बीमारी का बगैर दवाई भी इलाज़ है,मगर मौत का कोई इलाज़ नहीं दुनियावी हिसाब किताब है कोई दावा ए खुदाई नहीं लाल किताब है ज्योतिष निराली जो किस्मत सोई को जगा देती है फरमान दे के पक्का आखरी दो लफ्ज़ में जेहमत हटा देती है

Sunday, 25 July 2021

26/07/2021 आज का श्री बालाजी पंचांग विशेष उपाय दुर्भाग्य सौभाग्य में बदलने लगता है

अंतर्गत लेख:

 🙏🏻 हर हर महादेव 🙏🏻

पुण्य लाभ के लिए इस पंचांग को औरों को भी अवश्य भेजिए

आज का श्री बालाजी पंचांग 

सुप्रभात

आपका आज का दिन शुभ व मंगल कारी हो 

नित्य जप करें 

कल्याण मंत्र

ऊं नम शिवाय शिव जी सदा सहाय

ऊं नम शिवाय गुरु जी सदा सहाय

ऊं नम शिवाय श्री बालाजी सदा सहाय

कारोना नियम का पालन करें व औरों बताये स्वयं की दुसरो जान की रक्षा करें  सम्भव हो परेशान व जरुरतमंदों की सहायता करें  

मास्क से मुंह नाक को ढक ही बाहर निकले

⛅ दिनांक 26 जुलाई 2021

⛅ दिन - सोमवार

⛅ विक्रम संवत - 2078

⛅ शक संवत - 1943

⛅ अयन - दक्षिणायन

⛅ ऋतु - वर्षा 

⛅ मास - श्रावण 

पक्ष - कृष्ण 

⛅ तिथि - तृतीया 27 जुलाई रात्रि 02:54 तक तत्पश्चात चतुर्थी

⛅ नक्षत्र - धनिष्ठा सुबह 10:46 तक तत्पश्चात शतभिषा

⛅ योग - सौभाग्य रात्रि 10:40 तक तत्पश्चात शोभन

⛅ राहुकाल - सुबह 07:49 से सुबह 09:28 तक

⛅ सूर्योदय - 06:11 

⛅ सूर्यास्त - 19:18 

⛅ दिशाशूल - पूर्व दिशा में

⛅ व्रत पर्व विवरण - जयापार्वती व्रत पारणा (गुजरात)

 💥 विशेष - तृतीया को परवल खाना शत्रुओं की वृद्धि करने वाला है।(ब्रह्मवैवर्त पुराण, ब्रह्म खंडः 27.29-34)

               🌞 ~ श्री बालाजी पंचांग  🌞

🌷 मंगलवारी चतुर्थी 🌷

➡ 27 जुलाई 2021 मंगलवार को (सूर्योदय से रात्रि 02:29 तक) अंगारकी - मंगलवारी चतुर्थी है ।

🙏 अंगार चतुर्थी को सब काम छोड़ कर जप-ध्यान करना …जप, ध्यान, तप सूर्य-ग्रहण जितना फलदायी है…

🌷 > बिना नमक का भोजन करें

🌷 > मंगल देव का मानसिक आह्वान करो

🌷 > चन्द्रमा में गणपति की भावना करके अर्घ्य दें

💵 कितना भी कर्ज़दार हो ..काम धंधे से बेरोजगार हो ..रोज़ी रोटी तो मिलेगी और कर्जे से छुटकारा मिलेगा |

🙏🏻 *–

🌞 ~  श्री बालाजी पंचांग~ 🌞

अगर व्य वसाय में हान‍ि का सामना करना पड़ रहा हो तो सावन के सोमवार को शिव-मंदिर में जाकर शिवलिंग पर दूध-जल चढ़ाएं। साथ ही रुद्राक्ष की माला से ‘ऊं सोमेश्वराय नमः’ मंत्र का 108 बार जप करें। इसके साथ ही भगवान शिव के सामने ‘दारिद्रदहन शिव स्तोात्र’ का पाठ करें। मान्यनता है क‍ि इसका पाठ करने से आर्थिक लाभ की प्राप्ति होती है।


अगर आप या आपके पर‍िवार में कोई भी व्य क्ति कई बीमार‍ियों से ग्रसित हो तो उसे सावन सोमवार के दिन भगवान शिव का पंचामृत से अभिषेक करना चाहिए। मान्य‍ता है क‍ि ऐसा करने से श‍िवशंकर की कृपा से सभी बीमार‍ियों का नाश होता है


🌷 विघ्नों और मुसीबते दूर करने के लिए 🌷

➡ 27 जुलाई 2021 मंगलवार को संकष्ट चतुर्थी (चन्द्रोदय रात्रि 10:06) 

🙏🏻 शिव पुराण में आता हैं कि हर महीने के कृष्ण पक्ष की चतुर्थी ( पूनम के बाद की ) के दिन सुबह में गणपतिजी का पूजन करें और रात को चन्द्रमा में गणपतिजी की भावना करके अर्घ्य दें और ये मंत्र बोलें :

🌷 ॐ गं गणपते नमः ।

🌷 ॐ सोमाय नमः ।

🙏🏻 *- 

 🌞 ~  श्री बालाजी पंचांग ~ 🌞

‪🌷 चतुर्थी‬ तिथि विशेष 🌷

🙏🏻 चतुर्थी तिथि के स्वामी ‪भगवान गणेश‬जी हैं।

📆 हिन्दू कैलेण्डर में प्रत्येक मास में दो चतुर्थी होती हैं। 

🙏🏻 पूर्णिमा के बाद आने वाली कृष्ण पक्ष की चतुर्थी को संकष्ट चतुर्थी कहते हैं।अमावस्या के बाद आने वाली शुक्ल पक्ष की चतुर्थी को विनायक चतुर्थी कहते हैं।

🙏🏻 शिवपुराण के अनुसार “महागणपतेः पूजा चतुर्थ्यां कृष्णपक्षके। पक्षपापक्षयकरी पक्षभोगफलप्रदा ॥

➡ “ अर्थात प्रत्येक मास के कृष्णपक्ष की चतुर्थी तिथि को की हुई महागणपति की पूजा एक पक्ष के पापों का नाश करनेवाली और एक पक्षतक उत्तम भोगरूपी फल देनेवाली होती है ।


  🌞 ~ श्री बालाजी पंचांग  ~ 🌞

पंचक

25 जुलाई रात्रि 10.46 बजे से 30 जुलाई दोपहर 2.03 बजे तक

: 22 अगस्त प्रात: 7.57 बजे से 26 अगस्त रात्रि 10.28 बजे तक

: 18 सितंबर दोपहर 3.26 बजे से 23 सितंबर प्रात: 6.45 बजे तक

एकादशी

04 अगस्त: कामिका एकादशी

18 अगस्त: श्रावण पुत्रदा एकादशी

सितंबर 2021: एकादशी व्रत

03 सितंबर: अजा एकादशी

17 सितंबर: परिवर्तिनी एकादशी

प्रदोष

05 अगस्त: प्रदोष व्रत

20 अगस्त: प्रदोष व्रत


सितंबर 2021: प्रदोष व्रत

04 सितंबर: शनि प्रदोष

18 सितंबर: शनि प्रदोष व्रत

अगस्त 2021

22 अगस्त रविवार श्रावण

सितंबर 2021

20 सितंबर सोमवार भाद्रपद

अमावस्या

8 अगस्त, रविवार श्रावण अमावस्या

07 सितंबर, मंगलवार भाद्रपद अमावस्या

श्री बालाजी पंचांग 

राशिफल- जानिए, क्या कहती है आपकी राशियाँ और किस राशि की चमकेगी आज किस्मत।।

साप्ताहिक राशिफल (26 जुलाई से 01 अगस्त):

मेष

इस सप्ताह आप अपने काम में कड़ी मेहनत करेंगे और अपनी खुशियों और सफलता के सपने खूब बुनेंगे लेकिन ध्यान रहे कि जोश में होश न खोएं, नहीं तो न सिर्फ काम में नुकसान हो सकता है, बल्कि सेहत पर भी बुरा प्रभाव पड़ सकता है। कार्यक्षेत्र में गुप्त शत्रुओं से सावधान रहें। जमीन-जायदाद से जुड़े कुछ झमेले आ सकते हैं लेकिन किसी वरिष्ठ व्यक्ति की मध्यस्थता से बहुत हद तक आप उसको सुलझाने में कामयाब होंगे। थोक व्यवसाय करने वालों के लिए यह समय चुनौतीपूर्ण भरा रहेगा। प्रेम संबंधों में आपकी लापरवाही से कुछेक अड़चनें आ सकती हैं। लव पार्टनर हो या जीवनसाथी उसकी भावनाओं को इग्नोर न करें।


उपाय : अपने पास हर समय लाल रुमाल रखें। श्री हनुमान चालीसा का पाठ करें

वृषभ

इस सप्ताह वृषभ राशि के लोग अपने लक्ष्य से भटक सकते हैं। कार्यक्षेत्र में विरोधी आपके कार्य में अड़ंगे डाल सकते हैं। समय की नजाकत को समझते हुए छोटी-मोटी बातों को तूल देने से बचें। वित्तीय मामलों में कोई भी बड़ा निर्णय लेने से पहले अपने शुभचिंतकों या किसी वरिष्ठ व्यक्ति से सलाह लेना न भूलें। किसी करीबी व्यक्ति की सेहत को लकर मन चिंतित रहेगा। सप्ताह के अंत में अचानक लंबी या छोटी दूरी की यात्रा करनी पड़ सकती है। कठिन समय में आपका लव पार्टनर आपके साथ खड़ा रहेगा। दांपत्य जीवन में भी मधुरता बनी रहेगी। कंपटीशन की तैयारी में जुटे छात्रों के लिए कठिन परिश्रम के बाद ही सफलता के योग बनेंगे। 


उपाय : किसी भी कार्य को करने से अपनी मां या फिर बड़ी-बूढ़ी महिला का आशीर्वाद लेकर निकलें। माता लक्ष्मी की उपासना करें।

मिथुन

इस सप्ताह आप उर्जा और आत्मविश्वास से भरे रहेंगे। घर हो या कार्यक्षेत्र लोग आपकी बातों से खूब प्रभावित होंगे और आपकी दी गई सलाह या प्रपोजल की तारीफ होगी। सप्ताह की शुरुआत में प्रभावी लोगों से मुलाकात होगी, जिनके जरिए भविष्य में लाभ की योजनाएं बनेंगी। सप्ताह के अंत में आपको अपने मन को शांत रखने की जरूरत रहेगी। इस दौरान आपका आक्रामक रुख आपके लिए नुकसानदेह साबित हो सकता है। इस दौरान धन के लेन-देन में खूब सावधानी रखें। किसी को पैसे उधार देने से पहले खूब विचार कर लें। यदि प्रेम-संबंधों में अनबन चल रही है तो एक छोटी सी पहल करने पर बात बन जायेगी। वैवाहिक जीवन सामान्य रहेगा।

उपाय : गणपति की उपासना करें और ‘ॐ बुं बुधाय नम:’ मंत्र का जप करें।

कर्क

सप्ताह के प्रारंभ से आप जो कुछ करना चाहेंगे, उसके लिए आपकोे सहज ही अवसर प्राप्त होंगे।  समय का सदुपयोग करें और आज का काम कल पर टालने से बचें नहीं तो हाथ आया अवसर भी निकल जायेगा। कार्यक्षेत्र में किसी भी प्रकार की लापरवाही करने से बचें। छात्रों का मन पढ़ाई से भटक सकता है। निजी संबंधों से जुड़े मामलों में सावधानी बरतें। किसी भी प्रकार का उतावलापन आपके न सिर्फ संबंधों पर बल्कि आपकी प्रतिष्ठा पर पर भी आंच डाल सकता है। इस राशि से जुड़ी कामकाजी महिलाओं के लिए सप्ताह के मध्य का समय थोड़ा चुनौतीपूर्ण रहेगा। वाहन सावधानीपूर्वक चलाएं। चोट-चपेट लगने की आशंका है।


उपाय : भगवान शिव की पूजा करें और ‘ॐ नम: शिवाय’ मंत्र का यथासंभव जाप करें।

सिंह 

सप्ताह की शुरुआत में आप अपने किसी मित्र या फिर सगे संबंधी से होने वाले नुकसान की आशंका से ग्रसित रहेंगे। समय पर किसी की मदद न मिलने पर भी मन में टीस बनी रहेगी लेकिन सप्ताह के अंत तक आप खुद को संभालते हुए सभी तरह की चुनौतियों से निबटने में कामयाब हो जाएंगे। तमाम तरह की उलझनों के बीच कार्यक्षेत्र में कामकाज जरूर प्रभावित होगा लेकिन घरेलू समस्याओं का निराकरण हो जाने पर मन में संतोष रहेगा। सेहत संबंधी किसी भी परेशानी को इग्नोर न करें, अन्यथा अस्पताल के चक्कर लगाने पड़ सकते हैं। लव पार्टनर हो या फिर लाइफ पार्टनर, उसे लेकर आप गर्व करेंगे क्योंकि मुश्किल समय में वह आपके साथ हमेशा मजबूती के साथ खड़ा रहेगा।

उपाय :  प्रतिदिन उगते हुए सूर्य को अघ्र्य दें। आदित्य हृदय स्तोत्र का पाठ करें।

कन्या 

इस सप्ताह आपको सौभाग्य का पूरा साथ मिलेगा। आप पाएंगे कि आपके सारे काम बनते चले जा रहे हैं और उसमें सगे-संबंधियों से लेकर अनजान लोगों तक का सहयोग मिल रहा है। दूसरों को जोड़ने की अद्भुत कला की मदद से आप इस सप्ताह नए मित्र बनाएंगे, जिनकी मदद से भविष्य में लाभ की संभावनाएं बनेंगी। सप्ताह के अंत में संतान पक्ष को लेकर कुछेक चिंताए बनी रहेंगी। इस दौरान प्रेम संबंधों में कुछ एक अड़चनें आ सकती हैं। प्रेम संबंधों को लेकर किसी की बातों में न आएं वरना बाद में पछताना पड़ सकता है। दांपत्य जीवन में मधुरता को बनाए रखने के लिए अपने बिजी शेड्यूल में से जीवनसाथी के लिए समय निकालें।


उपाय : श्री गणेश जी सिंदूर चढ़ाएं और श्री गणेश चालीसा का पाठ करें।


तुला 

इस सप्ताह समय का प्रबंधन आपके लिए कठिन रहेगा। आपकी सो फोकस करने के लिए मजबूर करेंगी। आपका काम एवं करिअर जहां आपको एक तरफ व्यस्त रखेगा, वहीं परिवार की तरफ से ज्यादा समय देने की मांग रहेगी। सप्ताह के अंत तक आप भूमि-भवन आदि से जुड़ा कोई बड़ा फैसला ले सकते हैं। प्रतियोगी परीक्षा की तैयारी करने वालों के लिए यह समय उनके अनुकूल रहेगा। कोर्ट-कचहरी से जुड़े मामले बाहर ही निबट जाने पर आप संतोष का अनुभव करेंगे। प्रेम संबंधों में मजबूती आयेगी और दांपत्य जीवन में सामंजस्य बना रहेगा।


उपाय : सफेद वस्तुओं जैसे दूध, चीनी आदि का दान करें। प्रतिदिन दुर्गा चालीसा का पाठ करें

वृश्चिक 

इस सप्ताह आप पूरी तरह से घरेलू समस्याओं को निबटाने पर फोकस करेंगे। किसी भी निर्णय को लेने के दौरान परिजनों की सलाह लेना न भूलें और न ही परिवार के अन्य लोगों की भावनाओं की अनदेखी करें। सप्ताह के मध्य में अचानक से कुछ बड़े खर्चे आ जाने के कारण आर्थिक दिक्कतों का सामना करना पड़ सकता है। बेरोजगार लोगों को रोजी-रोजगार के लिए अभी थोड़ा और इंतजार करना पड़ेगा, वहीं व्यापार में जैसे-तैसे काम चलेगा। मन की शांति और सुकून पाने के लिए सप्ताह के अंत में परिजनों के साथ आउटिंग पर जा सकते हैं। प्रेम-संबंधों में सोच-समझकर कदम बढ़ाएं। आप जितनी सादगी के साथ अपने रिश्ते को आगे बढ़ाएंगे, आपका प्रेम संबंध उतना ही मजबूत होगा।

धनु 

धनु राशि के जातकों के लिए यह सप्ताह काफी भाग-दौड़ वाला रहेगा। कई ऐसे जरूरी काम एक साथ आ टपकेंगे, जिनमें से किसी भी एक को टालना मुश्किल रहेगा। सप्ताह की शुरुआत में कोर्ट-कचहरी से जुड़े मामले को लेकर मन में तनाव बना रहेगा। कार्यक्षेत्र में भी कामकाज का अतिरिक्त बोझ रहेगा। हालांकि विभिन्न स्रोतों से लाभ के कई अवसर भी प्राप्त होंगे। फुटकर व्यापारियों और पठन-पाठन से संबंधित कार्य करने वालों के लिए समय अनुकूल है। लव पार्टनर के साथ क्वालिटी समय बिताएंगे। लव पार्टनर की तरफ से कोई शुभ सूचना या सरप्राइज गिफ्ट मिल सकता है। दांपत्य जीवन में मधुरता बनी रहेगी।


उपाय : गाय को गुड़ खिलाएं। श्री विष्णु सहस्त्रनाम का पाठ करें

मकर 

सप्ताह की शुरुआत में ही आपको अपने कार्यक्षेत्र या फिर बिजनेेस में कंपटीटर पर विजय पाने का अवसर मिलेगा। ऐसा होने पर आप खूब प्रसन्न भी रहेंगे लकिन अति उत्साह या ज्यादा आत्मविश्वास के चलते अपने विरोधियों को कमजोर होने की भूल मत कर बैठें। हमेशा सतर्क रहें अन्यथा आपको लेने के देने पड़ सकते हैं। धन की फिजूलखर्ची से बचें। सप्ताह के अंत में किसी के फटे में टांग अड़ाने से बचें, अन्यथा आपको कोर्ट-कचहरी के चक्कर लगाने पड़ सकते हैं। इस सप्ताह आपके वैवाहिक जीवन में कुछ परेशानियां आ सकती हैं। जीवनसाथी के साथ मतभेदों को विवाद की बजाय संवाद के जरिए सुलझाएं। प्रेम संबंधों में भी सोच-समझकर कदम आगे बढ़ाएं नहीं तो सामाजिक कलंक लग सकता है।


उपाय : हनुमत साधना करें और बंदरों को गुड़-चना खिलाएं।

कुंभ 

इस सप्ताह आप अपने कार्यक्षेत्र में विस्तार करने के लिए सही दिशा में कदम उठाएंगे। धन का प्रवाह सुगम होगा। आय के विभिन्न स्रोत बनेंगे लेकिन आय के मुकाबले खर्च की अधिकता बनी रहेगी। संतान पक्ष को लेकर कोई बड़ी चिंता सताती रहेगी। सप्ताह के मध्य किसी खास व्यक्ति के प्रति लगाव बढ़ सकता है। कार्यक्षेत्र में कामकाज का थोड़ा ज्यादा बोझ बना रहेगा। हालांकि काम का तनाव आप घर पर नहीं ले जाएं तो बेहतर रहेगा, अन्यथा घर की खुशियां प्रभावित हो सकती हैं। इस सप्ताह लाइफ पार्टनर की सेहत की चिंता सतायेगी। वहीं लव पार्टनर के साथ आपका रुखा या फिर गलत व्यवहार बने बनाए रिश्ते को तोड़ सकता है।


उपाय : पक्षियों को दाना डालें और ‘ॐ हं हनुमते नमः’ मंत्र का जप करें

मीन 

मीन राशि के जातकों के लिए यह सप्ताह कुछ मिला-जुला साबित होने जा रहा है। इस सप्ताह दूसरों की बजाय खुद पर भरोसा रखें। कार्यक्षेत्र में विरोधी आपको बेवजह की चीजों में उलझाने की कोशिश कर सकते हैं। व्यवसाय में लाभ की नई योजनाएं बनेंगी लेकिन उसमें कुछेक अड़चनें आ जाने से मन थोड़ा व्यथित रहेगा। घर से जुड़ी आर्थिक समस्याएं हो फिर व्यवसाय से जुड़ी वित्तीय जरूरतें, उनसे पल्ला झाड़ने की बजाय यदि आप मित्रों या शुभचिंतकों की मदद से उसका इंतजाम करने की कोशिश करेंगे तो कोई न कोई रास्ता जरूर निकल आयेगा। प्रेम संबंधों में मजबूती आयेगी और लव पार्टनर के साथ बेहतर समय बिताने का मौका मिलेगा। वैवाहिक जीवन सुखमय रहेगा।

उपाय : भगवान विष्णु को चने की दाल और गुड़ या बेसन का लड्डू चढ़ाएं

जिनका आज जन्मदिन है उनको हार्दिक शुभकामनाएं

26 को जन्मे व्यक्ति धीर गंभीर, परोपकारी, कर्मठ होते हैं। दिनांक 26 को जन्मे व्यक्ति का मूलांक 8 होगा। यह ग्रह सूर्यपुत्र शनि से संचालित होता है। आप भौतिकतावादी है। आप अद्भुत शक्तियों के मालिक हैं। आप अपने जीवन में जो कुछ भी करते हैं उसका एक मतलब होता है। आपकी वाणी कठोर तथा स्वर उग्र है। आपके मन की थाह पाना मुश्किल है। आपको सफलता अत्यंत संघर्ष के बाद हासिल होती है। कई बार आपके कार्यों का श्रेय दूसरे ले जाते हैं।

 शुभ दिनांक : 8, 17, 26

 शुभ अंक : 8, 17, 26, 35, 44

शुभ वर्ष :2024, 2042

 ईष्टदेव : हनुमानजी, शनि देवता

शुभ रंग : काला, गहरा नीला, जामुनी

 कैसा रहेगा यह वर्ष

व्यापार-व्यवसाय की स्थिति उत्तम रहेगी। नौकरीपेशा व्यक्ति प्रगति पाएंगे। सभी कार्यों में सफलता मिलेगी। जो अभी तक बाधित रहे है वे भी सफल होंगे। बेरोजगार प्रयास करें, तो रोजगार पाने में सफल होंगे। राजनैतिक व्यक्ति भी समय का सदुपयोग कर लाभान्वित होंगे। शत्रु वर्ग प्रभावहीन होंगे, स्वास्थ्य की दृष्टि से समय अनुकूल ही रहेगा।

आज का विशेष उपाय

यदि आपके जीवन में एक के बाद एक समस्याएं आ रही हैं और आपको लग रहा है कि जैसे दुर्भाग्य आपका पीछा नहीं छोड़ रहा है तो प्रतिदिन अपनी छत पर मिट्टी के पात्र में पक्षियों के लिए दाना-पानी की व्यवस्था करनी चाहिए। इससे धीरे-धीरे आपकी समस्याओं का अंत होने लगता है और आपका दुर्भाग्य सौभाग्य में बदलने लगता है

आज का  परामर्श

तुलसी का पौधा घर में अवश्य लगाएं ऐसा करने से घर में ना सिर्फ वास्तु दोष से मुक्ति मिल जाएगी बल्कि घर में सकारात्मक ऊर्जा का वास होगा और घर के सदस्यों की तरक्की भी होगी 

अच्छी आदतें 

कुत्तों की सेवा

कुत्तों की सेवा करने वालों से भगवान शनि हमेशा प्रसन्न होते हैं। कुत्तों को खाना देने वालों और उनको कभी ना सताने वालों के शनिदेव सभी कष्ट दूर करते हैं। इसलिए अगर आप भी कुत्तों को प्यार करते हैं तो जीवन में शनि कोप से सदा बचे रहेंगे।


आपको हमारे पंचांग में अच्छा लगा और अच्छा बनाने के लिये क्या सामग्री  जोड़ें हमारे  व्हाट्सएप नंबर 9911342666 पर बताये ताकि सुधार कर अधिक बेहतर बना सके

ज्योतिष, वास्तु लाल किताब व स्वास्थ्य संबंधी जानकारी हेतु हमारे WhatsApp ग्रुप में शामिल होने के लिए यह लिंक खोलें:या हमारे व्हाट्सएप नंबर 9911342666पर अपना नाम जगह लिख भेजे https://chat.whatsapp.com/HWs76X3eTzF1dLPuHGGf4H


अपनी किसी प्रकार की समस्या के समाधान के लिए सरल ज्योतिष वास्तु रेकी हीलिंग एवं लाल किताब उपाय  हेतु हमसे सम्पर्क करें

निशुल्क परामर्श के इच्छुक व्यक्ति दोपहर में 2से 3 बजे संपर्क करें आचार्य लक्ष्मण 

श्री बालाजी ज्योतिष अनुसंधान केंद्र

09354328527, 09911342666, 01127651180






Posted By Lal Kitab Anmol13:50

दिनांक 25 जुलाई 2021आज का श्री बाला जी पंचांग

अंतर्गत लेख:

 ऊं नम शिवाय शिव जी सदा सहाय

ऊं नम शिवाय गुरु जी सदा सहाय

ऊं नम शिवाय श्री बालाजी सदा सहाय

नियमित पंचांग पाने के हेतु हमारे नम्बर 9911342666 पर अपना लिखकर भेजे



 ~आज का श्री बाला जी  पंचांग* ~ 

⛅ दिनांक 25 जुलाई 2021

⛅ दिन - रविवार

⛅ विक्रम संवत - 2078 (गुजरात - 2077)

⛅ शक संवत - 1943

⛅ अयन - दक्षिणायन

⛅ ऋतु - वर्षा 

⛅ मास - श्रावण (गुजरात एवं महाराष्ट्र अनुसार - आषाढ़)

⛅ पक्ष - कृष्ण 

⛅ तिथि - द्वितीया 26 जुलाई प्रातः 04:03 तक तत्पश्चात तृतीया

⛅ नक्षत्र - श्रवण सुबह 11:18 तक तत्पश्चात धनिष्ठा

⛅ योग - आयुष्मान् रात्रि 12:43 तक तत्पश्चात सौभाग्य

⛅ राहुकाल - शाम 05:42 से शाम 07:21 तक 

⛅ सूर्योदय - 06:10 

⛅ सूर्यास्त - 19:19 

⛅ दिशाशूल - पश्चिम दिशा में

⛅ व्रत पर्व विवरण - हिंडोला प्रारंभ, अशून्य शयन व्रत, जयापार्वती व्रत जागरण (गुजरात)

 💥 विशेष - द्वितीया को बृहती (छोटा बैंगन या कटेहरी) खाना निषिद्ध है। (ब्रह्मवैवर्त पुराण, ब्रह्म खंडः 27.29-34)

  🌞 ~श्री बाला जी पंचांग ~ 🌞्

🌷 श्रावण सोमवार 🌷

🙏🏻 26 जुलाई 2021 को श्रावण मास का सोमवार है।

🙏🏻 भगवान शिव का पवित्र श्रावण (सावन) मास शुरू हो चुका है, (उत्तर भारत हिन्दू पञ्चाङ्ग के अनुसार) (गुजरात एवं महाराष्ट्र के अनुसार अषाढ़ मास चल रहा है वहां 09 अगस्त, सोमवार से श्रावण (सावन) मास आरंभ होगा)

🙏🏻 भगवान शिव श्रावण सोमवार के बारे में कहते हैं “मत्स्वरूपो यतो वारस्ततः सोम इति स्मृतः। प्रदाता सर्वराज्यस्य श्रेष्ठश्चैव ततो हि सः। समस्तराज्यफलदो वृतकर्तुर्यतो हि सः।।”

➡ अर्थात सोमवार मेरा ही स्वरूप है, अतः इसे सोम कहा गया है। इसीलिये यह समस्त राज्य का प्रदाता तथा श्रेष्ठ है। व्रत करने वाले को यह सम्पूर्ण  राज्य का फल देने वाला है।

🙏🏻 भगवान शिव यह भी आदेश देते हैं कि श्रावण में “सोमे मत्पूजा नक्तभोजनं” अर्थात सोमवार को मेरी पूजा और नक्तभोजन करना चाहिए।

🙏🏻 पूर्वकाल में सर्वप्रथम श्रीकृष्ण ने ही इस मंगलकारी सोमवार व्रत को किया था। “कृष्णे नाचरितं पूर्वं सोमवारव्रतं शुभम्”

👉🏻 स्कन्दपुराण, ब्रह्मखण्ड में सूतजी कहते हैं,

शिवपूजा सदा लोके हेतुः *स्वर्गापवर्गयोः ।। सोमवारे विशेषेण प्रदोषादिगुणान्विते ।।

केवलेनापि ये कुर्युः सोमवारे शिवार्चनम् ।। न तेषां विद्यते किंचिदिहामुत्र च दुर्लभम् ।।

उपोषितः शुचिर्भूत्वा सोमवारे जितेंद्रियः ।। वैदिकैर्लौकिकैर्वापि विधिवत्पूजयेच्छिवम् ।।ब्रह्मचारी गृहस्थो वा कन्या वापि सभर्त्तृका।। विभर्तृका वा संपूज्य लभते वरमीप्सितम्।।

🙏🏻 प्रदोष आदि गुणों से युक्त सोमवार के दिन शिव पूजा का विशेष महात्म्य है। जो केवल सोमवार को भी भगवान शंकर की पूजा करते हैं, उनके लिए इहलोक और परलोक में कोई भी वस्तु दुर्लभ नहीं। सोमवार को उपवास करके पवित्र हो इंद्रियों को वश में रखते हुए वैदिक अथवा लौकिक मंत्रों से विधिपूर्वक भगवान शिव की पूजा करनी चाहिए। ब्रह्मचारी, गृहस्थ, कन्या, सुहागिन स्त्री अथवा विधवा कोई भी क्यों न हो, भगवान शिव की पूजा करके मनोवांछित वर पाता है।

👉🏻 शिवपुराण, कोटिरुद्रसंहिता के अनुसार

🌷 निशि यत्नेन कर्तव्यं भोजनं सोमवासरे । उभयोः पक्षयोर्विष्णो सर्वस्मिञ्छिव तत्परैः ।।

🙏🏻 दोनों पक्षों में प्रत्येक सोमवार को प्रयत्नपूर्वक केवल रात में ही भोजन करना चाहिए। शिव के व्रत में तत्पर रहने वाले लोगों के लिए यह अनिवार्य नियम है।

🌷 अष्टमी सोमवारे च कृष्णपक्षे चतुर्दशी।। शिवतुष्टिकरं चैतन्नात्र कार्या विचारणा।।

🙏🏻 सोमवार की अष्टमी तथा कृष्णपक्ष चतुर्दशी इन दो तिथियों को  व्रत रखा जाए तो वह भगवान शिव को संतुष्ट करने वाला होता है, इसमें अन्यथा विचार करने की आवश्यकता नहीं है।

श्री बालाजी पंचांग ~* 🌞

🌷 श्रावणमास 🌷

🙏🏻 श्रावण हिन्दू धर्म का पञ्चम महीना है। श्रावण मास शिवजी को विशेष प्रिय है । भोलेनाथ ने स्वयं कहा है—

 🌷 द्वादशस्वपि मासेषु श्रावणो मेऽतिवल्लभ: । श्रवणार्हं यन्माहात्म्यं तेनासौ श्रवणो मत: ।।

श्रवणर्क्षं पौर्णमास्यां ततोऽपि श्रावण: स्मृत:। यस्य श्रवणमात्रेण सिद्धिद: श्रावणोऽप्यत: ।।

 ➡ अर्थात मासों में श्रावण मुझे अत्यंत प्रिय है। इसका माहात्म्य सुनने योग्य है अतः इसे श्रावण कहा जाता है। इस मास में श्रवण नक्षत्र युक्त पूर्णिमा होती है इस कारण भी इसे श्रावण कहा जाता है। इसके माहात्म्य के श्रवण मात्र से यह सिद्धि प्रदान करने वाला है, इसलिए भी यह श्रावण संज्ञा वाला है।

🙏🏻 श्रावण मास में शिवजी की पूजाकी जाती है | “अकाल मृत्यु हरणं सर्व व्याधि विनाशनम्” श्रावण मास में अकालमृत्यु दूर कर दीर्घायु की प्राप्ति के लिए तथा सभी व्याधियों को दूर करने के लिए विशेष पूजा की जाती है। मरकंडू ऋषि के पुत्र मारकण्डेय ने लंबी आयु के लिए श्रावण माह में ही घोर तप कर शिव की कृपा प्राप्त की थी, जिससे मिली मंत्र शक्तियों के सामने मृत्यु के देवता यमराज भी नतमस्तक हो गए थे।

🙏🏻 श्रावण मास में मनुष्य को नियमपूर्वक नक्त भोजन करना चाहिए ।

 ➡ श्रावण मास में सोमवार व्रत का अत्यधिक महत्व है

🌷 “स्वस्य यद्रोचतेऽत्यन्तं भोज्यं वा भोग्यमेव वा। सङ्कल्पय द्विजवर्याय दत्वा मासे स्वयं त्यजेत् ।।”

🙏🏻 श्रावण में सङ्कल्प लेकर अपनी सबसे प्रिय वस्तु (खाने का पदार्थ अथवा सुखोपभोग) का त्याग कर देना चाहिए  और उसको ब्राह्मणों को दान देना चाहिए।

🌷 “केवलं भूमिशायी तु कैलासे वा समाप्नुयात”

🙏🏻 श्रावण मास में भूमि पर शयन का विशेष महत्व है। ऐसा करने से मनुष्य कैलाश में निवास प्राप्त करता है।

➡ शिवपुराण के अनुसार श्रावण में घी का दान पुष्टिदायक है।

  🌞~ श्रीं बाला जी पंचांग ~* 🌞

🙏🏻🌷🌻☘🌸🌹🌼🌺💐🙏🏻

"ज्योतिष शास्त्र, कुंडली विश्लेषण , वास्तुशास्त्र, के लिए निःशुल्क परामर्श हेतु संपर्क करें:-

श्री बालाजी ज्योतिष वास्तु परामर्श केंद्र* 

लक्ष्मण सिंह स्वतंत्र

 *ज्योतिषाचार्य

9911342666

Posted By Lal Kitab Anmol04:22

Thursday, 22 July 2021

23/07/2021 आज का श्री बालाजी पंचांग क्या आप घर में लाना चाहते हैं पॉजिटिविटी? अपनाए ये 5 वास्तु टिप्स

अंतर्गत लेख:

पुण्य लाभ के लिए इस पंचांग को औरों को भी अवश्य भेजिए🙏🏻

आज का श्री बालाजी पंचांग 



सुप्रभात

आपका आज का दिन शुभ व मंगल कारी हो 

नित्य जप करें 

कल्याण मंत्र

ऊं नम शिवाय शिव जी सदा सहाय

ऊं नम शिवाय गुरु जी सदा सहाय

ऊं नम शिवाय श्री बालाजी सदा सहाय

कारोना नियम का पालन करें व औरों बताये स्वयं की दुसरो जान की रक्षा करें  सम्भव हो परेशान व जरुरतमंदों की सहायता करें  

मास्क से मुंह नाक को ढक ही बाहर निकले

🌞 ~ ⛅ दिनांक 23 जुलाई 2021

⛅ दिन - शुक्रवार

⛅ विक्रम संवत - 2078 (

⛅ शक संवत - 1943

⛅ अयन - दक्षिणायन

⛅ ऋतु - वर्षा 

⛅ मास - आषाढ़

⛅ पक्ष - शुक्ल 

⛅ तिथि - चतुर्दशी सुबह 10:43 तक तत्पश्चात पूर्णिमा

⛅ नक्षत्र - पूर्वाषाढा दोपहर 02:26 तक तत्पश्चात उत्तराषाढा

⛅ योग - वैधृति सुबह 09:24 तक तत्पश्चात विष्कम्भ

⛅ राहुकाल - सुबह 11:06 से दोपहर 12:45 तक

⛅ सूर्योदय - 06:10 

⛅ सूर्यास्त - 19:20 

⛅ दिशाशूल - पश्चिम दिशा में

⛅ व्रत पर्व विवरण - व्रत पूर्णिमा, गुरुपूर्णिमा, व्यासपूर्णिमा, ऋषि प्रसाद जयंती, कोकिला व्रतारम्भ, संन्यासी चातुर्मासारम्भ, विद्यालाभ योग

 💥 विशेष - चतुर्दशी और पूर्णिमा के दिन ब्रह्मचर्य पालन करे तथा तिल का तेल खाना और लगाना निषिद्ध है।(ब्रह्मवैवर्त पुराण, ब्रह्म खंडः 27.29-38)

               🌞 ~  श्री बालाजी पंचांग  ~ 🌞

🌷 इसलिए जरूरी है जीवन में गुरु का होना 🌷

🙏🏻 हिंदू धर्म में आषाढ़ पूर्णिमा गुरु भक्ति को समर्पित गुरु पूर्णिमा का पवित्र दिन भी है। भारतीय सनातन संस्कृति में गुरु को सर्वोपरि माना है। वास्तव में यह दिन गुरु के रूप में ज्ञान की पूजा का है। गुरु का जीवन में उतना ही महत्व है, जितना माता-पिता का।

🙏🏻 माता-पिता के कारण इस संसार में हमारा अस्तित्व होता है। किंतु जन्म के बाद एक सद्गुरु ही व्यक्ति को ज्ञान और अनुशासन का ऐसा महत्व सिखाता है, जिससे व्यक्ति अपने सतकर्मों और सद्विचारों से जीवन के साथ-साथ मृत्यु के बाद भी अमर हो जाता है। यह अमरत्व गुरु ही दे सकता है। सद्गुरु ने ही भगवान राम को मर्यादा पुरुषोत्तम बना दिया, इसलिए गुरु पूर्णिमा को अनुशासन पर्व के रूप में भी मनाया जाता है।

🙏🏻 इस प्रकार व्यक्ति के चरित्र और व्यक्तित्व का संपूर्ण विकास गुरु ही करता है। जिससे जीवन की कठिन राह को आसान हो जाती है। सार यह है कि गुरु शिष्य के बुरे गुणों को नष्ट कर उसके चरित्र, व्यवहार और जीवन को ऐसे सद्गुणों से भर देता है। जिससे शिष्य का जीवन संसार के लिए एक आदर्श बन जाता है। ऐसे गुरु को ही साक्षात ईश्वर कहा गया है इसलिए जीवन में गुरु का होना जरूरी है।

         🌞 ~ श्री बालाजी पंचांग  ~ 🌞


🌷 गुरु पूजन 🌷

🌷 गुरुर्ब्रह्मा गुरुर्विष्णुः गुरुर्देवो महेश्वरः |

गुरुर्साक्षात परब्रह्म तस्मै श्री गुरवे नमः ||

ध्यानमूलं गुरुर्मूर्ति पूजामूलं गुरोः पदम् |

मंत्रमूलं गुरोर्वाक्यं मोक्षमूलं गुरोः कृपा ||

अखंडमंडलाकारं व्याप्तं येन चराचरम् |

तत्पदं दर्शितं येन तस्मै श्री गुरवे नमः ||

त्वमेव माता च पिता त्वमेव, त्वमेव बंधुश्च सखा त्वमेव |

त्वमेव विद्या द्रविणं त्वमेव, त्वमेव सर्वं मम देव देव ||

ब्रह्मानंदं परम सुखदं केवलं ज्ञानमूर्तिं |

द्वन्द्वातीतं गगनसदृशं तत्त्वमस्यादिलक्षयम् ||

एकं नित्यं विमलं अचलं सर्वधीसाक्षीभूतम् |

भावातीतं त्रिगुणरहितं सदगुरुं तं नमामि ||

🙏🏻 ऐसे महिमावान श्री सदगुरुदेव के पावन चरणकमलों का षोड़शोपचार से पूजन करने से साधक-शिष्य का हृदय शीघ्र शुद्ध और उन्नत बन जाता है | मानसपूजा इस प्रकार कर सकते हैं |

🙏🏻 मन ही मन भावना करो कि हम गुरुदेव के श्री चरण धो रहे हैं … सर्वतीर्थों के जल से उनके पादारविन्द को स्नान करा रहे हैं | खूब आदर एवं कृतज्ञतापूर्वक उनके श्रीचरणों में दृष्टि रखकर … श्रीचरणों को प्यार करते हुए उनको नहला रहे हैं … उनके तेजोमय ललाट में शुद्ध चन्दन से तिलक कर रहे हैं … अक्षत चढ़ा रहे हैं … अपने हाथों से बनाई हुई गुलाब के सुन्दर फूलों की सुहावनी माला अर्पित करके अपने हाथ पवित्र कर रहे हैं … पाँच कर्मेन्द्रियों की, पाँच ज्ञानेन्द्रियों की एवं ग्यारहवें मन की चेष्टाएँ गुरुदेव के श्री चरणों में अर्पित कर रहे हैं …

🌷 कायेन वाचा मनसेन्द्रियैवा बुध्यात्मना वा प्रकृतेः स्वभावात् |

करोमि यद् यद् सकलं परस्मै नारायणायेति समर्पयामि ||

🙏🏻 शरीर से, वाणी से, मन से, इन्द्रियों से, बुद्धि से अथवा प्रकृति के स्वभाव से जो जो करते  हैं वह सब समर्पित करते हैं | हमारे जो कुछ कर्म हैं, हे गुरुदेव, वे सब आपके श्री चरणों में समर्पित हैं … हमारा कर्त्तापन का भाव, हमारा भोक्तापन का भाव आपके श्रीचरणों में समर्पित है |

🙏🏻 इस प्रकार ब्रह्मवेत्ता सदगुरु की कृपा को, ज्ञान को, आत्मशान्ति को, हृदय में भरते हुए, उनके अमृत वचनों पर अडिग बनते हुए अन्तर्मुख हो जाओ … आनन्दमय बनते जाओ …

ॐ आनंद ! ॐ आनंद ! ॐ आनंद !

    🌞 ~ श्री बालाजी पंचांग  ~ 🌞

पंचक आरम्भ

जुलाई 25, 2021, रविवार को 10:48 pm

पंचक अंत

जुलाई 30, 2021, शुक्रवार को 02:03 pm

एकादशी

 20 जुलाई- देवशयनी, हरिशयनी एकादशी

प्रदोष

जुलाई 2021: प्रदोष व्रत

21 जुलाई: प्रदोष व्रत

पूर्णिमा

आषाढ़ पूर्णिमा व्रत जुलाई 23, शुक्रवार

श्रावण पूर्णिमा 22 अगस्त, रविवार

अमावस्या

अगस्त 2021 में अमावस्या तिथि (हरियाली अमावस्या) 07 अगस्त 7:11 बजे - 08 अगस्त 7:20 बजे

श्री बालाजी पंचांग 

आज का राशिफल- जानिए कैसा होगा आपका आज का दिन, क्या कहती है आपकी राशियाँ और किस राशि की चमकेगी आज किस्मत।।

मेष दैनिक राशिफल (Aries Daily Horoscope)

आज का दिन आपके लिए कुछ उतार-चढ़ाव भरा रहेगा। आज आपको नौकरी में अपने सहयोगियो से सतर्क रहना होगा। किसी भी सलाह पर अमल नहीं करना होगा, नहीं तो आपको अपने अधिकारियों की डांट खानी पड़ सकती है। ससुराल पक्ष किसी व्यक्ति को धन उधार दिया हुआ था, तो उसके वापस मिलने से आप की आर्थिक स्थिति को मजबूती मिलेगी। कार्यक्षेत्र में आज दिन आपके लिए उत्तम रहेगा। आज आप जो भी कार्य करेंगे, उसमें आपको सफलता अवश्य प्राप्त होगी। जीवनसाथी को आज कहीं घुमाने लेकर जा सकते हैं, जिससे आप दोनों के बीच प्रेम बढ़ेगा। सायंकाल का समय आज आप किसी मांगलिक समारोह में सम्मिलित हो सकते हैं

वृष दैनिक राशिफल (Taurus Daily Horoscope)

आज का दिन आपके लिए उत्तम फलदायक रहेगा। आज आप अपने किसी परिजनों की मदद के लिए कुछ पैसों का इंतजाम करेंगे, इसके लिए आपको प्रशंसा मिलेगी।  भविष्य में आपको इसका लाभ अवश्य मिलेगा। आज किसी नए कार्य को शुरू करने की सोच रहे हैं, तो उसके लिए दिन उत्तम होगा। सरकारी नौकरी से जुड़े जातकों की वेतन वृद्धि हो सकती है, जिसके कारण उनका मन प्रसन्न होगा। यदि कोई पारिवारिक तनाव चल रहा था, तो वह समाप्त होगा, जिसके कारण परिवारिक रिश्तों मे मजबूती आएगी। गृहस्थ जीवन जी रहे लोगों को आज अपने जीवनसाथी से किसी भी बात को नहीं छुपाना है, नहीं तो तनाव बढ़ सकता है।

मिथुन दैनिक राशिफल (Gemini Daily Horoscope) 

आज का दिन आपके लिए कुछ मिलाजुला रहेगा। बिजनेस करने वाले किसी भी कार्य को करने के लिए पूरी मेहनत करेंगे और जी जान लगा देंगे, जिसके कारण आप उसमें सफलता की सिढ़ी चढ़ेंगे और उसका लाभ अवश्य पाएंगे। जीवनसाथी को सफलता मिलने से आज परिवार में खुशी का माहौल रहेगा, जिसके कारण किसी पार्टी को आयोजन भी हो सकता है। सायंकाल का समय आज आप अपने परिवार के छोटे बच्चों के साथ मौज मस्ती में व्यतीत करेंगे। विद्यार्थियों को अपनी परीक्षा की तैयारी में अधिक परिश्रम की आवश्यकता है, तभी सफलता मिलती दिख रही है।

कर्क दैनिक राशिफल (Cancer Daily Horoscope) 

आज का दिन आपके लिए सामान्य रहने वाला है। आज आपके ऊपर किसी काम का बोझ आ सकता है, जिसके कारण आपको कुछ तनाव होगा, लेकिन सायंकाल तक वह किसी बुजुर्ग की मदद से समाप्त होगा, जिससे आपको आर्थिक मदद भी मिल सकती है। आर्थिक स्थिति को मजबूती मिलेगी। आज आप यदि कहीं निवेश करने की सोच रहे हैं, तो उसके लिए दिन उत्तम रहेगा। बिजनेस कर रहे लोगों को आज अपने बिजनेस में किसी पर भी आंखें बंद करके भरोसा नहीं करना है, नहीं तो उनको भारी नुकसान उठाना पड़ सकता है। सायंकाल के समय आज आप किसी धार्मिक स्थान की यात्रा के लिए भी जा सकते हैं।

सिंह दैनिक राशिफल (Leo Daily Horoscope) 

आज का दिन आपके लिए चारों ओर से खुशियां लेकर आएगा। आज आपकी यदि संतान के विवाह से संबंधित यदि कोई समस्या थी, तो वह भी किसी परिजन की मदद से समाप्त होगी, जिसके कारण आपका मन प्रसन्न होगा। यदि आपका धन कहीं उधार दिया हुआ था, तो वह भी आज आपको वापस मिल सकता है, जिसके कारण आप की आर्थिक स्थिति को मजबूती मिलेगी। ससुराल पक्ष से भी सामान मिलता दिख रहा है। आज आप अपने मित्र की लिए मदद के लिए भी आगे आएंगे। सायंकाल का समय आपके आस पड़ोस में कोई विवाद होता है, तो आपको उससे बचने की कोशिश करनी होगी, नहीं तो वह कानूनी हो सकता है।

कन्या दैनिक राशिफल (Virgo Daily Horoscope)  

आज का दिन आपके लिए मिश्रित परिणाम लेकर आएगा। आज आपको आपके ऑफिस में कोई महत्वपूर्ण कार्य सौंपा जा सकता है, जिसके कारण आप थोड़ा परेशान रहेंगे, लेकिन अपनी मेहनत व लगन से सायंकाल तक आप अपने उस कार्य को पूरा करने में सफल रहेंगे। जीवनसाथी का सहयोग व सानिध्य आज आपको भरपूर मात्रा में मिलता दिख रहा है। परिवार के किसी सदस्य की इच्छा पूर्ति न होने से आज परिवार में तनाव की स्थिति उत्पन्न हो सकती है। यदि ऐसा हो, तो आपको अपनी वाणी पर नियंत्रण बनाए रखना होगा।

तुला दैनिक राशिफल (Libra Daily Horoscope)

आज का दिन आपके चारों ओर का माहौल कुछ अजीब सा रहेगा। आप आज जिस भी कार्य में हाथ डालेंगे, उसमें सफलता तो मिलेगी, लेकिन उससे विलंब अवश्य होगा, जिसके कारण आपका मन विचलित होगा, लेकिन सफलता मिलने पर मन प्रसन्न होगा। आज आप अपने भाई से अपने बिजनेस के लिए सलाह ले सकते हैं, जिसमें आपको कुछ धन की आवश्यकता भी होगी। यदि आपको कोई शारीरिक कष्ट परेशान कर रहा था, तो उसके कष्टों में आज वृद्धि हो सकती है। ऐसा हो, तो डॉक्टरी परामर्श अवश्य लें। सायंकाल का समय आज आप अपने परिवार के सदस्यों के साथ देव दर्शन आदि की यात्रा के लिए जा सकते हैं।

वृश्चिक दैनिक राशिफल (Scorpio Daily Horoscope) 

आज का दिन आप कुछ परेशानियों से घिरे नजर आएंगे। आज आपको अपने हर कार्य को पूरा करने के लिए बहुत जद्दोजहद करनी पड़ेगी, जिसके कारण आपके कुछ निराशा भी हाथ लग सकती है, लेकिन आप हार नहीं मानेंगे और आगे बढ़ेंगे। यदि आपकी माताजी को कोई शारीरिक कष्ट चल रहा था, तो उसमें आज बढ़ोतरी हो सकती है, जिसके लिए भागदौड़ भी अधिक होगी। यदि आज किसी के साथ लेनदेन करने की सोच रहे हैं, तो बिल्कुल ना करें क्योंकि उसके लिए दिन उत्तम नहीं है।

धनु दैनिक राशिफल (Sagittarius Daily Horoscope) 

आज का दिन आपके लिए कुछ मिलाजुला रहेगा। बिजनेस में किसी भी कार्य को सोच विचार कर करें और यदि कहीं निवेश करें, तो अपने माता-पिता से सलाह अवश्य लें, नहीं तो आपका वह धन डूब सकता है। आज आपको कोई भी नया कार्य करने से रोकना होगा क्योंकि उसके लिए आज दिन उत्तम नहीं है। यदि आप साझेदारी में किसी व्यापार को करने की सोच रहे हैं, तो उसके लिए दिन उत्तम रहेगा। विद्यार्थियों अपनी शिक्षा में आ रही बाधा को दूर करने के लिए अपने गुरुजनों का आशीर्वाद प्राप्त करेंगे।

मकर दैनिक राशिफल (Capricorn Daily Horoscope)

आज आपके खर्चों में बढ़ोतरी होगी। आज आपके घर किसी अतिथि का आगमन हो सकता है, जिसमें आप को ना चाहते हुए भी धन व्यय करना पड़ेगा, लेकिन आपको अपनी आय और व्यय ध्यान में रखकर ही वह कार्य करना होगा, नहीं तो भविष्य में आप के ऊपर आर्थिक स्थिति का संकट मंडरा सकता है। यदि आप कही शेयर संबंधी व्यापार करते हैं, तो आज उसमें आपको लाभ मिलने के योग बनेंगे।

कुंभ दैनिक राशिफल  (Aquarius Daily Horoscope) 

आज का दिन आपके लिए धैर्य से कार्य करने का होगा। आज आप जिस कार्य को धैर्य से करेंगे, उसमें सफलता प्राप्त अवश्य करेंगे। यदि आपको अपने व्यापार के लिए कोई डील फाइनल करनी है, तो आप अपने दिल और दिमाग दोनों से सोच कर के फैसला लें। बहन के विवाह में आ रही बाधा आज आपके किसी मित्र की मदद से दूर होगी। परिवार में आज किसी मांगलिक कार्यक्रम पर चर्चा हो सकती है। सायंकाल का समय आज आप अपने किसी परिजन के यहां जाने का प्लान बना सकते है।

मीन दैनिक राशिफल (Pisces Daily Horoscope)

आज का दिन आपके लिए कुछ आलस्य से भरा रहेगा। आज आपको अपने आलस्य के कारण अपने धन लाभ के अफसरों को भी नहीं पहचान पाएंगे, लेकिन आपको ऐसा नहीं करना है। यदि ऐसा किया, तो आपको नुकसान उठाना पड़ सकता है। किसी मकान की खरीदारी करने से पहले अपने परिजनों से राय जरूर ले अन्यथा मुसीबत में पड़ सकते हैं। आज आपको कोई नया ऑर्डर या कंस्ट्रक्शन मिलने की संभावना है। शत्रु आज प्रबल नजर आएंगे। संतान को अच्छे कार्य करते देख आज मन में प्रसन्नता होगी। जीवनसाथी के लिए आज आप कोई सरप्राइज पार्टी प्लान कर सकते हैं


जिनका आज जन्मदिन है उनको हार्दिक शुभकामनाएं और शुभाशीष

23 का अंक देखने पर ॐ का आभास देता है। जो कि भारतीय परंपरा में शुभ प्रतीक है। आप बेहद भाग्यशाली हैं कि आपका जन्म 23 को हुआ है। 23 का अंक आपस में मिलकर 5 होता है। जबकि 5 का अंक बुध ग्रह का प्रतिनिधि करता है। ऐसे व्यक्ति अधिकांशत: मितभाषी होते हैं। कवि, कलाकार, तथा अनेक विद्याओं के जानकार होते हैं।

 

आपमें किसी भी प्रकार का परिवर्तन करना मुश्किल है। अर्थात अगर आप अच्छे स्वभाव के व्यक्ति हैं तो आपको कोई भी बुरी संगत बिगाड़ नहीं सकती। अगर आप खराब आचरण के हैं तो दुनिया की कोई भी ताकत आपको सुधार नहीं सकती। लेकिन सामान्यत: 23 तारीख को पैदा हुए व्यक्ति सौम्य स्वभाव के ही होते हैं। आपमें गजब की आकर्षण शक्ति होती है। आपमें लोगों को सहज अपना बना लेने का विशेष गुण होता है। अनजान व्यक्ति की मदद के लिए भी आप सदैव तैयार रहते हैं।

शुभ दिनांक : 1, 5, 7, 14, 23

शुभ अंक : 1, 2, 3, 5, 9, 32, 41, 50

शुभ वर्ष : 2030, 2032, 2034, 2050, 2059, 2052

ईष्टदेव : देवी महालक्ष्मी, गणेशजी, मां अम्बे।

शुभ रंग : हरा, गुलाबी जामुनी, क्रीम

कैसा रहेगा यह वर्ष

वर्ष आपके लिए सफलताओं भरा रहेगा। अभी तक आ रही परेशानियां भी इस वर्ष दूर होती नजर आएंगी। परिवारिक प्रसन्नता रहेगी। संतान पक्ष से खुशखबर आ सकती है। नौकरीपेशा व्यक्तियों के लिए यह वर्ष निश्चय ही सफलताओं भरा रहेगा। दाम्पत्य जीवन में मधुर वातावरण रहेगा। अविवाहित भी विवाह में बंधने को तैयार रहें। व्यापार-व्यवसाय में प्रगति से प्रसन्नता रहेगी।


अंकों की महिमा

भारतीय संस्कृति में अंक नौ की महिमा

आज नौ तारीख है और लिखी जाए तो 9.10.11. कितना विशेष दिन है! अंक नौ गणित की दृष्टि से तो महत्त्वपूर्ण है ही, नौ संपूर्ण अंक होता है इसलिए तो भगवान राम का जन्म चैत्र मास की नौवीं तिथि को हुआ था. मर्यादा पुरुषोत्तम के सद्गुणों को भला कौन गिन सकता है! नौ को नौ से क्या किसी भी संख्या से गुणा करें तो गुणनफल की संख्याओं का योग नौ ही होगा. नौ में कितनी ही  बार नौ जोड़ा जाए उसकी संख्याओं का योग नौ ही होगा. ग्रह होते हैं नौ, राशियां होती हैं बारहा. नौ और बारहा का गुणनफल होगा एक सौ आठ. फिर इसकी संख्याओं का योग होगा नौ. श्रवण, कीर्तन, स्मरण, अर्चन, वंदन आदि भक्तियां भी नौ होती हैं जो, नवधा भक्ति कहलाती हैं. शृंगार, करुण, हास्य, रौद्र आदि हिंदी साहित्य के नौ रस होते हैं. प्रभा, माया, जया, सूक्ष्मा आदि नौ शक्तियां होती हैं. वत्सनाभ, हारिद्रक, सक्तुक, प्रदीपन आदि नौ विष होते हैं. पद्म, महापद्म,शंख, मकर आदि कुबेर की नवनिधियां होती हैं. दो आंखें, दो कान, नाक के दो नथुने, एक मुख आदि मनुष्य-शरीर की नौ इंद्रियां होती हैं. शैलपुत्री, ब्रह्मचारिणी, चित्रघंटा, कुष्मांडा आदि नवदुर्गाएं होती हैं. ज्योतिष के अनुसार सूर्य, चंद्र, मंगल, बुध आदि नवग्रह होते हैं. नवरात्रि में पूजा-योग्य कुमारिका, त्रिमूर्ति, कल्याणी, रोहिणी आदि नौ कुमारियां होती हैं. मोती, पन्ना, मूंगा, माणिक आदि नौ रत्न होते हैं. मौन रहने के किसीकी निंदा नहीं होगी, असत्य बोलने से बचेंगे, किसीसे वैर नहीं होगा, किसीसे क्षमा नहीं मांगनी पड़ेगी आदि नौ लाभ होते हैं. इसलिए भारतीय संस्कृति में अंक नौ को अत्यंत महत्त्वपूर्ण माना गया है.



आज का  परामर्श

क्या आप घर में लाना चाहते हैं पॉजिटिविटी? अपनाए ये 5 वास्तु टिप्स

वास्तु शास्त्र को काफी महत्व दिया गया हैं. इसमें अलग अलग दिशाओं का महत्व बताया गया हैं. वास्तु में विश्वास रखने वाले कई लोग वास्तु शास्त्र के हिसाब से ही सही दिशा पर आधारित अपने घर, या ऑफिस बनवाते हैं. इससे उनके जीवन में काफी प्रोग्रेस होता हैं. यही नहीं वास्तु शास्त्र में यह भी बताया गया हैं कैसे आप अपने घर में पॉजिटिव एनर्जी को बढ़ावा देके नेगेटिव एनर्जी को नष्ट कर सकते हैं. तो आइए इस वीडियो में हम आपको बताने जा रहे हैं वास्तु के मुताबिक वो 5 उपाय जिससे आप घर में पॉजिटिविटी ला सकते हैं.

1. एक कटोरी नमक ला सकता है पॉजिटिव एनर्जी (Salt for positivity) : वास्तु शास्त्र के अनुसार नमक वो चीज है जो बुरी शक्तियों को दूर करने की ताकत रखता है और घर को पॉजिटिव एनर्जी से भर देता हैं. इसलिए आप एक कटोरी नमक नॉर्थ ईस्ट या साउथ वेस्ट डायरेक्शन पर रख सकते हैं. यह नुस्खा आपके घर में पो और उत्साह ला सकता हैं.

2. हरा रंग भी है काफी पवरफुल (Colour Green for positivity): क्या आपको पता है हरा रंग भी शांति का प्रतीक है? जी बिल्कुल, इसीलिए तो कहा जाता है कि पैड पौदे उगाना ना ही हमे प्रकृति के करीब रखता है बल्कि पॉजिटिव औरा को भी आमंत्रित करता है. तो अगर आप घर में भी पॉजिटिविटी फैलाना चाहते हैं तो आप घर में मनी प्लांट, फुल, पौधे आदि रख सकते हैं.

3. विंड चाइम्स फैलाए पॉजिटिव औरा (Wind Chimes for positivity): विंड चाइम्स आज कल घर घर में काफी मशहूर हैं. खास कर इसलिए क्योंकि विंड चाइम्स घर में सुखद माहोल बनाए रखता है. तो अगर आपके घर में विंड चाइम्स नही है तो जरूर लगाएं और फिर देखिए कैसे आपका घर सुंदर और पॉजिटिव औरा से भर जायेगा.

4. घर के प्रवेश द्वार को हमेशा साफ रखें (Keep your entrance clean for positivity): आप तो जानते ही होंगे की घर का एंट्रेंस कितना मुख्य होता है, इसलिए आप ध्यान रखे कि आपके एंट्रेंस पर हमेशा रोशनी हो, वहा कूडादान बिलकुल ना रखे और अपने प्रवेश द्वार को हमेशा साफ रखें. इससे आपके घर में पॉजिटिव एनर्जी का प्रवेश होगा.

5. कांच को सही दिशा में लगाए (Mirror positioning for positivity): यह जानकर आप हैरान हो जाएंगे कि आपके घर में लगे कांच भी घर की ऊर्जा को बैलेंस करने में बड़ी भूमिका निभाते है. कांच पॉजिटिव और नेगेटिव दोनो एनर्जी रिफ्लेक्ट कर सकते हैं, इसलिए उनकी पोजिशनिंग बहुत ज्यादा जरूरी है. तो आप आपके घर में कांच वास्तु के हिसाब से ही लगाए जिससे शांति का वातावरण भी बना रहे.

तो यह थे कुछ वास्तु के टिप्स जिन्हे आजमा कर आप घर में पॉजिटिविटी फैला सकते हैं.



आज का विशेष उपाय

लाल किताब में परंपरागत और स्थानीय संस्कृति के अनुभवों पर आधारित उपाय बताए गए हैं। इसमें एक और जहां वास्तुशास्त्र की बात की गई है तो दूसरी ओर सामुद्रिक विज्ञान को बताया गया है। आओ जानते हैं कि ऐसे कौन से 10 उपाय हैं जिन्हें करने से घर में सुख, शांति, समृद्धि और धन की आवक बनी रहे।

प्रतिदिन हनुमान मंदिर जाएं और पीपल को जल चढाएं। हनुमान चालीसा पढ़ें। हनुमानजी को चोला चढ़ाएं। प्रतिदिन नहीं जा सकते हैं तो प्रति मंगल, गुरु और शनिवार को मंदिर जाएं। मंदिर के वृद्ध पुजारी या शिक्षक को पीला वस्त्र, धार्मिक पुस्तक या पीले खाद्य पदार्थ दान करें।

दूसरा उपाय-

एकादशी, प्रदोष या गुरुवार का व्रत रखें। पीला वस्त्र धारण करें। प्रतिदिन केसर या हल्दी का तिलक लगाएं। नाभि पर घी लगाएं। गुरुवार को नमक न खाएं।

तीसरा उपाय-

अपने या दूसरों के प्रति कटु वचन न बोलें। मुंह से गाली न निकालें। गृहकलह से बचें। मन में बुरे खयाल न लाएं। हमेशा सकारात्मक सोचें। इसके लिए घर में प्रतिदिन सुबह और शाम को कर्पूर जलाएं।

चौथा उपाय-

नाक और कान छिदवाएं। कुंडली की जांच करके किसी अच्छे मुहूर्त में बुधवार के दिन नाक छिदवाएं या गुरुवार के दिन गुरु का दान कर दें। नाक में चांदी का तार 43 दिन तक डालकर रखें और कान में सोने का तार।

पांचवां उपाय-

घर में 10 वस्तुएं अवश्य रखें। पहला चांदी से बना ठोस हाथी, दूसरा पत्थर की घट्टी, तीसरा पीतल-तांबे के बर्तन, चौथा मिट्टी के बर्तन में शहद, पांचवां काला सुरमा, छठा चांदी की डिब्बी जिसमें पानी भरा हो, सातवां काला सुरमा, आठवां देशी गुड़, नौवां चांदी का एक चौकोर टुकड़ा और दसवां हनुमानजी का चित्र या मूर्ति।

छठा उपाय-

शनि के मंदे कार्य न करें, जैसे परस्त्रीगमन, शराब पीना, ब्याज का धंधा करना और किसी मनुष्य या प्राणी को सताना। प्रति शनिवार को छाया दान नहीं कर सकते हैं तो कम से कम 11 शनिवार को छाया दान करें।

सातवां उपाय-

वृक्ष, चींटी, पक्षी, गाय, कुत्ता, कौवा, कछुआ, मछली, वृद्ध, अनाथ, कन्या, अशक्त मानव आदि प्राणियों के अन्न-जल की व्यवस्था करने से इनकी हर तरह से दुआ मिलती है। अत: इन सभी को अन्न और जल देते रहने से पितृदोष, राहु-केतु दोष, शनि दोष, शुक्रदोष आदि दोष तो दूर होते ही हैं साथ ही व्यक्ति कर्ज, आकस्मिक संकट और दुर्घटना से भी बचा रहता है।

आठवां उपाय-

5 काम वर्ष में 2 बार अवश्य करें। पहला अलग-अलग पानीदार नारियल लेकर अपने और अपने परिवार के सदस्यों के ऊपर से 21 बार वार कर उसे अग्नि में जला दें। इसी तरह 21 बार वार कर बहते पानी में बहा दें। दूसरा काम तांबे के लोटे में जल भरकर उसे सिरहाने रखकर सोएं और सुबह उठते ही उसे बाहर ढोल दें या कीकर के वृक्ष में डाल दें। तीसरा कार्य काला और सफेद दोरंगी कंबल 21 बार खुद पर से वार कर किसी गरीब को दान करें। चौथा कार्य बहते पानी में रेवड़ियां, बताशे, शहद या सिंदूर बहाएं। पांचवां कार्य कभी-कभी आंखों में काला सुरमा लगाएं।

नौवां उपाय-

यदि आप संकटों से जूझ रहे हैं, बार-बार एक के बाद एक कोई न कोई संकट से आप घिर जाते हैं तो किसी की शवयात्रा में श्मशान से लौटते वक्त कुछ सिक्के पीछे फेंकते हुए आ जाएं।

दसवां उपाय-

घर को वास्तु अनुसार ही बनाएं। वास्तु अनुसार नहीं बना है तो उसमें सुधार करवाएं। घर के वास्तुदोष को मिटाने के लिए कर्पूर का बहुत‍ महत्व है। यदि सीढ़ियां, टॉयलेट या द्वार किसी गलत दिशा में निर्मित हो गए हैं तो सभी जगह 1-1 कर्पूर की बट्टी रख दें। वहां रखा कर्पूर चमत्कारिक रूप से वास्तुदोष को दूर कर देगा।

अच्छी आदतें 

स्वस्थ रहने के लिए रूटीन में शामिल करें ये 10 हैल्दी आदतें

स्वस्थ रहने के लिए रूटीन में शामिल करें ये 10 हैल्दी आदतें

हैल्दी रहने की अच्छी आदतें : हर कोई अच्छे, हैल्दी और स्वस्थ जीवन की ख्वाहिश रखता है। स्वस्थ रहने के लिए आप हैल्दी डाइट से लेकर एक्सरसाइज तक करते हैं। इसके बावजूद भी आप कई बीमारियों की चपेट मे आ जाते हैं। ऐसा इसलिए है क्योंकि स्वस्थ रहने के लिए कुछ अच्छी आदतों का होना बेहद जरूरी है। कई बार आप कुछ चीजों को लेकर लापरवाह हो जाते है और बीमारियों की चपेट में आ जाते हैं। ऐसे में आज हम आपको 10 हैल्दी आदतों के बारे में बताएंगे, जिसे रूटीन में शामिल करके आप खुद को स्वस्थ रख सकते हैं।   एेसे करेंगे दिन की शुरुआत तो आसपास ही रहेगी बीमारियां

रूटीन में शामिल करें ये हैल्दी आदतें

1. बाहर से घर आने के बाद, भोजन पकाने से पहले, खाना खाने के पहले या बाद में और बाथरूम का इस्तेमाल करने के बाद हाथों को अच्छी तरह साबुन से धोएं। यदि आपके घर में कोई छोटा बच्चा है तब तो यह और भी जरूरी हो जाता है। उसे हाथ लगाने से पहले अपने हाथ अच्छी तरह से धोएं।

2. स्वस्थ रहने के लिए रोजाना रुटीन में कुछ हल्की-फुल्की एक्सरसाइज, व्यायाम या योग शामिल करें। कुछ समय निकालकर सुबह-शाम सैर जरूर करें। इससे आपकी आधी से ज्यादा समस्याएं दूर हो जाएगी।

3. 45 की उम्र के बाद अपना रूटीन चेकअप करवाते रहें और अगर डॉक्टर आपको कोई दवाई देता है तो उसे नियमित रुप से लें। बीमारियों से बचने के लिए सिर्फ दवाइयां ही नहीं, रोज कोई भी एक व्यायाम रोज जरूर करें। अगर इसके लिए समय नहीं निकाल पा रहे तो दफ्तर या घर की सीढ़ियां चढ़ने और तेज चलने का रूटीन अपनाएं। इसके अलावा कोशिश करें कि दफ्तर में भी आपको बहुत देर तक एक ही पोजीशन में न बैठा रहना पड़े।

4. बिजी शेड्यूल के चक्कर में अक्सर लोग सुबह का नाश्ता नहीं करते लेकिन यह सेहत के लिए हानिकारक है। हैलेदी रहना चाहते है तो नाश्ते के साथ-साथ लंच और डिनर भी समय पर करें। इसके अलावा गर्मियों में ज्यादा से ज्यादा पानी पीएं।

5. छोटी-छोटी बातों को लेकर तनाव न लें और अपने गुस्से को भी कंट्रोल में रखें। इससे भी आप कई बीमारियों की चपेट में आ जाते हैं। इसलिए हमेशा खुश रहे और दिमाग पर ज्यादा जोर न डालें। अपनी भावनाओं को दूसरों के साथ शेयर करें। इससे आपको हल्का महसूस होगा।

6. अपने विश्राम करने या सोने के कमरे को साफ-सुथरा, हवादार और खुला-खुला रखें। चादरें, तकियों के गिलाफ तथा पर्दों को 3 से 4 दिन में बदलते रहें। मैट्रेस या गद्दों को भी समय-समय पर धूप में रखें, ताकि उसकी धूल-मिट्टी और किटाणु निकल जाएं।

7. खाने में सलाद, दही, दूध, दलिया, हरी सब्जियों, साबुत दाल-अनाज आदि का इस्तेमाल जरूर करें। कोशिश करें कि आपकी प्लेट में 'वैरायटी ऑफ फूड' शामिल हो। खाना पकाने तथा पीने के लिए साफ पानी का प्रयोग करें और सब्जियों तथा फलों को अच्छी तरह धोकर खाएं।

8. भोजन पकाने के लिए अनसैचुरेटेड वेजिटेबल औयल जैसे- सोयाबीन, सनफ्लावर, मक्का या औलिव ऑयल का प्रयोग करें। खाने को सही तापमान पर पकाएं और ज्यादा पकाकर सब्जियों आदि के पौष्टिक तत्व नष्ट न करें। साथ ही ओवन का प्रयोग करते समय तापमान का खास ध्यान रखें। जंकफूड, सॉफ्ट ड्रिंक, मसालेदार भोजन और आर्टिफिशियल शक्कर से बने जूस का सेवन न करें।

9. घर में सफाई पर खास ध्यान दें, खासकर रसोई और शौचालयों पर। पानी को कहीं भी इकट्ठा न होने दें। सिंक, वॉश बेसिन आदि जैसी जगहों पर नियमित रूप से सफाई करें तथा फिनाइल, फ्लोर क्लीनर आदि का इस्तेमाल करती रहें।

10. रात का खाना 8 बजे तक कर लें और रात के समय ज्यादा हैवी भोजन न करें। ध्यान रहे कि भोजन हल्का-फुल्का हो। इसके अलावा सोने से पहले 15 से 20 मिनट टहलना ना भूलें।

आपको हमारे पंचांग में अच्छा लगा और अच्छा बनाने के लिये क्या सामग्री  जोड़ें हमारे  व्हाट्सएप नंबर 9911342666 पर बताये ताकि सुधार कर अधिक बेहतर बना सके

ज्योतिष, वास्तु लाल किताब व स्वास्थ्य संबंधी जानकारी हेतु हमारे WhatsApp ग्रुप में शामिल होने के लिए यह लिंक खोलें:या हमारे व्हाट्सएप नंबर 9911342666पर अपना नाम जगह लिख भेजे https://chat.whatsapp.com/HWs76X3eTzF1dLPuHGGf4H


अपनी किसी प्रकार की समस्या के समाधान के लिए सरल ज्योतिष वास्तु रेकी हीलिंग एवं लाल किताब उपाय  हेतु हमसे सम्पर्क करें

निशुल्क परामर्श के इच्छुक व्यक्ति दोपहर में 2से 3 बजे संपर्क करें आचार्य लक्ष्मण 

श्री बालाजी ज्योतिष अनुसंधान केंद्र

09354328527, 09911342666, 01127651180


Posted By Lal Kitab Anmol23:08

Wednesday, 21 July 2021

22/07/2021 आज का श्री बालाजी पंचांग वास्तु दोष है तो इस दिशा में तुलसी का पौधा लगवाना चाहिए

अंतर्गत लेख:

  आज का श्री बालाजी पंचांग 

सुप्रभात

आपका आज का दिन शुभ व मंगल कारी हो 

नित्य जप करें 

कल्याण मंत्र

ऊं नम शिवाय शिव जी सदा सहाय

ऊं नम शिवाय गुरु जी सदा सहाय

ऊं नम शिवाय श्री बालाजी सदा सहाय

कारोना नियम का पालन करें व औरों बताये स्वयं की दुसरो जान की रक्षा करें  सम्भव हो परेशान व जरुरतमंदों की सहायता करें  

मास्क से मुंह नाक को ढक ही बाहर निकले

⛅ दिनांक 22 जुलाई 2021

⛅ दिन - गुरुवार

⛅ विक्रम संवत - 2078 

⛅ शक संवत - 1943

⛅ अयन - दक्षिणायन

⛅ ऋतु - वर्षा 

⛅ मास - आषाढ़

⛅ पक्ष - शुक्ल 

⛅ तिथि - त्रयोदशी दोपहर 01:32 तक तत्पश्चात चतुर्दशी

⛅ नक्षत्र - मूल शाम 04:25 तक तत्पश्चात पूर्वाषाढा

⛅ योग - इन्द्र दोपहर 12:46 तक तत्पश्चात वैधृति

⛅ राहुकाल - दोपहर 02:24 से शाम 04:03 तक 

⛅ सूर्योदय - 05:37 

⛅ सूर्यास्त - 19:18 

⛅ दिशाशूल - दक्षिण दिशा में

⛅ व्रत पर्व विवरण -

 💥 विशेष - त्रयोदशी को बैंगन खाना मना है। (ब्रह्मवैवर्त पुराण, ब्रह्म खंडः 27.29-34)

 🌞 ~ श्री बालाजी पंचांग ~ 🌞

🌷 अद्भूत विद्वत्ता प्राप्ति योग 🌷

👉🏻 विद्यालाभ के लिए मंत्र 

  🙏🏻 ‘ॐ ऐं ह्रीं श्रीं क्लीं वाग्वादिनि सरस्वति मम जिव्हाग्रे वद वद ॐ ऐं ह्रीं श्रीं क्लीं नम: स्वाहा |’

➡ यह मंत्र 23 जुलाई 2021 दोपहर 02:26 से रात्रि 11:45 बजे के वीच 108 बार जप लें और फिर मंत्रजप के बाद उसी दिन रात्रि 11 से 12 के बीच जीभ पर लाल चंदन से ‘ह्रीं’ मंत्र लिख दें |

 😛 जिसकी जीभ पर यह मंत्र इस विधि से लिखा जायेगा उसे विद्यालाभ व अदभुत विद्वत्ता की प्राप्ति होगी |

  🌞 ~ श्री बालाजी पंचांग  ~ 🌞

🌷 गुरु का मानस-पूजन कैसे करें गुरु पूर्णिमा को 🌷

🙏🏻 गुरुपूनम की सुबह उठें । नहा-धोकर थोडा-बहुत धूप, प्राणायाम आदि करके श्रीगुरुगीता का पाठ कर लें ।

🌷 फिर इस प्रकार मानसिक पूजन करें 🌷

🙏🏻 ‘मेरे गुरुदेव ! मन-ही-मन, मानसिक रूप से मैं आपको सप्ततीर्थों के जल से स्नान करा रहा हूँ । मेरे नाथ ! स्वच्छ वस्त्रों से आपका चिन्मय वपु (चिन्मय शरीर) पोंछ रहा हूँ । शुद्ध वस्त्र पहनाकर मैं आपको मन से ही तिलक करता हूँ, स्वीकार कीजिये । मोगरा और गुलाब के पुष्पों की दो मालाएँ आपके वक्षस्थल में सुशोभित करता हूँ ।

🙏🏻 आपने तो हृदयकमल विकसित करके उसकी सुवास हमारे हृदय तक पहुँचायी है लेकिन हम यह पुष्पों की सुवास आपके पावन तन तक पहुँचाते हैं, वह भी मनसे, इसे स्वीकार कीजिये । साष्टांग दंडवत् प्रणाम करके हमारा अहं आपके श्रीचरणों में धरते हैं ।

🙏🏻 हे मेरे गुरुदेव ! आज से मेरी देह, मेरा मन, मेरा जीवन मैं आपके दैवी कार्य के निमित्त पूरा नहीं तो हररोज २ घंटा, ५ घंटा अर्पण करता हूँ, आप स्वीकार करना । भक्ति, निष्ठा और अपनी अनुभूति का दान देनेवाले देव ! बिना माँगे कोहिनूर का भी कोहिनूर आत्मप्रकाश देनेवाले हे मेरे परम हितैषी ! आपकी जय-जयकार हो ।’

🙏🏻 इस प्रकार पूजन तब तक बार-बार करते रहें जब तक आपका पूजन गुरु तक, परमात्मा तक नहीं पहुँचे । और पूजन पहुँचने का एहसास होगा, अष्टसात्त्विक भावों (स्तम्भ १ , स्वेद २ , रोमांच, स्वरभंग, कम्प, वैवण्र्य ३ , अश्रु, प्रलय ४ ) में से कोई-न-कोई भाव भगवत्कृपा, गुरुकृपा से आपके हृदय में प्रकट होगा ।

🏻 इस प्रकार गुरुपूर्णिमा का फायदा लेने की मैं आपको सलाह देता हूँ । इसका आपको विशेष लाभ होगा, अनंत गुना लाभ होगा ।

 🌞 ~ श्री बालाजी पंचांग ~ 🌞

🙏🏻पंचक आरम्भ

जुलाई 25, 2021, रविवार को 10:48 pm

पंचक अंत

जुलाई 30, 2021, शुक्रवार को 02:03 pm

एकादशी

20 जुलाई- देवशयनी, हरिशयनी एकादशी

प्रदोष

जुलाई 2021: प्रदोष व्रत

21 जुलाई: प्रदोष व्रत

पूर्णिमा

आषाढ़ पूर्णिमा व्रत जुलाई 23, शुक्रवार

श्रावण पूर्णिमा 22 अगस्त, रविवार

अमावस्या

अगस्त 2021 में अमावस्या तिथि (हरियाली अमावस्या) 07 अगस्त 7:11 बजे - 08 अगस्त 7:20 बजे

आज का राशिफल- जानिए कैसा होगा आपका आज का दिन, क्या कहती है आपकी राशियाँ और किस राशि की चमकेगी आज किस्मत।।

मेष दैनिक राशिफल (Aries Daily Horoscope)

आज का दिन आपके लिए कुछ परेशानियों भरा रहेगा। लंबे संघर्ष के बाद ही आपको परेशानी से राहत मिलेगी। आज आपको अकस्मात किसी लंबी दूरी की यात्रा पर जाना पड़ सकता है। आज आप अपने परिवार के किसी सदस्य की महत्वाकांक्षा की पूर्ति करने के लिए प्रयास करेंगे। आज आपको अपने बढ़ते हुए कर्जा को रोकना पड़ सकता है। नौकरी से जुड़े जातकों के लिए दिन उत्तम रहेगा। सायंकाल का समय आज आप अपनी संतान के साथ बातचीत में व्यतीत करेंगे।

वृष दैनिक राशिफल (Taurus Daily Horoscope)

आज का दिन आपके लिए व्यवसाय के दृष्टिकोण से उत्तम रहने वाला है। यदि आपने साझेदारी में कोई व्यापार किया हुआ है, तो वह भी आज आपको भरपूर लाभ दे सकता है। सायंकाल के समय आपके घर किसी खास अतिथि का आगमन हो सकता है, इसमें आपको कुछ धन भी व्यय करना पड़ेगा। आज आप अपने परिवार के बुजुर्ग सदस्य के साथ अपने परिवार के किसी सदस्य की विवाह में आ रही बाधाओं को दूर करने के लिए विचार विमर्श करेंगे। पारिवारिक बिजनेस में आज आपको अपने भाइयों के साथ की आवश्यकता होगी।

मिथुन दैनिक राशिफल (Gemini Daily Horoscope) 

आज का दिन आपके लिए कुछ खास होने वाला है। आज आपको आपके व्यापार में अकस्मात लाभ मिलने से आप अपने पुराने कर्जे को उतारने में कामयाब रहेंगे, जिसके कारण आप राहत की सांस लेंगे। नौकरी कर रहे जातकों को आज  अपने अधिकारियों से शाबाशी मिल सकती हैं, जिसके कारण उनके वेतन वृद्धि में आ रही बाधा के मार्ग खुलेंगे। प्रेम जीवन में आज कोई तनाव पनप सकता है। यदि ऐसा हो, तो अपनी जीवनसाथी को मनाने की कोशिश अवश्य करें। संतान को आज अच्छे कार्य करते देख मन में प्रसन्नता होगी।

कर्क दैनिक राशिफल (Cancer Daily Horoscope) 

आज का दिन आपको ऊर्जावान बनाएगा। आज आपको अपनी उर्जा को बनाए रखने के लिए अपने सभी प्रकार के कार्य को तेजी से करना होगा, इसके कारण आपको एनर्जी मिलेगी और आप अपने सभी कार्य को पूरा करने की पूरी कोशिश करेंगे। आज आप जो भी कार्य करेंगे, उसमें आपको सफलता भी अवश्य प्राप्त होगी। आज आपके मित्र आपके लिए किसी पार्टी का आयोजन कर सकते हैं, जिसे देख कर आपको खुशी होगी। विवाह योग्य जातकों के लिए उत्तम विवाह के प्रस्ताव आएंगे, जिनको परिवार की ओर से मंजूरी मिलेगी। ससुराल पक्ष से भी आज आपको धन लाभ मिलता दिख रहा है।

सिंह दैनिक राशिफल (Leo Daily Horoscope) 

आज का दिन आपके कारोबार के लिए कुछ खराब रहने वाला है। आज यदि आप किसी डील को फाइनल करने जा रहे थे, तो वह लटक सकती है, जिसके कारण आपको चिंता हो सकती है, लेकिन आप अपने परिवार के वरिष्ठ सदस्यों की मदद से इस समस्या का समाधान खोजने में कामयाब रहेंगे। सरकारी कार्य यदि आपका लंबित है, तो उसको पूरा करने की पूरी कोशिश करें, नहीं तो वह आपको परेशान नहीं दे सकता है। आज आपको अपने आलस्य को त्याग कर आगे बढ़ना होगा, तभी आपके सभी कार्य पूर्ण होते दिख रहे हैं। विद्यार्थियों के उच्च शिक्षा के मार्ग प्रशस्त होंगे।

कन्या दैनिक राशिफल (Virgo Daily Horoscope)  

आज का दिन आपके लिए कुछ विशेष भागदौड भरा रहेगा। आज आप अपनी बहन के विवाह मे आ रही बाधाओं को दूर करने के लिए किसी वरिष्ठ सदस्य से मिलेंगे, जिसके कारण बाधा समाप्त होगी और परिवार में खुशी का माहौल होगा। घर परिवार में भी सुख शांति मिलेगी। दैनिक जीवन में सहयोग व सानिध्य भरपूर मात्रा में मिलेगा। आज संतान के भविष्य के लिए कुछ योजनाएं बनाएंगे, जिसमें आप कुछ निवेश भी करेंगे। यदि आप साझेदारी में किसी व्यापार को करने का सोचा हैं, तो उसके लिए दिन उत्तम रहेगा।

तुला दैनिक राशिफल (Libra Daily Horoscope)

आज का दिन आपके लिए कुछ चिंता भरा रहेगा। आज आपको अकारण ही चिंता होगी, लेकिन नौकरी कर रहे जातकों के सहयोग से किसी लड़ाई झगड़े की स्थिति बन सकती है, तो उससे बचने की कोशिश करनी होगी, नहीं तो वह आपकी प्रगति के मार्ग में भी बाधा डाल सकती है, लेकिन आज आपको किसी के भी बारे में बुरा ही नहीं सोचना चाहिए, नहीं तो आप को और अधिक कष्टों का सामना करना पड़ सकता है। आज आपको अच्छी व साफ नियत से ही सभी कार्य करने होंगे, तभी आपको सफलता मिलती दिख रही है।

वृश्चिक दैनिक राशिफल (Scorpio Daily Horoscope) 

आज का दिन आपके लिए चारों ओर से खुशियां लेकर आयेगा। आज आपको मानो ऐसा लगेगा कि चारो ओर खुशियां ही खुशियां हैं। आज आपकी काफी समस्याओं का समाधान मिल जाएगा, जिसके कारण आपके मन मे प्रसन्नता रहेगी। नौकरी कर रहे छात्रों को आज वेतन वृद्धि और पदोन्नति दोनों मिल सकती हैं। आज आप अपने जीवन साथी के लिए कोई सरप्राइस प्लान कर सकते हैं, जिससे आपके रिश्ते में चल रहा तनाव समाप्त होगा और आप अपने रूठे जीवनसाथी को मनाने में कामयाब रहेंगे।

धनु दैनिक राशिफल (Sagittarius Daily Horoscope) 

आज का दिन आपके लिए मिश्रित फलदायक रहेगा। व्यवसाय में आज किसी नये संपर्क से लाभ मिलेगा। आज आपको अपनी पारिवारिक खर्चे को आगे बढ़ने से रोकना होगा। जीवनसाथी आज आपसे नाराज हो सकते हैं। आज आपकी परिवार के सदस्यों से बहस बाजी भी हो सकती है। आज व्यवसाय की उन्नति देखकर आपके आत्मविश्वास में वृद्धि होगी। भाई व बहनों के साथ रिश्ते में यदि कोई विवाद चल रहा है, तो वह भी आज समाप्त होगा, जिसके कारण मन प्रसन्न होगा। आज आप छोटी दूरी की यात्रा पर भी जा सकते हैं।

मकर दैनिक राशिफल (Capricorn Daily Horoscope)

आज का दिन आपके लिए मिश्रित परिणाम लेकर आएगा। आज सामाजिक व धार्मिक कार्यों में भाग लेने से आपका ही मान सम्मान बढ़ेगा। धार्मिक कार्यों में आज आप कुछ धन व्यय करेंगे, लेकिन आपको अपने आप को ध्यान में रखकर ही पूरा करना होगा, नहीं तो आपको आर्थिक स्थिति के लिए परेशान होना पड़ सकता है। आज परिवार के किसी सदस्य से कोई वाद-विवाद पनप सकता है। सायंकाल का समय आज आप अपने मित्रों के साथ हास्य विनोद में व्यतीत करेंगे।

कुंभ दैनिक राशिफल  (Aquarius Daily Horoscope) 

आज का दिन आपके लिए मध्यम रूप से फलदायक रहेगा। विदेशों से व्यापार कर रहे लोगों को आज उत्तम लाभ प्राप्त होगा, जिसके लिए अपने परिवार के सदस्यों के साथ खुशी जाहिर करेंगे। सायंकाल के समय यदि आपकी किसी मित्र से मुलाकात होगी, तो वह आपको कोई अहम सूचना देकर जाएगी। कार्यक्षेत्र में आज आपको मेहनत व लगन से कार्य करना होगा, तभी सफलता मिल पाएगी, नहीं तो आपके लिए गए निर्णय लटक सकते हैं। संतान की ओर से आज आपको शुभ समाचार सुनने को मिल सकता है।

मीन दैनिक राशिफल (Pisces Daily Horoscope)

आज का दिन आपका परोपकार के कार्य में व्यतीत होगा। आज अध्ययन के प्रति भी आपका रुझान अधिक रहेगा। विद्यार्थियों को आज अपने माता-पिता के गुरूओं की सेवा और सम्मान करना होगा, तभी सफलता मिलती दिख रही है। आज आप धर्म-कर्म के कार्य में भी चढ़कर हिस्सा लेंगे, जिससे आपको लाभ भी अवश्य मिलेगा। आज आपको अपनी नौकरी में गुप्त शत्रुओं से सावधान रहना होगा, नहीं तो वह आपको भारी नुकसान करा सकते हैं। सायंकाल का समय आज आप अपने माता-पिता की सेवा में व्यतीत करेंगे। रोजगार की दिशा में कार्यरत लोगों को आज उत्तम सफलता हाथ लग सकती है।

दिनांक 22 को जन्मे व्यक्ति का मूलांक 4 होगा। इस अंक से प्रभावित व्यक्ति जिद्दी, कुशाग्र बुद्धि वाले, साहसी होते हैं। ऐसे व्यक्ति को जीवन में अनेक परिवर्तनों का सामना करना पड़ता है। जैसे तेज स्पीड से आती गाड़ी को अचानक ब्रेक लग जाए ऐसा उनका भाग्य होगा। लेकिन यह भी निश्चित है कि इस अंक वाले अधिकांश लोग कुलदीपक होते हैं। आपका जीवन संघर्षशील होता है। इनमें अभिमान भी होता है। ये लोग दिल के कोमल होते हैं किन्तु बाहर से कठोर दिखाई पड़ते हैं। इनकी नेतृत्व क्षमता के लोग कायल होते हैं।

शुभ दिनांक : 4, 8, 13, 22, 26, 1

शुभ अंक : 4, 8,18, 22, 45, 57

शुभ वर्ष : 2031, 2040, 2060

ईष्टदेव : श्री गणेश, श्री हनुमान,

शुभ रंग : नीला, काला, भूरा

कैसा रहेगा यह वर्ष

यह वर्ष पिछले वर्ष के दुष्प्रभावों को दूर करने में सक्षम है। आपको सजग रहकर कार्य करना होगा। परिवारिक मामलों में सहयोग के द्वारा सफलता मिलेगी। मान-सम्मान में वृद्धि होगी, वहीं मित्र वर्ग का सहयोग मिलेगा। नवीन व्यापार की योजना प्रभावी होने तक गुप्त ही रखें। शत्रु पक्ष पर प्रभावपूर्ण सफलता मिलेगी। नौकरीपेशा प्रयास करें तो उन्नति के चांस भी है। विवाह के मामलों में आश्चर्यजनक परिणाम आ सकते हैं।

अंकों की महिमा

108 अंक का हिंदू धर्म  में खास स्थाणन प्राप्ता  है. 108 बार मंत्रों का जाप किया जाता है. दूसरी ओर रूद्राक्ष (Rudraksha) की माला में 108 मनके होते हैं. अब सवाल उठता है कि 108 अंक को हिंदू धर्म में इतना महत्व क्योंि हासिल है. हिंदू धर्मशास्त्रों  की मानें तो 108 को शिव का अंक माना गया है. मुख्यि शिवांगों की संख्या 108 होती है. गौड़ीय वैष्णव धर्म के अनुसार, वृंदावन में कुल 108 गोपियों का वर्णन किया गया है. 108 मनकों के साथ गोपियों के नाम का जाप करने पर विशेष फल मिलता है. विष्णु के 108 दिव्य क्षेत्रों का जिक्र श्रीवैष्णव धर्म में मिलता है, जिसे 108 दिव्यदेशम कहते हैं. कम्बोडिया के अंकोरवाट मंदिर की नक्काशी में समुद्र मंथन को दिखाते हुए व्यमक्त  किया गया है कि क्षीर सागर पर मंदार पर्वत पर बंधे वासुकि नाग को 54 देव और 54 राक्षस (108) अपनी-अपनी ओर खींच रहे थे. दोनों की संख्या  मिलकर 108 होती है.

ज्योरतिषीय महत्वो की दृष्टि  से 108 अंक का विशेष स्थाान है. ज्योरतिष में कुल 12 राशियां होती हैं, जिनमें 9 ग्रह विचरण करते हैं. इन दोनों संख्याुओं को गुणा करेंगे तो आपको 108 अंक मिलेगा.

हिंदू धर्म के अलावा बौद्ध धर्म में भी 108 अंक की विशेष महत्ताम है. बौद्ध धर्म में माना गया है कि व्यक्ति के भीतर 108 प्रकार की भावनाएं जन्म लेती हैं. लंकावत्र सूत्र में भी एक खंड है, जिसमें बोधिसत्व महामती, बुद्ध से 108 सवाल पूछते हैं. एक दूसरे खंड में बौद्ध 108 निषेधों को भी बताते हैं. बहुत से बौद्ध मंदिरों में सीढ़ियां भी 108 ही रखी गई हैं.

आज का विशेष उपाय

शनि की साढ़ेसाती के प्रभाव को दूर करने के लिए शनिवार से साढ़ेसाती का दुश्प्रभाव कम करने के लिए 1-1/4 किलो काले चने लोहे की नयी बाल्टी में डाल दें। पानी से भर दें। शुक्रवार की रात्रि यह प्रयोग करें। शनिवार की प्रात: उस पानी वाली बाल्टी में अपनी छाया देखें। पानी घर के बाहर पीपल के पेड़ पर डालें। चनें बहुत शुद्ध पानी में, 1 मुट्ठी ‘ऊँ सूर्य पुत्राय नम:’ कहकर प्रवाहित करें। जब तक चने समाप्त न हो यह प्रयोग जारी रखें। बाल्टी किसी शनि के दान मागने वाले का 1-1/4 किलो सरसों के तेल डालकर, कुछ सिक्के डालकर दान करें।

आज का  परामर्श

घर के ईशान कोण में किसी तरह का वास्तु दोष है तो इस दिशा में तुलसी का पौधा लगवाना चाहिए। 1- वास्तुशास्त्र के अनुसार घर का उत्तर-पूर्व कोना बहुत ही शुद्ध और सकारात्मक माना जाता है। इसे ईशान कोण भी कहते हैं। इस जगह पर कभी डस्टबिन या भारी सामान नहीं रखना चाहिए।

अच्छी आदतें

बहुत से लोग नहाते समय सादे पानी का इस्तेमाल करते हैं। लेकिन अगर इस पानी में कुछ जरूरी चीजों को मिलाकर नहाया जाए तो कई तरह की हेल्थ प्रॉब्लम से बचा जा सकता है। जी हां, आज हम आपको कुछ ऐसी ही जरूरी चीजों के बारे में बताएंगे, जिनको पानी में मिलाकर नहाने से कई बीमारियों और परेशानियों से बचा जा सकता है।

1. फिटकरी 

नहाने की बाल्टी में एक चम्मच फिटकरी और सेंधा नमक मिलाकर नहाएं। इससे बॉडी का ब्लड सर्कुलेशन सुधरेगा, जिससे स्ट्रैस की समस्या दूर होगी और मसल्स पेन दूर होगा।

2. नीम के पत्ते 

एक गिलास पानी में नीम के पत्ते मिलाकर उबाल लें। ठंडा होने पर पानी को छान लें। इसे पानी वाली बाल्टी में मिलाकर नहाएं। इससे स्किन इंफैक्शन और सूजन दूर रहेगी।

3. गुलाबजल 

एक बाल्टी में 3 से 4 चम्मच गुलाब जल मिलाकर नहाने से मसल्स रिलैक्स महसूस करते है और साथ ही बॉडी की बदबू दूर होती है।

4. संतरे के छिलके 

गुनगुने पानी की बाल्टी में दो संतरे के छिलके डालें। 10 मिनट बाद इनको पानी से निकाल कर नहाएं। इससे मसल्स पेन और स्किन इंफैक्शन दूर होगी।

5. कपूर 

नहाने की बाल्टी में कपूर मिला लें। इससे बॉडी को रिलैक्स मिलेगा साथ ही सिर दर्द की समस्या दूर होगी।

आपको हमारे पंचांग में अच्छा लगा और अच्छा बनाने के लिये क्या सामग्री  जोड़ें हमारे  व्हाट्सएप नंबर 9911342666 पर बताये ताकि सुधार कर अधिक बेहतर बना सके

ज्योतिष, वास्तु लाल किताब व स्वास्थ्य संबंधी जानकारी हेतु हमारे WhatsApp ग्रुप में शामिल होने के लिए यह लिंक खोलें:या हमारे व्हाट्सएप नंबर 9911342666पर अपना नाम जगह लिख भेजे https://chat.whatsapp.com/HWs76X3eTzF1dLPuHGGf4H

अपनी किसी प्रकार की समस्या के समाधान के लिए सरल ज्योतिष वास्तु रेकी हीलिंग एवं लाल किताब उपाय  हेतु हमसे सम्पर्क करें

निशुल्क परामर्श के इच्छुक व्यक्ति दोपहर में 2से 3 बजे संपर्क करें आचार्य लक्ष्मण 

श्री बालाजी ज्योतिष अनुसंधान केंद्र

09354328527, 09911342666, 011-27651180


Posted By Lal Kitab Anmol19:37

Monday, 19 July 2021

20/07/2021 आज का श्री बालाजी पंचांग व गृह क्लेश दूर करने के लिए नमक का विशेष उपाय

अंतर्गत लेख:




सुप्रभात

आपका आज का दिन शुभ व मंगल कारी हो 

नित्य जप करें 

कल्याण मंत्र

ऊं नम शिवाय शिव जी सदा सहाय

ऊं नम शिवाय गुरु जी सदा सहाय

ऊं नम शिवाय श्री बालाजी सदा सहाय

कारोना नियम का पालन करें व औरों बताये स्वयं की दुसरो जान की रक्षा करें  सम्भव हो परेशान व जरुरतमंदों की सहायता करें  

मास्क से मुंह नाक को ढक ही बाहर निकले

श्री बालाजी पंचांग 

⛅ दिनांक 20 जुलाई 2021

⛅ दिन - मंगलवार

⛅ विक्रम संवत - 2078 


⛅ शक संवत - 1943

⛅ अयन - दक्षिणायन

⛅ ऋतु - वर्षा 

⛅ मास - आषाढ़

⛅ पक्ष - शुक्ल 

⛅ तिथि - एकादशी शाम 07:17 तक तत्पश्चात द्वादशी

⛅ नक्षत्र - अनुराधा रात्रि 08:33 तक तत्पश्चात ज्येष्ठा

⛅ योग - शुक्ल शाम 07:35 तक तत्पश्चात ब्रह्म

⛅ राहुकाल - शाम 04:04 से शाम 05:43 तक 

⛅ सूर्योदय - 06:08 

⛅ सूर्यास्त - 19:21 

⛅ दिशाशूल - उत्तर दिशा में

⛅ व्रत पर्व विवरण - देवशयनी एकादशी, चातुर्मास व्रतारम्भ, पंढरपुर यात्रा

 💥 विशेष - हर एकादशी को श्री विष्णु सहस्रनाम का पाठ करने से घर में सुख शांति बनी रहती है l   राम रामेति रामेति । रमे रामे मनोरमे ।। सहस्त्र नाम त तुल्यं । राम नाम वरानने ।।

💥 आज एकादशी के दिन इस मंत्र के पाठ से विष्णु सहस्रनाम के जप के समान पुण्य प्राप्त होता है l

💥 एकादशी के दिन बाल नहीं कटवाने चाहिए।

💥 एकादशी को चावल व साबूदाना खाना वर्जित है | एकादशी को शिम्बी (सेम) ना खाएं अन्यथा पुत्र का नाश होता है।

💥 जो दोनों पक्षों की एकादशियों को आँवले के रस का प्रयोग कर स्नान करते हैं, उनके पाप नष्ट हो जाते हैं।

🌞 ~ श्री बालाजी पंचांग 

🌷 चतुर्मास एवं पुरुष सूक्त 🌷


➡ आषाढ़ शुक्ल एकादशी (20 जुलाई, मंगलवार) से कार्तिक शुक्ल एकादशी (15 नवम्बर, सोमवार) तक चातुर्मास है ।


🙏🏻 चतुर्मास में भगवान श्रीविष्णु के योगनिद्रा में शयन करने पर जिस किसी नियम का पालन किया जाता है, वह अनंत फल देनेवाला होता है – ऐसा ब्रह्माजी का कथन है |

जो मानव भगवान वासुदेव के उद्देश्य से केवल शाकाहार करके चतुर्मास व्यतीत करता है वह धनी होता है | जो प्रतिदिन नक्षत्रों का दर्शन करके केवल एक बार ही भोजन करता हैं वह धनवान, रूपवान और माननीय होता है | जो मानव ब्रह्मचर्य – पालनपूर्वक चौमासा व्यतीत करता हैं वह श्रेष्ठ विमान पर बैठकर स्वेच्छा से स्वर्गलोक जाता है |जो चौमासेभर नमक को छोड़ देता है उसके सभी पुर्तकर्म ( परोपकार एवं धर्मसम्बन्धी कार्य ) सफल होते है | जिसने कुछ उपयोगी वस्तुओं को चौमासेभर त्यागने का नियम लिया हो, उसे वे वस्तुएँ ब्राह्मण को दान करनी चाहिए | ऐसा करने से वह त्याग सफल होता है | जो मनुष्य नियम, व्रत अथवा जप के बिना चौमासा बिताता है वह मुर्ख है |

🙏  जो चतुर्मास में भगवान विष्णु के आगे खड़ा होकर ‘पुरुष सूक्त’ का जप करता है, उसकी बुद्धि बढती है | -(स्कंदपुराण, नागर खंड, उत्तरार्ध )

🙏🏻 बुद्धि बढाने के इच्छुक पाठक और ‘बाल संस्कार केंद्र’ के बच्चे ‘पुरुष सूक्त’ से फायदा उठायें | आनेवाले दिनों में ‘बाल संस्कार केंद्र’ के बुद्धिमान बच्चे ही देश के कर्णधार होंगे |

🌷 पुरुष सूक्त 🌷

🙏🏻 (ऋग्वेद : १०-९०, यजुर्वेद : अध्याय – ३१ )

🌷 ॐ सहस्रशीर्षा पुरुष: सहस्त्राक्ष: सहस्त्रपात् |

स भूमिं विश्वतो वृत्वात्यतिष्ठद्दशांगुलम् || १||

🙏🏻 ‘आदिपुरुष असंख्य सिर, असंख्य नेत्र और असंख्य पाद से युक्त था | वह पृथ्वी को सब ओर से घेरकर भी दस अंगुल अधिक ही था |’

🌷 पुरुष एवेदं सर्वं यदभूतं यच्च भाव्यम् |

उतामृतत्वस्येशानो यदन्नेनातिरोहति || २ ||

🙏🏻 ‘यह जो वर्तमान जगत है, वह सब पुरुष ही है | जो पहले था और आगे होगा, वह भी पुरुष ही है, क्योंकि वह अमृतत्व का, देवत्व का स्वामी है | वह प्राणियों के कर्मानुसार भोग देने के लिए अपनी कारणावस्था का अतिक्रम करके दृश्यमान जगतअवस्था को स्वीकार करता है, इसलिए यह जगत उसका वास्तविक स्वरूप नहीं है |’

🌷 एतावानस्य महिमातो ज्यायाँश्च पुरुष : |

पादोऽस्य विश्वा भूतानि त्रिपाद्स्यामृतं दिवि || ३ ||

🙏🏻 ‘अतीत, अनागत एवं वर्तमान रूप जितना जगत है उतना सब इस पुरुष की महिमा अर्थात एक प्रकार का विशेष सामर्थ्य है, वैभव है, वास्तवस्वरूप नहीं | वास्तव पुरुष तो इस महिमा से भी बहुत बड़ा है | सम्पूर्ण त्रिकालवर्ती भूत इसके चतुर्थ पाद में हैं | इसके अवशिष्ट सच्चिदानन्दस्वरुप तीन पाद अमृतस्वरूप हैं और अपने स्वयंप्रकाश द्योतनात्मक रूप में निवास करते हैं |’

🌷 त्रिपादूर्ध्व उदैत्पुरुष: पादोऽस्येहाभवत् पुन: |

ततो विष्वं व्यक्रामत्साशनानशने अभि ||४ ||

पाद पुरुष संसाररहित ब्रह्मस्वरूप है | वह अज्ञानकार्य संसार से विलक्षण और इसके गुण-दोषों से अस्पृष्ट है | इसका जो किंचित मात्र अंश माया में हैं वही पुन: -पुन: सृष्टि – संहार के रूप में आता – जाता रहता है | यह मायिक अंश ही देवता, मनुष्य, पशु, पक्षी आदि विविध रूपों में व्याप्त है | वही सभोजन प्राणी है और निर्भोजन जड़ है | सारी विविधता इस चतुर्थाश की ही है |’

🌷 तस्माद्विराळजायत विराजो अधि पुरुष: |

स जातो अत्यरिच्यत पश्चादभूमिमथो पुर: ||५ ||

🙏🏻 ‘उस आदिपुरुष से विराट ब्रह्माण्ड देह की उत्पत्ति हुई | विराट देह को ही अधिकरण बनाकर उसका अभिमानी एक और पुरुष प्रकट हुआ | वह पुरुष प्रकट होकर विराट से पृथक देवता, मनुष्य, पशु, पक्षी आदि के रूप में हो गया | उसके बाद पृथ्वी की सृष्टि हुई और जीवों के निवास योग्य सप्त धातुओं के शरीर बने |’

🌷 ॐ यत्पुरुषेण हविषा देवा यज्ञमतन्वत |

वसन्तो अस्यासीदाज्यं ग्रीष्म इध्म: शरद्धवि: ||६ ||

🙏🏻 ‘देवताओं ने उसी उत्पन्न द्वितीय पुरुष को हविष्य मानकर उसी के द्वारा मानस यज्ञ का अनुष्ठान किया | इस यज्ञ में वसंत ऋतू आज्य (घृत) के रूप में, ग्रीष्म ऋतू ईंधन के रूप में और शरद ऋतू हविष्य के रूप में संकल्पित की गयी |’

तं यज्ञं बर्हिषि प्रौक्षण पुरुषं जातमग्रत: |

तेन देवा अजयन्त साध्या ऋषयश्च ये || ७ ||

🙏🏻 ‘वही द्वितीय पुरुष यज्ञ का साधन हुआ | मानस यज्ञ में उसीको पशु-भावना से युप (यज्ञ का खंभा) में बाँधकर प्रोक्षण किया गया, क्योंकि सारी सृष्टि के पूर्व वही पुरुषरूप से उत्पन्न हुआ था | इसी पुरुष के द्वारा देवताओं ने मानस याग किया | वे देवता कौन थे ? वे थे सृष्टि – साधन योग्य प्रजापति आदि साध्य देवता एवं तदनुकूल मंत्रद्रष्टा ऋषि | अभिप्राय यह है कि उसी पुरुष से सभीने यज्ञ किया |’

🌷 तस्माद्यज्ञात सर्वंहुत: संभृतं पृषदाज्यम् |

पशून ताँश्चक्रे वायव्यानारण्यान् ग्राम्याश्च ये || ८ ||

🙏🏻 ‘इस यज्ञ में सर्वात्मक पुरुष का हवन किया जाता है | इसी मानस यज्ञ से दधिमिश्रित आज्य-सम्पादन किया गया अर्थात सभी भोग्य पदार्थों का निर्माण हुआ | इसी यज्ञ से वायुदेवताक आरण्य (जंगली) पशुओं का निर्माण हुआ | जो ग्राम्य पशु हैं, उनका भी |’

🌷 तस्माद्यज्ञात सर्वहुत ऋच: सामानि जज्ञिरे |

छन्दांसि जज्ञिरे तस्माद्यजुस्तस्मादजायत || ९ ||

🙏🏻 ‘पूर्वोक्त सर्वहवनात्मक यज्ञ से ऋचाएँ और साम उत्पन्न हुए | उस यज्ञ से ही गायत्री आदि छन्दों का जन्म हुआ | उसी यज्ञ से यजुष (यजुर्वेद) की भी उत्पत्ति हुई |’

 तस्मादश्वा अजायन्त ये के चोभयादत: |

गावो ह जज्ञिरे तस्मात तस्माज्जाता अजावय: ||१० ||

🙏🏻 ‘उस पूर्वोक्त यज्ञ से यज्ञोपयोगी अश्वों का जन्म हुआ | जीके दोनों ओर दाँत होते हैं, उनका भी जन्म हुआ | उसीसे गायों का भी जन्म हुआ और उसीसे बकरी – भेड़ें भी पैदा हुई |’

🌷 ॐ यत्पुरुषं व्यदधु: कतिधा व्यकल्पयन् |

मुखं किमस्य कौ बाहू का ऊरू पादा उच्येते ||११ ||

🙏🏻 ‘जब द्वितीय पुरुष ब्रह्मा की ही यज्ञ – पशु के रूप में कल्पना की गयी, तब उसमें किस – किस रूप से, किस – किस स्थान से, किस – किस प्रकार विशेष से उसके अंग- उपांगों की भावना की गयी ? उसका मुख क्या बना ? उसके बाहू क्या बने ? तथा उसके ऊरू (जंघा) और पाद क्या कहे गये ?’

🌷 ब्राह्मणोंऽस्य मुखमासीद् बाहू राजन्य: कृत: |

ऊरू तदस्य यद्वैश्य: पदभ्यां शूद्रों अजायत || १२ ||

🙏🏻 ‘इस पुरुष का मुख ही ब्राह्मण के रूप में कल्पित हैं | बाहू राजन्य माना गया हैं | ऊरू वैश्य है और चरण शुद्र हैं 

 चन्द्रमा मनसो जातश्चक्षो: सूर्यो अजायत |

मुखादिन्द्रश्चाग्निश्च प्राणादवायुरजायत || १३ ||

🙏🏻 ‘मन से चन्द्रमा, चक्षु से सूर्य, मुख से इंद्र तथा अग्नि और प्राण से वायु की कल्पना की गयी |’

🌷 नाभ्या आसीदन्तरिक्षं शीष्णॉ द्यौ: समवर्तत |

पदभ्यां भूमिर्दिश: श्रोत्रात्तथा लोकों अकल्पयन || १४ ||

🙏🏻 ‘नाभि से अंतरिक्ष लोक, सिर से द्युलोक, चरणों से भूमि और श्रोत्र से दिशाएँ – इस प्रकार लोकों की कल्पना की गयी |’

🌷 सप्तास्यासन् परिधयस्त्रि: सप्त समिध: कृता: |

देवा यद्यज्ञं तन्वाना अबध्नन् पुरुषं पशुम् || १५ ||

🙏🏻 ‘जब देवताओं ने अपने मानस यज्ञ का विस्तार करते हुए वैराज पुरुष (परमात्मा) को पशु के रूप में कल्पित किया, तब इस यज्ञ की सात परिधियाँ हुई और इक्कीस समिधाएँ |’

🌷 यज्ञेन यज्ञमयजन्त देवास्तानि धर्माणि प्रथमान्यासन् |

ते ह नाकं महिमान: सचन्त यत्र पूर्व साध्या: सन्ति देवा: ||१६||

🙏🏻 ‘प्रजापति के प्राणरूप विद्वान देवताओं ने अपने मानस संकल्परूप यज्ञ के द्वारा यज्ञस्वरूप पुरुषोत्तम का यजन (आराधन, याग) किया | वही धर्म है सर्वश्रेष्ठ एवं सनातन, क्योंकि सम्पूर्ण विकारों को धारण करता हैं | वे धर्मात्मा भगवान के माहात्म्य, वैभव आदि से सम्पन्न होकर परमानंद-लोक में समा गये | वहीँ प्राचीन उपासक देवता विराजमान रहते हैं |’

आज का राशिफल- जानिए कैसा होगा आपका आज का दिन, क्या कहती है आपकी राशियाँ और किस राशि की चमकेगी आज किस्मत।।

मेष दैनिक राशिफल (Aries Daily Horoscope)

आज का दिन आपके लिए उत्तम रूप से फलदायक रहेगा। आज आपको अपने स्वभाव में नरमी बरतनी होगी, तभी सफलता मिल पाएगी, नहीं तो आप अपने बनते हुए कामों को अपने स्वभाव के कारण बिगाड़ सकते हैं। आज का दिन आपके लिए बिजनेस के मामले में उत्तम लाभ देने वाला रहेगा। संतान की ओर से आपको आज कोई हर्षवर्धन समाचार सुनने को मिल सकता है, जिसके कारण मन मे प्रसन्नता रहेगी। आज कुछ व्यवसाय की यात्रा भी करनी पड़ सकती है, जिसके कारण आप अपने परिवार के सदस्यों के लिए समय नहीं निकाल पाएंगे।

वृष दैनिक राशिफल (Taurus Daily Horoscope)

आज का दिन आपके लिए आनंदमय रहेगा। विद्यार्थियों को आज बौद्धिक मानसिक भार से छुटकारा मिलता दिख रहा है, जिसके कारण आप अपने आपको स्वतंत्र महसूस करेंगे। परिजन आज आपसे कुछ दैनिक आवश्यकताओं की पूर्ति की डिमांड कर सकते है, जिसको आप खुश होकर पूरा करेंगे। व्यापार में आज आपको कहीं से रुका हुआ धन प्राप्त हो सकता है, जो आपको आर्थिक मजबूती देगा। सायंकाल के समय आज आपके जीवन साथी व संतान के साथ कहीं घूमने फिरने के योग बनते दिख रहे हैं। कार्य क्षेत्र में आज आपको धन को लेकर अपने किसी सहयोगी से कोई विवाद विवाद नहीं करना है

मिथुन दैनिक राशिफल (Gemini Daily Horoscope) 

आज का दिन आपके लिए कुछ आलस्य भरा रह सकता है। आज आपको अपने आलस्य को छोड़ना होगा, तभी आपके रुके हुए काम बन सकते हैं। व्यापार के कुछ कार्य में भी आज आप कुछ आलस्य दिखाएंगे, जिसके कारण आप कुछ लाभदायक डील आगे के लिए टाल सकते हैं। कार्य व्यवसाय को लेकर आज आपको मानसिक चिंता रह सकती है, लेकिन परेशान बिल्कुल ना हो क्योंकि व्यवसाय में धन लाभ की स्थिति बनती दिख रही है। आज आपके आलस्य व लापरवाही के कारण आसपास के लोगों को असुविधा हो सकती है। आज आपका अपने परिवार के किसी सदस्य से कोई वाद विवाद हो सकता है।

कर्क दैनिक राशिफल (Cancer Daily Horoscope) 

आज का दिन आपके लिए सफलता प्राप्ति का दिन रहेगा। आज आप जिस भी कार्य को करेंगे, वह सरलता से पूरा होगा और आपको लाभ देगा। संतान के किसी गलत कार्य से आज आपको कुछ लाभ मिल सकता है। नौकरी वाले जातकों को अधिकारियों की डांट खानी पड़ सकती है, इसलिए यदि आज कोई कार्य करने को मिले, तो उसे ध्यान देकर पूरा करें। यदि आज आप किसी जमीन व जायदाद से खरीदारी करने जा रहे हैं, तो उसके वैज्ञानिक पहलुओं को बहुत ही  स्वाधीनता से जांच लें, नहीं तो भविष्य में आपको किसी बड़े कष्ट का सामना करना पड़ सकता है।

सिंह दैनिक राशिफल (Leo Daily Horoscope) 

आज का दिन आपको आपके पिछले कुछ दिनों से चल रही दुविधा को समाप्त करेगा। कार्य व्यवसाय से आज आपको दिन के आरंभ से ही तसल्ली देने वाले समाचार सुनने को मिलेंगे। कार्य व्यवसाय में आज दिन तसल्ली देने वाला रहेगा क्योंकि शुभ समाचार सुनने को मिलते रहेंगे। नौकरी में आज सहकर्मियों के मनमाने व्यवहार के कारण आपको कुछ परेशानी का सामना करना पड़ सकता है, इसके कारण आपका उनसे वाद विवाद भी हो सकता है। यदि आज कहीं धन का निवेश करने की सोच रहे हैं, तो सोच विचार कर करें। 

कन्या दैनिक राशिफल (Virgo Daily Horoscope)  

आज का दिन आपके लिए अन्य जिलों की तुलना में शांति भरा रहेगा। पुराने मित्रों के मिलने से आज नई आशाओं का संचार होगा व आप अपने मित्रों के साथ किसी पार्टी का भी मन बना सकते हैं। आज आप अपने किसी परिजन की सेहत को लेकर चिंतित हो सकते हैं। सांसारिक सुख भोग के साधनों में आज वृद्धि होगी, जिनसे आपको संतुष्टि मिलेगी। सायंकाल के समय किसी विद्वान प्रशंसक के मिलने से रोजगार के अवसर प्राप्त होंगे, जो लोग रोजगार के लिए भटक रहे हैं, उनको आज कोई शुभ समाचार प्राप्त हो सकता है। संतान के विवाह के प्रस्ताव को आज आप मंजूरी दे सकते हैं।

तुला दैनिक राशिफल (Libra Daily Horoscope)

आज का दिन आपके लिए मिलाजुला रहेगा। आज आपके ऊपर कार्य का भार कुछ अधिक हो सकता है, इसके कारण आपको अपने कुछ कार्यों को आगे समय के लिए टालना होगा, लेकिन ध्यान दें यदि कोई कार्य कानूनी हो, तो उसे बिल्कुल भी ना टालें, नहीं तो उसमें आपको परेशानी का सामना करना पड़ सकता है। व्यवसाय के लिए यदि आज कोई निर्णय लेना पड़े, तो बहुत ही सोच विचार कर लें, नहीं तो भविष्य में वह आपको मुसीबत में डाल सकता है। आर्थिक स्थिति को मजबूती मिलेगी। लंबे समय से रुका हुआ धन प्राप्त हो सकता है।

वृश्चिक दैनिक राशिफल (Scorpio Daily Horoscope) 

आज आपके लिए कुछ ऐसी विपरीत परिस्थितियां उत्पन्न हो सकती हैं, जिनको देखकर आपको हैरानी होगी। आज आपकी कोई बनती हुई डील आपके हाथ से निकल सकती है, इसलिए यदि आपके मन में कोई आइडिया है, तो उसे तुरंत आगे बढ़ाएं और किसी से सांझा ना करें, नहीं तो आपके शत्रु आप को नुकसान पहुंचाने की पूरी कोशिश कर सकते हैं, तो उसे किसी से सोझा ना करें, नहीं तो आपके शत्रु उसका फायदा उठाने की पूरी कोशिश कर सकते हैं। सायंकाल के समय आपके घर किसी अतिथि का आगमन हो सकता है, जिसमें कुछ धन भी व्यय होगा। जीवनसाथी का भरपूर सहयोग व सानिध्य आज आपको प्राप्त होता दिख रहा है। संतान को अच्छे कार्य करते देख आज मन में प्रसन्नता होगी।

धनु दैनिक राशिफल (Sagittarius Daily Horoscope) 

आज का दिन आपके लिए मिश्रित परिणाम लेकर आएगा। आज आपके परिवार के किसी सदस्य अथवा जीवन साथी के स्वास्थ्य में गिरावट देखने को मिल सकती है, जिसके कारण खर्च भी करना पड़ेगा। सायं काल का समय आप किसी धार्मिक व मांगलिक कार्यक्रम में सम्मिलित हो सकते हैं, इसमें आपकी किसी रसूखदार व्यक्ति से मुलाकात होगी, जिसका आपको अपने बिजनेस में लाभ मिलेगा। यदि आज किसी से धन का लेनदेन करने की सोच रहे हैं, तो बिल्कुल ना करें क्योंकि इसमें आपको नुकसान हो सकता है।

मकर दैनिक राशिफल (Capricorn Daily Horoscope)

आज का दिन आपके लिए कुछ यादगार पल लेकर आएगा। आज आप किसी ऐसे कार्य को करेंगे, जो आपको हमेशा याद रहेगा। व्यवसायियों को व्यापार से धन की आमदनी रुक-रुक कर होती दिख रही है, जिसके कारण वह थोड़ा परेशान रहेंगे। आज आपको कोई उपहार व सम्मान भी मिलता दिख रहा है। बिजनेस में आज आपकी सोची हुई योजनाएं पूर्ण होंगी, जिनसे आपको संतोषजनक लाभ अवश्य होगा। किसी महिला मित्र से आज आपको अचानक धन लाभ मिलता दिख रहा है। सायंकाल के समय आज आप अपने पिताजी से किसी मांगलिक कार्यक्रम पर चर्चा कर सकते हैं।

कुंभ दैनिक राशिफल  (Aquarius Daily Horoscope) 

आज का दिन आपके लिए उत्तम रूप से फलदायक रहेगा। आज आपको अपनी संतान के भविष्य की योजनाओं के लिए पास व दूर की यात्रा करनी पड़ सकती है। इस यात्रा पर जाएं, तो बहुत ही सावधानी से जाएं क्योंकि आपकी किसी प्रिय वस्तु के खोने व चोरी होने का भय बना हुआ है। यदि ऐसा हो, तो सावधान रहें। आज परिजन व मित्र आपकी इच्छा को समझेंगे, लेकिन फिर भी किसी कार्य की पूर्ति में विलंब होने पर वह आप से नाराजगी जता सकते हैं। सायंकाल के समय आज आप अपने जीवनसाथी को कहीं घुमाने फिराने लेकर जा सकते हैं।

मीन दैनिक राशिफल (Pisces Daily Horoscope)

आज का दिन आपके लिए मिश्रित फलदायक रहेगा। आज सुबह से ही घर व कार्य क्षेत्र के जरूरी कार्य को लेकर आज भागदौड़ बनी रहेगी, जिसके कारण आपको सायंकाल के समय कुछ थकान का अनुभव करेंगे। किसी मांगलिक व धार्मिक यात्रा पर जाने की योजना बन सकती है। जीवनसाथी का सहयोग व सानिध्य आज आपको भरपूर मात्रा में मिलता दिख रहा है। विद्यार्थियों को यदि किसी कोर्स में दाखिला लेना है, तो उसके लिए दिन अति उत्तम रहेगा। रोजगार की दिशा में प्रयास कर रहे लोगों को आज कुछ नए अवसर प्राप्त होंगे, जिसके कारण वह अपनी आर्थिक स्थिति को संभालने में कामयाब रहेंगे

दिनांक 20 को जन्मे व्यक्ति का मूलांक 2 होगा। आप अत्यधिक भावुक होते हैं। आप स्वभाव से शंकालु भी होते हैं। दूसरों के दु:ख-दर्द से आप परेशान हो जाना आपकी कमजोरी है। ग्यारह की संख्या आपस में मिलकर दो होती है इस तरह आपका मूलांक दो होगा। इस मूलांक को चंद्र ग्रह संचालित करता है। चंद्र ग्रह मन का कारक होता है।

 चंद्र के समान आपके स्वभाव में भी उतार-चढ़ाव पाया जाता है। आप अगर जल्दबाजी को त्याग दें तो आप जीवन में बहुत सफल होते हैं। आप मानसिक रूप से तो स्वस्थ हैं लेकिन शारीरिक रूप से आप कमजोर हैं। चंद्र ग्रह स्त्री ग्रह माना गया है। अत: आप अत्यंत कोमल स्वभाव के हैं। आपमें अभिमान तो जरा भी नहीं होता।

शुभ दिनांक : 2, 11, 20, 29

शुभ अंक : 2, 11, 20, 29, 56, 65, 92

शुभ वर्ष : 2027, 2029, 2036

ईष्टदेव : भगवान शिव, बटुक भैरव

शुभ रंग : सफेद, हल्का नीला, सिल्वर ग्रे

कैसा रहेगा यह वर्ष


लेखन से संबंधित मामलों में सावधानी रखना होगी। बगैर देखे किसी कागजात पर हस्ताक्षर ना करें। किसी नवीन कार्य योजनाओं की शुरुआत करने से पहले बड़ों की सलाह लें। व्यापार-व्यवसाय की स्थिति ठीक-ठीक रहेगी। स्वास्थ्य की दृष्टि से संभल कर चलने का वक्त होगा। पारिवारिक विवाद आपसी मेलजोल से ही सुलझाएं। दखलअंदाजी ठीक नहीं रहेगी।

*अंकों की महिमा

चमत्कारी है 7 का अंक जानकारियां

ज्योतिष के अनुसार प्रत्येक अंक का महत्व है। जैसे 1 अंक सूर्य का, 2 अंक चंद्र का, 3 अंक गुरु का, चार अंक राहु का, 5 अंक बुध का, 6 का शुक्र, 7 का केतु, 8 का शनि और 9 का स्वामी ग्रह मंगल है। मूलांक, भाग्यांक और जन्मांक से अंक ज्योतिषाचार्य लोगों का भविष्य बताते हैं। लेकिन हम यहां अंक ज्योतिष से हटकर कुछ और बताना चाहते हैं।

धर्म में 7 का स्थान :-

•जुडाइज्म में 7 को 'टौराह' का संकेत मानते हैं, जो आध्यात्मिकता और सृजन का एकीकरण है।

•प्रत्येक 7 साल में 7 बार मुबारक दिन (योवेल) आता है।

•डेविड जीस का सातवां बेटा है।

•ब्रेस्लोव परंपरा में 'द 7 कैंडेल्स' की संकल्पना है, जिसमें चेहरे के सात अंग- 2 आंख, 2 नासिकाएं, 2 कान और 1 मुंह को रखा गया है।

•हिंदू धर्म में 7 ऋषियों की परिकल्पना है।

•इस्लाम धर्म में 7 जमीन और 7 आसमान की परिकल्पना है।

•सूर-ए-फातिहा की 7 आयतें हैं।

•कुल 7 स्वर हैं।

2. हिन्दू धर्म में 7 का अंक...

•सप्तऋषि : वशिष्ठ, कश्यप, अत्रि, जमदग्नि, गौतम, विश्वामित्र और भारद्वाज।

•सात छंद : गायत्री, वृहत्ती, उष्ठिक, जगती, त्रिष्टुप, अनुष्टुप और पंक्ति।

•सात योग : ज्ञान, कर्म, भक्ति, ध्यान, राज, हठ, सहज।

•सात भूत : भूत, प्रेत, पिशाच, कूष्मांडा, ब्रह्मराक्षस, वेताल और क्षेत्रपाल।

•सात वायु : प्रवह, आवह, उद्वह, संवह, विवह, परिवह, परावह।

•सात द्वीप : जम्बूद्वीप, पलक्ष द्वीप, कुश द्वीप, शालमाली द्वीप, क्रौंच द्वीप, शंकर द्वीप, पुष्कर द्वीप।

•सात पाताल : अतल, वितल, सुतल, तलातल, महातल, पाताल तथा रसातल।

3 . गणित पर 7 का राज :-

•7 है चौथा प्राइम नंबर।

•7 माना जाता है दूसरा सबसे भाग्यशाली प्राइम नंबर।

•7 है तीसरा ल्यूका प्राइम नंबर।

•7 कैरॉल नंबर होने के साथ-साथ काइनिया नंबर भी है।

 . विज्ञान में 7 का महत्व :-

•7 है नाइट्रोजन का एटॉमिक नंबर।

•पीरियॉडिक टेबल के 7 ग्रुप में मिलती है हैलोजन।

5. खगोलशास्त्र पर भी 7 का वर्चस्व :-

•सोलर सिस्टम के 7 सदस्य- सूर्य, चंद्र, मंगल, शुक्र, बुद्ध, वृहस्पति और शनि ग्रह हैं।

•उरसा मेजर समूह में भी 7 तारे हैं।

•एटलस और प्लेडियास की भी 7 पुत्रियाँ थीं।

6. तकनीकी में 7 का महत्व :-

•रूस से कजाकिस्तान की अंतरराष्ट्रीय डायरेक्ट फोन कॉल सेवा का कोड 7 है।

•अमेरिकन और कैनेडियन फोन नंबरों की संख्या 7 है।

•गुणवत्ता के 7 उपकरण माने जाते हैं।

•ओएसआई मॉडलों के भी 7 स्तर होते हैं।

•किल 7 लॉजिक गेट होते हैं।

7. क्लासिक में 7 का महत्व :-

•रोम की 7 पहाड़ियां हैं।

•प्रगतिशील कला की 7 विधाएं हैं।

•सात आश्चर्य हैं।

•रोमन इतिहास के 7 बादशाह हैं।

8. और भी कितना कुछ है इस 7 के संसार में...

•सात लोक : भूर्लोक, भूवर्लोक, स्वर्लोक, महर्लोक, जनलोक, तपोलोक, सत्यलोक। सत्यलोक को ही ब्रह्मलोक कहते हैं।

•सात समुद्र : क्षीरसागर, दुधीसागर, घृत सागर, पयान, मधु, मदिरा, लहू।

•सात पर्वत : सुमेरु, कैलाश, मलय, हिमालय, उदयाचल, अस्ताचल, सपेल? माना जाता है कि गंधमादन भी है।

•सप्त पुरी : अयोध्या, मथुरा, माया (हरिद्वार), काशी, कांची, अवंतिका (उज्जयिनी) और द्वारका।

           🌞 ~ श्री बालाजी पंचांग 

आज का विशेष उपाय

यदि बच्चों की पढ़ाई में कोई भी दिक्कत आ रही हो तो हल्दी की गांठ को हरे रुमाल में रखकर उसको बच्चे के सिरहाने मैं सिल दे 

हनुमान चालीसा : प्रतिदिन हनुमान मंदिर जाएं और हनुमान चालीसा पढ़ें। हनुमानजी को चोला चढ़ाएं। प्रतिदिन नहीं जा सकते हैं तो प्रति मंगल, गुरु और शनिवार को मंदिर जाएं। एकादशी, प्रदोष या गुरुवार का व्रत रखें। संकट दूर होकर घर में सुख, शांति, समृद्धि और धन की आवक बनी रहती हैं।

आज का वास्तु टिप्स

गृह क्लेश दूर करने के लिए शयनकक्ष के कोने में रखें नमक का टुकड़ा, बनी रहेगी शांति

शयनकक्ष के एक कोने में सेंधा नमक या खड़े नमक का एक टुकड़ा लेकर रख दें और इस टुकड़े को पूरे एक महीने तक उसी कोने में रहने दें। एक महीने के बाद पुराने नमक के टुकड़े को हटाकर नया टुकड़ा रख दें। ऐसा करने से एक तो घर में शांति बनी रहेगी और छोटी-मोटी तकरार कम होगी, वहीं दूसरी तरफ मानसिक अशांति खत्म होगी। साथ ही नकारात्मकता भी दूर होगी। रोगों से मुक्ति दिलाने में नमक कैसे आपके लिये कारगर है, इसके बारे में हम कल बात करेंगे।  

अच्छी आदतें 

सोच सही होनी चाहिए किसी ने कहा है कि गलत खान-पान से ज्यादा महत्वपूर्ण होता है सोच का सकारात्मक होना । अगर वह सकारात्मक हुआ तो सब डर से दूर होकर व्यक्ति दैनिक चिन्तन से मुक्त हों जाएगा। स्वास्थ्य जीवनशैली healthy lifestyle हो तो मन एवम् स्वास्थ्य आपके बस में हो जाएगा। इन स्वास्थ्य जीवन के उपाय को ध्यान में रखकर स्वस्थ जीवन जिया जा सकता है ।

वाहन के प्रति मोह कम कर उसका प्रयोग कम करने की आदत डालें। जहां तक हो कम दूरी के लिए पैदल यात्रा पर जाएं। इससे मांसपेशियों का व्यायाम होगा, जिससे आप निरोगी रहकर आकर्षक बने रहेंगे, साथ ही पर्यावरण की रक्षा में भी सहायक होंगे।

आपको हमारे पंचांग में अच्छा लगा और अच्छा बनाने के लिये क्या सामग्री  जोड़ें हमारे  व्हाट्सएप नंबर 9911342666 पर बताये ताकि सुधार कर अधिक बेहतर बना सके

ज्योतिष, वास्तु लाल किताब व स्वास्थ्य संबंधी जानकारी हेतु हमारे WhatsApp ग्रुप में शामिल होने के लिए यह लिंक खोलें:या हमारे व्हाट्सएप नंबर 9911342666पर अपना नाम जगह लिख भेजे https://chat.whatsapp.com/HWs76X3eTzF1dLPuHGGf4H


अपनी किसी प्रकार की समस्या के समाधान के लिए सरल ज्योतिष वास्तु रेकी हीलिंग एवं लाल किताब उपाय  हेतु हमसे सम्पर्क करें

"ज्योतिष शास्त्र, कुंडली विश्लेषण , वास्तुशास्त्र, वैदिक अनुष्ठान व समस्त धार्मिक कार्यो के लिए संपर्क करें

निशुल्क परामर्श के इच्छुक व्यक्ति दोपहर में 2से 3 बजे संपर्क करें आचार्य लक्ष्मण 

श्री बालाजी ज्योतिष अनुसंधान केंद्र

whatsapp 9354328527, 09911342666, 01127651180


Posted By Lal Kitab Anmol21:14

 
भाषा बदलें
हिन्दी टाइपिंग नीचे दिए गए बक्से में अंग्रेज़ी में टाइप करें। आपके “स्पेस” दबाते ही शब्द अंग्रेज़ी से हिन्दी में अपने-आप बदलते जाएंगे। उदाहरण:"भारत" लिखने के लिए "bhaarat" टाइप करें और स्पेस दबाएँ।
भाषा बदलें