बीमारी का बगैर दवाई भी इलाज़ है,मगर मौत का कोई इलाज़ नहीं दुनियावी हिसाब किताब है कोई दावा ए खुदाई नहीं लाल किताब है ज्योतिष निराली जो किस्मत सोई को जगा देती है फरमान दे के पक्का आखरी दो लफ्ज़ में जेहमत हटा देती है

Friday, 16 July 2021

17/07/2021आज का श्री बालाजी पंचांग वास्तु के 15 आसान उपाय

अंतर्गत लेख:


 आज का श्री बालाजी पंचांग 


सुप्रभात

आपका आज का दिन शुभ व मंगल कारी हो 

नित्य जप करें 

कल्याण मंत्र

ऊं नम शिवाय शिव जी सदा सहाय

ऊं नम शिवाय गुरु जी सदा सहाय

ऊं नम शिवाय श्री बालाजी सदा सहाय

कारोना नियम का पालन करें व औरों बताये स्वयं की दुसरो जान की रक्षा करें  सम्भव हो परेशान व जरुरतमंदों की सहायता करें  

मास्क से मुंह नाक को ढक ही बाहर निकले

~ श्री बालाजी पंचांग 

 ⛅ दिनांक 17 जुलाई 2021

⛅ दिन - शनिवार

⛅ विक्रम संवत - 2078 

⛅ शक संवत - 1943

⛅ अयन - दक्षिणायन

⛅ ऋतु - वर्षा 

⛅ मास - आषाढ़

⛅ पक्ष - शुक्ल 

⛅ तिथि - अष्टमी 18 जुलाई  रात्रि 02:41 तक तत्पश्चात नवमी

⛅ नक्षत्र - चित्रा 18 जुलाई रात्रि 01:33 तक तत्पश्चात स्वाती

⛅ योग - शिव सुबह 07:24 तक तत्पश्चात सिद्ध

⛅ राहुकाल - सुबह 09:26 से सुबह 11:05 तक 

⛅ सूर्योदय - 06:07 

⛅ सूर्यास्त - 19:21 

⛅ दिशाशूल - पूर्व दिशा में

⛅ *व्रत पर्व विवरण - 

 💥 विशेष - अष्टमी को नारियल का फल खाने से बुद्धि का नाश होता है।(ब्रह्मवैवर्त पुराण, ब्रह्म खंडः 27.29-34)

 🌞 ~~ श्री बालाजी पंचांग ~ 🌞

🌷 चातुर्मास्य व्रत की महिमा 🌷

➡ 20 जुलाई 2021 मंगलवार से 15 नवम्बर 2021 सोमवार तक चातुर्मास है।

🙏🏻 आषाढ़ के शुक्ल पक्ष में एकादशी के दिन उपवास करके मनुष्य भक्तिपूर्वक चातुर्मास्य व्रत प्रारंभ करे। एक हजार अश्वमेघ यज्ञ करके मनुष्य जिस फल को पाता है, वही चातुर्मास्य व्रत के अनुष्ठान से प्राप्त कर लेता है।

🙏🏻 इन चार महीनों में ब्रह्मचर्य का पालन, त्याग, पत्तल पर भोजन, उपवास, मौन, जप, ध्यान, स्नान, दान, पुण्य आदि विशेष लाभप्रद होते हैं।

🙏🏻 व्रतों में सबसे उत्तम व्रत है – ब्रह्मचर्य का पालन। ब्रह्मचर्य तपस्या का सार है और महान फल देने वाला है। ब्रह्मचर्य से बढ़कर धर्म का उत्तम साधन दूसरा नहीं है। विशेषतः चतुर्मास में यह व्रत संसार में अधिक गुणकारक है।

🙏🏻 मनुष्य सदा प्रिय वस्तु की इच्छा करता है। जो चतुर्मास में अपने प्रिय भोगों का श्रद्धा एवं प्रयत्नपूर्वक त्याग करता है, उसकी त्यागी हुई वे वस्तुएँ उसे अक्षय रूप में प्राप्त होती हैं। चतुर्मास में गुड़ का त्याग करने से मनुष्य को मधुरता की प्राप्ति होती है। ताम्बूल का त्याग करने से मनुष्य भोग-सामग्री से सम्पन्न होता है और उसका कंठ सुरीला होता है। दही छोड़ने वाले मनुष्य को गोलोक मिलता है। नमक छोड़ने वाले के सभी पूर्तकर्म (परोपकार एवं धर्म सम्बन्धी कार्य) सफल होते हैं। जो मौनव्रत धारण करता है उसकी आज्ञा का कोई उल्लंघन नहीं करता।

🙏🏻 चतुर्मास में काले एवं नीले रंग के वस्त्र त्याग देने चाहिए। नीले वस्त्र को देखने से जो दोष लगता है उसकी शुद्धि भगवान सूर्यनारायण के दर्शन से होती है। कुसुम्भ (लाल) रंग व केसर का भी त्याग कर देना चाहिए।

🙏🏻 आषाढ़ मास के शुक्ल पक्ष की एकादशी को श्रीहरि के योगनिद्रा में प्रवृत्त हो जाने पर मनुष्य चार मास अर्थात् कार्तिक की पूर्णिमा तक भूमि पर शयन करें । ऐसा करने वाला मनुष्य बहुत से धन से युक्त होता और विमान प्राप्त करता है, बिना माँगे स्वतः प्राप्त हुए अन्न का भोजन करने से बावली और कुआँ बनवाने का फल प्राप्त होता है। जो भगवान जनार्दन के शयन करने पर शहद का सेवन करता है, उसे महान पाप लगता है। चतुर्मास में अनार, नींबू, नारियल तथा मिर्च, उड़द और चने का भी त्याग करें । जो प्राणियों की हिंसा त्याग कर द्रोह छोड़ देता है, वह भी पूर्वोक्त पुण्य का भागी होता है।

🙏🏻 चातुर्मास्य में परनिंदा का विशेष रूप से त्याग करें । परनिंदा को सुनने वाला भी पापी होता है।

परनिंदा महापापं परनिंदा महाभयं।

परनिंदा महद् दुःखं न तस्याः पातकं परम्।।

🙏🏻 ‘परनिंदा महान पाप है, परनिंदा महान भय है, परनिंदा महान दुःख है और पर निंदा से बढ़कर दूसरा कोई पातक नहीं है।’

🌷 (स्कं. पु. ब्रा. चा. मा. 4.25)

🙏🏻 चतुर्मास में ताँबे के पात्र में भोजन विशेष रूप से त्याज्य है। काँसे के बर्तनों का त्याग करके मनुष्य अन्य धातुओं के पात्रों का उपयोग करे। अगर कोई धातुपात्रों का भी त्याग करके पलाशपत्र, मदारपत्र या वटपत्र की पत्तल में भोजन करे तो इसका अनुपम फल बताया गया है। अन्य किसी प्रकार का पात्र न मिलने पर मिट्टी का पात्र ही उत्तम है अथवा स्वयं ही पलाश के पत्ते लाकर उनकी पत्तल बनाये और उससे भोजन-पात्र का कार्य ले। पलाश के पत्तों से बनी पत्तल में किया गया भोजन चन्द्रायण व्रत एवं एकादशी व्रत के समान पुण्य प्रदान करने वाला माना गया है।

🙏🏻 प्रतिदिन एक समय भोजन करने वाला पुरुष अग्निष्टोम यज्ञ के फल का भागी होता है। पंचगव्य सेवन करने वाले मनुष्य को चन्द्रायण व्रत का फल मिलता है। यदि धीर पुरुष चतुर्मास में नित्य परिमित अन्न का भोजन करता है तो उसके सब पातकों का नाश हो जाता है और वह वैकुण्ठ धाम को पाता है। चतुर्मास में केवल एक ही अन्न का भोजन करने वाला मनुष्य रोगी नहीं होता।

🙏🏻 जो मनुष्य चतुर्मास में केवल दूध पीकर अथवा फल खाकर रहता है, उसके सहस्रों पाप तत्काल विलीन हो जाते हैं।

🙏🏻 पंद्रह दिन में एक दिन संपूर्ण उपवास करने से शरीर के दोष जल जाते हैं और चौदह दिनों में तैयार हुए भोजन का रस ओज में बदल जाता है। इसलिए एकादशी के उपवास की महिमा है। वैसे तो गृहस्थ को महीने में केवल शुक्लपक्ष की एकादशी रखनी चाहिए, किंतु चतुर्मास की तो दोनों पक्षों की एकादशियाँ रखनी चाहिए।

🙏🏻 जो बात करते हुए भोजन करता है, उसके वार्तालाप से अन्न अशुद्ध हो जाता है। वह केवल पाप का भोजन करता है। जो मौन होकर भोजन करता है, वह कभी दुःख में नहीं पड़ता। मौन होकर भोजन करने वाले राक्षस भी स्वर्गलोक में चले गये हैं। यदि पके हुए अन्न में कीड़े-मकोड़े पड़ जायें तो वह अशुद्ध हो जाता है। यदि मानव उस अपवित्र अन्न को खा ले तो वह दोष का भागी होता है। जो नरश्रेष्ठ प्रतिदिन ‘ॐ प्राणाय स्वाहा, ॐ अपानाय स्वाहा, ॐ व्यानाय स्वाहा, ॐ उदानाय स्वाहा, ॐ समानाय स्वाहा’ – इस प्रकार प्राणवायु को पाँच आहुतियाँ देकर मौन हो भोजन करता है, उसके पाँच पातक निश्चय ही नष्ट हो जाते हैं।

🙏🏻 चतुर्मास में जैसे भगवान विष्णु आराधनीय हैं, वैसे ही ब्राह्मण भी। भाद्रपद मास आने पर उनकी महापूजा होती है। जो चतुर्मास में भगवान विष्णु के आगे खड़ा होकर ‘पुरुष सूक्त’ का पाठ करता है, उसकी बुद्धि बढ़ती है।

🙏🏻 चतुर्मास सब गुणों से युक्त समय है। इसमें धर्मयुक्त श्रद्धा से शुभ कर्मों का अनुष्ठान करना चाहिए।

🌷 सत्संगे द्विजभक्तिश्च गुरुदेवाग्नितर्पणम्।

गोप्रदानं वेदपाठः सत्क्रिया सत्यभाषणम्।।

गोभक्तिर्दानभक्तिश्च सदा धर्मस्य साधनम्।

🙏🏻 ‘सत्संग, भक्ति, गुरु, देवता और अग्नि का तर्पण, गोदान, वेदपाठ, सत्कर्म, सत्यभाषण, गोभक्ति और दान में प्रीति – ये सब सदा धर्म के साधन हैं।’

🙏🏻 देवशयनी एकादशी से देवउठी एकादशी तक उक्त धर्मों का साधन एवं नियम महान फल देने वाला है। चतुर्मास में भगवान नारायण योगनिद्रा में शयन करते हैं, इसलिए चार मास शादी-विवाह और सकाम यज्ञ नहीं होते। ये मास तपस्या करने के हैं।

🙏🏻 चतुर्मास में योगाभ्यास करने वाला मनुष्य ब्रह्मपद को प्राप्त होता है। ‘नमो नारायणाय’ का जप करने से सौ गुने फल की प्राप्ति होती है। यदि मनुष्य चतुर्मास में भक्तिपूर्वक योग के अभ्यास में तत्पर न हुआ तो निःसंदेह उसके हाथ से अमृत का कलश गिर गया। जो मनुष्य नियम, व्रत अथवा जप के बिना चौमासा बिताता है वह मूर्ख है।

🙏🏻 बुद्धिमान मनुष्य को सदैव मन को संयम में रखने का प्रयत्न करना चाहिए। मन के भलीभाँति वश में होने से ही पूर्णतः ज्ञान की प्राप्ति होती है।

🌷 सत्यमेकं परो धर्मः सत्यमेकं परं तपः।

सत्यमेकं परं ज्ञानं सत्ये धर्मः प्रतिष्ठितः।।

धर्ममूलमहिंसा च मनसा तां च चिन्तयन्।

कर्मणा च तथा वाचा तत एतां समाचरेत्।।

🙏🏻 ‘एकमात्र सत्य ही परम धर्म है। एक सत्य ही परम तप है। केवल सत्य ही परम ज्ञान है और सत्य में ही धर्म की प्रतिष्ठा है। अहिंसा धर्म का मूल है। इसलिए उस अहिंसा को मन, वाणी और क्रिया के द्वारा आचरण में लाना चाहिए।’

🌷 (स्कं. पु. ब्रा. 2.18-19) 🌷

➡ शेष  कल........

🌷 (पद्म पुराण के उत्तर खंड, स्कंद पुराण के ब्राह्म खंड एवं नागर खंड उत्तरार्ध से संकलित)

 🌞 ~ ~ श्री बालाजी पंचांग~ 🌞

🏻पंचक आरम्भ

जुलाई 25, 2021, रविवार को 10:48 pm

पंचक अंत

जुलाई 30, 2021, शुक्रवार को 02:03 pm

एकादशी

 

 20 जुलाई- देवशयनी, हरिशयनी एकादशी

प्रदोष

जुलाई 2021: प्रदोष व्रत

21 जुलाई: प्रदोष व्रत

पूर्णिमा

आषाढ़ पूर्णिमा व्रत जुलाई 23, शुक्रवार

श्रावण पूर्णिमा 22 अगस्त, रविवार

अमावस्या

अगस्त 2021 में अमावस्या तिथि (हरियाली अमावस्या) 07 अगस्त 7:11 बजे - 08 अगस्त 7:20 बजे

~ श्री बालाजी पंचांग

आज का राशिफल- जानिए कैसा होगा आपका आज का दिन, क्या कहती है आपकी राशियाँ और किस राशि की चमकेगी आज किस्मत।।

मेष दैनिक राशिफल (Aries Daily Horoscope)

आज का दिन आपके लिए उत्तम फलदायक रहेगा। आज आपको नौकरी में किसी बात को लेकर तनाव हो सकता है, लेकिन वह तनाव किसी वरिष्ठ अधिकारी की मदद से समाप्त होगा, जिसके कारण आप प्रसन्न होंगे। आज आपने अपने व्यवसाय के लिए जो भी योजना बनाई है, वह आपको उत्तम लाभ देगी। जीवनसाथी को आज कहीं घुमाने फिराने लेकर जा सकते हैं। आज आपको अपने किसी प्रियजन की बात का बुरा लग सकता है, लेकिन यदि ऐसा हो, तो आपको उन्हें मनाने की कोशिश करनी चाहिए

वृष दैनिक राशिफल (Taurus Daily Horoscope)

आज का दिन आपके लिए कोई बड़ा लाभ देने वाला रहेगा। यदि आज आपको स्वास्थ्य में कोई शारीरिक कष्ट परेशान कर रहा है, तो आपको उसे दूर करने के लिए तुरंत डॉक्टरी परामर्श लेना चाहिए, नहीं तो वह रोग बड़ा हो सकता है। राजनीति की दिशा में कार्यरत लोगों को आज उत्तम सफलता मिलेगी। यदि आज आप अपने बिजनेस में किसी तरह का कोई बदलाव करने की सोच रहे हैं, तो वह आपको उत्तम लाभ दे सकता है। विद्यार्थियों को आज अपने किसी सीनियर्स के साथ की आवश्यकता होगी

मिथुन दैनिक राशिफल (Gemini Daily Horoscope) 

आज का दिन आपके लिए खुशियां लेकर आएगा। आज आप जिस कार्य को करेंगे, वह आपको प्रसन्नता देकर जाएगा। सरकारी नौकरी से जुड़े जातकों को आज उत्तम सफलता प्राप्त होगी। सायंकाल का समय आज आपको अपने भाई के लिए कुछ रुपयों का इंतजाम करना पड़ सकता है। दांपत्य जीवन में यदि कोई तनाव चल रहा था, तो वह आज समाप्त होगा। संतान को आज किसी नए कोर्स में दाखिला दिलाने के लिए आपको कुछ भागदौड़ करनी पड़ सकती है, लेकिन उसमें आपको सफलता मिलेगी, जिससे आपकी प्रशंसा होगी।

कर्क दैनिक राशिफल (Cancer Daily Horoscope) 

आज का दिन आपके उन्नति के नए-नए मार्ग खुलेगा। आज आपके व्यापार में आ रही बाधा भी दूर होगी। यदि आज आप अपने व्यापार में किसी नयी योजना को लांच किया है, तो वह आज आपको भरपूर लाभ देगी, जिसके कारण आपको अपने आर्थिक स्थिति की चिंता कम होगी। आज आप अपने परिवार के किसी सदस्य की इच्छा की पूर्ति करने की पूरी कोशिश करेंगे। धार्मिक अनुष्ठान की योजना भी आज फलीभूत होगी। ससुराल पक्ष के किसी व्यक्ति से आज आपका कोई वाद विवाद हो सकता है, जिसके कारण आपके शब्दों में तनाव आ सकता है।

सिंह दैनिक राशिफल (Leo Daily Horoscope) 

आज का दिन आपके लिए कुछ व्यवस्था लेकर आएगा। आज यदि आप किसी डील को फाइनल करने जा रहे थे, तो वह पूरी ना होने के कारण आपको निराशा हाथ लग सकती है, जिसके कारण आपको तनाव होगा। आज आप अपने किसी आवश्यक कार्य को पुरा करने की कोशिश करेंगे। सायंकाल का समय आज आप अपने माता पिता की सेवा में व्यतीत करेंगे। प्रेम जीवन जी रहे लोगों में आज कोई तनाव मिल सकता है। संतान के लिए आज आप कोई उपहार खरीद कर ला सकते हैं।

कन्या दैनिक राशिफल (Virgo Daily Horoscope)  

आज का दिन आपके लिए कुछ विशेष कर दिखाने के लिए होगा। यदि आज आप किसी नई नौकरी की तलाश कर रहे हैं, तो वह पूरी हो सकती है। यदि आपका कोई सरकारी कार्य लंबे समय से रुका हुआ था, तो वह भी आज पूरा होगा, जिसके कारण आपको प्रसन्नता होगी। राजनीति की दिशा में किए गए कार्य आपके सफल होंगे, जिससे आपके मान पद व प्रतिष्ठा में वृद्धि होगी। आज आपका आपनी माताजी से कोई मतभेद हो सकता है, लेकिन आपको अपने क्रोध पर काबू रखना होगा। 

तुला दैनिक राशिफल (Libra Daily Horoscope)

आज का दिन आपके लिए चारों ओर का वातावरण सुखमय रहेगा। आज नौकरी में आपके शत्रु आपके मित्र बनेंगे, जिसके कारण आपको हैरानी होगी, लेकिन आपको प्रसन्नता भी अवश्य होगी। किसी सरकारी कार्य में आज आपको कुछ अधिकारियों की कृपा से आपके कार्य में सफलता मिलेगी। आज आप अपने कार्य को पूरा करने के लिए दिनभर व्यस्त रहेंगे, जिसके कारण अपने परिवार के सदस्यों के लिए समय नहीं निकाल पाएंगे। सायंकाल के समय आज आपको किसी अपने के लिए कुछ पैसों का इंतजाम करना पड़ सकता है।

वृश्चिक दैनिक राशिफल (Scorpio Daily Horoscope) 

आज का दिन आपके लिए अनुकूल रहने वाला है। राजनीति से जुड़े जातकों को आज कुछ वैचारिक मतभेदों का सामना करना पड़ सकता है, लेकिन उसके बाद भी उन्हें अपने कार्यों में सफलता मिलेगी, उनके जनसमर्थन में इजाफा होगा। बिजनेस में लाभ पाने के लिए आज आपको अपने भाइयों के साथ की आवश्यकता होगी। विवाह योग्य जातकों के लिए आज कुछ ऐसे प्रस्ताव आएंगे, जिन्हें करने में बहुत सोच विचार करना पड़ेगा। भाईयों के साथ यदि आपके संबंधों में कुछ तनाव चल रहा था, तो वह आज समाप्त होगा।

धनु दैनिक राशिफल (Sagittarius Daily Horoscope) 

आज का दिन आपके लिए उत्तम सफलता प्राप्ति का रहेगा। आज आप अपने धन आगमन के लिए भी कुछ नए रास्ते बनाएंगे, जिससे आपकी आर्थिक स्थिति मजबूत होगी। सरकारी सेवाओं का लाभ ले रहे लोगों को आज कोई सेवा से वंचित होना पड़ सकता है। आज आपको अपने मन के विचारों को किसी के साथ शेयर नहीं करना है, नहीं तो वह आपके लाभ के मार्ग में बाधक बन सकती है। शत्रु आज आपके मित्र बनते नजर आएंगे, लेकिन संतान को धार्मिक कार्यों से जुड़े देख मन में प्रसन्नता होगी, जिससे आपको मानसिक शांति मिलेगी।

मकर दैनिक राशिफल (Capricorn Daily Horoscope)

आज का दिन आपके लिए सामान्य रहेगा। आज आप अपने बिजनेस में प्रगति के लिए किसी ऐसे मित्र से मदद मांग सकते हैं, जिससे आपको बोलना भी पसंद नहीं है, लेकिन आज आपको वह करना पड़ेगा। आज आपकी अपने परिवार के किसी सदस्य से झड़प हो सकती है, जिसमें आपको अपनी वाणी पर नियंत्रण बनाए रखना होगा। आपने साझेदारी में किसी व्यवसाय को करने का सोचा है, तो आज उसे करने के लिए दिन उत्तम रहेगा। सायंकाल का समय आज आप देव दर्शन आदि की यात्रा के लिए जा सकते हैं।

कुंभ दैनिक राशिफल  (Aquarius Daily Horoscope) 

आज का दिन आपके लिए कुछ उथल-पुथल भरा रहेगा। आज आपकी व्यवस्था व योजना को किसी शत्रु के कारण देरी से लागू करेंगे जिसका आपको लाभ कम मिलेगा। आज आपको अपने रुके हुए कार्य को पूरा करने के लिए किसी वरिष्ठ सदस्य की मदद की आवश्यकता होगी। यदि आज आप अपने मन की रणनीति को दूसरों को बताएंगे, तो आपको हानि होगी। स्वास्थ्य में यदि कोई कष्ट पनप रहा था, तो आज उसमें सुधार होगा। विद्यार्थियों को आज किसी की मदद की आवश्यकता होगी। सायंकाल का समय आज आप किसी धार्मिक स्थल की यात्रा पर जा सकते हैं।

मीन दैनिक राशिफल (Pisces Daily Horoscope)

आज का दिन आपके लिए कुछ कष्टदायक रहेगा। आज आपका अपने सहयोगियों से कोई वाद विवाद सकता है, जो कानूनी भी हो सकता है। यदि ऐसा हो, तो आपको उसे रोकने की कोशिश करनी चाहिए। आज आपको कोई शारीरिक व मानसिक रोग परेशान कर रहा है, तो उसके कष्टो मे वृद्धि हो सकती है। यदि आज आप किसी नए कार्य में निवेश करने की सोच रहे हैं, तो बिल्कुल ना करें क्योंकि भविष्य में वह आपको नुकसान देगा। सायंकाल का समय आज आप किसी मांगलिक कार्यक्रम में सम्मिलित हो सकते हैं


दिनांक 17 को जन्मे व्यक्ति का मूलांक 8 होगा। आप अपने जीवन में जो कुछ भी करते हैं उसका एक मतलब होता है। आपके मन की थाह पाना मुश्किल है। आपको सफलता अत्यंत संघर्ष के बाद हासिल होती है। कई बार आपके कार्यों का श्रेय दूसरे ले जाते हैं। यह ग्रह सूर्यपुत्र शनि से संचालित होता है। इस दिन जन्मे व्यक्ति धीर गंभीर, परोपकारी, कर्मठ होते हैं। आपकी वाणी कठोर तथा स्वर उग्र है। आप भौतिकतावादी है। आप अदभुत शक्तियों के मालिक हैं।

शुभ दिनांक : 8, 17, 26

शुभ अंक : 8, 17, 26, 35, 44

शुभ वर्ष : 2024, 2042

ईष्टदेव : हनुमानजी, शनि देवता

शुभ रंग : काला, गहरा नीला, जामुनी

 कैसा रहेगा यह वर्ष

शत्रु वर्ग प्रभावहीन होंगे, स्वास्थ्य की दृष्टि से समय अनुकूल ही रहेगा। सभी कार्यों में सफलता मिलेगी। जो अभी तक बाधित रहे है वे भी सफल होंगे। व्यापार-व्यवसाय की स्थिति उत्तम रहेगी। राजनैतिक व्यक्ति भी समय का सदुपयोग कर लाभान्वित होंगे। नौकरीपेशा व्यक्ति प्रगति पाएंगे। बेरोजगार प्रयास करें, तो रोजगार पाने में सफल होंगे

आज का विशेष उपाय

लाल किताब और पेड़ों का महत्व

दही स्नान : शुक्रवार को पानी में 100 ग्राम दही मिलाकर स्नान करें और जब भी स्नान करें तो लकड़ी के पाट पर बैठकर ही करें।

 तिलक : माथे पर चंदन या केसर का तिलक लगाएं। कम से कम 43 दिन तक ऐसा करें और लगाते ही रहें तो बेहत है।

 कर्पूर : घर में सुबह और शाम को कर्पूल जलाएं और सुगंधित वातावरण बनाकर रखें।

 वृक्ष को जल अर्पण : पीपल, बरगद, नीम और केले की जड़ में नित्य जल चढ़ाएं।

चांदी का गिलास : चांदी या तांबे के गिलास में ही पानी पीएं। शीत प्रकृती है तो तांबें के गिलास का उपयोग करें।

पीतल के बर्तन : घर के किचन में पीतल और तांबे के बर्तनों की अधिकता होना चाहिए।

रिश्तों का सम्मान : सभी रिश्ते और नातों का सम्मान करें।

हनुमान चालीसा : प्रतिदिन हनुमान मंदिर जाएं और हनुमान चालीसा पढ़ें। हनुमानजी को चोला चढ़ाएं। प्रतिदिन नहीं जा सकते हैं तो प्रति मंगल, गुरु और शनिवार को मंदिर जाएं। एकादशी, प्रदोष या गुरुवार का व्रत रखें।

अच्छा आचरण रखें : अपने या दूसरों के प्रति कटु वचन न बोलें। झूठ ना बोले और मुंह से गाली न निकालें। गृहकलह से बचें। मन में बुरे खयाल न लाएं। हमेशा सकारात्मक सोचें।

 वास्तु : घर को वास्तु अनुसार ही बनाएं। वास्तु अनुसार नहीं बना है तो उसमें सुधार करवाएं। घर के वास्तुदोष को मिटाने के लिए कर्पूर का बहुत‍ महत्व है। यदि सीढ़ियां, टॉयलेट या द्वार किसी गलत दिशा में निर्मित हो गए हैं तो सभी जगह 1-1 कर्पूर की बट्टी रख दें। वहां रखा कर्पूर चमत्कारिक रूप से वास्तुदोष को दूर कर देगा।

आज का  परामर्श

वास्तु के 15 आसान उपाय

* घर में सप्ताह में एक बार गूगल का धुआं करना शुभ होता है।

* गेहूं में नागकेशर के 2 दाने तथा तुलसी की 11 पत्तियां डालकर पिसाया जाना शुभ है।

* घर में सरसों के तेल के दीये में लौंग डालकर लगाना शुभ है।

* हर गुरुवार को तुलसी के पौधे को दूध चढ़ाना चाहिए।

* तवे पर रोटी सेंकने के पूर्व दूध के छींटें मारना शुभ है।

* पहली रोटी गौ माता के लिए निकालें।

* मकान में 3 दरवाजे एक ही रेखा में न हों।

* सूखे फूल घर में नहीं रखें।

* संत-महात्माओं के चित्र आशीर्वाद देते हुए बैठक में लगाएं।

* घर में टूटी-फूटी, कबाड़, अनावश्यक वस्तुओं को नहीं रखें।

* दक्षिण-पूर्व दिशा के कोने में हरियाली से परिपूर्ण चित्र लगाएं।

* घर में टपकने वाले नल नहीं होना चाहिए।

* घर में गोल किनारों के फर्नीचर ही शुभ हैं।

* घर में तुलसी का पौधा पूर्व दिशा की गैलरी में या पूजा स्थान के पास रखें।


* वास्तु की मानें तो उत्तर या पूर्व दिशा में की गई जल की निकासी आर्थिक दृष्टि से शुभ होती है। इसलिए घर बनाते समय इस बात का अवश्य ध्यान रखना चाहिए।

अच्छी आदतें 

मधुर वाणी बोलें

जिस घर में मीठी और मधुर वाणी बोली जाती है वो घर स्वर्ग बन जाता है। इसका मतलब यह नहीं है कि आप सिर्फ मीठी वाणी बोलकर किसी के साथ छल-कपट करो। सच्चे, साफ़ दिल से और बिना किसी लालच के सभी के साथ मधुर वाणी का इस्तेमाल करें, रब भी आपको पसंद करने लगेगा।

ये आदतें पढ़ाई के अलावा आपको जिंदगी के हर क्षेत्र में सफलता दिलाएँगी। इनके अलावा, और भी बहुत सारी good habits है जो एक विद्यार्थी के अलावा हम सभी को अपनी जिंदगी में शामिल करनी चाहिए। 

आपको हमारे पंचांग में अच्छा लगा और अच्छा बनाने के लिये क्या सामग्री  जोड़ें हमारे  व्हाट्सएप नंबर 9911342666 पर बताये ताकि सुधार कर अधिक बेहतर बना सके

ज्योतिष, वास्तु लाल किताब व स्वास्थ्य संबंधी जानकारी हेतु हमारे WhatsApp ग्रुप में शामिल होने के लिए यह लिंक खोलें:या हमारे व्हाट्सएप नंबर 9911342666पर अपना नाम जगह लिख भेजे https://chat.whatsapp.com/HWs76X3eTzF1dLPuHGGf4H


अपनी किसी प्रकार की समस्या के समाधान के लिए सरल ज्योतिष वास्तु रेकी हीलिंग एवं लाल किताब उपाय  हेतु हमसे सम्पर्क करें

निशुल्क परामर्श के इच्छुक व्यक्ति दोपहर में 2से 3 बजे संपर्क करें आचार्य लक्ष्मण 

श्री बालाजी ज्योतिष अनुसंधान केंद्र

09354328527, 09911342666, 01127651180









LAL Kitab Anmol

0 comments:

Post a Comment

अपनी टिप्पणी लिखें

 
भाषा बदलें
हिन्दी टाइपिंग नीचे दिए गए बक्से में अंग्रेज़ी में टाइप करें। आपके “स्पेस” दबाते ही शब्द अंग्रेज़ी से हिन्दी में अपने-आप बदलते जाएंगे। उदाहरण:"भारत" लिखने के लिए "bhaarat" टाइप करें और स्पेस दबाएँ।
भाषा बदलें