बीमारी का बगैर दवाई भी इलाज़ है,मगर मौत का कोई इलाज़ नहीं दुनियावी हिसाब किताब है कोई दावा ए खुदाई नहीं लाल किताब है ज्योतिष निराली जो किस्मत सोई को जगा देती है फरमान दे के पक्का आखरी दो लफ्ज़ में जेहमत हटा देती है

Thursday, 14 November 2019

आज का राशिफल पंचांग पुराने जोड़ों दर्द जरुर राहत मिलेंगी

अंतर्गत लेख:

ऊं नम शिवाव शिवजी सदा सहाय
ऊं नम शिवाय गुरु जी सदा सहाय
ऊं नम शिवाय श्री बालाजी सदा सहाय

निशुल्क पंचांग अपने मोबाईल फोन पर मंगवाने के लिए 9911342666 पर नाम के साथ में अपने शहर का नाम लिख कर व्हाट्सएप्प करे
🌞 ~ *आज का श्री बालाजी  पंचांग* ~
⛅ *दिनांक 13 नवम्बर 2019*
⛅ *दिन - बुधवार*
⛅ *विक्रम संवत - 2076*
⛅ *शक संवत -1941*
⛅ *अयन - दक्षिणायन*
⛅ *ऋतु - हेमंत*
⛅ *मास - मार्गशीर्ष
⛅ *पक्ष - कृष्ण*
⛅ *तिथि - प्रतिपदा शाम 07:42 तक तत्पश्चात द्वितीया*
⛅ *नक्षत्र - कृत्तिका रात्रि 10:02 तक तत्पश्चात रोहिणी*
⛅ *योग - वरीयान् सुबह 10:06 तक तत्पश्चात परिघ*
⛅ *राहुकाल - दोपहर 12:11 से दोपहर 01:33 तक*
⛅ *सूर्योदय - 06:48*
⛅ *सूर्यास्त - 17:56*
⛅ *दिशाशूल - उत्तर दिशा में*
⛅ *व्रत पर्व विवरण -*
 💥 *विशेष - प्रतिपदा को कूष्माण्ड(कुम्हड़ा, पेठा) न खाये, क्योंकि यह धन का नाश करने वाला है। (ब्रह्मवैवर्त पुराण, ब्रह्म खंडः 27.29-34)*
               🌞
🌷 *मार्गशीर्ष मास* 🌷
🙏🏻 *मार्गशीर्ष हिन्दू धर्म का नौवाँ महीना है। मार्गशीर्ष को अग्रहायण नाम भी दिया गया है। अग्रहायण शब्द 'आग्रहायणी' नक्षत्र से संबंधित है जो मृगशीर्ष या मृगशिरा का ही दूसरा नाम है । अग्रहायण का तद्भव रूप 'अगहन' है । इस वर्ष 13 नवंबर 2019 (उत्तर भारत हिन्दू पञ्चाङ्ग के अनुसार) से मार्गशीर्ष का आरम्भ हो रहा है। वैदिक काल से मार्गशीर्ष माह का विशेष महत्व रहा है। प्राचीन समय में मार्गशीर्ष से ही नववर्ष का प्रारम्भ माना जाता था। मार्गशीर्ष माह में सनातन संस्कृति के दो प्रमुख विवाह संपन्न हुए थे। शिव विवाह तथा राम विवाह। मार्गशीर्ष शुक्ल पंचमी को राम विवाह तो सर्वविदित है ही साथ ही शिवपुराण, रुद्रसंहिता, पार्वतीखण्ड के अनुसार सप्तर्षियों के समझाने से हिमवान ने शिव के साथ अपनी पुत्री का विवाह मार्गशीर्ष माह में निश्चित किया था ।*
👉🏻 *श्रीमद्भागवतगीता में श्रीकृष्ण स्वयं कहते हैं  “मासानां मार्गशीर्षोऽहं नक्षत्राणां तथाभिजित्” अर्थात  मैं महीनों में मार्गशीर्ष और नक्षत्रों में अभिजित् हूँ।*
👉🏻 *स्कन्दपुराण, वैष्णवखण्ड के अनुसार “मार्गशीर्षोऽधिकस्तस्मात्सर्वदा च मम प्रियः ।। उषस्युत्थाय यो मर्त्यः स्नानं विधिवदाचरेत् ।। तुष्टोऽहं तस्य यच्छामि स्वात्मानमपि पुत्रक ।।” श्रीभगवान कहते हैं की मार्गशीर्ष मास मुझे सदैव प्रिय है। जो मनुष्य प्रातःकाल उठकर मार्गशीर्ष में विधिपूर्वक स्नान करता है, उस पर संतुष्ट होकर मैं अपने आपको भी उसे समर्पित कर देता हूँ।*
💥 *मार्गशीर्ष में सप्तमी, अष्टमी मासशून्य तिथियाँ हैं। मासशून्य तिथियों में मंगलकार्य करने से वंश तथा धन का नाश होता है।*
👉🏻 *महाभारत अनुशासन पर्व अध्याय 106 के अनुसार “मार्गशीर्षं तु वै मासमेकभक्तेन यः क्षिपेत्। भोजयेच्च द्विजाञ्शक्त्या स मुच्येद्व्याधिकिल्बिषैः।। सर्वकल्याणसम्पूर्णः सर्वौषधिसमन्वितः। कृषिभागी बहुधनो बहुधान्यश्च जायते।।” जो मार्गशीर्ष मास को एक समय भोजन करके बिताता है और अपनी शक्ति के अनुसार ब्राह्माण को भोजन कराता है, वह रोग और पापों से मुक्त हो जाता है । वह सब प्रकार के कल्याणमय साधनों से सम्पन्न तथा सब तरह की औषधियों (अन्न-फल आदि) से भरा-पूरा होता है। मार्गशीर्ष मास में उपवास करने से मनुष्य दूसरे जन्म में रोग रहित और बलवान होता है। उसके पास खेती-बारी की सुविधा रहती है तथा वह बहुत धन-धान्य से सम्पन्न होता है ।*
👉🏻 *स्कन्दपुराण, वैष्णवखण्ड के अनुसार “मार्गशीर्षं समग्रं तु एकभक्तेन यः क्षिपेत् ।। भोजयेद्यो द्विजान्भक्त्या स मुच्येद्व्याधिकिल्विषैः।।” जो प्रतिदिन एक बार भोजन करके समूचे मार्गशीर्ष को व्यतीत करता है और भक्तिपूर्वक ब्राह्मणों को भोजन कराता है, वह रोगों और पातकों से मुक्त हो जाता है।*
👉🏻 *शिवपुराण के अनुसार मार्गशीर्ष में चाँदी का दान करने से वीर्य की वृद्धि होती है। शिवपुराण विश्वेश्वर संहिता के अनुसार मार्गशीर्ष में अन्नदान का सर्वाधिक महत्व है “मार्गशीर्षे ऽन्नदस्यैव सर्वमिष्टफलं भवेत् ॥ पापक्षयं चेष्टसिद्धिं चारोग्यं धर्ममेव च॥” अर्थात मार्गशीर्ष मास में केवल अन्नका दान करने वाले मनुष्यों को ही सम्पूर्ण अभीष्ट फलों की प्राप्ति हो जाती है | मार्गशीर्षमास में अन्न का दान करने वाले मनुष्य के सारे पाप नष्ट हो जाते हैं |*
🙏🏻 *मार्गशीर्ष माह में मथुरापुरी निवास करने का बहुत महत्व है। स्कन्दपुराण में स्वयं श्रीभगवान, ब्रह्मा से कहते हैं -*
🌷 *“पूर्णे वर्षसहस्रे तु तीर्थराजे तु यत्फलम् । तत्फलं लभते पुत्र सहोमासे मधोः पुरे ।।” अर्थात तीर्थराज प्रयाग में एक हजार वर्ष तक निवास करने से जो फल प्राप्त होता है, वह मथुरापुरी में केवल अगहन (मार्गशीर्ष) में निवास करने से मिल जाता है।*
🙏🏻 *मार्गशीर्ष मास में विश्वदेवताओं का पूजन किया जाता है कि जो गुजर गये उनके आत्मा शांति हेतु ताकि उनको शांति मिले | जीवनकाल में तो बिचारेशांति न लें पाये और चीजों में उनकी शांति दिखती रही पर मिली नहीं | तो मार्गशीर्ष मास में विश्व देवताओं के पूजन करते है भटकते जीवों के सद्गति हेतु |*
आज का देसी सुझाव 👌
पीड़ा नाशक संजीवनी तेल
👌👌👌👌👌
शीत ऋतु का मौसम आ गया ऐसे में पुराने जोड़ों दर्द
परेशान पीड़ा दायक तकलीफ देता है  क्योंकि यह वात रोग है वायु से बढ़ता है
कमर दर्द जोड़ों का या धुटने  का दर्द परेशान करता है
जिस किसी को यह परेशानी हो वह यह प्रयोग करे जरुर राहत मिलेंगी
1एक लिंटर तिल का तेल
2 150 ग्राम अजवाइन
3150 ग्राम लहसुन
4 150पीसी हुई सोंठ
5 150ग्राम मेथी दाना
यह सामान रात तिल के तेल डालकर कर रख दें वह सुबह इसको धीमी आंच पर
पकाते जब तक यह तेल आधा ना हो जाये तेल को छानकर किसी कांच की बोतल में भरकर रख लें वह अपने इष्ट भगवान के आगे रख कर दुआ करे ताके तेल संजीवन बन जाये रात सोने
से पहले दर्द वाली जगह पर लगाकर  सोये चमत्कारी लाभ की अनुभूति मिलेगी
दिन में तेल की बोतल को  धूप में रख दिया करें
यदि आराम चाहते हैं सुबह गुनगुने पानी के साथ  अजवायन एक चम्मच लें
व रात को हल्दी का दुध लेने
का नियम भी बनाए ले

आज का राशिफल 🕉

मेष राशिफल
जीवन में कई उतार-चढ़ाव आते हैं, आप इस तरह हताश हो कर बैठ गए तो नुकसान आप के साथ कई लोगों का होगा। कारोबार में उन्नति के योग है। कर्मचारियों से सहयोग मिलेगा। न्याय पक्ष मजबूत होगा।


वृषभ राशिफल
 भाग्योदय का समय है। अपनी पूरी मेहनत से अपने कार्य में लग जाएं, सफल होंगे। कार्यस्थल पर बार-बार हो रही मशीनरी के खराब होने से परेशान रहेंगे। मशीनरी का स्थान परिवर्तन कर दें, समाधान हो जाएगा।


मिथुन राशिफल /
: परिणय चर्चाओं में सफलता मिलेगी। खानपान में ध्यान देने की जरूरत है। कई दिनों से आपके मन में किसी बात को लेकर दुविधा है। झूठ बोलकर आप स्वयं फंस सकते हैं। धन लाभ हो सकता है।


कर्क राशिफल
: काम को टालना बंद करें और समय पर कार्य को करना सीखें। जल्दबाजी में लिए गए फैसले गलत साबित होंगे। व्यापार को बढ़ाने के लिए कर्ज लेना पड़ सकता है। संतों का सानिध्य प्राप्त हो सकता है।

सिंह राशिफल
 बेहतर सफलता के लिए कार्ययोजना में बदलाव लाएं। खुद के तौर तरीके को बदलें। परिवार में बहनों के विवाह की चिंता बनी रहेगी। कपास तेल और लोहा व्यापार से जुड़े लोगों को नुकसान हो सकता है।

कन्या राशिफल
: केवल पैसा कमाने में ही न लगें, अपनी जरूरी जिम्मेदारी भी पूरी करें। व्यस्तता के चलते जरूरी कार्य आज भी पूर्ण नहीं हो पाएंगे। नौकरी में तबादले के योग बन रहे हैं। आर्थिक लाभ होगा।

तुला राशिफल
 अपने व्यवहार में परिवर्तन लाएं। कार्यस्थल पर कर्मचारियों से विवाद हो सकता है। आजीवका के नए स्त्रोत स्थापित होंगे। कोई बड़ा प्रोजेक्ट मिल सकता है। मान कीर्ति में वृद्धि होगी।


वृश्चिक राशिफल
 व्यवसायिक नए अनुबंध हो सकते हैं। पारिवारिक यात्रा के योग है। धर्म-कर्म में रूचि बढ़ेगी। आर्थिक पक्ष मजबूत होगा। सम्मान प्रतिष्ठा में वृद्धि होगी।
धनु राशिफल
: आत्मविश्वास और इष्ट बल की मदद से सफलता मिलेगी। साझेदारी से लाभ होगा। मानसिकता बदलें और अच्छा सोंचे। बुजुर्गों के स्वास्थ की चिंता रहेगी। अपने सपनों को साकार करने का समय आ गया है। पूरी मेहनत और लगन से अपने कार्य में लग जाएं।


मकर राशिफल
: मन ही मन किसी बात से परेशान हैं, पूर्ण विचार और अपने विश्वसनीय जनों से विचार कर निर्णय लें। शत्रु सक्रीय होंगे। विदेश यात्रा के योग बन रहे हैं। पूर्व में किये निवेशों से लाभ होगा।
कुंभ राशिफल
: अपने कार्यक्षेत्र के प्रति अपनी जिम्मेदारी को समझें, गुस्सा करने से कुछ हासिल नहीं होगा। बड़ों का अनुभव आपके लिए लाभप्रद रहेगा। अपने मन की बातें और व्यापारिक योजना हर किसी को न बताएं, नुकसान हो सकता है।


मीन राशिफल
 जोखिम के कार्यों से दूर रहें। किसी अजनबी पर भरोसा न करें। आत्मविश्वास में वृद्धि
 होगी। आपके विरोधी आपको उलझाने की कोशिश कर रहे हैं, सतर्क रहें। धन संचय में सफल होंगे। संतान सुख की प्राप्ति होगी।
🎂🎂🎂🎂🎂🎂🎂
जिनका आज जन्मदिन है उनको हार्दिक शुभकामनाये
दिनांक 13 को जन्मे व्यक्ति का मूलांक 4 होगा। इस अंक से प्रभावित व्यक्ति जिद्दी,  कुशाग्र बुद्धि वाले,  साहसी होते हैं। ऐसे व्यक्ति को जीवन में अनेक परिवर्तनों का सामना करना पड़ता है। जैसे तेज स्पीड से आती गाड़ी को अचानक ब्रेक लग जाए ऐसा उनका भाग्य होगा। लेकिन यह भी निश्चित है कि इस अंक वाले अधिकांश लोग कुलदीपक होते हैं। आपका जीवन संघर्षशील होता है। इनमें अभिमान भी होता है। ये लोग दिल के कोमल होते हैं किन्तु बाहर से कठोर दिखाई पड़ते हैं। इनकी नेतृत्त्व क्षमता के लोग कायल होते हैं।

शुभ दिनांक : 4,  8,  13,  22,  26,  31,

शुभ अंक : 4,  8,18,  22,  45,  57,
शुभ वर्ष : ,  2020,  2021,  2024,  2030 

ईष्टदेव : श्री गणेश,  श्री हनुमान

शुभ रंग : नीला,  काला,  भूरा

कैसा रहेगा यह वर्ष
यह वर्ष पिछले वर्ष के दुष्प्रभावों को दूर करने में सक्षम है। आपको सजग रहकर कार्य करना होगा। परिवारिक मामलों में सहयोग के द्वारा सफलता मिलेगी। मान-सम्मान में वृद्धि होगी, वहीं मित्र वर्ग का सहयोग मिलेगा। नवीन व्यापार की योजना प्रभावी होने तक गुप्त ही रखें। शत्रु पक्ष पर प्रभावपूर्ण सफलता मिलेगी। नौकरीपेशा प्रयास करें तो उन्नति के चांस भी है। विवाह के मामलों में आश्चर्यजनक परिणाम आ सकते हैं।

Posted By Lal Kitab Anmol05:43

Monday, 11 November 2019

आज का राशिफल व पंचांग अथवा विशेष उपाय

अंतर्गत लेख:

ऊं नमः शिवाय शिवजी सदा सहाय
ऊं नमः शिवाय गुरुजी सदा सहाय
ऊं नमः शिवाय श्री बालाजी सदा सहाय
सत नाम श्री वाहेगुरु जी
🕉🕉🕉🕉🕉

निशुल्क पंचांग अपने मोबाइल फोन पर मंगवाने के ल लिए 9911342666 पर अपने नाम के साथ में शहर का नाम लिख कर व्हाट्सएप्प करे।
~ *आज का हिन्द पंचांग* ~ 🌞
⛅ *दिनांक 12 /11/2019*
⛅ *दिन - मंगलवार*
⛅ *विक्रम संवत - 2076*
⛅ *शक संवत -1941*
⛅ *अयन - दक्षिणायन*
⛅ *ऋतु - हेमंत*
⛅ *मास - कार्तिक*
⛅ *पक्ष - शुक्ल*
⛅ *तिथि - पूर्णिमा शाम 07:04 तक तत्पश्चात प्रतिपदा*
⛅ *नक्षत्र - भरणी शाम 08:52 तक तत्पश्चात कृत्तिका*
⛅ *योग - व्यतिपात सुबह 10:38 तक तत्पश्चात वरीयान्*
⛅ *राहुकाल - दोपहर 02:55 से शाम 04:17 तक*
⛅ *सूर्योदय - 06:48*
⛅ *सूर्यास्त - 17:56*
⛅ *दिशाशूल - उत्तर दिशा में*
⛅ *व्रत पर्व विवरण - व्रत पूर्णिमा, त्रिपुरारी पूर्णिमा, कार्तिक पूर्णिमा, देव दिवाली, कार्तिक स्नान समाप्त, भीष्मपंचक व्रत समाप्त, गुरु नानकजी जयंती, पुष्कर मेला, तुलसी विवाह समाप्त*
 💥 *विशेष - पूर्णिमा के दिन स्त्री-सहवास तथा तिल का तेल खाना और लगाना निषिद्ध है।(ब्रह्मवैवर्त पुराण, ब्रह्म खंडः 27.29-38)*
               🌞 * पंचांग ~*

🌷 *मार्गशीर्ष मास विशेष* 🌷
👉🏻 *13 नवंबर 2019 बुधवार से मार्गशीर्ष का आरम्भ हो रहा है।*
➡ *१) मार्गशीर्ष मास में इन तीन के पाठ की बहुत ज्यादा महिमा है ..... विष्णुसहस्त्र नाम ....भगवत गीता.... और गजेन्द्रमोक्ष की खूब महिमा है...खूब पढ़ो .... दिन में २ बार -३ बार*
➡ *२) इस मास में 'श्रीमद भागवत' ग्रन्थ को देखने की भी महिमा है .... स्कन्द पुराण में लिखा है .... घर में अगर भागवत हो तो एक बार दिन में उसको प्रणाम करना*
➡ *३) इस मास में अपने गुरु को .... इष्ट को ...." ॐ दामोदराय नमः " कहते हुए प्रणाम करने की बड़ी भारी महिमा है |*
➡ *४) शंख में तीर्थ का पानी भरो और घर में जो पूजा का स्थान है उसमें भगवान - गुरु उनके ऊपर से शंख घुमाकर भगवान का नाम बोलते हुए वो जल घर की दीवारों पर छाटों ...... उससे घर में शुद्धि बढ़ती है...शांति बढ़ती है ....क्लेश झगड़े दूर होते है

🌷 *आर्थिक कष्ट निवृति योग*
➡ *13 नवम्बर 2019 बुधवार को मार्गशीर्ष कृष्ण प्रतिपदा है ।*
🙏🏻 *अगर कोई आदमी गरीबी से बहुत पीड़ित हो ...पैसों की तंगी से बहुत पीड़ित हो और कर्जे का ब्याज भरते-भरते परेशान हो गया हो बहुत तकलीफ सहन करनी पड़ती हो तो मार्गशीर्ष कृष्ण प्रतिपदा को रात के समय गुरुदेव का पुजन कर दिया ...*  *मानसिक या दिया जलाकर ।*
*फिर भगवान विष्णु का स्मरन कर के*
🌷 *“मंगलम भग्वान विष्णु, मंगलम गरुध ध्वज |*
*मंगलम पुण्डरीकाक्ष, मंगलाय तनो हरि ।"*
👉🏻 *फिर 6 मंत्र बोले भगवान का स्मरण करते हुए:-*
🌷 *ॐ  वैश्‍वानराय नम:*
🌷 *ॐ  अग्‍नयै नम:*
🌷 *ॐ  हविर्भुजै नम:*
🌷 *ॐ  द्रविणोदाय नम:*
🌷 *ॐ  संवर्ताय नम:*
🌷 *ॐ  ज्‍वलनाय नम:*
                 🌞  पंचांग ~*
🌷 *मार्गशीर्ष मास* 🌷
🔥 *इस मास में कर्पूर का दीपक जलाकर भगवान को अर्पण करनेवाला अश्वमेघ  यज्ञ का फल पाता है और कुल का उद्धार कर देता है ।*

आप का राशिफल🕉
मेष राशिफल: आज का दिन आपके अनुकूल रहने वाला है। प्रायः सभी कार्यों में सफलता मिलने के आसार हैं। मन प्रसन्न रहेगा। वित्तीय कार्य में प्रगति होगी।
वृषभ राशिफल: मन चिंतित रहेगा। शारीरिक स्वास्थ्य प्रभावित हो सकता है। खास तौर पर आँखों की समस्या परेशान करेगी। परिवार में मेम किसी सदस्य से मनमुटाव हो सकता है। अधूरे कार्य पूरे होंगे। मेहनत के अनुकूल आर्थिक लाभ न होने से मन चिंतित रहेगा।
मिथुन राशिफल: परिवार में पत्नी से आपसी मनमुटाव हो सकता है। कार्यस्थल पर अधिकारियों का सहयोग मिलेगा। विवाह के लिए उत्सुक जातकों को योग्य साथी
 मिलने वाला है। महिला साथी से आर्थिक लाभ होगा।

कर्क राशिफल: नौकरी करने वाले जातकों की पदोन्नति होगी। शरीर स्वस्थ रहेगा और मानसिक तनाव दूर होगा। घर में माता के स्वास्थ्य का खास ख्याल रखना होगा। सरकार की योजना का आर्थिक लाभ मिलने वाला है।
सिंह राशिफल: किसी मांगलिक कार्य में भाग ले सकते हैं। स्वास्थ्य प्रभावित रहेगा। पेट से संबंधित कोई समस्या परेशान करेगी। विदेश के साथी से कोई शुभ समाचार मिलेगा। नौकरी-पेशे में परेशानी हो सकती है।

कन्या राशिफल: बाहर का भोजन करने से स्वास्थ्य प्रभावित रहेगा। घर में कोई शुभ काम आरंभ कर सकते हैं। क्रोध की अधिकता रहेगी। परिवार के किसी सदस्य से मनमुटाव रहेगा। कार्य के अनुरूप सफलता नहीं मिलेगी।

तुला राशिफल: मन प्रसन्न रहेगा। मस्ती और घूमने-फिरने में धन खर्च होगा। नए कपड़े की खरीदारी कर सकते हैं। शरीर से स्वस्थ रहने वाले हैं। वैवाहिक सुख का अनुभव करेंगे। शुभ कार्य करने के लिए आज का दिन अच्छा है।

वृश्चिक राशिफल: आज का दिन हर दृष्टिकोण से अच्छा बीतने वाला है। नौकरी करने वालों को अधिकारियों का सहयोग मिलेगा। ससुराल पक्ष से अच्छा समाचार सुनने को मिलेगा। अचानक धन लाभ के आसार हैं।

धनु राशिफल: संतान से संबंधी चिंता उत्पन्न होगी। पारिवारिक कार्यों को लेकर मन व्यग्र रहेगा। किसी खास साथी से मुलाकात लाभदायी साबित होगा। गुस्से पर नियंत्रण रखें। कार्यस्थल पर अनावश्यक बहस करने से मुश्किल में फंस सकते हैं
मकर राशिफल: शरीर ताजगी भरा रहेगा। व्यक्तिगत जीवन में मानहानि का सामना करना पड़ सकता है। सीने में दर्द की समस्या परेशान करेगी। महिला साथी के साथ संभालकर बातचीत करें। यात्रा से सावधान रहने की आवश्यकता है।

कुंभ राशिफल: चिंता दूर होगी। शारीरिक रूप से स्वस्थ रहने वाले हैं। परिवार में भाई-बहनों के साथ अच्छा तालमेल बना रहेगा। खास दोस्तों के साथ मिलकर खुशियां बांटने वाले हैं। कार्यस्थल पर आपके काम का प्रभाव दिखेगा।

मीन राशिफल: वाणी में संयम रखने की सलाह दी जाती है। क्रोध के कारण आवश्यक काम प्रभावित होगा। आँखों से संबंधित समस्या परेशान कर सकती है। नकारात्मक विचार आपके मन को निराश रखेगा। खान-पान पर विशेष ध्यान दें।
🎂🎂🎂🎂🎂🎂
जिनका आज जन्मदिन हैं उनको हार्दिक शुभकामनाये

अंक ज्योतिष के अनुसार आपका मूलांक तीन आता है। यह बृहस्पति का प्रतिनिधि अंक है। ऐसे व्यक्ति निष्कपट,  दयालु एवं उच्च तार्किक क्षमता वाले होते हैं। अनुशासनप्रिय होने के कारण कभी-कभी आप तानाशाह भी बन जाते हैं। आप दार्शनिक स्वभाव के होने के बावजूद एक विशेष प्रकार की स्फूर्ति रखते हैं। आपकी शिक्षा के क्षेत्र में पकड़ मजबूत होगी। आप एक सामाजिक प्राणी हैं। आप सदैव परिपूर्णता या कहें कि परफेक्शन की तलाश में रहते हैं यही वजह है कि अकसर अव्यवस्थाओं के कारण तनाव में रहते हैं।

शुभ दिनांक : 3,  12,  21,  30

शुभ अंक : 1,  3,  6,  7,  9
शुभ वर्ष :  2020  2022  2030,  2031,  2034,  2043,  2049,  2052

ईष्टदेव : देवी सरस्वती,  देवगुरु बृहस्पति,  भगवान विष्णु

शुभ रंग : पीला,  सुनहरा और गुलाबी

कैसा रहेगा यह वर्ष
यह वर्ष आपके लिए अत्यंत सुखद है। किसी विशेष परीक्षा में सफलता मिल सकती है। नौकरीपेशा के लिए प्रतिभा के बल पर उत्तम सफलता का है। नवीन व्यापार की योजना भी बन सकती है। दांपत्य जीवन में सुखद स्थिति रहेगी। घर या परिवार में शुभ कार्य होंगे। मित्र वर्ग का सहयोग सुखद रहेगा। शत्रु वर्ग प्रभावहीन होंगे। महत्वपूर्ण कार्य से यात्रा के योग भी है।

Posted By Lal Kitab Anmol19:44

Thursday, 7 November 2019

आज का पंचांग राशिफल सहित व एकादशी व्रत की जानकारी

अंतर्गत लेख:

ऊं नमः शिवाय शिवजी सदा सहाय
ऊं नमः शिवाय गुरुजी सदा सहाय
ऊं नमः शिवाय श्री बालाजी सदा सहाय



🕉🔯♋✡☪☸
निशुल्क पंचांग अपने मोबाइल फोन पर मंगवाने के लिये 9911342666पर अपने नाम के साथ में शहर का नाम लिख कर व्हाट्सएप्प करे।
 *आज का हिन्दू पंचांग* ~
⛅ *दिनांक 08 नवम्बर 2019*
⛅ *दिन - शुक्रवार*
⛅ *विक्रम संवत - 2076*
⛅ *शक संवत -1941*
⛅ *अयन - दक्षिणायन*
⛅ *ऋतु - हेमंत*
⛅ *मास - कार्तिक*
⛅ *पक्ष - शुक्ल*
⛅ *तिथि - एकादशी दोपहर 02:39 तक तत्पश्चात द्वादशी*
⛅ *नक्षत्र - पूर्व भाद्रपद दोपहर 02:57 तक तत्पश्चात रेवती*
⛅ *योग - व्याघात सुबह 10:17 तक तत्पश्चात वज्र*
⛅ *राहुकाल - सुबह 09:25 से सुबह 10:48*
⛅ *सूर्योदय - 06:46*
⛅ *सूर्यास्त - 17:58*
⛅ *दिशाशूल - पूर्व दिशा में*
⛅ *व्रत पर्व विवरण - देवउठी-प्रबोधिनी एकादशी, चातुर्मास समाप्त, भीष्मपंचक व्रत प्रारंभ, पंढरपुर यात्रा*
 💥 *विशेष - हर एकादशी को श्री विष्णु सहस्रनाम का पाठ करने से घर में सुख शांति बनी रहती है lराम रामेति रामेति । रमे रामे मनोरमे ।। सहस्त्र नाम त तुल्यं । राम नाम वरानने ।।*
💥 *आज एकादशी के दिन इस मंत्र के पाठ से विष्णु सहस्रनाम के जप के समान पुण्य प्राप्त होता है l*
💥 *एकादशी के दिन बाल नहीं कटवाने चाहिए।*
💥 *एकादशी को चावल व साबूदाना खाना वर्जित है | एकादशी को शिम्बी (सेम) ना खाएं अन्यथा पुत्र का नाश होता है।*
💥 *जो दोनों पक्षों की एकादशियों को आँवले के रस का प्रयोग कर स्नान करते हैं, उनके पाप नष्ट हो जाते हैं।*
        *शालिग्राम का दान* 🌷
🙏🏻 *स्कन्दपुराण के अनुसार*
🌷 *सप्तसागरपर्यंतं भूदानाद्यत्फलं भवेत् ।।*
*शालिग्रामशिलादानात्तत्फलं समवाप्नुयात् ।।*
*शालिग्रामशिलादानात्कार्तिके ब्राह्मणी यथा ।।*
🙏🏻 *सात समुद्रों तक की पृथ्वी का दान करने से जो फल प्राप्त होता है, शालग्राम शिला के दान से मनुष्य उसी फल को पा लेता है । अतः कार्तिक मास में स्नान तथा दानपूर्वक शालिग्राम शिला का दान अवश्य करना चाहिए।*
       
🌷 *तुलसी* 🌷
🙏🏻 *ब्रह्मवैवर्त पुराण, प्रकृति खण्ड के अनुसार*
🌷 *सुधाघटसहस्रेण सा तुष्टिर्न भवेद्धरेः।*
*या च तुष्टिर्भवेन्नृणां तुलसीपत्रदानतः।।*
*गवामयुतदानेन यत्फलं लभते नरः।*
*तुलसीपत्रदानेन तत्फलं लभते सति।।*
🙏🏻 *हजारों घड़े अमृत से नहलाने पर भी भगवान श्रीहरि को उतनी तृप्ति नहीं होती है, जितनी वे मनुष्यों के तुलसी का एक पत्ता चढ़ाने से प्राप्त करते हैं।दस हजार गोदान से मानव जो फल प्राप्त करता है, वही फल तुलसी-पत्र के दान से पा लेता है।*
🙏🏻 *ब्रह्मवैवर्त पुराण के अनुसार*
*जो पुरुष कार्तिक मास में श्रीहरि को तुलसी अर्पण करता है, वह पत्र-संख्या के बराबर युगों तक भगवान के धाम में विराजमान होता है। फिर उत्तम कुल में उसका जन्म होता और निश्चित रूप से भगवान के प्रति उसके मन में भक्ति उत्पन्न होती है, वह भारत में सुखी एवं चिरंजीवी होता है।*
🌷 *शिबिराम्यन्तरे भद्रा स्थापिता तुलसी नृणाम् ।*
*धनपुत्रप्रदात्री च पुण्यदा हरिभक्तिदा ।।*
*प्रभाते तुलसीं दृष्ट्वा स्वर्णदानफलं लभेत् । ब्रह्मवैवर्तपुराण, श्रीकृष्णजन्मखण्ड, अध्याय 103)*

🌿 *घरके भीतर लगायी हुई तुलसी मनुष्योंके लिये कल्याणकारिणी, धन - पुत्र प्रदान करनेवाली, पुण्यदायिनी तथा हरिभक्ति देनेवाली होती है । प्रातःकाल तुलसीका दर्शन करनेसे सुवर्ण - दानका फल प्राप्त होता है ।
आज का राशिफल🕉
मेष राशिफल: वैवाहिक जीवन में जीवनसाथी की बातों से मानसिक तनाव होगा। पारिवारिक समस्या का हल निकाल सकते हैं। आर्थिक मामले पर किसी साथी का सहयोग प्राप्त होगा। आज आप छोटी-छोटी बातों में उलझने वाले हैं। व्यापारिक मोर्चे पर दैनिक आय जटिल होगा।
वृषभ राशिफल: प्रेमिका से दिल बेहिचक दिल की बात कह सकते हैं। व्यावसायिक मामले में पैसा अटक सकता है।परिवार में किसी उत्सव का आयोजन होने वाला है। घर से बाहर रह रहे पारिवारिक सदस्यों का आगमन होगा।

मिथुन राशिफल: मार्केटिंग का काम कर रहे जातकों के लिए आज का दिन खास रहने वाला है। आज किसी ऐसे दोस्त से मुलाकात होगी जो आपका मनोरंजन करेगा। किसी पारिवारिक शुभ समाचार के मिलने से मन खुश रहेगा।
कर्क राशिफल: स्वास्थ्य की दृष्टि से फिटनेस पर ध्यान देना ठीक रहेगा। लव लाइफ में पुरानी प्रेमिका से संपर्क स्थापित हो सकता है। व्यावसायिक मोर्चे पर दोस्तों का सहयोग सराहनीय होगा। शैक्षणिक मोर्चे पर समय का ठीक से पालन करना आपके लिए अच्छा रहेगा।

सिंह राशिफल: बिजनेस में बड़े भाई के सहयोग से आर्थिक लाभ हो सकता है। शैक्षणिक गतिविधि बेहतर रहने वाली है। सामाजिक क्षेत्र में प्रतिष्ठा बढ़ने वाली है। दफ्तर में शुरू किया गया नया काम आपकी पदोन्नति से लिए सहायक साबित होगा।

कन्या राशिफल: निजी रिश्ते को समझदारी से और भी मजबूत बना सकते हैं। अनावश्यक खर्च से आर्थिक जीवन प्रभावित होगा। वैवाहिक जीवन में आ रही समस्या दूर होने वाली है। किसी दोस्त से प्रभावित हो सकते हैं।
तुला राशिफल: मनपसंद काम मिलने से आपके कौशल का विकास होगा। शैक्षणिक मोर्चे पर अच्छा प्रदर्शन देखने को मिल सकता है। पारिवारिक मसले पर आपके सलाह की प्रशंसा होगी। संपत्ति के मामलों पर कोई नया फैसला ले सकते हैं।

वृश्चिक राशिफल: व्यापार में नए काम का सकारात्मक परिणाम मिलेगा। शिक्षा के क्षेत्र में सफलता का शुभ समाचार मिल सकता है। दैनिक आय की रफ्तार धीमी हो सकती है। किसी परियोजना को नया रूप देने वाले हैं।

धनु राशिफल: प्रतियोगी परीक्षा में जल्द ही कोई शुभ समाचार मिलने वाला है। आर्थिक चिंता दूर होने वाली है। व्यवसाय में आशा के विपरीत परिणाम मिलेगा। नौकरी बदलने का विचार कर सकते हैं। कार्यस्थल पर अधिकारी की निगरानी रहेगी।

मकर राशिफल: आज पढ़ाई में मन नहीं लगेगा। हालांकि कुछ रचनात्मक कार्य कर सकते हैं। माता-पिता के साथ किसी धार्मिक स्थान की यात्रा पर जा सकते हैं। बिजनेस में बहुत जल्द ही कुछ जरूरी काम करने वाले हैं।
कुंभ राशिफल: पेशेवर मोर्चे पर कुछ नया करने का विचार होगा। सामाजिक कार्यों में सक्रियता बढ़ेगी। स्वास्थ्य को लेकर पूरी तरह सजग रहें। संभव है पेट दर्द की समस्या परेशान करे। विद्यार्थियों के लिए आज का दिन लाभकारी साबित होने वाला है।

मीन राशिफल: पारिवारिक सदस्यों के साथ लंबी छुट्टी पर जा सकते हैं। पेशेवर मोर्चे पर आपका आत्मविश्वास बढ़ता नजर आएगा। पारिवारिक मसले पर जीवनसाथी का भरपूर साथ मिलेगा। नौकरी में बदलाव के संकेत हैं।

🎂🎂🙏🙏🎂🎂
जिनका आज जन्मदिन है उनको हार्दिक शुभकामनाये
दिनांक 8 को जन्मे व्यक्ति का मूलांक 8 होगा। यह ग्रह सूर्यपुत्र शनि से संचालित होता है। इस दिन जन्मे व्यक्ति धीर गंभीर, परोपकारी,  कर्मठ होते हैं। आपकी वाणी कठोर तथा स्वर उग्र है। आप भौतिकतावादी है। आप अदभुत शक्तियों के मालिक हैं। आप अपने जीवन में जो कुछ भी करते हैं उसका एक मतलब होता है। आपके मन की थाह पाना मुश्किल है। आपको सफलता अत्यंत संघर्ष के बाद हासिल होती है। कई बार आपके कार्यों का श्रेय दूसरे ले जाते हैं। 

शुभ दिनांक : 8  17,  26

शुभ अंक : 8,  17,  26,  35,  44
शुभ वर्ष : 2017,  2024,  2042

ईष्टदेव : हनुमानजी,  शनि देवता 

शुभ रंग : काला,  गहरा नीला,  जामुनी   

कैसा रहेगा यह वर्ष
सभी कार्यों में सफलता मिलेगी। जो अभी तक बाधित रहे है वे भी सफल होंगे। व्यापार-व्यवसाय की स्थिति उत्तम रहेगी। नौकरीपेशा व्यक्ति प्रगति पाएंगे। बेरोजगार प्रयास करें, तो रोजगार पाने में सफल होंगे। शत्रु वर्ग प्रभावहीन होंगे, स्वास्थ्य की दृष्टि से समय अनुकूल ही रहेगा। राजनैतिक व्यक्ति भी समय का सदुपयोग कर लाभान्वित होंगे।

Posted By Lal Kitab Anmol20:58

Wednesday, 6 November 2019

आज काराशिफल व पंचांग

अंतर्गत लेख:

ऊं नमः शिवाय शिवजी सदा सहाय
ऊं नमः शिवाय गुरुजी सदा सहाय
ऊं नमः शिवाय श्री बालाजी सदा सहाय

निशुल्क पंचांग अपने मोबाईल फोन पर मंगवाने के लिए 9911342666
पर अपने नाम के साथ में शहर का नाम लिख कर व्हाट्सएप्प करे।
🌞 ~ *आज का श्री बालाजी पंचांग* ~ 🌞
⛅ *दिनांक 07 नवम्बर 2019*
⛅ *दिन - गुरुवार*
⛅ *विक्रम संवत - 2076*
⛅ *शक संवत -1941*
⛅ *अयन - दक्षिणायन*
⛅ *ऋतु - हेमंत*
⛅ *मास - कार्तिक*
⛅ *पक्ष - शुक्ल*
⛅ *तिथि - दशमी सुबह 09:55 तक तत्पश्चात एकादशी*
⛅ *नक्षत्र - शतभिषा सुबह 09:16 तक तत्पश्चात पूर्व भाद्रपद*
⛅ *योग - ध्रुव सुबह 08:44 तक तत्पश्चात व्याघात*
⛅ *राहुकाल - दोपहर 01:33 से दोपहर 02:56 तक*
⛅ *सूर्योदय - 06:45*
⛅ *सूर्यास्त - 17:58*
⛅ *दिशाशूल - दक्षिण दिशा में*
⛅ *व्रत पर्व विवरण -
 💥 *विशेष -
🌷 *देवउठी एकादशी के दिन* 🌷
➡  *07 नवम्बर 2019 गुरुवार को सुबह 09:56 से 08 नवम्बर शुक्रवार को 12:24 तक एकादशी है ।*
💥 *विशेष - 08 नवम्बर शुक्रवार को एकादशी का व्रत उपवास रखें ।*
🙏🏻 *देवउठी एकादशी के दिन भगवान विष्णु को इस मंत्र से उठाना चाहिए*
🌷 *उतिष्ठ-उतिष्ठ गोविन्द, उतिष्ठ गरुड़ध्वज l*
*उतिष्ठ कमलकांत, त्रैलोक्यं मंगलम कुरु l l*
🌷 *भीष्मपञ्चक व्रत* 🌷
*अग्निपुराण अध्याय – २०५*
🙏🏻 *अग्निदेव कहते है – अब मैं सब कुछ देनेवाले व्रतराज ‘भीष्मपञ्चक’ विषय में कहता हूँ | कार्तिक के शुक्ल पक्ष की एकादशी को यह व्रत ग्रहण करें | पाँच दिनों तक तीनों समय स्नान करके पाँच तिल और यवों के द्वारा देवता तथा पितरों का तर्पण करे | फिर मौन रहकर भगवान् श्रीहरि का पूजन करे | देवाधिदेव श्रीविष्णु को पंचगव्य और पंचामृत से स्नान करावे और उनके श्री अंगों में चंदन आदि सुंगधित द्रव्यों का आलेपन करके उनके सम्मुख घृतयुक्त गुग्गुल जलावे ||१-३||*
🙏🏻 *प्रात:काल और रात्रि के समय भगवान् श्रीविष्णु को दीपदान करे और उत्तम भोज्य-पदार्थ का नैवेद्ध समर्पित करे | व्रती पुरुष *‘ॐ नमो भगवते* *वासुदेवाय’ इस द्वादशाक्षर मन्त्र का एक सौ आठ बार (१०८) जप करे | तदनंतर घृतसिक्त तिल और जौ का अंत में ‘स्वाहा’ से संयुक्त *‘ॐ नमो भगवते वासुदेवाय’* *– इस द्वादशाक्षर मन्त्र से हवन करे | पहले दिन भगवान् के चरणों का कमल के पुष्पों से, दुसरे दिन घुटनों और सक्थिभाग (दोनों ऊराओं) का बिल्वपत्रों से, तीसरे दिन नाभिका भृंगराज से, चौथे दिन बाणपुष्प, बिल्बपत्र और जपापुष्पों द्वारा एवं पाँचवे दिन मालती पुष्पों से सर्वांग का पूजन करे | व्रत करनेवाले को भूमि पर शयन करना चाहिये |*
🙏🏻 *एकादशी को गोमय, द्वादशी को गोमूत्र, त्रयोदशी को दधि, चतुर्दशी को दुग्ध और अंतिम दिन पंचगव्य आहार करे | पौर्णमासी को ‘नक्तव्रत’ करना चाहिये | इस प्रकार व्रत करनेवाला भोग और मोक्ष – दोनों का प्राप्त कर लेता है |*
🙏🏻 *भीष्म पितामह इसी व्रत का अनुष्ठान करके भगवान् श्रीहरि को प्राप्त हुए थे, इसीसे यह ‘भीष्मपञ्चक’ के नाम से प्रसिद्ध है |*
🙏🏻 *ब्रह्माजी ने भी इस व्रत का अनुष्ठान करके श्रीहरि का पूजन किया था | इसलिये यह व्रत पाँच उपवास आदि से युक्त हैं ||४-९||*
🙏🏻 *इस प्रकार आदि आग्नेय महापुराण में ‘भीष्मपञ्चक-व्रत का कथन’ नामक दो सौ पाँचवाँ अध्याय पूरा हुआ ||२०५||*
💥 *विशेष ~ 08 नवम्बर 2019 शुक्रवार से 12 नवम्बर 2019 मंगलवार तक भीष्म पंचक व्रत है ।*
आज का राशिफल🕉
मेष
आज आपका दिन विशेष रूप से लाभदायी है। निवेश, व्यापार, नौकरी, विद्या सभी क्षेत्रों में आज लाभ ही लाभ के संकेत हैं। सभी कार्य फलीभूत होंगे। कार्यालय में वरिष्‍ठजनों से भी सहयोग मिलेगा और जूनियर्स भी आपकी मदद करेंगे। जीवनसाथी के साथ आपसी सामंजस्‍य में सुधार आएगा। दोस्‍तों की मदद से रुके काम पूरे होंगे। भाग्‍य आज 79 फीसदी साथ देगा।

वृषभ:
आप आज हर काम सरलता से संपन्न कर पाएंगे। नौकरी में आपके उच्च पदाधिकारी खुश रहेंगे। कार्य की व्यस्तता रहेगी लेकिन स्वास्थ्य अच्छा रहेगा। व्‍यापारियों के लिहाज से भी निवेश के लिए दिन अच्‍छा है। आज किए गए निवेश भविष्‍य में आपको धन लाभ करवाएंगे। भाग्‍य आज 80 फीसदी आपका साथ देगा।

मिथुन:
भाग्य के साथ पूर्वनिर्धारित कार्य की तरफ आज आपको प्रयास करना होगा। धार्मिक एवं मांगलिक कार्यों में व्यस्त रहने की संभावनाएं बन रही हैं। कहीं से शुभ समाचार भी मिल सकता है। रुके हुए धन के प्राप्‍त होने से परिवार में हर्ष का माहौल रहेगा। अतिथि आगमन के लिए तैयार रहें। भाग्‍य आज 78 फीसदी साथ देगा।
कर्क:
आज के दिन किसी भी नए कार्य का श्रीगणेश न करें। स्वास्थ्य का ध्यान रखें, यात्रा से परहेज करें, वाहन सावधानीपूर्वक चलाएं। घर से बाहर जाते समय उपाय करके निकलें। बिना वजह दूसरों के विवाद में न पड़ें। आज आपको शारीरिक और मानसिक रूप से भी थकान महसूस हो सकती है। भाग्‍य आज 55 फीसदी साथ देगा।

सिंह:
आज आपका दिन आनंद में बीतेगा। मान-सम्मान में वृद्धि होगी और जीवनसाथी का पूर्ण सहयोग प्राप्‍त होगा। प्रिय व्यक्ति की राय पर विशेष ध्यान दें। मधुर वाणी से किसी को प्रभावित कर पाने में आप सफल रहेंगे। परिवार के साथ आप कहीं बाहर घूमने के बारे में भी विचार कर सकते हैं। भाग्‍य आज 80 फीसदी आपका साथ देगा।

कन्या:
सुख शांति और आनंद का वातावरण बना रहेगा, शत्रुओं पर विजय प्राप्त होगी, अधूरे कार्य संपन्न होंगे। कोई शुभ सूचना मन को प्रसन्न रखेगी। संतान की ओर से आपको कोई सुखद समाचार मिलेगा। आज आप शॉपिंग करने का भी प्‍लान बना सकते हैं। इस वक्‍त स्‍वास्‍थ्‍य की भी विशेष देखभाल करने की जरूरत है। भाग्‍य आज 75 फीसदी साथ देगा।
तुला:
आज साहित्य एवं कला में आपकी रुचि रहेगी। मन में कल्पना की तरंगें उठेंगी, बौद्धिक चर्चाओं में भाग अवश्य लें। परिवार के साथ अच्‍छा समय बीतेगा। दोस्‍तों में सबके ऊपर आंख बंद करके भरोसा नहीं किया जा सकता। बेहतर होगा कि आप उन्‍हें जांच परख और आजमाकर देखें फिर भरोसा करें। भाग्‍य आज 87 फीसदी साथ देगा।

वृश्चिक:
आज आपकी मनःस्थिति नकारात्मकता की ओर झुक सकती है। मन को सबल रखें। परिवार में क्लेशमय वातावरण से मन खिन्न हो सकता है। सरकारी कामों में बाधा आ सकती है। यात्राओं के परिणाम खराब आ सकते हैं। बेहतर होगा कि टाल दें। आज भाग्‍य आपका 55 फीसदी साथ देगा।

धनु:
मानसिक रूप से आज आप बहुत हल्कापन महसूस करेंगे। आपके मन पर छाए हुए चिंता के बादल हटने से आपके उत्साह में वृद्धि होगी। सभी काम बनते हुए नजर आने लगेंगे। अध्‍यापन के कार्यों में आपको आज रुचि रहेगी। रचनात्‍मक और साहित्‍य से जुड़े नवीन कार्यों में आज आपको सफलता मिलेगी। भाग्‍य आज 70 फीसदी साथ देगा।

मकर:
आज रुका हुआ धन आपको अवश्‍य प्राप्त होगा। धन निवेश के लिए भी दिन लाभकारी है। स्वयं पर विश्‍वास रखकर ही आज कार्यों को क्रियान्वित करें। रुपये-पैसे से जुड़ी निवेश की योजनाओं को आज के दिन आप शुरू करने के बारे में सोच सकते हैं। आज दिन शुभ योग में है। भाग्‍य आज 78 फीसदी साथ देगा।

कुंभ:
आज आपका दिन अनुकूल रहेगा। आप तन-मन से स्वस्थ होकर कार्य कर पाएंगे, जिससे कार्य में उत्साह एवं उर्जा का अनुभव होगा। सेहत भी आज आपका भरपूर साथ देगी। मन प्रसन्‍न रहेगा। व्‍यापारियों को आज अच्‍छा मुनाफा होने की उम्‍मीद है। वहीं नौकरीपेशा लोगों को भी आज प्रशंसा मिल सकती है। भाग्‍य आज 79 फीसदी साथ देगा।

मीन:
आज आपका दिन अस्वस्थता और बेचैनी के साथ बीतेगा, किसी का भला करने पर भी आप पर ही विपत्ति आ सकती है, पैसों का लेन-देन न करें। माता के स्‍वास्‍थ्‍य में गिरावट आ सकती है। उन्‍हें आपकी खास देखभाल की जरूरत है। कुछ दान-पुण्‍य के कर्म करने से लाभ होगा। भाग्‍य आज 57 फीसदी साथ देगा।

🎂🎂🎂🎂🎂🎂🎂
जिनका आज जन्मदिन है उनको हार्दिक शुभकामनाये

मूलांक व्यक्ति के जन्म की तारीख का योग होता है अर्थात जिस तारीख को आपका जन्म हुआ होगा उस तारीख का योग ही आपका मूलांक कहलाता है। अगर आपका जन्म 1 से 9 तारीख के बीच हुआ है तो आपका मूलांक यही होगा। वही अगर 10 से 31 के बीच किसी तारीख को आपका जन्म हुआ है तो इन दोनों अंको का योग ही आपका मूलांक कहलाता है। जैसे यदि आपका जन्म 22 तारीख को हुआ है तो मूलांक 4 होगा।
स्वभाव
इस मूलांक से प्रभावित जातक जन्मजात भाग्यशाली, व्यवहार कुशल एवं बुद्धिमान होते हैं। इनका लक्ष्य सदैव इनके सामने स्पष्ट रहता है। निर्णय लेने में ये जातक चतुर होते हैं। जीवन में आय के एक से अधिक स्त्रोत बनानेमें सफल रहते हैं। मध्यावस्था में लक्ष्य प्राप्ति में सफल रहते हैं।

आगामी वर्ष 2020 की सफलताएं
इस वर्ष सामाजिक कार्यों में रुचि बढ़ेगी। आधुनिक सुख साधनों पर व्यय होगा। विदेश यात्रा के अवसर मिलेंगे। शादी विवाह की दृष्टि से वर्ष अनुकूल रहेगा। संतान सुख में वृद्धि होगी। आर्थिक क्षेत्र में आत्मनिर्भरता बढ़ेगी। नाते रिश्तेदारों का सहयोग मिलेगा। रोजगारपरक परीक्षाओं में सफलता एवं इंजीनियरिंग, होटल व्यवसाय, खाद्य निरीक्षक, विदेश मुद्रा विभाग, अभिनय, संगीत आदि क्षेत्रों में करियर बनाने के अवसर मिलेंगे। आधुनिक वस्त्र, सौन्दर्य प्रसाधन, आभूषण आदि से संबंधित व्यवसायों में उत्तम धन लाभ होगा। साझेदारी में किसी नए व्यवसाय का प्रारंभ होगा। शिक्षा, संचार, केमिस्ट आदि क्षेत्रों में सेवारत जातकों को प्रमोशन या अनुकूल स्थानान्तरण का लाभ मिलेगा। आरोग्य सुख सामान्य रहेगा।

Posted By Lal Kitab Anmol19:34

Monday, 4 November 2019

जानिए पैर छूने के रहस्य को

"जानिए जब कोई आपके पैर छुए तो आपको

क्या-क्या फ़ायदा होता  है और क्या करना चाहिए ?।।

किसी के पैर छूने का मतलब है उसके प्रति समर्पण भाव जगाना। जब मन में समर्पण का भाव आता है तो अहंकार खत्म हो जाता है। पुराने समय से ही परंपरा चली आ रही है कि जब भी हम किसी विद्वान व्यक्ति या उम्र में बड़े व्यक्ति से मिलते हैं तो उनके पैर छुते हैं।

इस परंपरा को मान-सम्मान की दृष्टि से देखा जाता है। यह बात तो सभी जानते हैं कि बड़ों के पैर छुना चाहिए।

लेकिन यह बात कम ही लोग जानते हैं कि जब कोई हमारे पैर छुए तो हमें क्या करना चाहिए ??

पैर छुुना महत्वपूर्ण परंपरा है और आज भी इसका पालन अधिकतर लोग करते हैं। इस परंपरा के संबंध में कई नियम भी हैं। इस परंपरा के पीछे धार्मिक और वैज्ञानिक दोनों ही कारण बताए गए हैं।

जब भी कोई व्यक्ति चाहे वह स्त्री हो या पुरुष, आपके पैर छुए तो उन्हें आर्शीवाद तो देना चाहिए। साथ ही भगवान का नाम भी लेना चाहिए।

आमतौर पर हम इस बात का ध्यान रखते हैं कि हमारा पैर किसी को ना लगे। ऐसा होने पर हमें दोष लगता है और जब कोई हमारे पैर छुता है तब भी हमें दोष लगता है।

अत: इस दोष से बचने के लिए यहां दिए गए उपाय अवश्य करना चाहिए।

शास्त्रों में लिखा है कि

अभिवादनशीलस्य नित्यं वृद्धोपसेविन:।
चत्वारि तस्य वर्धन्ते आयुर्विद्या यशो बलम्।।

इस श्लोक का अर्थ यह है कि जो व्यक्ति रोज बड़े-बुजुर्गों के सम्मान में प्रणाम और चरण स्पर्श करता है। उसकी उम्र, विद्या, यश और शक्ति बढ़ती जाती है। जब भी कोई हमारे पैर छूता है तो उस समय भगवान का नाम लेने से पैर छूने वाले व्यक्ति को भी सकारात्मक फल मिलते हैं।

आशीर्वाद देने से पैर छूने वाले व्यक्ति की समस्याएं खत्म होती हैं। उम्र बढ़ती है और नकारात्मक शक्तियों से उसकी रक्षा होती है। हमारे द्वारा किए गए शुभ कर्मों का अच्छा असर पैर छुने वाले व्यक्ति पर भी होता है।

जब हम भगवान को याद करते हुए किसी को सच्चे मन से आशीर्वाद देते हैं तो उसे लाभ अवश्य मिलता है। किसी के लिए अच्छा सोचने पर हमारा पुण्य भी बढ़ता है।

पैर छूना या प्रणाम करना, केवल एक परंपरा नहीं है। यह एक वैज्ञानिक क्रिया है जो हमारे शारीरिक, मानसिक और वैचारिक विकास से जुड़ी है। पैर छूने से केवल बड़ों का आशीर्वाद ही नहीं मिलता बल्कि बड़ों के स्वभाव की अच्छी बातें भी हमारे अंदर उतर जाती है।

पैर छूने का सबसे बड़ा फायदा यह है कि इससे शारीरिक कसरत होती है। आमतौर पर तीन तरीकों से पैर छुए जाते हैं।

पहला तरीका - झुककर पैर छूना।
दूसरा तरीका - घुटने के बल बैठकर पैर छूना।
तीसरा तरीका - साष्टांग प्रणाम करना।

क्या है फायदे

झुककर पैर छूना - झुककर पैर छूने से हमारी कमर और रीढ़ की हड्डी को आराम मिलता है।

घुटने के बल बैठकर पैर छूना - इस विधि से पैर छूने पर हमारे शरीर के जोड़ों पर बल पड़ता है। जिससे जोड़ों के दर्द में राहत मिलती है।

साष्टांग प्रणाम - इस विधि में शरीर के सारे जोड़ थोड़ी देर के लिए सीधे तन जाते हैं। जिससे शरीर का स्ट्रेस दूर होता है। इसके अलावा झुकने से सिर का रक्त प्रवाह व्यवस्थित होता है। जो हमारी आंखों के साथ ही पूरे शरीर के लिए लाभदायक है।

पैर छूने के तीसरे तरीके का सबसे बड़ा फायदा यह है कि इससे हमारा अहंकार खत्म होता है। किसी के पैर छूने का मतलब है उसके प्रति समर्पण भाव जगाना। जब मन में समर्पण का भाव आता है तो अहंकार खत्म हो जाता है।

[[एक साधक]]

                       
               
                         जय श्री कृष्ण

Posted By Lal Kitab Anmol19:50

आज का राशिफल व पंचांग

अंतर्गत लेख:

ऊं नमः शिवाय शिवजी सदा सहाय
ऊं नमः शिवाय गुरुजी सदा सहाय
ऊं नमः शिवाय श्री बालाजी सदा सहाय

निशुल्क पंचांग अपने मोबाईल फोन पर मंगवाने के लिए 9911342666पर अपने नाम के साथ में शहर का नाम लिख कर व्हाट्सएप्प करे।

🌞 ~ *आज का श्री बालाजी पंचांग* ~ 🌞
⛅ *दिनांक 05 नवम्बर 2019*
⛅ *दिन - मंगलवार*
⛅ *विक्रम संवत - 2076*
⛅ *शक संवत -1941*
⛅ *अयन - दक्षिणायन*
⛅ *ऋतु - हेमंत*
⛅ *मास - कार्तिक*
⛅ *पक्ष - शुक्ल*
⛅ *तिथि - नवमी पूर्ण रात्रि तक*
⛅ *नक्षत्र - धनिष्ठा 06 नवम्बर प्रातः 06:16 तक तत्पश्चात शतभिषा*
⛅ *योग - गण्ड सुबह 07:02 तक तत्पश्चात वृद्धि*
⛅ *राहुकाल - दोपहर 02:57 से शाम 04:20 तक*
⛅ *सूर्योदय - 06:43*
⛅ *सूर्यास्त - 18:00*
⛅ *दिशाशूल - उत्तर दिशा में*
⛅ *व्रत पर्व विवरण - ब्रह्मलीन भगवत्पाद साँईं श्री लीलाशाहजी महाराज महानिर्वाण दिवस, कुष्मांड नवमी, अक्षय-आँवला नवमी, रंग अवधूत महाराज जयंती, नवमी वृद्धि तिथि*
 💥 *विशेष - नवमी को लौकी खाना गोमांस के समान त्याज्य है।(ब्रह्मवैवर्त पुराण, ब्रह्म खंडः 27.29-34)*
               🌞

🌷 *आँवला (अक्षय) नवमी* 🌷
🙏🏻 *नारद पुराण के अनुसार*
🌷 *कार्तिके शुक्लनवमी याऽक्षया सा प्रकीर्तता । तस्यामश्वत्थमूले वै तर्प्पणं सम्यगाचरेत् ।।* ११८-२३ ।।*
*देवानां च ऋषीणां च पितॄणां चापि नारद । स्वशाखोक्तैस्तथा मंत्रैः सूर्यायार्घ्यं ततोऽर्पयेत् ।। ११८-२४ ।।*
*ततो द्विजान्भोजयित्वा मिष्टान्नेन मुनीश्वर । स्वयं भुक्त्वा च विहरेद्द्विजेभ्यो दत्तदक्षिणः ।। ११८-२५ ।।*
*एवं यः कुरुते भक्त्या जपदानं द्विजार्चनम् । होमं च सर्वमक्षय्यं भवेदिति विधेर्वयः ।। ११८-२६ ।।*
🍏 *कार्तिक मास के शुक्लपक्ष में जो नवमी आती है, उसे अक्षयनवमी कहते हैं। उस दिन पीपलवृक्ष की जड़ के समीप देवताओं, ऋषियों तथा पितरों का विधिपूर्वक तर्पण करें और सूर्यदेवता को अर्घ्य दे। तत्पश्च्यात ब्राह्मणों को मिष्ठान्न भोजन कराकर उन्हें दक्षिणा दे और स्वयं भोजन करे। इस प्रकार जो भक्तिपूर्वक अक्षय नवमी को जप, दान, ब्राह्मण पूजन और होम करता है, उसका वह सब कुछ अक्षय होता है, ऐसा ब्रह्माजी का कथन है।*
👉🏻 *कार्तिक शुक्ल नवमी को दिया हुआ दान अक्षय होता है अतः इसको अक्षयनवमी कहते हैं।*
🙏🏻 *स्कन्दपुराण, नारदपुराण आदि सभी पुराणों के अनुसार कार्तिक शुक्ल पक्ष नवमी युगादि तिथि है। इसमें किया हुआ दान और होम अक्षय जानना चाहिये । प्रत्येक युग में सौ वर्षों तक दान करने से जो फल होता है, वह युगादि-काल में एक दिन के दान से प्राप्त हो जाता है “एतश्चतस्रस्तिथयो युगाद्या दत्तं हुतं चाक्षयमासु विद्यात् । युगे युगे वर्षशतेन दानं युगादिकाले दिवसेन तत्फलम्॥”*
🙏🏻 *देवीपुराण के अनुसार कार्तिक शुक्ल नवमीको व्रत, पूजा, तर्पण और अन्नादिका दान करनेसे अनन्त फल होता है।*
🍏 *कार्तिक शुक्ल नवमी को ‘धात्री नवमी’ (आँवला नवमी) और ‘कूष्माण्ड नवमी’ (पेठा नवमी अथवा सीताफल नवमी) भी कहते है। स्कन्दपुराण के अनुसार अक्षय नवमी को आंवला पूजन से स्त्री जाति के लिए अखंड सौभाग्य और पेठा पूजन से घर में शांति, आयु एवं संतान वृद्धि होती है।*
🍏 *आंवले के वृक्ष में सभी देवताओं का निवास होता है तथा यह फल भगवान विष्णु को भी अति प्रिय है। अक्षय नवमी के दिन अगर आंवले की पूजा करना और आंवले के वृक्ष के नीचे बैठकर भोजन बनाना और खाना संभव नहीं हो तो इस दिन आंवला जरूर खाना चाहिए। ऐसी मान्यता है कि कार्तिक शुक्ल नवमी तिथि को आंवले के पेड़ से अमृत की बूंदे गिरती है और यदि इस पेड़ के नीचे व्यक्ति भोजन करता है तो भोजन में अमृत के अंश आ जाता है। जिसके प्रभाव से मनुष्य रोगमुक्त होकर दीर्घायु बनता है। चरक संहिता के अनुसार अक्षय नवमी को आंवला खाने से महर्षि च्यवन को फिर से जवानी यानी नवयौवन प्राप्त हुआ था।
आज का राशिफल 🕉

1. मेष राशिफल - उगाही एवं प्रवास के लिए आज का दिन अच्छा है, ऐसा गणेशजी कहते हैं। व्यापार से सम्बंधित कार्यों के लिए लाभदायी दिवस है। घर में शुभप्रसंग का आयोजन होगा। शेयर- सट्टे में आर्थिक लाभ होगा। पत्नी के आरोग्य को लेकर चिंता रहेगी।

2. वृष राशिफल - अनुकूलता और प्रतिकूलता से मिला-जुला आज का दिन रहेगा ऐसा गणेशजी कहते हैं। व्यावसायिक रूप से आप नई विचारधारा अमल में लाएँगे। आलस्य और व्यग्रता बने रहेंगे, इसलिए स्वास्थ्य के प्रति ध्यान दीजिएगा। प्रतिस्पर्धीयों के साथ वाद-विवाद में न उतरिएगा। व्यापारियों को धन की लेन-देन में प्रवास करने से लाभ होगा। व्यवसाय में पदोन्नति होगी। बच्चों की प्रगति से मन पर प्रसन्नता छाई रहेगी। गृहस्थजीवन आनंदपूर्वक बीतेगा।
3 मिथुन राशिफल - नकारात्मक विचारों को मन से दूर करने की सलाह गणेशजी देते हैं। खान-पान में ध्यान रखिएगा। वाहन चलाते समय अनिष्ट घटना न हो इसका ध्यान रखिएगा। आकस्मिक धन का खर्च होगा। किसी कारणवश बाहर जाने का प्रसंग उपस्थित होगा। मध्याहन के बाद बौद्धिक अथवा साहित्यिक प्रवृत्तियों में रचेपचे रहेंगे।

4. कर्क राशिफल - स्वादिष्ट एवं उत्तम भोजन, सुंदर वस्त्रों और विपरीत लिंगीय व्यक्तियों का साथ पाकर आप प्रसन्न रहोगे। आपका आर्थिक पहेलु सुदृढ़ बनेगा, ऐसे प्रबल योग हैं। विचारों में अनिर्णायक्ता रहेगी, मुसाफरी होगी। अचानक धन खर्च होगा। भागीदारों के साथ आंतरिक मतभेद बढेगा। नौकरी- धंधे में परिस्थिति अनुकूल रहेगी। गुस्से को काबू में रखना। नये काम की शुरुआत मत करना।

5. सिंह राशिफल - आप के व्यापार का विस्तरण होगा। व्यवसाय में धन- सम्बंधित आयोजन भी कर सकेंगे। उचित कारणो पर धन का खर्च होगा। विदेश स्थित व्यवसायीजनों से लाभ होने की संभावना है। आप की वृद्धि होने से धन के मामलों में हाथ खुला रहेगा। प्रबल लाभ के भी योग हैं। फिर भी विचारों में अनिर्णायकता रहेगी। प्रवास होगा। आकस्मिक धन का खर्च होगा। भागीदारों के साथ आंतरिक मतभेद रहेंगे, फिर भी परिस्थिति अनुकूल रहेगी। क्रोध पर संयम रखिएगा। नए कार्य का प्रारंभ आज न करिएगा।

6. कन्या राशिफल - व्यापार के लिए आज का दिन बहुत अच्छा दिन है। धन सम्बंधित विषयों में सरलता रहेगी। घर में शांति और आनंद बने रहेंगे। आरोग्य अच्छा रहेगा। व्यवसाय में वातावरण अच्छा रहेगा और सहकार्यकरों का सहकार मिलेगा।

7. तुला राशिफल- आजका आप का दिन मध्यम फलदायी रहेगा ऐसा गणेशजी कहते हैं। शारीरिक स्फूर्ति और मानसिक प्रसन्नता का अभाव रहेगा। परिवार में उग्र वातावरण रहेगा। व्यावहारिक जीवन में मानहानि का प्रसंग न बने इसका ध्यान रखिएगा। परंतु मध्याहन के बाद आप की शारीरिक और मानसिक स्थिति में सुधार होगा। आप सृजनात्मक और कलात्मक प्रवृत्तियों में प्रवृत्त रहेंगे।

8. वृश्चिक राश‍िफल- आज संपत्ति सम्बंधित कार्यों एवं गृहस्थजीवन के प्रश्नों का निराकरण आ जाएगा। व्यवसायीजनों के लिए आज का दिन अनुकूल है। भाई-बंधुओं का व्यवहार सहकारपूर्ण रहेगा। प्रतिस्पर्धी परास्त होंगे। परंतु मध्याहन के बाद शारीरिक और मानसिक प्रतिकूलताएँ रहेंगी।  कौटुंबिकजनों के साथ मनदुःख भरा प्रसंग बनने की संभावना है। खान-पान की व्यवस्था समयानुसार नहीं रहेगी। नींद भी इच्छित समय पर नहीं आएगी। धन हानि का योग है।
9. धनु राशिफल - निजी सम्बंधियों के साथ मनदुःख न हो इसका ध्यान रखने के लिए गणेशजी सलाह देते हैं। आरोग्य अच्छा रहेगा। आज का दिन आध्यात्मिक प्रवृत्तियों के लिए बहुत अच्छा है। आर्थिक लाभ भी होगा। विद्यार्थीयों को विद्या-अभ्यास में अधिक ध्यान देने की आवश्यकता है। मध्याहन के बाद की स्थिति अनुकूल है ऐसा आप को लगेगा। मन में जो दुविधा है उसका निराकरण मिल जाएगा। शरीर और मन दोनों स्वस्थ रहेंगे। हितशत्रु सफल नहीं हो पाएँगे।

10. मकर राशिफल - आप की धार्मिक और आध्यात्मिक प्रवृत्तियों में आज वृद्धि हो जाएगी ऐसा गणेशजी कहते हैं। व्यवसाय और व्यापार में भी वातावरण अनुकूल रहेगा। आप के हर कार्य सरलता से पूर्ण होंगे। जीवन में भी आनंद की मात्रा बढ जाएगी। फिर भी मध्याहन के बाद आप के विचारों में नकारात्मक भावों में वृद्धि होगी। इससे हताशा भी बढ सकती है। शेयर-सट्टे में पूंजी-निवेश करोगे।

11. कुंभ राशिफल - आज कुछ अधिक ही आध्यात्मिकता आप के व्यवहार में देखने को मिलेगी। दुर्घटना एवं शल्यचिकित्सा से संभलिएगा। मध्याहन के बाद आज का प्रत्येक कार्य सरलतापूर्वक संपन्न होता दिखेगा। दफ्तर में आप का प्रभाव बढ़ता हुआ दिखेगा। उपरी अधिकारियों की कृपादृष्टि आप पर रहेगी। मानसिक शांति आप के मन पर छाई रहेगी।

12. मीन राशिफल - विवाहोत्सुकों के विवाह के प्रश्न का निराकरण आ जाएगा। प्रवास- पर्यटन होगा तथा मित्रों से उपहार आदि मिलेगा। मध्याहन के बाद हर कार्य में कुछ सावधानी बरतनी आवश्यक है। व्यावसायिक कार्यो में सरकारी प्रभाव आप पर बढ सकता है। अधिक श्रम करने पर भी कम प्राप्ति होगी। आध्यात्मिकता की ओर झोंक अधिक रहेगा।
🎂🎂🎂🎂🎂🎂
जिनका आज जन्मदिन है उनको हार्दिक शुभकामनाये
आप बेहद भाग्यशाली हैं कि आपका जन्म 5 तारीख को हुआ है। 5 का मूलांक भी 5 ही होता है। ऐसे व्यक्ति अधिकांशत: मितभाषी होते हैं। कवि, कलाकार तथा अनेक विद्याओं के जानकार होते हैं। आपमें गजब की आकर्षण शक्ति होती है। आपमें लोगों को सहज अपना बना लेने का विशेष गुण होता है। अनजान व्यक्ति की मदद के लिए भी आप सदैव तैयार रहते हैं। आपमें किसी भी प्रकार का परिवर्तन करना मुश्किल है। अर्थात अगर आप अच्छे स्वभाव के व्यक्ति हैं तो आपको कोई भी बुरी संगत बिगाड़ नहीं सकती। अगर आप खराब आचरण के हैं तो दुनिया की कोई भी ताकत आपको सुधार नहीं सकती। लेकिन सामान्यत: 5 तारीख को पैदा हुए व्यक्ति सौम्य स्वभाव के ही होते हैं।

शुभ दिनांक : 1,  5,  7,  14,  23 

शुभ अंक : 1,  2,  3,   5,   9,  32,  41,  50
शुभ वर्ष : 2030,  2032,  2034,  2050,  2059,  2052 

ईष्टदेव : देवी महालक्ष्मी,  गणेशजी,   मां अम्बे। 

शुभ रंग : हरा,  गुलाबी,  जामुनी,  क्रीम

कैसा रहेगा यह वर्ष
यह वर्ष आपके लिए सफलताओं भरा रहेगा। अभी तक आ रही परेशानियां भी इस वर्ष दूर होती नजर आएंगी। परिवारिक प्रसन्नता रहेगी। संतान पक्ष से खुशखबर आ सकती है। नौकरीपेशा व्यक्तियों के लिए यह वर्ष निश्चय ही सफलताओं भरा रहेगा। दाम्पत्य जीवन में मधुर वातावरण रहेगा। अविवाहित भी विवाह में बंधने को तैयार रहें। व्यापार-व्यवसाय में प्रगति से प्रसन्नता रहेगी।

Posted By Lal Kitab Anmol18:40

Sunday, 3 November 2019

पंचक नक्षत्र व जानकारी

"""""पंचक """""
                 
ज्योतिष में अशुभ समय होने पर शुभ कामों को करने की मनाही होती है। इसी के चलते पंचक के समय हर किसी को शुभ करने से रोका जाता है। देखो-देखी लोग इस बात को अपना तो लेते हैं, परंतु पंचक है क्या और इसे अशुभ क्यों माना जाता है इसके बारे में किसी को नहीं पता। तो आइए आज जानते हैं कि आखिर क्यों पंचक को अशुभ कहा जाता है बता दें कि ज्योतिष में पांच नक्षत्रों के मेल से बनने वाले योग को पंचक कहा जाता है। जब चंद्रमा कुंभ और मीन राशि पर रहता है तो उस समय को पंचक कहा जाता है। ज्योतिष के अनुसार चंद्रमा एक राशि में लगभग ढाई दिन रहता है इस तरह इन दो राशियों में चंद्रमा पांच दिनों तक भ्रमण करता है। इन पांच दिनों के दौरान चंद्रमा पांच नक्षत्रों धनिष्ठा, शतभिषा, पूर्वाभाद्रपद, उत्तराभाद्रपद और रेवती से होकर गुजरता है। अतः ये पांच दिन पंचक कहे जाते हैं।
पंचक
इतना तो सब जानते ही हैं कि हिंदू संस्कृति में प्रत्येक काम को करने से पहले मुहूर्त देखा जाता है, जिसमें पंचक सबसे महत्वपूर्ण है। जब भी कोई काम प्रारंभ किया जाता है तो उसमें शुभ मुहूर्त के साथ पंचक का भी विचार किया जाता है। नक्षत्र चक्र में कुल 27 नक्षत्र होते हैं। इनमें अंतिम के पांच नक्षत्र दूषित माने गए हैं। ये नक्षत्र धनिष्ठा, शतभिषा, पूर्वाभाद्रपद, उत्तराभाद्रपद और रेवती होते हैं। प्रत्येक नक्षत्र चार चरणों में विभाजित रहता है। पंचक धनिष्ठा नक्षत्र के तृतीय चरण से प्रारंभ होकर रेवती नक्षत्र के अंतिम चरण तक रहता है। हर दिन एक नक्षत्र होता है इस लिहाज से धनिष्ठा से रेवती तक पांच दिन हुए। ये पांच दिन पंचक होता है।

पंचक यानि पांच। माना जाता है कि पंचक के दौरान यदि कोई अशुभ काम हो तो उनकी पांच बार आवृत्ति होती है। इसलिए उसका निवारण करना आवश्यक होता है। पंचक का विचार खासतौर पर किसी की मृत्यु के समय किया जाता है। माना जाता है कि यदि किसी व्यक्ति की मृत्यु पंचक के दौरान हो तो घर-परिवार में पांच लोगों पर मृत्यु के समान संकट रहता है। इसलिए जिस व्यक्ति की मृत्यु पंचक में होती है उसके दाह संस्कार के समय आटे-चावल के पांच पुतले बनाकर साथ में उनका भी दाह कर दिया जाता है। इससे परिवार पर से पंचक दोष समाप्त हो जाता है।  शास्त्रों में पंचक के दौरान कुछ कामों को करने की मनाही रहती है। उन्हें भूलकर भी इस दौरान नहीं करना चाहिए।


नवंबर और दिसंबर 2019 में पंचक-

हर 27 दिन बाद नक्षत्र की पुनरावृत्ति होती है इस लिहाज से पंचक हर 27 दिन बाद आता है। यहां आगामी महीनों में आने वाले पंचकों की जानकारी दी जा रही है।

5 नवंबर सायं 4.47 से 10 नवंबर 5.17 तक

2 दिसंबर रात्रि 12.57 से 7 दिसंबर रात्रि 1.29 तक

स्थानीय सूर्यादय, सूर्यास्त के अनुसार इन समयों में परिवर्तन संभव है। इसलिए पंचक का विचार करते समय स्थानीय पंचांगों और ज्योतिषियों की सलाह ज़रूर लें

Posted By Lal Kitab Anmol20:12

आज राशिफल व पंचांग व गोपाष्टमी की जानकारी

अंतर्गत लेख:

ऊं नमः शिवाय शिवजी सदा सहाय
ऊं नमः शिवाय गुरुजी सदा सहाय
ऊं नमः शिवाय श्री बालाजी सदा सहा


निशुल्क पंचांग अपने मोबाइल फोन पर मंगवाने के लिए 9911342666 पर अपने नाम के में शहर का नाम लिख कर व्हाट्सएप्प करे।
 ~ *आज का श्री बालाजी पंचांग* ~
⛅ *दिनांक 04 नवम्बर 2019*
⛅ *दिन - सोमवार*
⛅ *विक्रम संवत - 2076*
⛅ *शक संवत -1941*
⛅ *अयन - दक्षिणायन*
⛅ *ऋतु - हेमंत*
⛅ *मास - कार्तिक*
⛅ *पक्ष - शुक्ल*
⛅ *तिथि - अष्टमी 05 नवम्बर प्रातः 04:57 तक तत्पश्चात नवमी*
⛅ *नक्षत्र - श्रवण 05 नवम्बर प्रातः 03:24 तक तत्पश्चात धनिष्ठा*
⛅ *योग - गण्ड पूर्ण रात्रि तक*
⛅ *राहुकाल - सुबह 08:00 से सुबह 09:24 तक*
⛅ *सूर्योदय - 06:43*
⛅ *सूर्यास्त - 18:00*
⛅ *दिशाशूल - पूर्व दिशा में*
⛅ *व्रत पर्व विवरण - गोपाष्टमी*
 💥 *विशेष - अष्टमी को नारियल का फल खाने से बुद्धि का नाश होता है।(ब्रह्मवैवर्त पुराण, ब्रह्म खंडः 27.29-34)*
💥 *अष्टमी तिथि के दिन स्त्री-सहवास तथा तिल का तेल खाना और लगाना निषिद्ध है।(ब्रह्मवैवर्त पुराण, ब्रह्म खंडः 27.29-38)*
    *अक्षय फल देनेवाली अक्षय नवमी* 🌷
🙏🏻 *कार्तिक शुक्ल नवमी (05 नवम्बर 2019) मंगलवार को ‘अक्षय नवमी’ तथा ‘आँवला नवमी’ कहते हैं | अक्षय नवमी को जप, दान, तर्पण, स्नानादि का अक्षय फल होता है | इस दिन आँवले के वृक्ष के पूजन का विशेष महत्व  है | पूजन में कर्पूर या घी के दीपक से आँवले के वृक्ष की आरती करनी चाहिए तथा निम्न मंत्र बोलते हुये इस वृक्ष की प्रदक्षिणा करने का भी विधान है :*
🌷 *यानि कानि च पापानि जन्मान्तरकृतानि च |*
*तानि सर्वाणि नश्यन्तु प्रदक्षिणपदे पदे ||*
🍏 *इसके बाद आँवले के वृक्ष के नीचे पवित्र ब्राम्हणों व सच्चे साधक-भक्तों को भोजन कराके फिर स्वयं भी करना चाहिए | घर में आंवलें का वृक्ष न हो तो गमले में आँवले का पौधा लगा के अथवा किसी पवित्र, धार्मिक स्थान, आश्रम आदि में भी वृक्ष के नीचे पूजन कर सकते है | कई आश्रमों में आँवले के वृक्ष लगे हुये हैं | इस पुण्यस्थलों में जाकर भी आप भजन-पूजन का मंगलकारी लाभ ले सकते हैं |**आँवला (अक्षय) नवमी है फलदायी* 🌷
🙏🏻 *भारतीय सनातन पद्धति में पुत्र रत्न की प्राप्ति के लिए महिलाओं द्वारा आँवला नवमी की पूजा को महत्वपूर्ण माना गया है। कहा जाता है कि यह पूजा व्यक्ति के समस्त पापों को दूर कर पुण्य फलदायी होती है। जिसके चलते कार्तिक मास की शुक्ल पक्ष की नवमी को महिलाएं आँवले के पेड़ की विधि-विधान से पूजा-अर्चना कर अपनी समस्त मनोकामनाओं की पूर्ति के लिए प्रार्थना करती हैं।*
🍏 *आँवला नवमी को अक्षय नवमी के रूप में भी जाना जाता है। इस दिन द्वापर युग का प्रारंभ हुआ था। कहा जाता है कि आंवला भगवान विष्णु का पसंदीदा फल है। आंवले के वृक्ष में समस्त देवी-देवताओं का निवास होता है। इसलिए इसकी पूजा करने का विशेष महत्व होता है।*
🌷 *व्रत की पूजा का विधान* 🌷
👉🏻 *नवमी के दिन महिलाएं सुबह से ही स्नान ध्यान कर आँवला के वृक्ष के नीचे पूर्व दिशा में मुंह करके बैठती हैं।*
👉🏻 *इसके बाद वृक्ष की जड़ों को दूध से सींच कर उसके तने पर कच्चे सूत का धागा लपेटा जाता है।*
👉🏻 *तत्पश्चात रोली, चावल, धूप दीप से वृक्ष की पूजा की जाती है।*
👉🏻 *महिलाएं आँवले के वृक्ष की १०८ परिक्रमाएं करके ही भोजन करती हैं।*
🍏 *आँवला नवमी की कथा* 🍏
*वहीं पुत्र रत्न प्राप्ति के लिए आँवला पूजा के महत्व के विषय में प्रचलित कथा के अनुसार एक युग में किसी वैश्य की पत्नी को पुत्र रत्न की प्राप्ति नहीं हो रही थी। अपनी पड़ोसन के कहे अनुसार उसने एक बच्चे की बलि भैरव देव को दे दी। इसका फल उसे उल्टा मिला। महिला कुष्ट की रोगी हो गई।*
🍏 *इसका वह पश्चाताप करने लगे और रोग मुक्त होने के लिए गंगा की शरण में गई। तब गंगा ने उसे कार्तिक शुक्ल पक्ष की नवमी तिथि को आँवला के वृक्ष की पूजा कर आँवले के सेवन करने की सलाह दी थी।*
🍏 *जिस पर महिला ने गंगा के बताए अनुसार इस तिथि को आँवला की पूजा कर आँवला ग्रहण किया था, और वह रोगमुक्त हो गई थी। इस व्रत व पूजन के प्रभाव से कुछ दिनों बाद उसे दिव्य शरीर व पुत्र रत्न की प्राप्ति हुई, तभी से हिंदुओं में इस व्रत को करने का प्रचलन बढ़ा। तब से लेकर आज तक यह परंपरा चली आ रही है।*


आज का राशिफल🕉
मेष:
नए कार्यों का आयोजन करने का विचार यदि बना रहे हैं तो बेहिचक करें। आज सफल होंगे। धन, मान-सम्‍मान में वृद्धि होगी। परिवार में आनंद का वातावरण छाया रहेगा, सरकारी कार्य संपन्न होंगे। धन के निवेश के लिए भी आज का दिन शुभ है। भाग्‍य आज 78 फीसदी साथ देगा।
वृषभ
आज आप बौद्धिक तथा लेखन के कार्यों में सक्रिय रहेंगे। धार्मिक स्थल की यात्रा लाभकारी रहेगी। विदेश में रह रहे किसी मित्र या स्नेहीजनों के समाचार मिलेंगे। नौकरीपेशे वालों के लिए आज का दिन अच्‍छा है। आपको रचनात्‍मक कार्यों में सफलता मिलेगी। वहीं व्‍यापारियों को भी लाभ होगा। आज भाग्‍य 79 फीसदी साथ देगा।

मिथुन:
आज का दिन सावधानी से व्यतीत करें। नए कार्यों का प्रारंभ न करें एवं क्रोध पर संयम रखें, नए सम्बंध बनाने से पहले गंभीरता से विचार करें। घर से बाहर जाने से पहले ईश्‍वर के आगे सिर झुकाकर जाएं। वाहन सावधानी के साथ धीरे चलाएं। कागजी कार्रवाई में जांच पड़ताल करके करें। भाग्‍य आज 55 फीसदी साथ देगा।
कर्क:
आज आपका दिन सुखपूर्वक एवं आनंद से व्यतीत होगा। पार्टी और पिकनिक के मजे लेंगे। नए वस्त्र परिधान प्राप्‍त हो सकते हैं। उत्तम वैवाहिक सुख प्राप्त होगा। संतान की ओर से भी सुखद समाचार मिलेगा। आज आपके लिए शुभ संयोग बने हैं, इस अवसर का लाभ उठाएं। भाग्‍य आज 80 फीसदी साथ देगा।

सिंह:
आपके व्यापार में आज विस्तार होगा। नौकरी में सहकर्मियों की तरफ से सहयोग प्राप्त होगा, शत्रुओं पर विजय मिलेगी। विद्यार्थियों को भी आज लाभ होने की उम्‍मीद है। लंबे समय से रुका हुआ उनका कोई परीक्षा परिणाम आज आ सकता है। इसमें उन्‍हें सफलता मिलेगी। दांपत्‍य जीवन में मधुरता आएगी। भाग्‍य आज 76 फीसदी साथ देगा।
कन्या:
आज बौद्धिक चर्चा में भाग लेने का अवसर मिल सकता है। विचारों में शीघ्र परिवर्तन देखने को मिल सकते हैं। लेखनकार्य या सृजनात्मक कृतियों की रचना करने के लिए दिन अच्छा है। आज आप धार्मिक कार्यों में भी रुचि दिखाएंगे। दोस्‍तों के साथ समय अच्‍छा बीतेगा। भाग्‍य आज 73 फीसदी साथ देगा।

तुला:
आज स्थायी संपत्ति, वाहन आदि के खरीद-फरोख्त में विचार-विमर्श अवश्य करें। मां अथवा घर में किसी बुजुर्ग महिला के स्वास्थ्य के प्रति सावधान रहें। आज रुपये-पैसे से संबंधित कोई लेन-देन न करें। आज आपकी किसी पर अत्‍यधिक विश्‍वास करना भारी पड़ सकता है। भाग्‍य आज 55 फीसदी साथ देगा।

वृश्चिक:
आज नए कार्य करने की प्रेरणा मिलेगी एवं नए कार्य प्रारंभ कर पाएंगे और उनमें लाभ मिलने की भी उम्‍मीद है। आज आपके मन में परिवर्तन शीघ्र आएंगे। जिससे आपका मन कुछ दुविधायुक्त रहेगा। समझदारी से काम लेते हुए सोचसमझकर सही चुनें। व्‍यवसाय से जुड़े हुए रुके काम पूरे होंगे। भाग्‍य आज 70 फीसदी साथ देगा।
धनु:
हाथ में आया हुआ अवसर सही निर्णय न लेने के कारण आप आज गंवा सकते हैं। वाणी द्वारा दूसरों को अपने प्रति आकर्षित करें तो लाभकारी रहेगा। किसी भी प्रकार के विवाद से खुद को दूर रखने में ही समझदारी है। शाम का वक्‍त परिवार के लिए निकालें और मूड को बदलने के लिए घूमने जा सकते हैं। भाग्‍य आज 58 फीसदी साथ देगा।

मकर:
आज दिन की शुरुआत प्रसन्न मन और स्वस्थ चित्त से होगी। आर्थिक दृष्टि से भी आज का दिन लाभदायी है। मित्र या परिवार के सदस्यों का साथ मिलेगा। दांपत्‍य जीवन रोमांस के साथ बीतेगा। संतान की ओर भी संतुष्‍ट रहेंगे। माता-पिता के स्‍वास्‍थ्‍य की विशेष देखभाल करने की जरूरत है। भाग्‍य आज 80 फीसदी साथ देगा।
कुंभ:
आज आप मानसिक अस्वस्थता का अनुभव कर सकते हैं। किसी एक निश्चय पर आप नहीं पहुंच पाएंगे और असमंजस के कारण मानसिक कष्ट होगा। ऑफिस के किसी मुद्दे को लेकर आप परेशान हो सकते हैं। बेहतर होगा चीजों को उसी हाल में छोड़ दें और समय के साथ उन्‍हें सुलझने दें और अपने काम में मन लगाएं। भाग्‍य आज 55 फीसदी साथ देगा।

मीन:
आज का दिन आपके लिए अच्छा रहेगा, व्यापार-व्यवसाय में लाभ होगा, धनप्राप्ति के योग हैं, हाथ में आए अवसर का लाभ अवश्य उठाएं। महिलाओं के लिए आज का दिन कुछ खास हो सकता है। उन्‍हें कहीं से उपहार या फिर नेग मिल सकता है। संबंधों में मधुरता आएगी। भाग्‍य आज 89 फीसदी साथ देगा।
🎂🎂🎂🎂🎂🎂🎂

जिनका आज जन्मदिन है उनको हार्दिक शुभकामनाये
दिनांक 4 को जन्मे व्यक्ति का मूलांक 4 होगा। इस अंक से प्रभावित व्यक्ति जिद्दी,  कुशाग्र बुद्धि वाले,  साहसी होते हैं। ऐसे व्यक्ति को जीवन में अनेक परिवर्तनों का सामना करना पड़ता है। जैसे तेज स्पीड से आती गाड़ी को अचानक ब्रेक लग जाए ऐसा उनका भाग्य होगा। लेकिन यह भी निश्चित है कि इस अंक वाले अधिकांश लोग कुलदीपक होते हैं। आपका जीवन संघर्षशील होता है। इनमें अभिमान भी होता है। ये लोग दिल के कोमल होते हैं किन्तु बाहर से कठोर दिखाई पड़ते हैं। इनकी नेतृत्त्व क्षमता के लोग कायल होते हैं।

शुभ दिनांक : 4,  8,  13,  22,  26,  31

शुभ अंक : 4,  8,18,  22,  45,  57
शुभ वर्ष : 2017, 2020,  2031,  2040,  2060   

ईष्टदेव : श्री गणेश,  श्री हनुमान

शुभ रंग : नीला,  काला,  भूरा

कैसा रहेगा यह वर्ष

यह वर्ष पिछले वर्ष के दुष्प्रभावों को दूर करने में सक्षम है। आपको सजग रहकर कार्य करना होगा। परिवारिक मामलों में सहयोग के द्वारा सफलता मिलेगी। मान-सम्मान में वृद्धि होगी, वहीं मित्र वर्ग का सहयोग मिलेगा। नवीन व्यापार की योजना प्रभावी होने तक गुप्त ही रखें। शत्रु पक्ष पर प्रभावपूर्ण सफलता मिलेगी। नौकरीपेशा प्रयास करें तो उन्नति के चांस भी है। विवाह के मामलों में आश्चर्यजनक परिणाम आ सकते हैं।

Posted By Lal Kitab Anmol19:00

Friday, 1 November 2019

आज का राशिफल व पंचांग

अंतर्गत लेख:

ऊं नमः शिवाय शिवजी सदा सहाय
ऊं नमः शिवाय गुरुजी सदा सहाय
ऊं नमः शिवाय श्री बालाजी सदा सहाय

निशुल्क पंचांग अपने मोबाइल फोन पर मंगवाने के लिए 9911342666 पर अपने शहर का नाम लिख कर व्हाट्सएप्प करे।
 ~ *आज का श्री बालाजी पंचांग* ~
⛅ *दिनांक 02 नवम्बर 2019*
⛅ *दिन - शनिवार*
⛅ *विक्रम संवत - 2076*
⛅ *शक संवत -1941*
⛅ *अयन - दक्षिणायन*
⛅ *ऋतु - हेमंत*
⛅ *मास - कार्तिक*
⛅ *पक्ष - शुक्ल*
⛅ *तिथि - षष्ठी रात्रि 03 नवम्बर 01:31 तक तत्पश्चात सप्तमी*
⛅ *नक्षत्र - पूर्वाषाढा 11:02 तक तत्पश्चात उत्तराषाढा*
⛅ *योग - सुकर्मा सुबह 06:53 तक तत्पश्चात शूल*
⛅ *राहुकाल - सुबह 09:23 से सुबह 10:47 तक*
⛅ *सूर्योदय - 06:42*
⛅ *सूर्यास्त - 18:01*
⛅ *दिशाशूल - पूर्व दिशा में*
⛅ *व्रत पर्व विवरण -
 💥 *विशेष - षष्ठी को नीम की पत्ती, फल या दातुन मुँह में डालने से नीच योनियों की प्राप्ति होती है।(ब्रह्मवैवर्त पुराण, ब्रह्म खंडः 27.29-34)*

🌷 *घातक रोगों से मुक्ति पाने का उपाय* 🌷
👉🏻 *03 नवम्बर 2019 को (सूर्योदय से रात्रि 02:57 तक) रविवारी सप्तमी है।*
🙏🏻 *रविवार सप्तमी के दिन बिना नमक का भोजन करें। बड़ दादा के १०८ फेरे लें । सूर्य भगवान का पूजन करें, अर्घ्य दें व भोग दिखाएँ, दान करें । तिल के तेल का दिया सूर्य भगवान को दिखाएँ ये मंत्र बोलें :-*
🌷 *"जपा कुसुम संकाशं काश्य पेयम महा द्युतिम । तमो अरिम सर्व पापघ्नं प्रणतोस्मी दिवाकर ।।"*
💥 *नोट : घर में कोई बीमार रहता हो या घातक बीमारी हो तो परिवार का सदस्य ये विधि करें तो बीमारी दूर होगी ।*
🌞  🌞

🌷 *मंत्र जप एवं शुभ संकल्प हेतु विशेष तिथि*
🙏🏻 *सोमवती अमावस्या, रविवारी सप्तमी, मंगलवारी चतुर्थी, बुधवारी अष्टमी – ये चार तिथियाँ सूर्यग्रहण के बराबर कही गयी हैं।*
🌷 *इनमें किया गया जप-ध्यान, स्नान , दान व श्राद्ध अक्षय होता है।*
🙏🏻 *(शिव पुराण, विद्येश्वर संहिताः अध्याया (10)*
           🌞  पंचांग

🌷 *रविवार सप्तमी* 🌷
🙏🏻 *रविवार सप्तमी के दिन जप/ध्यान करने का वैसा ही हजारों गुना फल होता है जैसा की सूर्य/चन्द्र ग्रहण में जप/ध्यान करने से होता हरिॐ |*
🙏🏻 *रविवार सप्तमी के दिन अगर कोई नमक मिर्च बिना का भोजन करे और सूर्य भगवान की पूजा करे , तो उसकी घातक बीमारियाँ दूर हो सकती हैं , अगर बीमार व्यक्ति न कर सकता हो तो कोई और बीमार व्यक्ति के लिए यह व्रत करे | इस दिन सूर्यदेव का पूजन करना चाहिये |*
🌞 *सूर्य भगवान पूजन विधि* 🌞
🙏🏻 *१) सूर्य भगवान को तिल के तेल का दिया जला कर दिखाएँ , आरती करें |*
🙏🏻 *२) जल में थोड़े चावल ,शक्कर , गुड , लाल फूल या लाल कुम कुम मिला कर सूर्य भगवान को अर्घ्य दें |*
🌞 *सूर्य भगवान अर्घ्य मंत्र* 🌞
🌷 *1. ॐ मित्राय नमः।*
🌷 *2. ॐ रवये नमः।*
🌷 *3. ॐ सूर्याय नमः।*
🌷 *4. ॐ भानवे नमः।*
🌷 *5. ॐ खगाय नमः।*
🌷 *6. ॐ पूष्णे नमः।*
🌷 *7. ॐ हिरण्यगर्भाय नमः।*
🌷 *8. ॐ मरीचये नमः।*
🌷 *9. ॐ आदित्याय नमः।*
🌷 *10. ॐ सवित्रे नमः।*
🌷 *11. ॐ अर्काय नमः।*
🌷 *12. ॐ भास्कराय नमः।*
🌷 *13. ॐ श्रीसवितृ-सूर्यनारायणाय नमः।*
🙏🏻
आज का राशिफल🕉
मेष राशिफल
 अपने वाक्य चतुर से कार्य बना लेंगे। व्यापार-व्यवसाय में यश कीर्ति की वृद्धि होगी। खेल जगत से जुड़े जातकों के लिए समय श्रेष्ठ है। यात्रा से लाभ संभव है। समय पर कार्य करना सीखें।
वृषभ राशिफल
वर्तमान समय शुभ फल देने वाला है। अपनी वाणी पर नियंत्रण रखें। बने काम बिगड़ सकते हैं। अपनी सोच को बदलें न की दूसरे को बदलने की कोशीश करें। क्रोध पर नियंत्रण रखें। इष्ट साधना सहयाक होगी।
मिथुन राशिफल
: संतान के विवाह की चिंता रहेगी। आर्थिक स्थिति में सुधार होगा। पूंजी निवेश से लाभ संभव। राज कार्य से जुड़े जातकों के लिए समय मिश्रित फलदायी है। अपने अधिकारों का गलत प्रयोग न करें, अन्यथा नुकसान हो सकता है।
कर्क राशिफल
 व्यापार विस्तार की योजना सफल होगी। स्वस्थ रहें, मस्त रहें। व्यर्थ चिंता छोड़ दें। खाद्य पदार्थ से जुड़े जातकों के लिए समय अति श्रेष्ट है। समय रहते पूंजी निवेश कर दें। शत्रु वर्ग सक्रीय होगा।
सिंह राशिफल
आपके व्यवहार से सहकर्मी खुश होंगे। जीवन में नई उड़ान भरने का समय आया है। इसका लाभ लें। परिवारजनों से भेंट होगी। अनायास खर्च हो सकता है। सामाजिक कार्यक्रमों में भाग ले सकेंगे।

कन्या राशिफल
: धनकोष में वृद्धि होगी। अपने करियर के प्रति गंभीर निर्णय लें। आत्मविश्वास की कमी के कारण गलत फैसले ले सकते हैं। मन में कई दुविधाएं चल रही है। आध्यात्मिक बल से लाभ होगा।
तुला राशिफल
 लंबे समय से चले आ रहे पारिवारिक विवाद का आज अंतिम दिन है। महत्त्वपूर्ण कार्य निपटाने में लगे रहेंगे। छात्रों के लिए समय मेहनत करने वाला है। ज्यादा घमंड से नुकसान आपको ही होगा।
वृश्चिक राशिफल
कार्य क्षमता में वृद्धि होगी। नौकरी की तलाश में भटकना पड़ेगा। आप कितना सोचते हैं, पर करते कितना है, इस पर ध्यान दें। जीवनसाथी का सहयोग मिलेगा। भूमि भवन क्रय करने में पूंजी लगानी पड़ सकती है।
धनु राशिफल
 क्या करूं, क्या न करूं, इसी स्थिति से आप गुजर रहे हैं। शांति से फैसला लें, जल्दबाजी में कोई भी कार्य न करें। वाहन क्रय करने का मन बना रहे हैं। अपनी सोच को बदलें, लाभ होगा। मित्रों से मुलाकात मन प्रफुल्लित करेगी।
मकर राशिफल /
आप दूसरे के लिए बुरा न सोचें। अपने आहार पर नियंत्रण रखें। पेट संबंधित रोग संभव। समय कम है, काम ज्यदा मन लगा कर अपने कार्य
 में लग जाएं। सफलता मिलेगी। मनचाहा जीवनसाथी मिलने से मन प्रसन्न होगा।
कुंभ राशिफल
: जो करना चाहिये वो करिये। फालतू समय बर्बाद न करें। दूसरों की सीख में अपना नुकसान कर बैठेंगे। शांति से विचार कर कोई निर्णय लें। आजीविका के स्रोत में वृद्धि के आसार है। पुराने निवेश से लाभ होगा।
मीन राशिफल
 कार्य की अधिकता के कारण जरुरी कार्य पूरे नहीं हो सकेंगे। उन्नति के पथ पर अग्रसर होंगे। अधिकारी वर्ग के लिए समय उत्तम है। दान-पुण्य से मन को शांति मिलेगी।
🎂🎂🎂🎂🎂🎂
जिनका आज जन्मदिन है उनको हार्दिक शुभकामनाये

दिनांक 2 को जन्मे व्यक्ति का मूलांक 2 होगा। इस मूलांक को चन्द्र ग्रह संचालित करता है। चन्द्र ग्रह मन का कारक होता है। आप अत्यधिक भावुक होते हैं।

आप स्वभाव से शंकालु भी होते हैं। दूसरों के दर्द से आप परेशान हो जाना आपकी कमजोरी है। आप मानसिक रूप से तो स्वस्थ हैं लेकिन शारीरिक रूप से कमजोर हैं। चन्द्र ग्रह स्त्री ग्रह माना गया है। अत: आप अत्यंत कोमल स्वभाव के हैं। आपमें अभिमान तो जरा भी नहीं होता। चन्द्र के समान आपके स्वभाव में भी उतार-चढ़ाव पाया जाता है। आप अगर जल्दबाजी को त्याग दें तो आप जीवन में सफल होते हैं।
शुभ दिनांक : 2, 11,  20,  29 

शुभ अंक : 2, 11,  20,  29,  56,  65,  92

शुभ वर्ष : 2027,  2029,  2036

ईष्टदेव : भगवान शिव,  बटुक भैरव

शुभ रंग : सफेद,  हल्का नीला,  सिल्वर ग्रे

कैसा रहेगा यह वर्ष
वर्ष काफी समझदारी से चलने का रहेगा। लेखन से संबंधित मामलों में सावधानी रखना होगी। बगैर देखे किसी कागजात पर हस्ताक्षर ना करें। किसी नवीन कार्य योजनाओं की शुरुआत करने से पहले बड़ों की सलाह लें। व्यापार-व्यवसाय की स्थिति ठीक-ठीक रहेगी। स्वास्थ्य की दृष्टि से संभल कर चलने का वक्त होगा। पारिवारिक विवाद आपसी मेलजोल से ही सुलझाएं। दखलअंदाजी ठीक नहीं रहेगी।

Posted By Lal Kitab Anmol15:29

Thursday, 31 October 2019

आज का पंचांग व राशिफल अथवा सूर्य छठ पर विशेष जानकारी

ऊं नमः शिवाय शिवजी सदा सहाय
ऊं नमः शिवाय गुरुजी सदा सहाय
ऊं नमः शिवाय श्री बालाजी सदा सहाय

निशुल्क पंचांग और राशिफल अपने मोबाइल फोन पर मंगवाने के लिए 9911342666पर अपने नाम के साथ में शहर का नाम लिख कर व्हाट्सएप्प करे।
~ *आज का श्री बालाजी पंचांग* ~
⛅ *दिनांक 01 नवम्बर 2019*
⛅ *दिन - शुक्रवार*
⛅ *विक्रम संवत - 2076*
⛅ *शक संवत -1941*
⛅ *अयन - दक्षिणायन*
⛅ *ऋतु - हेमंत*
⛅ *मास - कार्तिक*
⛅ *पक्ष - शुक्ल*
⛅ *तिथि - पंचमी रात्रि 12:51 तक तत्पश्चात षष्ठी*
⛅ *नक्षत्र - मूल रात्रि 09:53 तक तत्पश्चात पूर्वाषाढा*
⛅ *योग - अतिगण्ड सुबह 07:59 तक तत्पश्चात सुकर्मा*
⛅ *राहुकाल - सुबह 10:47 से दोपहर 12:10 तक*
⛅ *सूर्योदय - 06:42*
⛅ *सूर्यास्त - 18:01*
⛅ *दिशाशूल - पश्चिम दिशा में*
⛅ *व्रत पर्व विवरण - लाभ पंचमी, श्री-सौभाग्य-पांडव-ज्ञान पंचमी*
 💥 *विशेष - पंचमी को बेल खाने से कलंक लगता है।(ब्रह्मवैवर्त पुराण, ब्रह्म खंडः 27.29-34)*
         

🌷 *छठ पर्व* 🌷
🙏🏻 *(02 नवम्बर, शनिवार) को छठ पूजा है। इस दिन मुख्य रूप से भगवान सूर्य की पूजा की जाती है। हिंदू धर्म में सूर्य को साक्षात भगवान माना गया है, क्योंकि वे रोज हमें दर्शन देते हैं और उन्हीं के प्रकाश से हमें जीवनदायिनी शक्ति प्राप्त होती है। धर्म शास्त्रों के अनुसार, रोज सूर्य की उपासना करने से सभी मनोकामनाएं पूरी हो सकती हैं।*
🌞 *पूजा विधि*
*छठ की सुबह ब्रह्ममुहूर्त में उठकर शौच आदि कार्यों से निवृत्त होकर नदी के तट पर जाकर आचमन करें तथा सूर्योदय के समय शरीर पर मिट्टी लगाकर स्नान करें। इसके बाद पुन: आचमन कर शुद्ध वस्त्र धारण करें और सप्ताक्षर मंत्र- ॐ खखोल्काय स्वाहा से सूर्यदेव को अर्घ्य दें।*
🌞 *इसके बाद भगवान सूर्य को लाल फूल, लाल वस्त्र व रक्त चंदन अर्पित करें। धूप-दीप दिखाएं तथा पीले रंग की मिठाई का भोग लगाएं। अंत में हाथ जोड़कर सूर्यदेव से प्रार्थना करें। इसके बाद नीचे लिखे शिव प्रोक्त सूर्याष्टक का पाठ करें-*
🌷 *आदिदेव नमस्तुभ्यं प्रसीद मम भास्कर।*
*दिवाकर नमस्तुभ्यं प्रभाकर मनोस्तु ते।।*
*सप्ताश्चरथमारूढं प्रचण्डं कश्यपात्ममज्म।*
*श्वेतपद्मधरं देवं तं सूर्यं प्रणमाम्यहम्।।*
*लोहितं रथमारूढं सर्वलोकपितामहम्।*
*महापापहरं देवं तं सूर्यं प्रणमाम्यम्।।*
*त्रैगुण्यं च महाशूरं ब्रह्मविष्णुमहेश्वरम्।*
*महापापहरं देवं तं सूर्यं प्रणमाम्यम्।।*
*बृंहितं तेज:पुजं च वायु माकाशमेव च।*
*प्रभुं च सर्वलोकानां तं सूर्यं प्रणमाम्यहम्।।*
*बन्धूकपुष्पसंकाशं हारकुण्डलभूषितम्।*
*एकचक्रधरं देवं तं सूर्यं प्रणमाम्यहम्।।*
*तं सूर्यं जगत्कर्तारं महातेज: प्रदीपनम्।*
*महापापहरं देवं तं सूर्यं प्रणमाम्यहम्।।*
*तं सूर्य जगतां नाथं ज्ञानविज्ञानमोक्षदम्।*
*महापापहरं देवं तं सूर्यं प्रणामाम्यहम्।।*
🙏🏻 *इस प्रकार सूर्य की उपासना करने से मनोवांछित फल की प्राप्ति होती है।*
           🌞

 🌷 *सूर्य षष्ठी* 🌷
🙏🏻 *कार्तिक मास के शुक्ल पक्ष की षष्ठी तिथि को भगवान सूर्य की पूजा करने का विधान है। इस पर्व को सूर्य षष्ठी व्रत के रूप में मनाया जाता है। इस बार ये व्रत 02 नवम्बर, शनिवार को है। यह दिन सूर्य की पूजा और उससे जुड़े उपाय करने के लिए खास माना जाता है।*
➡ *घर की 8 खास जगहों पर रखें तांबे के सूर्य, हर काम में मिलेगा दोगुना फल*
👉🏻 *वास्तु पंच तत्वों पर आधारित है । ये पंच तत्व है अग्नि, वायु, पानी, पृथ्वी व आकाश । सूर्य भी अग्नि का ही स्वरूप माना गया है । सूर्य भी वास्तु शास्त्र को प्रभावित करता है । अगर वास्तु अनुसार घर की इन 8 जगहों पर तांबे के सूर्य को दीवार पर लगाया जाएं तो हर इच्छा पूरी की जा सकती है ।*
1⃣ *रात 12 से 3 बजे तक सूर्य पृथ्वी के उत्तरी भाग में होता है । उत्तर धन की दिशा होती है । अगर धन की कमी हो तो घर में जहां कीमती वस्तुओं या जेवरात आदि रखें हो, वहां तांबे की सूर्य प्रतिमा लगाने से घर में कभी पैसों की कमी नहीं होती ।*
2⃣ *रात 3 से सुबह 6 बजे तक सूर्य पृथ्वी के उत्तर-पूर्वी भाग में होता है । यह समय चिंतन व अध्ययन का होता है । बच्चे पढ़ाई में कमजोर हो तो स्टडी रुम या बच्चों के कमरे में सूर्य प्रतिमा लगाने से पढ़ाई में सफलता मिलती है ।*
3⃣ *सुबह 6 से 9 बजे तक सूर्य पृथ्वी के पूर्वी हिस्से में रहता है । इस समय सूर्य की रोशनी रोगों से बचाती है । घर में अगर बीमारियाँ ज्यादा हो तो हाॅल में सूर्य प्रतिमा लगानी चाहिए, जहां घर के सभी सदस्य ज्यादा से ज्यादा समय बिताते हों ।*
4⃣ *सुबह 9 से दोपहर 12 बजे तक सूर्य पृथ्वी के दक्षिण-पूर्व में होता है । यह समय भोजन पकाने के लिए उत्तम होता है । इसलिए घर के किचन में तांबे की सूर्य प्रतिमा लगाने से घर में कभी अन्न की कमी नहीं होती ।*
5⃣ *दोपहर 12 से 3 बजे के दौरान सूर्य दक्षिण में होता है, इसे विश्रांति काल (आराम का समय) मानते है । अगर घर में अशांति या झगड़े का माहौल रहता है तो घर के मुखिया के बेडरूम में सूर्य प्रतिमा लगाने से कोई परेशानी नहीं आती ।*
6⃣ *दोपहर 3 से शाम 6 के दौरान सूर्य दक्षिण-पश्चिम भाग में होता है। यह समय अध्ययन और कार्य का समय होता है । व्यापार में नुकसान हो रहा हो तो ऑफिस या दुकान में सूर्य प्रतिमा लगाने पर बिजनेस में लगातार तरक्की होती है ।*
7⃣ *शाम 6 से रात 9 में सूर्य पश्चिम दिशा की ओर आता है । इस समय में देव पूजा और ध्यान के लिए अच्छा मानते है । इसलिए घर के मंदिर में तांबे की सूर्य प्रतिमा लगाने से घर-परिवार पर सूर्य देव की कृपा बनी रहती है ।*
8⃣ *रात 9 से मध्य रात्रि के समय सूर्य उत्तर-पश्चिम में होता है । घर के बेडरूम में तांबे की सूर्य प्रतिमा लगाने पर वहां रहने और सोने वालों को मान-सम्मान की प्राप्ति होती है।*
आज का राशिफल🕉
मेष राशि
मेष राशि के लोगों का दिन शुभ रहेगा। आज आपका दिन बेहतर होगा। आर्थिक तौर पर मजबूत बनेंगे। जीवन में तरक्की के नए मार्ग खुलेंगे। सेहत शानदार रहेगी।

वृषभ राशि
वृषभ राशि के लोगों का दिन शानदार रहेगा। कारोबार के क्षेत्र में लोगों से सहायता मिलेगी। समाजिक जीवन बेहतर होगा। खुद को साबित करने के कई मौके आपको मिलेंगे।
मिथुन राशि
मिथुन राशि के लोगों का दिन शुभ रहेगा। जीवनसाथी के साथ बातचीत में थोड़ी नरमी बरतें। रिश्तों में मधुरता बढ़ेगी। नियमित योग से सेहत अच्छी होगी। किसी की राय आपके लिए फायदेमंद साबित होगी।
कर्क राशि
कर्क राशि के लोगों का दिन सामान्य रहेगा। नौकरीपेशा लोगों को नया प्रोजेक्ट मिलेगा। छात्रों का दिन सामान्य रहेगा। मेहनत के बल पर करियर में सफलता हासिल होगी।
सिंह राशि
सिंह राशि के लोगों का दिन शुभ रहेगा। आज तरक्की के नए साधन मिलेंगे। कुछ लोगों से मुलाकात दिन को बेहतर बनाएगी। पारिवारिक जीवन में ताजगी आएगी।

कन्या राशि
कन्या राशि के लोगों का दिन शानदार रहेगा। दोस्त आपसे घर पर मिलने आ सकते हैं। किसी फिल्म का आज आप प्लान बना सकते हैं। अधूरे काम आज पूरे होंगे। कुछ जरूरी लोगों से मुलाकात होने की संभावना है।
तुला राशि
तुला राशि के लोगों का दिन सामान्य रहेगा। कारोबार में रुका हुआ पैसा वापस मिल सकता है। परिवार के लोग आपके सभी फैसले में साथ देंगे। किसी सहकर्मी से अनबन हो सकती है।


वृश्चिक राशि
वृश्चिक राशि के लोगों का दिन अच्छा रहेगा। आपके व्यवहार से लोग खुश होंगे। समाज में आपको मान-सम्मान मिलेगा। आर्थिक रूप से लाभ की प्राप्ति होगी। कुछ मामलों पर अधिकारियों की सहायता हो सकती है।
धनु राशि
धनु राशि के लोगों का दिन शानदार रहेगा। आज परिवार के साथ धार्मिक स्थल के दर्शन पर जा सकते हैं। दोस्तों की संख्या में बढ़ोतरी होगी। आर्थिक रूप से लाभ मिलेगा। कोई शुभ सूचना की प्राप्ति होगी।

मकर राशि
मकर राशि के लोगों का दिन शुभ रहेगा। दिन पहले से ज्यादा बेहतर होगी। कम मेहनत पर बड़ा मुनाफा मिलेगा। करियर से जुड़ा कोई सुनहरा मौका मिल सकता है। विदेश में जाकर शिक्षा प्राप्त करने वाले छात्रों के सपने पूरे होंगे।
कुंभ राशि
कुंभ राशि के लोगों का दिन शुभ रहेगा। आज दिन फेवरेबल होगा। परिवार में सुख-शांति रहेगी। किसी खास व्यक्ति से मुलाकात हो सकती है। आज कुछ नई सफलताएं आपसे जुड़ेंगी।

मीन राशि
मीन राशि के लोगों का दिन सामान्य रहेगा। आज आप समाजिक कार्यों में हिस्सा ले सकते हैं। दफ्तर में कोई नया काम आपको मिलेगा। परिवार से जुड़े किसी काम में भागदौड़ हो सकती है
🎂🎂🎂🎂🎂🎂
जिनका आज जन्मदिन है उनको हार्दिक शुभकामनाएं
दिनांक 1 को जन्मे व्यक्ति का मूलांक 1 होगा। आप शाही प्रवृत्ति के हैं। आपको किसी और का शासन पसंद नहीं है। आप साहसी और जिज्ञासु हैं। आपका मूलांक सूर्य ग्रह के द्वारा संचालित होता है। आप अत्यंत महत्वाकांक्षी हैं। आपकी मानसिक शक्ति प्रबल है। आपको समझ पाना बेहद मुश्किल है। आप आशावादी होने के कारण हर स्थिति का सामना करने में सक्षम होते हैं। आप सौन्दर्यप्रेमी हैं। आपमें सबसे ज्यादा प्रभावित करने वाला आपका आत्मविश्वास है। इसकी वजह से आप सहज ही महफिलों में छा जाते हैं।

शुभ दिनांक : 1,  10,  19,  28

शुभ अंक : 1, 10,  19,  28,  37,  46,  55,  64,  73,  82
शुभ वर्ष : 2020,  2022,   2024,   2027   2032

ईष्टदेव : सूर्य उपासना तथा मां गायत्री

शुभ रंग : लाल,  केसरिया,   क्रीम

कैसा रहेगा यह वर्ष
यह वर्ष आपके लिए अत्यंत सुखद रहेगा। अधूरे कार्यों में सफलता मिलेगी। स्वास्थ्य की दृष्टि से यह वर्ष उत्तम रहेगा। पारिवारिक मामलों में महत्वपूर्ण कार्य होंगे। अविवाहितों के लिए सुखद स्थिति बन रही है। विवाह के योग बनेंगे। नौकरीपेशा के लिए समय उत्तम हैं। पदोन्नति के योग हैं। बेरोजगारों के लिए भी खुशखबर है इस वर्ष आपकी मनोकामना पूरी होगी।

Posted By Lal Kitab Anmol16:07

 
भाषा बदलें
हिन्दी टाइपिंग नीचे दिए गए बक्से में अंग्रेज़ी में टाइप करें। आपके “स्पेस” दबाते ही शब्द अंग्रेज़ी से हिन्दी में अपने-आप बदलते जाएंगे। उदाहरण:"भारत" लिखने के लिए "bhaarat" टाइप करें और स्पेस दबाएँ।
भाषा बदलें