महसूस करेंगे, किन्तु  आपको शांत और संयम रखने की ज़रूरत है। जल्द ही सब ठीक हो जाएगा। आपके बच्चे आपका ध्यान रखेंगे। आपको दफ़्तर में आपके सहयोगियों का सहयोग मिलेगा। वरिष्ठ आपके काम को सराहेंगे। वित्तीय फैसले लेने के लिए यह बहुत अच्छा वक़्त है। प्रेम प्रसंग के मामले में  आज का दिन अनुकूलता लिए हुए है। खास कर वो लोग जो समाज की मर्यादाओ को अधिक महत्त्व नहीं देते उनके दोनो हाथों में लड्डू होने जैसी स्थिति रहने वाली है। शुरुआती दिनों में आप धन खर्च आज आप धन व्यय कर जीवन का आनंद तलाशने की कोशिश में रहेंगे।
कन्या-अपने स्वास्थ्य को लेकर सतर्कता बरतें। प्रेम संबंधों के मध्य ग़लतफहमी न पनपने दें। यदि आपका अत्यधिक मौज-मस्ती का स्वभाव है तो सावधान हो जाएं अन्यथा किसी स्कैंडल में फंस सकते हैं।किसी समस्या या विवाद को सुलझाने में अत्यधिक धन खर्च हो सकता है। व्यापारियों के लिए अचानक और अप्रत्याशित धन प्राप्ति की सम्भावना बन रही है। आज आप उच्च अधिकारियों या समाज के उच्च व्यक्तियों के संपर्क में आ सकतें हैं । हालांकि आपको  अपनि  कार्य शैली में कुछ परिवर्तन करना पड़ सकता है।जिसके कारण आपके कार्य प्रभावित होंगे।
तुला-आज आप शत्रुओं को समूल नष्ट करने में सक्षम होंगे। कोई भी पुराना विवाद समाप्त होगा और परिणाम आपके पक्ष में होने की  पूरी सम्भावना है। परन्तु समय अनुकूल होने के बावजूद शत्रु लगातार पनपेंगे और परेशान करेंगे। आपके अंदर भी कुछ उतावलापन और उग्रता जन्म लेगी, आपको इसपर नियंत्रण रखना चाहिए। कार्य क्षेत्र में नए प्रयोग या कुछ अधिक धन लगाने से बचें। शिक्षा-प्रतियोगिता के लिए समय बेहतर है, नौकरी तलाशने वालों को कुछ शुभ समाचार प्राप्त हो सकते हैं।
वृश्चिक-आज का दिन मिश्रित परिणामदायक रहेगा।आमदनी ठीक रहेगी, लेकिन बढ़ते खर्चों पर विराम लगाने में आप  सफल नहीं हो पाएंगे। दिन-प्रतिदिन के कार्य सुचारू रूप से चलते रहेंगे। एक बड़े उद्यम में शामिल होने से पहले पर्याप्त पूछताछ करें। काम के लिए लंबी दूरी की यात्रा लाभदायक होगी। कुछ मामूली मुद्दों पर घरेलू मोर्चे पर तनातनी हो सकती है। घर पर कुछ धार्मिक समारोह मनाया जा सकता है।
धनु-आज  आपको मिश्रित परिणाम मिलेंगे। आपके कार्यस्थल पर उतार-चढ़ाव बना रहेगा। आप प्रतिद्वंद्वी गतिविधियों से परेशान हो सकते हैं। वित्तीय बाधाओं को महसूस किया जाएगा क्योंकि खर्च में वृद्धि जारी रहेगी, लेकिन दोस्तों की मदद से आप चीजों को सकारात्मक रूप से घुमा पाएंगे। आप मौसम के अनुसार थोड़ा  शिथिल महसूस कर सकते हैं, इसलिए अपने आहार का विशेष ध्यान रखें और कुछ योग करें। किसी भी यात्रा को स्थगित करना उचित होगा। घर में कुछ तनाव हो सकता है इसलिए किसी भी तरह की बहस से दूर रहें।
मकर-जीवनसाथी के साथ आनंददायी समय बीतेगा। प्रेम संबंधों में में कुछ विवादास्पद घटनाक्रम सामने आ सकते हैं। अत: सावधानी से आचरण करें। इस समय आपको अपनी वाणी पर विशेष संयम रखना होगा। आप सुख सुविधाओं का लाभ ले पाएंगे। कामों सफलता मिलेगी। सब प्रकार से अनुकूल परिणाम मिलेंगे। आर्थिक लाभ के लिए कुछ अधिक मेहनत करनी पड़ सकती है ।
कुंभ-आज आप  व्यस्त रहेंगे और व्यवासिक दृष्टि से  विकास संभव है। लक्ष्य प्राप्ति की ओर आप अपना ध्यान  केंद्रित रखेंगे। कार्यस्था पर  आपके काम से वरिष्ठ खुश होंगे। यदि आप अपने कार्यालय या अपने घर को बदलना चाहते हैं तो आप सफल होंगे। लंबी दूरी की यात्रा हो सकती है। वित्तीय स्थिति में सुधार होगा और संपत्ति और वाहन में निवेश की प्रबल संभावना है। पारिवारिक जीवन सामंजस्यपूर्ण रहेगा। बच्चे आप पर गर्व करेंगे। आप में से कुछ हृदय सम्बंधित समस्या से पीड़ित हो सकतें हैं।
मीन-नौकरीपेशा जातक पद्दोनती प्राप्त कर सकतें है। व्यवसाय में, एक नए कार्य का आरम्भ हो  सकता है या आप  एक नए सौदे को अंतिम रूप दे सकतें हैं, जो भविष्य में लाभदायक रहेगा आपको योग्य लोगों के साथ स्थायी दोस्ती बना सकतें हैं। पारिवारिक जीवन आरामदायक और शांतिपूर्ण रहेगा। आपके पास नए अधिग्रहण हो सकते हैं जो आपकी जीवन-शैली में सुधार करेंगे और आपकी संतुष्टि में वृद्धि करेंगे। आप और आपके परिवार के सदस्यों को बेहतर स्वास्थ्य का आनंद लेने की संभावना है, जिसमें कोई बड़ी चिंता नहीं है।
जिनका आज जन्मदिन है उनको हार्दिक शुभकामनाएं
दिनांक 6 को जन्मे व्यक्ति का मूलांक 6 होगा। इस अंक से प्रभावित व्यक्ति आकर्षक, विनोदी, कलाप्रेमी होते हैं। आपमें गजब का आत्मविश्वास है। इसी आत्मविश्वास के कारण आप किसी भी परिस्थिति में डगमगाते नहीं है। आपको सुगंध का शौक होगा। आप अपनी महत्वाकांक्षा के प्रति गंभीर होते हैं। 6 मूलांक शुक्र ग्रह द्वारा संचालित होता है। अत: शुक्र से प्रभावित बुराई भी आपमें पाई जा सकती है। जैसे स्त्री जाति के प्रति आपमें सहज झुकाव होगा। अगर आप स्त्री हैं तो पुरूषों के प्रति आपकी दिलचस्पी होगी। लेकिन आप दिल के बुरे नहीं है।

शुभ दिनांक : 6, 15, 24

शुभ अंक : 6, 15, 24, 33, 42, 51, 69, 78
शुभ वर्ष : 2016, 2022, 2026

ईष्टदेव : मां सरस्वती, महालक्ष्मी

शुभ रंग : क्रीम, सफेद, लाल, बैंगनी

कैसा रहेगा यह वर्ष
जो विद्यार्थी सीए की परीक्षा देंगे उनके लिए शुभ रहेगा। व्यापार-व्यवसाय में भी सफलता रहेगी। विवाह के योग भी बनेंगे। स्त्री पक्ष का सहयोग मिलने से प्रसन्नता रहेगी। नौकरीपेशा व्यक्ति अपने परिश्रम के बल पर उन्नति के हकदार होंगे। बैक परीक्षाओं में भी सफलता अर्जित करेंगे। दाम्पत्य जीवन में मिली जुली स्थिति रहेगी। आर्थिक मामलों में सभंलकर चलना होगा।
आज का उपाय 🕉
विवाह शादी होने मे बाधा आ रही हो यह उपाय करे
एक मटका ले उसको लाल
रंग से पूरी तरह रंग दे व उसमे एक नारियल डाल कर उसको अपने उपर से सात बार धुमाकर बहते जल मे जल प्रवाह करें
विस्तार में पढें